Live News »

राजस्थान सीजे इंद्रजीत महांती कोरोना पॉजिटिव, सीएम गहलोत ने की शीघ्र स्वस्थ होने की कामना

राजस्थान सीजे इंद्रजीत महांती कोरोना पॉजिटिव, सीएम गहलोत ने की शीघ्र स्वस्थ होने की कामना

जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत महांती की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.चिकित्सा विभाग द्वारा देर शाम मुख्य न्यायाधीश के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि के बाद हड़कंप मचा हुआ है.शुक्रवार को सैंपल लेने के बाद शनिवार सुबह मुख्य न्यायाधीश ने पहले राजस्थान हाईकोर्ट और उसके बाद सेशन कोर्ट में स्वतंत्रता दिवस समारोह में शिरकत करते हुए ध्वजारोहण किया था.दोनों ही जगह सीजे बिना मास्क लगाए शिरकत करते नजर आए है तो वही इस दौरान सीजे के साथ सेल्फी लेने वालों कि भी बड़ी तादाद रही. मुख्य न्यायाधीश के कोरोना पॉजिटीव होने की पुष्टि के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके कहा कि मुख्य न्यायाधीश के पॉजिटिव होने की जानकारी मिली. उनके स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हूं. उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.

दो जजों की रिपोर्ट आई नेगेटिव:
मुख्य न्यायाधीश कार्यालय में कार्यरत एक कर्मचारी के साथ ही पांच कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद शुक्रवार को चीफ जस्टिस के साथ ही अन्य जजों और कोर्ट स्टॉफ के सैंपल लिये गये थे.मुख्य न्यायाधीश के साथ ही जस्टिस प्रकाश गुप्ता, जस्टिस पंकज भण्डारी के भी सैंपल लिये गये थे.चिकित्सा विभाग की ओर से शनिवार शाम को जारी हुई रिपोर्ट में मुख्य न्यायाधीश के साथ उनके दो कार्यालयकर्मी के पॉजिटीव होने की जानकारी दी गई.वहीं अन्य दो जजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है.

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में नाबालिग से गैंगरेप, आंखें फोड़ी और जुबान काटी फिर हत्या

रिपोर्ट आने तक क्वारंटाईन:
मुख्य न्यायाधीश के सैंपल लिये जाने के बाद स्वतंत्रता दिवस समारोह में भाग लेना चर्चा का विषय बना हुआ है.सोशलमीडिया पर अधिवक्ता कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं होने की बात कह रहे है.सार्वजनिक समारोह में बिना मास्क पहने शिरकत करने पर भी सवाल खड़े किये जा रह है.शुक्रवार को हाईकोर्ट में सेम्पल लिया गया है.रिपोर्ट आने तक क्वारेटाईन होने पर इस स्थिती से बचा जा सकता था.गौरतलब है कि लॉकडाउन के दौरान भी मुख्य न्यायाधीश की बार पदाधिकारियों के साथ कई फोटो वायरल हुए थे जिनमें मुख्य न्यायाधीश और बार पदाधिकारी बिना मास्क के नजर आए थे.

सभी लोगों से जांच कराने की अपील की:
मुख्य न्यायाधीश के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद अब हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने उन सभी लोगों से जांच कराने की अपील की है जिन्होंने शनिवार सुबह सीजे के साथ स्वतंत्रता दिवस समारोह में हिस्सा लिया था.चिकित्सा विभाग की टीमें रविवार को सुबह 11 से 2 बज तक हाईकोर्ट की डिसपेंसरी में सैंपल लेगी.हाईकोर्ट में हुए समारोह में जयपुर पीठ के सभी न्यायाधीश, महाधिवक्ता, बार काउंसिल चैयरमेन, हाईकोर्ट बार अध्यक्ष व महासचिव के साथ ही बड़ी तादाद में अधिवक्ताओं, रजिस्ट्री के अधिकारियों और कर्मचारियों ने हिस्सा लिया था. वहीं सैशन कोर्ट में आयोजित समारोह में मुख्य न्यायाधीश के साथ जस्टिस सबीना, जस्टिस सतीश कुमार शर्मा शामिल हुए थे.

