जयपुर Rajasthan: घायल नाबालिग की सर्जरी की गई, जांच के लिए पुलिस टीम गठित

Rajasthan: घायल नाबालिग की सर्जरी की गई, जांच के लिए पुलिस टीम गठित

Rajasthan: घायल नाबालिग की सर्जरी की गई, जांच के लिए पुलिस टीम गठित

जयपुर: राजस्थान के अलवर जिले में मंगलवार को लापता होने के बाद घर से करीब 25 किलोमीटर दूर घायल अवस्था में मिली 15 वर्षीय किशोरी की बुधवार को जयपुर के अस्पताल में शल्य चिकित्सा की गई. पीड़िता के निजी अंगों में गंभीर चोट के कारण सर्जरी में ढाई घंटे का समय लगा. पुलिस ने बताया कि प्रथम दृष्टया यह दुष्कर्म का मामला प्रतीत होता है. हालांकि, अब तक इस बारे में पुष्टि नहीं हो पाई है. मामले की जांच के लिए पुलिस की कई टीम गठित की गई हैं. मंगलवार को दिन में घर से लापता हुई नाबालिग पीड़िता के साथ हुई घटना के बारे में पुलिस को अब तक कोई खास जानकारी नहीं मिल सकी है. पीड़िता मंगलवार रात नौ बजे अलवर के तिजारा फाटक के पास सड़क पर घायल अवस्था में मिली थी. पीड़िता को अलवर के जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां से चिकित्सकों ने बीती रात उसे जयपुर के जे.के. लोन अस्पताल में भेज दिया. बुधवार को पीड़िता की लोन अस्पताल में शल्य चिकित्सा की गई.

अस्पताल के अधीक्षक डॉ अरविंद शुक्ला ने बताया कि पीड़िता की चोट गहरी थी और इसकी शल्य चिकित्सा में करीब ढाई घंटे का समय लगा. उन्होंने कहा कि वह मनोरोगी है और ठीक से बोल नहीं पा रही है. उन्होंने बताया कि मेडिकल रिपोर्ट से पता चल पाएगा कि चोट यौन उत्पीड़न के कारण हुई या किसी और चीज के हमले के कारण चोट पहुंची है. इस बीच, स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा, उद्योग मंत्री शकुंतला रावत, महिला एवं बाल कल्याण मंत्री ममता भूपेश ने अस्पताल का दौरा कर पीड़िता से मुलाकात की. उन्होंने चिकित्सकों से लड़की के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी भी ली. स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि अस्पताल प्रशासन बालिका की पूरी देखरेख कर रहा है और वह खतरे से बाहर है. उन्होंने पीड़िता का निशुल्क उपचार करने और परिजनों के रहने व खाने-पीने की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए. वहीं, अलवर पुलिस को पीड़िता के साथ मंगलवार रात घटी घटना के बारे में कोई जानकारी नहीं है. अलवर पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने बताया कि मामले की जांच के लिये अलग-अलग पुलिस टीम गठित की गई हैं. गौतम ने बुधवार को बताया कि 15 वर्षीय नाबालिग किशोरी मंगलवार दिन में घर से लापता हो गई थी. उसके परिजन उसे ढूंढ रहे थे. मंगलवार रात नौ बजे तिजारा फाटक के पास वह घायल अवस्था में मिली थी. उन्होंने बताया कि इस संबंध में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. पुलिस पीड़िता के घर से लापता होने के बाद तिजारा फाटक तक पहुंचने की कड़ियों को जोड़कर और सीसीटीवी फुटेज के जरिये आरोपियों की पहचान का प्रयास कर रही है.

 

एक अन्य पुलिस अधिकारी ने बताया कि किशोरी अलवर के मालाखेड़ा थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है और मंगलवार शाम को करीब चार बजे उसके परिजनों को पता चला कि वह घर से लापता है. उन्होंने बताया कि परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की और जब वे उसका पता नहीं लगा पाये तो वे पुलिस चौकी पहुंचे. इस बीच, किशोरी को उसके घर से करीब 25 किलोमीटर दूर तिजारा फाटक के पास से बरामद किया गया. उधर, भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अलवर में नाबालिग के साथ हुई घटना ने ना सिर्फ राजस्थान को शर्मसार किया है बल्कि कांग्रेस सरकार की लचर कानून-व्यवस्था की पोल खोल दी है. राजे ने ट्वीट कर कहा कि नारी स्वाभिमान के पर्याय राजस्थान में बेटियों पर हो रहे अत्याचार को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले में देश में अव्वल बन चुके राजस्थान को शोषण मुक्त बनाने के लिए कांग्रेस सरकार को सख्त कदम उठाने चाहिए.’ सोर्स- भाषा
 

और पढ़ें