close ads


राजस्थान हाईकोर्ट ने पूर्व मुख्य सचिव डी बी गुप्ता सहित 3 को किया अवमानना से मुक्त

राजस्थान हाईकोर्ट ने पूर्व मुख्य सचिव डी बी गुप्ता सहित 3 को किया अवमानना से मुक्त

जयपुर: राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा जून माह में आयोजित की गयी 10 और 12 वीं बोर्ड परीक्षाओं में एक भी अप्रिय घटना नहीं होने और एक भी शिकायत नहीं मिलने के आधार पर राज्य के पूर्व मुख्य सचिव डी बी गुप्ता को अवमानना से मुक्त कर दिया है. पूर्व मुख्य सचिव के साथ ही माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सचिव अरविंद सेंगवा और सीबीएसई  बोर्ड सचिव अनुराग त्रिपाठी को भी अदालत ने अवमानना की कार्यवाही से मुक्त करने के आदेश दिये है. जस्टिस सबीना और जस्टिस प्रकाश गुप्ता की खण्डपीठ ने पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था की ओर से दायर अवमानना याचिका को निस्तारित करते हुए ये आदेश दिये है.

तीनों अधिकारियों को अवमानना नोटिस जारी किये गये थे:
गौरतबल है जून माह में आयोजित हुई बोर्ड परीक्षाओं में कोरोना संक्रमण से बचाव के इंतजाम नहीं करने और राजस्थान हाईकोर्ट के 29 मई के आदेश की पालना नहीं करने पर पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था की ओर से अवमानना याचिका दायर की गयी थी. याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने 30 जून को पूर्व मुख्य सचिव गुप्ता सहित तीनों अधिकारियों को अवमानना नोटिस जारी किये गये थे. याचिका में केन्द्र और राज्य सरकार की गाइडलान की सख्ती से पालना नहीं कराने की बात कही गयी. नोटिस के जवाब में राज्य सरकार की ओर से याचिका का यह कहते हुए विरोध किया गया कि राज्य में आयोजित हुई बोर्ड परीक्षाओं में कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइन की सख्ती से पालना की गयी. जिसके चलते परीक्षा के दौरान एक भी अप्रिय घटना नहीं घटी और ना ही एक भी शिकायत ही इस मामले में सरकार को की गयी.

दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद अवमानना से मुक्त:
सार्वजनिक बसों की व्यवस्था को लेकर सरकार ने कहा कि जिस दिन बोर्ड परीक्षाए आयोजित कि गयी उसी दिन अनलॉक तीन लागू किया गया था जिसके चलते बच्चे अपने निजी वाहनों के जरिए परीक्षा देने पहुंचे थे. सरकार ने कहा कि एक भी स्टूडेंट ने सरकार से परिवहन की मांग नहीं की. दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद अदालत ने पूर्व मुख्य सचिव डी बी गुप्ता, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सचिव अरविंद सेंगवा और सीबीएसई बोर्ड सचिव अनुराग त्रिपाठी को अवमानना की कार्यवाही से मुक्त करते हुए याचिका को निस्तारित करने के आदेश दिये. 

और पढ़ें