एएसजी का पत्र भी हुआ वायरल:
मुख्य न्यायाधीश के कोरोना पॉजीटीव होने के बाद एडिशनल सॉलिस्टर जनरल का एक पत्र भी वाायरल हो रहा है.ये पत्र यू तो एएसजी ने जुलाई के दूसरे सप्ताह में लिेखा है लेकिन पत्र में चेतावनी देते हुए अदालतों में वर्चुअल सुनवाई ही जारी रखने की मांग कि गयी थी.एएसजी रस्तोगी लॉकडाउन के बाद से ही हाईकेार्ट में व्यक्तिगत उपस्थित नही हो रहे है.वे अपने घर से ही वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से मामलो की पैरवी कर रहे है.

16 अगस्त 2020: जानिए आज का पंचांग, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

और पढ़ें

Most Related Stories

Nagar Nigam Polls: प्रदेश की 3 नगर निगमों में कुल 60.42 फीसदी मतदान, कोटा उत्तर में हुई सर्वाधिक वोटिंग

जयपुर: राजस्थान में जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों में गुरुवार को प्रथम चरण के चुनाव छुटपुट घटनाओं को छोड़कर शांतिपूर्ण संपन्न हुए. प्रदेश की 3 नगर निगमों में कुल 60.42% मतदान हुआ है. इसमें सबसे ज्यादा मतदान कोटा उत्तर नगर निगम में  65.12 प्रतिशत हुआ. इसके बाद जोधपुर उत्तर में 62.64% वोटिंग और जयपुर हेरिटेज में 57.82%  मतदान हुआ. अब दूसरे चरण में जयपुर ग्रेटर, जोधपुर दक्षिण और कोटा दक्षिण में 1 नवंबर को मतदान होगा.जबकि मतगणना 3 नवंबर को होगी.

{related}

16 लाख 54 हजार 592 थे कुल मतदाताः 
16 लाख 54 हजार 592 मतदाताओं में से 9 लाख 99 हजार 691 मतदाताओं ने की अपने मताधिकार का उपयोग किया.बता दें कि पहले चरण में 250 वार्डों के 2761 मतदान केंद्रों पर 16 लाख 54 हजार 547 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. इसमें जयपुर हैरिटेज के 100 वार्डों के 9 लाख 32 हजार 908 मतदाताओं में 4 लाख 91 हजार 633 पुरुष, 4 लाख 41 हजार 260 महिला व 15 अन्य, जोधपुर उत्तर के 80 वार्डों के 3 लाख 88 हजार 847 मतदाताओं में से 1 लाख 99 हजार 505 पुरुष, 1 लाख 89 हजार 339 महिला व 3 अन्य और कोटा उत्तर के 70 वार्डों के 3 लाख 32 हजार 792 मतदाताओं में से 1 लाख 70 हजार 959 पुरुष, 1 लाख 61 हजार 831 महिला व 2 अन्य मतदाता शामिल हैं.

कोरोना संक्रमितों ने की गई मतदान की व्यवस्थाः
उधर कोटा उत्तर नगर निगम के लिए गुरुवार को हुए प्रथम चरण के मतदान के आखिरी चरण में कोरोना पॉजिटिव मरीजों ने अपने मत का प्रयोग किया. जानकारी के अनुसार कोटा उत्तर नगर निगम में 5 कोरोना संक्रमितों के लिए सकतपुरा, भदाना, डीसीएम डिस्पेन्सरियों पर मतदान की व्यवस्था की गई थी. कुन्हाड़ी के संत तुकाराम सामुदायिक भवन बूथ पर कोरोना संक्रमितों ने पीपीई किट पहनकर मतदान किया. 

