Rajasthan By Elections 2021: युवाओं को साधने के लिए कांग्रेस ने समर में उतारे युवा चेहरे, इन नेताओं को सौंपा अहम जिम्मा

Rajasthan By Elections 2021: युवाओं को साधने के लिए कांग्रेस ने समर में उतारे युवा चेहरे, इन नेताओं को सौंपा अहम जिम्मा

जयपुर: तीन उपचुनाव में अगर हम मतदाताओं की बात करें तो सर्वाधिक मतदाता युवा है. युवा मतदाताओं को रिझाने के लिए दोनों ही प्रमुख दलों ने ताकत झोंक दी है. युवा नेताओं को चुनावी मोर्चे पर तैनात कर दिया है. कांग्रेस और बीजेपी ने प्रमुख युवा नेताओं को अहम जिम्मा सौंपा है. उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत छात्र राजनीति से ही मुख्यधारा की राजनीति में आए एनएसयूआई के प्रदेश के अध्यक्ष रह चुके हैं. एक जमाने में युवा नेता के तौर पर गहलोत की देशव्यापी ख्याति रही और कांग्रेस के युवा तुर्क कहें गए. 

"तलवारों की धारों पर इतिहास बदलते देखा है जिस ओर जवानी चलती है उस ओर जमाना चलता है"

चुनावी रैलियों में ये नारे काफी सुने होंगे आपने. युवा क्षत्रप इसी अंदाज में युवाओं को चुनावी मंच से साधते हैं. क्योंकि युवा राजनीति अपने आप में अहम है. बिना युवा को साधे चुनाव जीतना आसान नहीं होता. आधी से अधिक मतदाताओं की आबादी युवा कही जाती है. यही कारण है कि सत्ताधारी दल कांग्रेस ने युवा वर्ग को रिझाने और साधने  के लिए अपने युवा हरावल चेहरों को चुनावी समर में झोंक दिया है. 

कांग्रेस पार्टी के कद्दावर युवा नेताओं को कमान सौंपी गई:
कांग्रेस पार्टी के कद्दावर युवा नेताओं को कमान सौंपी गई है. युवा नेता तीनों उपचुनाव वाले क्षेत्रों में मोर्चों पर पहुंच गए. कांग्रेस के पास युवा चेहरों की ऐसी फेहरिस्त है जिसने छात्र राजनीति से लेकर प्रदेश की सबसे बड़ी पंचायत में अपनी जगह बनाई. चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा और मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी ऐसे ही कद्दावर नाम है जिनकी पहचान छात्र राजनीति से रही है. राजस्थान विश्वविद्यालय छात्र संघ के सिरमोर बनने के बाद आज यह चेहरे प्रदेश की सबसे बड़ी पंचायत में प्रमुखता के साथ नुमाइंदगी कर रहे हैं. चुनावी टास्क इनको सौंपे जाते हैं. उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी पूर्व मंत्री और विधायक डॉक्टर राजकुमार शर्मा कांग्रेस के ऐसे ही चर्चित चेहरे हैं जिनकी युवाओं में विशेष पहचान रही है.

---चुनाव में तैनात कांग्रेस युवा चेहरे---

सुजानगढ़-- 
- भंवर सिंह भाटी उच्च शिक्षा राज्य मंत्री
- कांग्रेस के युवा राजपूत चेहरों में गिने जाते हैं भाटी
- महेंद्र चौधरी उप मुख्य सचेतक
- कद्दावर जाट युवा नेताओं में होती है गिनती
- राजस्थान विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष रह चुके हैं चौधरी
- वैभव गहलोत युवा नेता और आरसीए के अध्यक्ष
- वैभव की डिमांड मेवाड़ से भी आई है
- नाथद्वारा से पीसीसी सदस्य रह चुके हैं वैभव
- राजकुमार शर्मा विधायक नवलगढ़
- कांग्रेस के सबसे चर्चित युवा ब्राह्मण चेहरे है राजकुमार
- राजस्थान विश्वविद्यालय छात्र संघ के रह चुके अध्यक्ष
- सुजानगढ़ के समीप की सीट नवलगढ़ से है विधायक है शर्मा
- मुकेश भाकर विधायक लाडनूं
- भाकर की गिनती प्रमुख जाट युवा चारों में होती है
- राजस्थान विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष रह चुके हैं भाकर
- विजयपाल मिर्धा विधायक डेगाना
- कद्दावर कांग्रेस और किसान नेता के पुत्र है विजयपाल
- स्वर्गीय नाथूराम मिर्धा के परिवार से ताल्लुक है विजयपाल का
- रामनिवास गावड़िया विधायक परबतसर
- गावड़िया की पहचान भी छात्र राजनीति से है

