Live News »

Rajasthan Lockdown: इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर सब बंद, सड़कों पर पसरा सन्नाटा,पुलिस की बढ़ी सख्ती 

 Rajasthan Lockdown: इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर सब बंद, सड़कों पर पसरा सन्नाटा,पुलिस की बढ़ी सख्ती 

जयपुर: कोरोना से बचाव के लिए राजस्थान के कई क्षेत्रों में 21 दिन के लॉकडाउन का असर दूसरे दिन भी देखने को मिला. जहां इंसान आपस में दूरी बनाए समान लेते दिखाई दिए. हालांकि, राजस्थान में  राज्य सरकार ने पहले ही लॉकडाउन कर रखा था. ऐसे में यहां लॉकडाउन का चौथा दिन है. प्रदेश की राजधानी जयपुर की सडकों पर सन्नाटा छाया रहा है. इमरजेंसी सेवाओं को छोडकर सभी बाजार बंद रहा है. दवा, दूध और जरूरी सामानों की दुकानें खुली हुई हैं. लोग खरीददारी कर रहे हैं, लेकिन भीड़ नहीं है.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कोरोना के नए मामले आये सामने, पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 39

जरूरत के सामान की होम डिलेवरी:
पहले केन्द्र और राज्य सरकार ने आमजन को कह दिया है कि कोई भी जरूरी सामान की कमी नहीं आएगी. अब पुलिस की पहल के बाद तमाम कंपनियां घर-घर जाकर खाने के सामान की डिलेवरी कर रही है. जानकारी के मुताबिक 24 घंटे ये सुविधा उप्लब्ध करवाई जाएगी. जिससे बाजारों में भीड़ नहीं लगे. इसके साथ ठेलों के माध्यम से भी सब्जियां पहुंचाई जाएगी. वहीं गुरुवार को भी जयुपर के परकोटे इलाके में शहर के अन्य हिस्सों की तुलना में लॉकडाउन का असर कम नजर आया. 

पुलिस की सख्ती बढ़ी:
सरकार और प्रशासन के अलर्ट करने के बाद भी लोग लॉकडाउन को जो उल्लंघन कर रहे है, अब पुलिस उनके लिए सख्ती से बर्ताव कर रही है. पहले ही कह दिया है कि यह आपके जीवन के लिए लॉकडाउन है, लेकिन आमजन समझ ही नहीं है. गुरुवार को भी चौराहों पर तैनात पुलिस ने घरों से बाहर आए युवकों से पूछताछ की और उन्हें घर भेजा. वैशाली नगर में पुलिस ने दुकानदारों को हिदायत दी कि वह भीड़ न लगने दें. दुकान के बाहर खड़े लोगों से भी पुलिस ने दूर-दूर खड़े रहने के लिए कहा. पुलिसवालों ने दुकानदारों से कहा है कि दुकान के बाहर एक बोर्ड लगाएं, जिसमें बिना मास्क के सामान नहीं देने की बात लिखी हो.

Corona Update: कोरोना की वजह से 14 लोगों की मौत, एक जम्मू कश्मीर में तो दूसरी महाराष्ट्र में हुई मौत, संक्रमित लोगों की संख्या हुई 629

लॉकडाउन को किया उल्लंघन तो होगी सजा:
लॉकडाउन का पालन नहीं करने वालों पर महामारी रोग कानून-1897 के उल्लंघन का मामला दर्ज हो रहा है. यह आईपीसी की धारा-188 के तहत दंडनीय अपराध है. इसे तोड़ने वालों को छह माह तक की जेल या एक हजार रुपए जुर्माना या फिर दोनों सजा साथ हो सकती है. इसलिए हमारी आपसे अपील है कि घरों में रहे, लॉकडाउन का पालन करें. ये सब आपके लिए किया जा रहा है. कोरोना महामारी को रोकने का बस यही तरीका है आप घरों में रहे है. दूरी बनाये रखे. 

और पढ़ें

Most Related Stories

RSS के लघु उद्योग भारती की अनुकरणीय पहल, घर के नजदीक मिलेगा रोजगार

RSS के लघु उद्योग भारती की अनुकरणीय पहल, घर के नजदीक मिलेगा रोजगार

जयपुर: दो वक्त की रोटी के लिए घर से सैकड़ों किलोमीटर दूर मजदूरी करने वाले श्रमिक कोरोना काल में अपने गृह राज्यों में वापस तो लौट चुके हैं. लेकिन अब उनके सामने रोजगार का संकट खड़ा हो गया है. लॉकडाउन में उद्योग-धंधे बंद होने से दिहाड़ी मजदूरों के लिए खड़ी हुई इस विकट समस्या के समाधान की दिशा में लघु उद्योग भारती ने एक अनूठा प्रयास शुरू किया है. 