Gujjar Reservation:आरक्षण के मसले पर बैठक में तीन मांगें मानने की घोषणा

जयपुर: गुर्जर आरक्षण मामले को लेकर गुरुवार को मंत्री अशोक चांदना के सरकारी आवास पर हुई बैठक में गुर्जर समाज की तीन मांगें मानने की घोषणा की गई. इस बैठक में मंत्री अशोक चांदना के अलावा मंत्री रघु शर्मा, प्रमुख सचिव गृह अभय कुमार और गायत्री राठौड़ मौजूद थे.

तीन मांगों को मानने की घोषणा कीः
जानकारी के अनुसार सरकारी आवास पर हुई बैठक के बाद  मंत्री अशोक चांदना और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने पत्रकार वार्ता में बताया कि गुर्जर नेताओं की तीन मांगों को माना गया है, जिनमें 1252 लोगों को नियमित पे स्केल देने, आंदोलन के दौरान जिन 3 गुर्जर समाज के लोगों को गोली लगी थी उनके परिजनों को 5-5 लाख रुपए देने और गुर्जर समाज को 9वीं अनुसूची में शामिल करने के लिए केन्द्र को फिर पत्र लिखना आदि शामिल हैं. हालाकि अभी तक  गुर्जर समाज के नेताओं की तरफ से मामले को लेकर कोई प्रतिक्रया नहीं आई है.

{related}

रघु शर्मा ने कहा-सरकार और कानूनी स्तर पर जो भी संभव होगा उन मांगों को पूरा किया जाएगाः
उधर गुर्जर आरक्षण मामले को लेकर चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि बैंसला के मांग पत्र के हर बिंदु पर ध्यान में रखा गया है और सरकार कानूनी स्तर पर जो भी संभव होगा उन मांगों को पूरा किया जाएगा. मंत्री रघु शर्मा ने बैंसला से अपील की है कि सरकार ने उनकी लगभग सभी मांगें पूरी कर दी है और अब आंदोलन करने का कोई कारण नजर नहीं आ रहा है. मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि भाजपा सरकार के समय गुर्जरों पर गोलियां चलाई गई थी, लेकिन मौजूदा गहलोत सरकार ने उन पर लाठीचार्ज तक नहीं किया.उन्होंने कहा कि गुर्जर समाज की मांगों को लेकर हमारी सरकार तुरन्त कार्यवाही कर रही है, लेकिन केंद्र सरकार बीजेपी की है और प्रदेश में सभी सांसद भी उनके है. ऐसे में बीजेपी के सांसद भी केंद्र पर दबाव बनाए, जिससे 9वीं सूची में उनको भी शामिल किया जा सके.

PPE किट पहनकर मतदान करने पहुंची शहर भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष कविता मलिक

PPE किट पहनकर मतदान करने पहुंची शहर भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष कविता मलिक

जयपुर: राजस्थान में जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों में गुरुवार को प्रथम चरण के चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न हुए. मतदान के दौरान शहर भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष कविता मलिक का अनोखा अंदाज देखने को मिला. कविता मलिक मतदान करने के लिए पीपीई किट पहनकर मतदान केन्द्र पहुंची. जिन्हे देखकर वहां मौजूद अन्य लोग चौंक गए.

{related}

कोरोना संक्रमण को देखते हुए पीपीई किट पहनकर कविता मलिक ने किया मतदानः
जानकारी के अनुसार शहर भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष कविता मलिक PPE किट पहनकर मतदान केन्द्र पहुंची और मतदान किया. कविता मलिक ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए वह पीपीई किट पहनकर मतदान करने आई है.

कोटा में 5 कोरोना संक्रमितों ने पीपीई किट पहनकर किया मतदान 
उधर कोटा उत्तर नगर निगम के लिए गुरुवार को हुए प्रथम चरण के मतदान के आखिरी चरण में कोरोना पॉजिटिव मरीजों ने अपने मत का प्रयोग किया. जानकारी के अनुसार कोटा उत्तर नगर निगम में 5 कोरोना संक्रमितों के लिए सकतपुरा, भदाना, डीसीएम डिस्पेन्सरियों पर मतदान की व्यवस्था की गई थी. कुन्हाड़ी के संत तुकाराम सामुदायिक भवन बूथ पर कोरोना संक्रमितों ने पीपीई किट पहनकर मतदान किया. 

