VIDEO: एक बार फिर कांग्रेस में आंतरिक गतिरोध की आहट !...अगले कुछ दिन होंगे बेहद दिलचस्प

VIDEO: एक बार फिर कांग्रेस में आंतरिक गतिरोध की आहट !...अगले कुछ दिन होंगे बेहद दिलचस्प

जयपुर: कांग्रेस में एक बार फिर आंतरिक गतिरोध की आहट सुनाई दे रही है. जिलाध्यक्षों की नियुक्तियों की कवायद के बीच यह आहट सुनाई दे रही है. AICC ने खुद जिलाध्यक्ष पद के लिए तीन-तीन नामों का पैनल मांगा है और AICC की ओर से प्रभारी अजय माकन टास्क पूरा कर रहे हैं. 

जिलाध्यक्षों के लिए सीधे जिला प्रभारियों से नाम मांगे गए हैं. जबकि अब तक नाम प्रदेशाध्यक्ष के जरिए होकर जाते थे. लेकिन इसबार सभी जिलों के प्रभारियों को फोन करके नाम मांगे गए हैं. आज AICC को सभी जिलों के नाम भेजे जा सकते हैं. परफॉर्मा व्यक्तिगत या फिर मेल के जरिए भेजने के निर्देश हैं. 

अजय माकन के इस कदम की राजनीतिक गलियारों में चर्चा:
अब प्रभारी अजय माकन के इस कदम की राजनीतिक गलियारों में चर्चा है. आखिर क्या है आलाकमान द्वारा सीधे जिलाध्यक्षों को फोन करने के मायने ? आखिर क्यों प्रदेश संगठन को रखा गया इस पूरे प्रकरण से दूर ? इन सवालों पर एक राजनीतिक प्रेक्षक ने टिप्पणी करते हुए कहा कि जिलाध्यक्षों की नियुक्ति से पीसीसी चीफ को दूर रखना न्यायोचित फैसला नहीं है. 

AICC और PCC के बीच बढ़ सकती दूरियां:
जिलाध्यक्षों की नियुक्ति में पीसीसी चीफ का पूरा दखल होता है. ऐसे में AICC और PCC के बीच दूरियां बढ़ सकती है और एक बार फिर प्रदेश में गुटबाजी बढ़ सकती है. इस पूरे घटनाक्रम के बीच पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने भी पदाधिकारियों से AICC को भेजे जाने वाला पैनल PCC को भी भेजने के निर्देश दिए हैं. अब इस पूरे प्रकरण में अगले कुछ दिन बेहद दिलचस्प होंगे. 

और पढ़ें