राजस्थान के झालावाड़ में लगातार बारिश से गिरी दीवार, एक किशोर की मौत, कई गांवों में बाढ़

राजस्थान के झालावाड़ में लगातार बारिश से गिरी दीवार, एक किशोर की मौत, कई गांवों में बाढ़

राजस्थान के झालावाड़ में लगातार बारिश से गिरी दीवार, एक किशोर की मौत, कई गांवों में बाढ़

कोटा: राजस्थान में झालावाड़ जिले के एक गांव में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश के बाद शुक्रवार को एक घर की दीवार गिरने से एक किशोर की मौत हो गई. पुलिस ने यह जानकारी दी. झालावाड़ के खानपुर, सरोला और असनावर इलाके पिछले छह दिनों से बारिश के कारण पहले से ही बाढ़ जैसी स्थिति का सामना कर रहे है, लेकिन शुक्रवार की सुबह दो बांधों से 1.5 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद स्थिति और खराब हो गई.

सहायक अभियंता सुरेंद्र धाकड़ ने कहा कि कालीसिंध बांध के पूर्वान्ह्र 11 बजे 10 द्वार खोले गये, जिससे करीब 1,18,000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया. उन्होंने कहा कि बांध में जलस्तर बढ़ने के कारण दिन में और द्वार खोले जाने की संभावना है. उन्होंने कहा कि इसके अलावा, भीम सागर बांध के पांच द्वार खोले गये और लगभग 50,000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया. जिले के खानपुर थाना क्षेत्र के चांदखेड़ी गांव में जहां 15 वर्षीय एक किशोर की मौत हो गई, वहीं बोरदा गांव में दो और मकान ढह गए लेकिन इसमें कोई घायल नहीं हुआ. खानपुर थाने के एसएचओ रमेशचंद ने बताया कि शव पोस्टमॉर्टम के लिए स्थानीय अस्पताल में रखा गया है.

उन्होंने कहा कि पूरा खानपुर क्षेत्र पानी के भारी प्रवाह से घिरे एक द्वीप में बदल गया है, और कई लोग अपने गांवों में कथित तौर पर फंस गए हैं, जबकि भारी जलभराव के कारण झालावाड़-बारां राजमार्ग का संपर्क टूट गया है. एसएचओ ने कहा कि गलाना गांव में एक घर में लगभग 18 और खानपुर शहर में छह और लोगों के फंसे होने की खबर है.

बचाव अभियान जारी है. झालावाड़ बाढ़ नियंत्रण प्रकोष्ठ के एक अधिकारी ने बताया कि झालावाड़ के असनावर, खानपुर और सरोला क्षेत्रों के 36 से अधिक गांव जलमग्न हैं जबकि रूपेहली, छपी, परवन और कालीसिंध नदियां उफान पर हैं. झालावाड़ के सहायक पुलिस अधीक्षक राजेश यादव ने कहा कि खानपुर, असनावर और सरोलाकलां थाना क्षेत्रों में फंसे लोगों को बचाने और उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए अभियान जारी है. (भाषा) 

और पढ़ें