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा- छह निगमों में बनाएंगे कांग्रेस का बोर्ड

जयपुरः राजस्थान में जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों के चुनावों को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बयान जारी कर कहा है कि कांग्रेस छह निगमों में अपना बोर्ड बानाएगी. उल्लेखनीय है कि जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों पर गुरुवार को प्रथम चरण के चुनाव के लिए मतदान जारी है.

{related}

कोरोना महामारी के बीच भी मतदाताओं ने सावधानी और उत्साह से किया मतदानः
जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री गहलोत ने गुरुवार को एक बयान जारी करते हुए कहा कि छह निगमों में कांग्रेस अपना बोर्ड बनाएंगी. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बीच भी मतदाताओं ने सावधानी और उत्साह से और कांग्रेस उम्मीदवारों के पक्ष में मतदान किया. उन्होंने कहा कि हमें पूरा विश्वास है कि न केवल इन तीनों में नहीं बल्कि एक नवम्बर को होने वाले मतदान में भी कांग्रेस विजयी होगी.

जब-जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकारें बनीं तब-तब इन शहरों में बही विकास की गंगाः
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पिछले 22 वर्षों में राज्य में जब-जब कांग्रेस की सरकारें बनीं है तब-तब हमने इन शहरों में विकास की गंगा बहाते यहां की तस्वीर बदलने का काम किया है. उन्होंने कहा कि ये विकास और तेज गति तथा जनप्रतिनिधियों की अधिक जवाबदेही के साथ हो सके इस मकसद से राज्य सरकार ने इन शहरों में 3 के स्थान पर 6 नगर निगम बनाए हैं, जिससे अधिक योजनाबद्ध तरीके से विकास संभव हो सके. सीएम गहलोत ने भरोसा जताया कि मतदाता विकास के लिए राज्य सरकार के साथ कड़ी से कड़ी जोड़ने के लिए कांग्रेस को विजयी बनाएंगे.

मास्टर भंवरलाल मेघवाल की पुत्री बनारसी मेघवाल का निधन, जयपुर के मणिपाल हॉस्पिटल में ली अंतिम सांस

जयपुर: सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल की पुत्री बनारसी मेघवाल का दुखद निधन हो गया है. उन्हें सुजानगढ़ में तबीयत खराब होने के बाद जयपुर लाया जा रहा था. लेकिन चौमूं से आगे अचानक उनकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई. ऐसे में बनारसी मेघवाल को तुरंत मणिपाल अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां मणिपाल में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. बनारसी को सुबह ही सांस लेने में दिक्कत हुई थी. उनके निधन की सूचना पर सुजानगढ़ में शोक की लहर छा गई. 

मुख्यमंत्री गहलोत ने जताई निधन पर गहरी संवेदना: 
वहीं बनारसी मेघवाल के निधन की सूचना मिलने पर मुख्यमंत्री गहलोत ने गहरी संवेदना जताई है. सीकर दौरे पर चल रहे PCC चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा ने भी बनारसी मेघवाल के असमय निधन पर शोक जताया है. इसके साथ ही पीसीसी में शोक की लहर छाई हुई है. बनारसी मेघवाल निवर्तमान पीसीसी पदाधिकारी थी. उनके निधन पर विधायक नरेंद्र बुडानिया, खानू खान बुधवाली और ललित तूनवाल सहित प्रदेश के कई नेताओं ने गहरा शोक जताया है.  

{related}

कम उम्र में ही चूरू जिले की पहली महिला जिला प्रमुख बनी थी:
आपको बता दें कि सन् 1997 में बनारसी मेघवाल कम उम्र में ही चूरू जिले की पहली महिला जिला प्रमुख बनी थी. उन्होंने AICC की सदस्य सहित प्रदेश कांग्रेस कमेटी में विभिन्न पदों पर काम किया था. बनारसी का उनके पैतृक गांव बाघसरा पूर्वी में अंतिम संस्कार किया जाएगा. 
 

