प्रदेश की राजनीति से जुड़ी बड़ी खबर, मुख्यमंत्री गहलोत ने भी विधायकों का मन टटोलना किया शुरू

प्रदेश की राजनीति से जुड़ी बड़ी खबर, मुख्यमंत्री गहलोत ने भी विधायकों का मन टटोलना किया शुरू

जयपुर: प्रदेश की राजनीति से जुड़ी एक बड़ी खबर आई है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने भी विधायकों (MLAs) का मन टटोलना शुरू किया है. सीएम गहलोत ने पिछले तीन दिन में कई विधायकों से मुलाकात की है. लेकिन इनमे सबसे खास चर्चा 3 निर्दलीय विधायकों की है. देर रात निर्दलीय विधायक ओम प्रकाश हुड़ला व सुरेश टांक ने मुख्यमंत्री गहलोत ने मुलाकात की है. वहीं इससे पहले खुशवीर सिंह जोजावर को भी मिलने बुलाया था. 

इनके अलावा माकपा विधायक बलवान पूनिया भी सीएम गहलोत से मिले हैं. बलवान पूनिया ने देर रात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से लंबी चर्चा की है. इस दौरान क्षेत्रीय मुद्दों के साथ प्रदेश की राजनीति पर चर्चा हुई. वहीं विधायक खिलाड़ी बैरवा भी मुख्यमंत्री से मिले थे. सीएम गहलोत से मुलाकात के दौरान सभी विधायकों ने एक बार फिर कहा कि जब भी आप आवाज देंगे, आपके साथ खड़े मिलेंगे. बता दें कि प्रशांत बैरवा, अमीन खां, गोविंद मेघवाल, इंद्रा मीणा और राजेंद्र गुढ़ा भी सीएम गहलोत से मिल चुके हैं. 

पायलट के समर्थन में भी खुलकर सामने आने लगे समर्थक:
वहीं दूसरी ओर सचिन पायलट (Sachin Pilot) समर्थक एक-एक विधायक एक बार फिर से खुलकर सामने आने लग गये हैं. लेकिन इस पूरे मामले में सचिन पायलट ग्रुप के चार विधायकों की चुप्पी चर्चा का विषय बनी हुई है. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल तो यह खड़ा होता है कि आखिर इन चार विधायकों की चुप्पी का राज क्या है? इन चार विधायकों में रमेश मीणा, बृजेन्द्र ओला, दीपेंद्र शेखावत व हरीश मीणा के नाम को लेकर सियासी गलियारों में अलग-अलग अटकलें लगाई जा रही है. ये चारों विधायक दो दिन से चल रही मुलाकात में भी नहीं आए. पायलट ग्रुप से सबसे पहले भंवरलाल शर्मा छिटके थे, वो पायलट खेमा छोड़कर अशोक गहलोत के पास आ गए थे. इसके बाद विश्वेंद्र सिंह व पीआर मीणा ने सीएम गहलोत की तारीफ की. 

पीआर मीणा ने कहा- पायलट साहब कहेंगे मरना है तो मर जाएंगे
हालांकि शुक्रवार को दौसा के भंडाना में राजेश पायलट की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देने के बाद मीडिया से बात करते हुए पीआर मीणा ने कहा-जहां पायलट साहब कहेंगे वहां जाएंगें. वहीं मुख्यमंत्री के बारे में कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया. इस दौरान पीआर मीणा ने कहा कि अगर पायलट साहब कहेंगे मरना है तो मर जाएंगे. उल्लेखनीय है कि पीआर मीणा ने एक दिन पहले ही मुख्यमंत्री से मुलाकात की थी. 

जयपुर से दिल्ली तक सियासी हलचल तेज: 
राजस्थान के हालात को लेकर जयपुर से दिल्ली तक सियासी हलचल तेज हो गई है. कल शाम सचिन पायलट दिल्ली पहुंच चुके हैं. पायलट दिल्ली में आगे की रणनीति पर चर्चा कर रहे हैं. आज-कल में सचिन पायलट कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर सकते हैं. सचिन पायलट से कांग्रेस प्रभारी अजय माकन भी संपर्क में हैं. वहीं सचिन पायलट के कल दिल्ली जाने के बाद आज सुबह कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी आज सुबह दिल्ली पहुंच गए हैं. डोटासरा ने कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और राजस्थान के सहप्रभारी रह चुके काजी निजामुद्दीन की मां के निधन पर संवेदना जताने के लिए आने की बात कही है. बताया जाता है कि डोटासरा प्रभारी अजय माकन से पूरे मसले पर चर्चा करेंगे. 

और पढ़ें