Cyclone Nisarga: तेजी से विकराल रूप ले रहा चक्रवात निसर्ग, राजस्थान में भी 3 दिन भारी बारिश की चेतावनी 

एलयूबी नेशनल डॉट कॉम नामक पोर्टल लॉन्च किया:  
लघु उद्योग भारती ने एलयूबी नेशनल डॉट कॉम नामक पोर्टल लॉन्च किया है. इस पोर्टल पर बेरोजगार लोग अपना रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे. जिनकी योग्यतानुसार स्क्रूटनी के बाद सम्बंधित क्षेत्र में रोजगार मिल सकेगा. 

रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में सराहनीय कार्य: 
पोर्टल का शुभारम्भ मंगलवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र संघचालक डॉ. रमेश अग्रवाल, लघु उद्योग भारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री प्रकाशचंद व पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष ओपी मित्तल ने आर एस एस के सेवा सदन में किया. डॉ. अग्रवाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौर में बड़ी तादात में लोग बेरोजगार हो चुके हैं. रोजगार के अभाव में अनेकों परिवारों को भरण-पोषण बहुत मुश्किल हो गया है. ऐसे में समाज के लोग रोजगारयुक्त हों इसका हरसंभव प्रयास करना सेवा भाव से हम सबकी जिम्मेदारी बनती है. इसके लिए लघु उद्योग भारती ने पोर्टल व मोबाइल एप लॉन्च कर बेरोजगार लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में सराहनीय कार्य शुरू किया है.

कोरोना के बाद पहली बार 8 जुलाई को खेला जायेगा अंतरराष्ट्रीय मैच, वेस्टइंडीज और इंग्लैंड होंगे आमने-सामने

मोबाइल या ई-मित्र से आवेदन किया जा सकता है:
इस दौरान संघ के अखिल भारतीय घुमंतू कार्य प्रमुख दुर्गादास, क्षेत्र प्रचारक निम्बाराम, सेवा प्रमुख शिवलहरी समेत कई कार्यकर्ता दो गज दूरी का पालन करते हुए कार्यक्रम में शामिल हुए. लघु उद्योग भारती के प्रदेशाध्यक्ष घनश्याम ओझा ने बताया कि पोर्टल पर नौकरी, नौकरी देने वाला व स्वरोजगार नाम से तीन श्रेणियां बनाई गई हैं. इनमें मोबाइल या ई-मित्र से आवेदन किया जा सकता  है. आवेदनों की जांच के बाद उन्हें रोजगार देने के लिए सम्बंधित उद्योगों में भेजा जाएगा. उन्होंने बताया कि पोर्टल व एप के माध्यम से कुशल, अकुशल व तकनीकी जानकार लोगों को उनके गृह क्षेत्र में ही काम मिल सकेगा. विभिन्न राज्यों से आ रहे प्रवासी उद्यमी अपने क्षेत्र में ही कोई छोटा मोटा व्यवसाय करना चाहेंगे तो उन्हें स्टार्ट अप में मदद मिलेगी. वहीं उद्यमियों को उनकी मांग के अनुरूप कारीगर, कंप्यूटर ऑपरेटर, ड्राइवर, हैल्पर, मशीन ऑपरेटर, फोरमैन, बाबू, कैटर्स आदि मिल सकेंगे तो इस तरह की श्रेणी के लोगों को अपने घर के आसपास काम मिल सकेगा. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए एश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट

Cyclone Nisarga: तेजी से विकराल रूप ले रहा चक्रवात निसर्ग, राजस्थान में भी 3 दिन भारी बारिश की चेतावनी

Cyclone Nisarga: तेजी से विकराल रूप ले रहा चक्रवात निसर्ग, राजस्थान में भी 3 दिन भारी बारिश की चेतावनी

नई दिल्ली: चक्रवाती तूफान निसर्ग के चलते महाराष्ट्र के लिए आज का दिन बेहद भारी है. मौसम विभाग के मुताबिक निसर्ग चक्रवाती तूफान अभी मुंबई से करीब 150 किलोमीटर दूर है. आज यह महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तट को पार कर जाएगा. लेकिन इस तूफान के आने से पहले लगातार बारिश हो रही है. समंदर में तूफान के समय 6 फीट ऊंची लहरें उठ सकती हैं. 