Nagar Nigam Polls: प्रदेश की 3 नगर निगमों में दोपहर 1 बजे तक हुआ 38.75 फीसदी मतदान, जोधपुर उत्तर में सर्वाधिक वोटिंग

Nagar Nigam Polls: प्रदेश की 3 नगर निगमों में दोपहर 1 बजे तक हुआ 38.75 फीसदी मतदान, जोधपुर उत्तर में सर्वाधिक वोटिंग

जयपुर: राजस्थान में जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों में आज प्रथम चरण के चुनाव के लिए मतदान ने अब रफ्तार पकड़ ली है. जैसे-जैसे अब टाइन निकलता जा रहा मतदाओं में भी उत्साह देखते ही बन रहा है. प्रदेश की 3 नगर निगमों में हो रहे चुनाव में दोपहर 1 बजे तक कुल 38.75% मतदान हुआ है. इसमें दोपहर 1 बजे तक सबसे ज्यादा 42.63 फीसदी मतदान जोधपुर उत्तर में हुआ है. इसके बाद कोटा उत्तर में 38.91 और जयपुर हेरिटेज में 37.08% मतदान हुआ है. 

16 लाख 54 हजार 547 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे:
बता दें कि पहले चरण में 250 वार्डों के 2761 मतदान केंद्रों पर 16 लाख 54 हजार 547 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे. इसमें जयपुर हैरिटेज के 100 वार्डों के 9 लाख 32 हजार 908 मतदाताओं में 4 लाख 91 हजार 633 पुरुष, 4 लाख 41 हजार 260 महिला व 15 अन्य, जोधपुर उत्तर के 80 वार्डों के 3 लाख 88 हजार 847 मतदाताओं में से 1 लाख 99 हजार 505 पुरुष, 1 लाख 89 हजार 339 महिला व 3 अन्य और कोटा उत्तर के 70 वार्डों के 3 लाख 32 हजार 792 मतदाताओं में से 1 लाख 70 हजार 959 पुरुष, 1 लाख 61 हजार 831 महिला व 2 अन्य मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे.

{related}

3393 ईवीएम से होगा मतदान:
पहले चरण में 3 हजार 393 ईवीएम मशीनों के द्वारा चुनाव करवाए जाएंगे. सभी निकायों में लगभग 30 प्रतिशत मशीनें रिजर्व में रखी गई हैं. चुनाव कार्य से जुड़ी सूचनाओं और लोगों की शिकायतों पर कार्यवाही के लिए आयोग ने मुख्यालय और जिलास्तर पर चुनाव नियंत्रण कक्ष स्थापित किये हैं.

मुख्य सचिव प्रकरण में लेटेस्ट अपडेट! गहलोत सरकार ने केन्द्र को भेजा था प्रस्ताव

जयपुर: राजस्थान के मुख्य सचिव प्रकरण में लेटेस्ट अपडेट सामने आई है. गहलोत सरकार ने केंद्र को राजीव स्वरूप के 6 माह के एक्सटेंशन का प्रस्ताव भेजा था लेकिन संभवत: कल दिल्ली से 6 माह के बजाय 3 माह का एक्सटेंशन प्रस्ताव भेजने का फोन आया है. ऐसे में इस 'डवलपमेंट' से एक बार फिर आस जगी है. अपनी लड़ाई लगभग हार चुके राजीव के लिए यह एक नई आस है. 

अभी भी ऊषा शर्मा-वीनू गुप्ता-निरंजन आर्य के नामों की चर्चा:  
दूसरी ओर अभी भी ऊषा शर्मा, वीनू गुप्ता और निरंजन आर्य के नामों की चर्चा चल रही है. ऐसे में यदि ऊषा शर्मा को मौका मिलता है तो ये वरिष्ठता का सम्मान होगा और वरिष्ठता के साथ-साथ "सीपी फैक्टर" भी खुश होगा. यदि डीबी गुप्ता के बाद वीनू को ये पद मिला तो ये उनकी "लॉ प्रोफाइल एंड साइलेंट परफॉर्मेंस" की "विक्ट्री" होगी. वहीं यदि निरंजन आर्य सीएस बने तो वे राज्य के पहले "नरेगा" सीएस होंगे. इसके साथ ही पिछड़ी जाति का कोई अफसर पहली बार सीएस बनेगा. 

