Rajasthan By Election: थर्ड फ्रंट की निगाहें चुनावी समर पर, ये पार्टियां बना रही रणनीति

जयपुर: 4 विधानसभा क्षेत्रों के उप चुनाव में थर्ड फोर्स की क्या गणित रहने वाली है इस पर सबकी नजरें टिकी है. बहुजन समाज पार्टी, आर एल पी, जनता सेना और आम आदमी पार्टी यहां चुनाव लड़ने को लेकर उम्मीदवार उतारने की रणनीति बना रही है. बीएसपी की राज्य इकाई को 24 फरवरी को दिल्ली में मायावती ने बुलाया है. 

विधानसभा उपचुनाव की सियासत राज्य में गर्म है. तीसरी शक्तियां भी अपनी ताकत आजमाने की फ़िराक़ में है. हार और जीत की रणनीति से परे है वोट शेयरिंग का गणित. तीसरे फ्रंट में आने वाली पार्टियां चाहेगी कि उप चुनावों के समर में उतर कर उपस्थिति दर्ज कराई जाए. हनुमान बेनीवाल की पार्टी आर एल पी योजना बना रही है. बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवारों को लेकर सुप्रीमो मायावती को निर्णय करना है. रणधीर सिंह भिंडर की पार्टी जनता सेना का वल्लभनगर सीट पर प्रभाव है और यही से दावेदारी.

----RLP की चुनावी योजना----
- जाट बहुल सीटों पर फोकस
- सुजानगढ़ और सहाड़ा पर विशेष नजर
- यहां दोनों दलों का गणित बिगाड़ सकती है RLP
- हनुमान बेनीवाल की रणनीति अंतिम समय सामने आएगी

----बहुजन समाज पार्टी की योजना----
- चारों सीटों पर दलित बेहद अहम वर्ग
- बीएसपी इसी के मद्देनजर बना रही योजना
- 24 फरवरी को दिल्ली में बुलाई है बैठक
- बीएसपी सुप्रीमो मायावती करेगी स्टेट यूनिट से बात
-  राजसमन्द, सुजानगढ़, वल्लभनगर, सहाड़ा चारों सीटों पर बीएसपी की नजर

----जनता सेना की रणनीति----
- जनता सेना है पूर्व विधायक रणधीर सिंह भिंडर की पार्टी
- पहले भी अपने दम पर चुनाव जीत चुके भिंडर
- रणधीर सिंह ने हाल ही निकाय चुनाव भी जीता है
- बीजेपी से शायद ही हो पाए समझौता
- हालांकि भिंडर का झुकाव वसुंधरा राजे के साथ है 
- वल्लभनगर में जनता सेना सर्वाधिक मजबूत पार्टी है, दोनों दलों को चुनौती देने की योग्यता रखती है

बीएसपी और RLP दोनों दलों के अलावा आम आदमी पार्टी भी रणनीति बना रही है. आप सांसद संजय सिंह इस बारे में रणनीति बनाने में जुटे है. बहरहाल अभी तक थर्ड फोर्सेज में जनता सेना का अस्तित्व साफ नजर आता है. वहीं अन्य दलों को अपना अस्तित्व दिखाना है. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें