Rajasthan: मंत्रिपरिषद पुनर्गठन के बाद अब नए सिरे से बनाया मंत्रियों को अलग-अलग जिलों का प्रभारी, 9 मंत्रियों के बदले गए प्रभार वाले जिले; जानिए किसे कहां की मिली जिम्मेदारी

Rajasthan: मंत्रिपरिषद पुनर्गठन के बाद अब नए सिरे से बनाया मंत्रियों को अलग-अलग जिलों का प्रभारी, 9 मंत्रियों के बदले गए प्रभार वाले जिले; जानिए किसे कहां की मिली जिम्मेदारी

जयपुर: मंत्रिपरिषद पुनर्गठन के बाद अब नए सिरे से मंत्रियों को अलग-अलग जिलों का प्रभारी बनाया गया है. राज्य सरकार की ओर से जारी इस नई सूची के तहत पुराने मंत्रियों में से 9 मंत्री ऐसे हैं जिनके प्रभार वाले 2 जिलों का भार हल्का करते हुए उन्हें महज 1 जिले का प्रभारी बनाया गया है. नौ ही मंत्री ऐसे हैं जिनके जिलों का प्रभार बदला गया है. पुराने मंत्रियों में से सिर्फ 1 मंत्री भंवरसिंह भाटी के प्रभार वाले जिले में बढ़ोतरी करते हुए उन्हें  पिछली बार के 1 जिले के बजाय 2 जिलों का प्रभारी बनाया गया है. सीनियर मंत्री और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विश्वासपात्र शांति धारीवाल का प्रभार वाला जिला पहले की तरह  जयपुर ही रखा गया है.

इन मंत्रियों के पास यह है प्रभार:-
डॉ. बी डी कल्ला को अलवर का, शांति धारीवाल को जयपुर का, हेमाराम चौधरी को जैसलमेर का, परसादी लाल मीणा को कोटा का लालचंद कटारिया को बीकानेर का प्रभारी बनाया है. महेंद्र जीत सिंह मालवीय को अजमेर का, महेश जोशी को भीलवाड़ा का, रामलाल जाट को उदयपुर का, प्रमोद  जैन भाया को झालावाड़ का, विश्वेंद्र सिंह को दौसा का, रमेश मीणा को भरतपुर का, उदयलाल आंजना को राजसमंद का, प्रताप सिंह खाचरियावास को चित्तौड़गढ़ का, शाले मोहम्मद को टोंक,  ममता भूपेश को झुंझुंनू का प्रभारी बनाया गया है.

भजन लाल जाटव को सवाई माधोपुर का, टीकाराम जूली को  पाली का, गोविंद राम मेघवाल को श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ का,  शकुंतला रावत को सीकर का, बृजेंद्र ओला को चूरू का, मुरारी लाल मीणा को प्रतापगढ़ का, राजेंद्र गुढ़ा को बारां का,  जाहिदा खान को बूंदी का, अर्जुन सिंह बामनिया को जालोर का, अशोक चांदना को करौली और धौलपुर का, भंवर सिंह भाटी को डूंगरपुर और बांसवाड़ा का, राजेंद्र सिंह यादव को नागौर का, डॉ सुभाष गर्ग को जोधपुर का और उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी को सिरोही का प्रभारी नियुक्त किया गया है.

इनके बदले गए प्रभार वाले जिले:-
1. बुलाकीदास कल्ला को श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ के बजाय अलवर का प्रभारी बनाया.
2. परसादी लाल मीणा बूंदी व सवाई माधोपुर के बजाय कोटा के होंगे प्रभारी 
3. लालचंद कटारिया अजमेर और कोटा के बजाय अब बीकानेर के होंगे प्रभारी
 4. प्रमोद जैन भाया जालोर और सिरोही के बजाय अब होंगे झालावाड़ के प्रभारी.
5. प्रताप सिंह खाचरियावास उदयपुर के बजाय अब होंगे चित्तौड़गढ़ के प्रभारी
6. शाले मोहम्मद पाली के बजाय अब होंगे टोंक के प्रभारी
7. ममता भूपेश अलवर के बजाय अब होंगी झुंझुनूं की प्रभारी
8. अर्जुन सिंह बामनिया चित्तौड़गढ़ और प्रतापगढ़ के बजाय अब होंगे जालोर के प्रभारी.
9. भंवर सिंह भाटी चूरू के बजाय अब होंगे जनजाति 2 जिले डूंगरपुर और बांसवाड़ा के प्रभारी.