राजसमंद--
- शाले मोहम्मद अल्पसंख्यक मामलात मंत्री
- युवा कांग्रेस से मुख्य सियासत में आए शाले मोहम्मद
- मुस्लिम चेहरे के तौर चर्चित
- अशोक चांदना खेल और युवा,संस्कृति मंत्री
- मेवाड़ के कांग्रेस के चर्चित युवा चेहरे हैं अशोक चांदना
- स्वजातीय वोटों पर भी है चांदना की पकड़
- गणेश घोघरा प्रदेश अध्यक्ष युवा कांग्रेस
- राज्य के कांग्रेस संगठन के युवा चेहरे है घोघरा
- घोघरा है आदिवासियों के बीच प्रमुख फेस
- पुष्पेंद्र भारद्वाज चुनाव प्रभारी राजसमन्द
- राजसमंद चुनाव की संगठनात्मक रचना का काम पुष्पेंद्र  के हाथों में
- पुष्पेंद्र रह चुके RU छात्र संघ के अध्यक्ष

सहाड़ा--
- अशोक चांदना खेल और युवा,संस्कृति मंत्री
- भीलवाड़ा से सांसद का चुनाव लड़ चुके अशोक चांदना
- सहाड़ा आता है भीलवाड़ा जिले में
- सहाड़ा में गुर्जर मतदाता भी बड़ी संख्या में
- चांदना युवा चेहरे के तौर पर मेवाड़-मेरवाड़ा-हाड़ौती में चर्चित 
- युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं चांदना
- धीरज गुर्जर राष्ट्रीय सचिव कांग्रेस
- भीलवाड़ा जिले के सबसे चर्चित युवा कांग्रेसी नेता
- स्वजातीय वोटों पर खास पकड़
- इन दिनों यूपी में प्रियंका गांधी के विशेष सिपहसलार
- एनएसयूआई के रह चुके प्रदेश अध्यक्ष
- मुकेश वर्मा युवा कांग्रेसी नेता
- कुमावत वर्ग से है ताल्लुक 
- सीएम गहलोत के सिपहसलारों में होती है गिनती

कांग्रेस में युवा आइकॉन के तौर पर सचिन पायलट का प्रमुखता से नाम लिया जाता है. युवाओं के बीच उनकी विशेष लोकप्रियता है तीनों उपचुनाव में उनकी मौजूदगी युवाओं के बीच चर्चा का केंद्र बनी. युवा वर्ग को साधने के लिए तीनों उपचुनाव में कांग्रेस के युवा दिग्गज अलग रणनीति के साथ काम कर रहे हैं. युवा कांग्रेस कार्यकर्ता टोलियां बनाकर युवा मतदाताओं के बीच पहुंच रहे हैं. युवा साढ़े सब सधे इस वाक्य के साथ उपचुनाव में कांग्रेस के युवा नेता अपना काम कर रहे हैं. युवा दिग्गज वही है जिन्होंने छात्र राजनीति, यूथ कांग्रेस और एनएसयूआई की राजनीति से निकलकर मुख्यधारा की राजनीति में अपनी पहचान बनाई. कांग्रेस के अंदर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को युवाओं को राजनीति में आगे बढ़ाने के लिए जाना जाता है. आज की कि सियासत में स्थापित कई दिग्गज़ चेहरे ऐसे हैं जिन्हें गहलोत ने आगे बढ़ाया. अब समय है युवा चेहरों के जरिए युवा मतदाताओं को साधना और उनके वोट को कांग्रेस के पक्ष में लाना. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें