ACB Trap in Rajasthan: रिश्वत लेते धरे गए विद्युत विभाग के तकनीकी सहायक और वॉर्ड नंबर-10 का पार्षद

ACB Trap in Rajasthan: रिश्वत लेते धरे गए विद्युत विभाग के तकनीकी सहायक और वॉर्ड नंबर-10 का पार्षद

ACB Trap in Rajasthan: रिश्वत लेते धरे गए विद्युत विभाग के तकनीकी सहायक और वॉर्ड नंबर-10 का पार्षद

जयपुर: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) राजस्थान में लगातार ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही हैं. रोजाना एसीबी घूसखोर अधिकारी और कर्मचारियों पर शिकंजा कस रही हैं. ताजा मामला करौली और कोटा जिले का है, जहां पर एसीबी ने शनिवार को कार्रवाई की है. करौली में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की करौली चौकी टीम ने विद्युत निगम के घूसखोर तकनीकी सहायक को रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथ दबोच लिया. वहीं कोटा नगर निगम दक्षिण के वॉर्ड नंबर-10 का कांग्रेस पार्षद कमल मीणा शनिवार को 5 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों एसीबी के हत्थे चढ गया. चलिए जानते है पूरी खबर...

करौली में घूसखोर तकनीकी सहायक को दबोचा:
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की करौली चौकी टीम ने विद्युत निगम के घूसखोर तकनीकी सहायक को रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथ दबोच लिया. घूसखोर तकनीकी सहायक लक्ष्मी राज सपोटरा क्षेत्र के अमर बार विद्युत सब स्टेशन पर नियुक्त है. उसने रिश्वत की राशि चील की नरौली निवासी गुरु चरण से विद्युत कनेक्शन की डीसी रिपोर्ट बनाने के बदले मांगी थी. एसीबी डीएसपी अमर सिंह मीणा ने बताया कि सपोटरा के चीर की नरौली निवासी गुरुचरण ने 2 जुलाई को ब्यूरो कार्यालय में विद्युत लाइनमैन द्वारा कनेक्शन को डीसी करने की एवज में 20 हजार रिश्वत मांगने की शिकायत की. शिकायत का सत्यापन 2 जुलाई को ही कराया गया. सत्यापन के दौरान लक्ष्मीराज तकनीकी सहायक द्वितीय विद्युत ग्रिड स्टेशन अमरवाड सपोटरा ने परिवादी से उसके गांव में घरेलू विद्युत कनेक्शन को बंद करने की रिपोर्ट बनाने की एवज में 16 हजार की रिश्वत लेने पर का सत्यापन हुआ. जिसके बाद आज कार्रवाई करते हुए रामाठहरा गांव स्थित आरोपी के घर पर रिश्वत देना तय हुआ. आरोपी के अनुसार परिवादी रिश्वत राशि लेकर उसके घर पहुंचा. आरोपी ने परिवादी से रिश्वत राशि लेकर दोनों हाथों से गिनी और अपने सामने रखी टेबल पर एक नोटबुक में रख दी. एसीबी टीम ने घर पर छापा मारकर आरोपी से रिश्वत राशि जब्त कर ली. साथ ही किसी अनहोनी की आशंका से एसीबी टीम आरोपी को सपोटरा थाने लेकर पहुंची, जहां कार्यवाही की गई.

कोटा में कांग्रेस पार्षद कमल मीणा रिश्वत लेते ट्रैप:
नगरनिगम कोटा दक्षिण के वॉर्ड नंबर-10 का कांग्रेस पार्षद कमल मीणा आज 5 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों एसीबी के हत्थे चढा.घूसखोर पार्षद के साथ उसका प्राईवेट मुंशी सुनील गोचर भी एसीबी की गिरफ्त में आया हैं. एक सफाई कर्मचारी से अनंतपुरा यात्री प्रतीक्षालय में पार्षद और मुंशी ने घूस ली और पार्षद के इशारे पर मुंशी ने घूस की रकम को जैसे ही पेन्ट की जेब में रखा वैसे ही एसीबी दल ने दोनों को दबोच लिया. एसीबी के डिप्टी एसपी हर्षराजसिंह खरेडा ने फर्स्ट इंडिया को बताया कि बीमारी के चलते करीब 10 महिने तक गैरहाजिर रहे एक सफाई कर्मचारी से ड्यूटी फिर से ज्वॉयन कराने और मेडिकल लीव के दौरान की सैलेरी बनवाने के एवज में पार्षद-मुंशी ने कुल 10 हजार की डिमांड की थी और जमादार ने भी पार्षद की रजामंदी नहीं होने तक काम पर लेने और फिर से ड्यूटी ज्वॉयन कराने से साफ इन्कार कर दिया था.दोनों घूसखोरों को गिरफ्तार करके एसीबी अनंतपुरा थाने लाई.

और पढ़ें