Rajasthan By Election: वल्लभनगर में बोले CM गहलोत- जो धैर्य रखते है, उनको मौका मिलता है

Rajasthan By Election: वल्लभनगर में बोले CM गहलोत- जो धैर्य रखते है, उनको मौका मिलता है

उदयपुर: विधानसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, सचिन पायलट, प्रदेशाध्यक्ष गोविंद डोटासरा और प्रदेश प्रभारी अजय माकन आज वल्लभनगर पहुंचे. इस दौरान सभास्थल पर अपने संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत धीमी शुरुआत के बाद धीरे-धीरे पूरे रंग में दिखे.

इस दौरान सीएम गहलोत ने मीडिया से लेकर पीएम मोदी तक को निशाने पर लिया. साथ ही एक नसीहत भी देते हुए कहा कि जो धैर्य रखते हैं उनको मौका मिलता है. मैंने सोनिया जी के भाषण में सुना था. ये सच भी है जिनको टिकट नहीं मिला, वे धैर्य रखें. ऐसे सबसे बड़ा सवाल तो यह खड़ा हो रहा है कि क्या सीएम वाकई टिकटार्थियों को धैर्य बंधा रहे थे या किसी और को भी नसीहत दे रहे थे? 

वहीं वल्लभनगर उपचुनाव में सीएम गहलोत का कोरोना में काम से कॉन्फिडेंट भी देखने को मिला. मुख्यमंत्री गहलोत प्रीति को जिताने के साथ-साथ अगली बार फिर से कांग्रेस की सरकार के लिए वोट की अपील कर रहे थे. उन्होंने कहा कि हम अच्छा काम करे तो आप उपलब्धियों का लेखा-जोखा रखें, कमियां भी हमें बताएं. इससे हम और बेहतर काम करे और अगली बार कांग्रेस के लिए वोट करे. एक बार कांग्रेस और एक बार भाजपा का मिथक तोड़े. काम पिछली बार भी अच्छा था पर आप मोदी जी के चक्कर में आ गए थे. अब किसी के चक्कर में मत आना अच्छे काम को वोट देना. 

पायलट और डोटासरा ने मांगा जनता का आशीर्वाद: 
इस दौरान संबोधन में सचिन पायलट ने कहा कि हम आपसे आशीर्वाद मांगते हैं. प्रीति शक्तावत को जीताकर उनको आशीर्वाद दें. लोगों कांग्रेस को प्यार-मोहब्त दिया है. इसके साथ उन्होंने कहा कि भाजपा ने जनता के साथ लगातार धोखा किया है. भाजपा की किसानों के प्रति भावना को देश देख चुका है. ऐसे में भारी तादाद में प्रिती जी को वोट देकर जिताएं. वहीं पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि गजेंद्र सिंह शक्तावत समर्पित व्यक्ति थे. वो हमेशा अपने क्षेत्र के लिए सजग रहते थे. राजस्थान में विकास के कार्यों को हमेशा सराहा है. इसके साथ ही उन्होंने किसानों और बेरोजगारों के लिए लगातार प्रयास किए हैं. 

एक बार फिर प्रदेश कांग्रेस को एकजुटता का संदेश दिया:
हेलिकॉप्टर में 'एकता' की उड़ान के बाद आज वल्लभनगर में एकता वाली गाड़ी भी दिखी. जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत गाड़ी में बैठे तो सचिन पायलट ने स्टेयरिंग संभाली. इसी गाड़ी में अजय माकन और गोविंद सिंह डोटासरा भी सवार हुए. इस तस्वीर ने एक बार फिर प्रदेश कांग्रेस को एकजुटता का संदेश दिया. सचिन पायलट ने कार ड्राइव की तो गहलोत उनकी पास वाली सीट पर बैठे.
 

और पढ़ें