{related}

नीलकमल दरबारी की भी आई थी सिफारिश: 
ऐसे में अब हर किसी की निगाहें PMO और सीएम गहलोत के फैसले पर टिकी हुई है. इसी बीच नीलकमल दरबारी की भी गांधी परिवार से निकट रिश्तों के कारण सिफारिश आई थी. लेकिन अंतत: गहलोत सरकार में बात नहीं बनी. क्योंकि नीलकमल के पति एक मामले में सुरेश कलमाड़ी के साथ जेल जा चुके हैं. वैसे नीलकमल की शादी में खुद राजीव गांधी भी शामिल हुए थे.  

निरंजन बने सीएस तो इसका जाएगा जबरदस्त राजनीतिक मैसेज:
वहीं यदि सचमुच निरंजन सीएस बने तो इसका जबरदस्त राजनीतिक मैसेज जाएगा. इसके साथ ही SC-ST, पिछड़ा वर्ग को गहलोत द्वारा आगे लाने का मैसेज भी जाएगा. इसके साथ ही DGP के पद पर पहले ही एक जाट अफसर की नियुक्ति हो रही है. इस प्रकार जाट और पिछड़े वर्ग की सोशल इंजीनियरिंग बनेगी. 
 

Nagar Nigam Polls : सुबह 10 बजे तक जोधपुर में सर्वाधिक 20.43 फीसदी तो सबसे कम जयपुर में 16.91 प्रतिशत हुआ मतदान

Nagar Nigam Polls : सुबह 10 बजे तक जोधपुर में सर्वाधिक 20.43 फीसदी तो सबसे कम जयपुर में 16.91 प्रतिशत हुआ मतदान

जयपुर: राजस्थान में जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों में आज प्रथम चरण के चुनाव के लिए मतदान हो रहा है. इसके लिए सुबह 7:30 बजे मतदान प्रक्रिया शुरू हुई. वोट देने के लिए लोग सुबह से ही बूथ पर अपना आईडी कार्ड लेकर पहुंच रहे हैं. प्रदेश की 3 नगर निगमों में हो रहे चुनाव में सुबह 10 बजे तक 18.30% मतदान हुआ. इसमें जोधपुर में सर्वाधिक 20.43% और सबसे कम 16.91 प्रतिशत मतदान जयपुर में हुआ. 

16 लाख 54 हजार 547 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे:
बता दें कि पहले चरण में 250 वार्डों के 2761 मतदान केंद्रों पर 16 लाख 54 हजार 547 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे. इसमें जयपुर हैरिटेज के 100 वार्डों के 9 लाख 32 हजार 908 मतदाताओं में 4 लाख 91 हजार 633 पुरुष, 4 लाख 41 हजार 260 महिला व 15 अन्य, जोधपुर उत्तर के 80 वार्डों के 3 लाख 88 हजार 847 मतदाताओं में से 1 लाख 99 हजार 505 पुरुष, 1 लाख 89 हजार 339 महिला व 3 अन्य और कोटा उत्तर के 70 वार्डों के 3 लाख 32 हजार 792 मतदाताओं में से 1 लाख 70 हजार 959 पुरुष, 1 लाख 61 हजार 831 महिला व 2 अन्य मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे.

{related}

3393 ईवीएम से होगा मतदान:
पहले चरण में 3 हजार 393 ईवीएम मशीनों के द्वारा चुनाव करवाए जाएंगे. सभी निकायों में लगभग 30 प्रतिशत मशीनें रिजर्व में रखी गई हैं. चुनाव कार्य से जुड़ी सूचनाओं और लोगों की शिकायतों पर कार्यवाही के लिए आयोग ने मुख्यालय और जिलास्तर पर चुनाव नियंत्रण कक्ष स्थापित किये हैं.