जयपुर पायलट कैम्प की अब एक नई रणनीति !...इस पूरे घटनाक्रम से एक बार फिर दिया गया संदेश

पायलट कैम्प की अब एक नई रणनीति !...इस पूरे घटनाक्रम से एक बार फिर दिया गया संदेश

जयपुर: प्रदेश में चल रहे सियासी घटनाक्रम के बीच पायलट कैंप ने अब एक नई रणनीति पर काम करना शुरू किया है. पायलट खेमे के विधायक और अन्य नेता सभी वर्गों और समाजों तक पहुंचने की रणनीति बना रहे हैं. इसी के चलते पायलट ने पिछले दिनों की अलग-अलग समाजों के कार्यक्रमों में शिरकत की थी. 

इस पूरे घटनाक्रम से एक बार फिर दिया गया संदेश: 
पायलट सबसे पहले जांगिड़ समाज के रक्तदान शिविर में पहुंचे थे और फिर मीणा समाज की महिलाओं ने उनसे मुलाकात की थी. इस दौरान लोक गीतों और मीठा मुंह करवाने के साथ सियासी मैसेज दिया गया. इसके साथ ही कुछ जाट नेताओं ने भी पायलट से मुलाकात की थी. इस पूरे घटनाक्रम से एक बार फिर संदेश दिया गया कि सचिन पायलट की सिर्फ गुर्जर ही नहीं अन्य समाजों में भी स्वीकार्यता है. 

एक बार फिर मंत्रिमंडल विस्तार और नियुक्तियों की सुगबुगाहट तेज: 
वहीं दूसरी ओर आपको बता दें कि प्रदेश में एक बार फिर मंत्रिमंडल विस्तार और नियुक्तियों की सुगबुगाहट तेज हो गई है. राजस्‍थान में अब जल्द ही बड़े स्तर पर राजनीतिक नियुक्तियां (political appointments) और मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet expansion) होने की संभावना जताई जा रही है. गहलोत-पायलट कैंप के नेता लगातार दिल्ली के दौरे कर रहे हैं. कल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी होम क्वॉरंटीन खत्म कर लिया. मुख्यमंत्री गहलोत लगातार विधायकों से फीडबैक ले रहे हैं. 

मुख्यमंत्री ने कई विधायकों से की फोन पर बात: 
इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कई विधायकों से फोन पर बात की है. इस दौरान उन्होंने मंत्रियों के दौरों, उनके कामकाज, बजट घोषणाओं को लेकर ब्यूरोक्रेसी की सक्रियता और जिला अध्यक्षों की नियुक्ति को लेकर फीडबैक लिया है. मुख्यमंत्री गहलोत मंत्रियों का परफॉर्मेंस रिपोर्ट कार्ड बना चुके हैं. रिपोर्ट कार्ड के आधार पर कई मंत्रियों की छुट्टी या विभागों में बदलाव होने की संभावना जताई जा रही है. 


 

और पढ़ें