इन 9 मंत्रियों का प्रभार वाले जिलों का हुआ भार हल्का:-  
1. बुलाकी दास कल्ला के पास था पहले श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ इन दो जिलों का प्रभार था. अब उनके पास सिर्फ 1 जिले अलवर का प्रभार रहेगा.  
2. परसादी लाल मीणा के पास था पहले बूंदी और सवाई माधोपुर का प्रभार. अब सिर्फ रहेगा एक ही जिला कोटा का प्रभार 
3. प्रमोद जैन भाया के पास था जालोर और सिरोही का प्रभार. इसके बजाय अब उनके पास एक जिला झालावाड़ का प्रभार 
4. लालचंद कटारिया के पास पहले था अजमेर और कोटा का प्रभार. अब उनके पास आया एक जिला बीकानेर का प्रभार
 5. अर्जुन सिंह बामनिया के पास पहले था चित्तौड़गढ़ और प्रतापगढ़ का प्रभार. अब उनके पास रह गया सिर्फ एक जिला जालोर का प्रभार
6. टीकाराम जूली के पास झालावाड़ और बारां इन दो जिलों का था प्रभार. अब उनके पास सिर्फ पाली जिले का प्रभार 
7. राजेंद्र यादव के पास पहले डूंगरपुर और बांसवाड़ा का था प्रभार. अब सिर्फ एक जिला नागौर का बनाया प्रभारी 
8. सुखराम बिश्नोई थे पहले बाड़मेर और जैसलमेर के प्रभारी. अब रह गया उनके पास सिर्फ बाड़मेर जिला 
9. डॉक्टर सुभाष गर्ग के पास पहले झुंझुनू और सीकर इन दो जिलों के थे प्रभार.  अब सिर्फ मुख्यमंत्री के क्षेत्र जोधपुर का बनाया उन्हें प्रभारी

इनके पास प्रभार वाले पुराने जिलों में से  रहा 1 पुराने वाले जिले का प्रभार:- 
- सुखराम बिश्नोई को बाड़मेर और जैसलमेर में से जैसलमेर का प्रभार हटाते हुए रखा सिर्फ बाड़मेर जिले का ही प्रभार.
- अशोक चांदना के पास पहले करौली व दौसा का था प्रभार अब उनके पास करौली जिला तो रहने ही दिया गया...साथ ही उन्हें दौसा की जगह दे दिया धौलपुर जिला. 

इनका नहीं बदला प्रभार वाला जिला:- 
शांति धारीवाल- जयपुर
उदयलाल आंजना- राजसमंद

पुराने मंत्रियों में से 2 मंत्री ऐसे जिनके पास 2-2 जिलों का प्रभार:-
- अशोक चांदना के पास पहले वाले करौली और दौसा जिलों में से दौसा को हटाकर धौलपुर को दिया, जबकि करौली वाले जिले का प्रभार उनका रखा गया यथावत.
- भंवर सिंह भाटी को पहले सिर्फ चूरू जिले का ही प्रभारी बनाया गया था अब वे होंगे  2 जनजाति जिले डूंगरपुर और बांसवाड़ा के प्रभारी.

नए मंत्रियों में से सिर्फ 1 मंत्री ऐसे जिनके पास 2-2 जिलों का प्रभार:- 
- नए मंत्री गोविंद राम मेघवाल के पास दो- दो जिलों का प्रभार है. बुलाकी दास कल्ला के प्रभार वाले दोनों जिले श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ मेघवाल के हिस्से आये हैं.

मंत्रियों को जिले का प्रभार देने में नई तरह की सोशल इंजीनियरिंग भी देखने को मिल रही है.  इसके तहत अल्पसंख्यक समुदाय से आनेवाले मंत्री शाले मोहम्मद को मुस्लिम बहुल टोंक में प्रभारी बनाया गया है. वहीं कुछ जिलों में क्षेत्रीय संतुलन बैठाते हुए संबंधित मंत्री को प्रभारी बनाया गया है.

और पढ़ें