कोरोना के बाद पहली बार 8 जुलाई को खेला जायेगा अंतरराष्ट्रीय मैच, वेस्टइंडीज और इंग्लैंड होंगे आमने-सामने

हवा की गति 100 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी: 
चक्रवाती तूफान उत्तरी महाराष्ट्र और हरिहरेश्वर और दमन के बीच अलीबाग के पास दक्षिण गुजरात के तट को आज दोपहर बाद पार करेगा और हवा की गति 100 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी. हालांकि मुंबई निसर्ग की मुसीबत से निपटने के लिए तैयार है. 80 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

NDRF ने 40 टीमों को तैनात किया:
चक्रवाती तूफान निसर्ग से निपटने के लिए NDRF ने राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में 40 टीमों को तैनात किया है और अतिरिक्त टीमों को भी एयरलिफ्ट किया गया है. साइक्लोन निसर्ग की वजह से महाराष्ट्र में एनडीआरएफ की 20 टीमों को तैनात किया गया. मुंबई में आठ टीमें, रायगढ़ में पांच टीमें, पालघर में दो, ठाणे में दो, रत्नागिरी में दो और सिंधुदुर्ग में एक टीम को तैनात किया गया है.

राहत टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया:
नौसेना और वायु सेना के जहाजों और विमानों के साथ सेना और नौसेना की बचाव और राहत टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है. तटरक्षक बल के जहाज पहले से ही समुद्र में मछुआरों को बचाने में लगे हुए हैं. मुंबई पुलिस ने चक्रवात के मद्देनजर लोगों को तटों पर जाने से रोकने के लिये शहर में धारा 144 लगा दी है.

फिर बढ़ गई शराब की कीमतें, 5 से 30 रुपए तक कीमतों में बढ़ोतरी

राजस्थान में भी दिखाई देगा असर: 
मौसम विभाग के अनुसार तूफान निसर्ग का असर राजस्थान और मध्य प्रदेश में भी दिखाई देगा. जिसके चलते 3 जून से 5 जून के बीच दक्षिण-पश्चिमी मध्य प्रदेश और दक्षिण-पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश होने की आशंका है. इस दौरान तेज हवाएं चलने की संभावना जताई जा रही है. वहीं, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के चलते बारिश का दौर जारी रहने का अनुमान है. 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 4 मौत, 273 नए पॉजिटिव केस, जयपुर के SMS अस्पताल में कोरोना का बड़ा विस्फोट

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस के लगातार मामले बढ़ते जा रहे है. पिछले 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत हो गई. ज​बकि 273 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. जयपुर में 2, भरतपुर और कोटा में एक-एक मरीज की मौत हो गई. सर्वाधिक 70 केस अकेले भरतपुर में सामने आये है. राजस्थान में कोरोना की चपेट में आने से अब तक 203 मरीजों की मौत हो चुकी है, वहीं कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 9 हजार 373 हो गई है. 

भरतपुर में सबसे ज्यादा मामले आये सामने:
मंगलवार रात 8:30 बजे तक सर्वाधिक 70 केस अकेले भरतपुर में सामने सामने आये. अजमेर 1, अलवर 10, बाड़मेर 3,  भीलवाड़ा 8 पॉजिटिव, बीकानेर 2, चित्तौडगढ़ 3, चूरू 2, दौसा में 7 पॉजिटिव, धौलपुर में 2, श्रीगंगानगर में 1, जयपुर 42 पॉजिटिव, झालावाड़ में 23, झुंझुनूं 6, जोधपुर 44, कोटा 13 पॉजिटिव, पाली 13, सीकर 5, सिरोही 12, टोंक में 1 पॉजिटिव, उदयपुर में 4 और दूसरे राज्य का एक मरीज पॉजिटिव सामने आया. 

जयपुर जंक्शन से गति पकड़ रहा ट्रेनों का संचालन, मुम्बई से 834 यात्रियों के साथ ट्रेन पहुंची जयपुर

जयपुर में एक ही दिन में 2 मौत, 42 नए पॉजिटिव:
जयपुर में एक ही दिन में 2 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 42 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. कुल पॉजिटिव में से अकेले 20 मरीज SMS अस्पताल से सामने आये है.इलाकेवार देखे तो एक बार फिर रामगंज में 17 नए केस सामने आये है. SMS अस्पताल के स्टाफ में से अधिकांश केस रामगंज के इलाके है. इसके अलावा सूरजपोल से 1,पांच्यावाला से 1,झोटवाड़ा से 1 पॉजिटिव, ग्रीन विहार से 1,चांदपोल से 3,शाहपुरा से 1 पॉजिटिव, झालाना कच्ची बस्ती से 1,पालडी मीणा से 1,राजपुरा से 1 पॉजिटिव, अम्बाबाडी से 1,करतापुरा अम्बेडकर नगर से 1,जवाहर नगर से 1 पॉजिटिव, शास्त्री नगर से 2,बंजारा बस्ती से 1,ब्रह्मपुरी से 1,जगतपुरा से 1 पॉजिटिव, अशोक नगर से 1,कोटपूतली से 2,मुरलीपुरा से 1,वनस्थली मार्ग से 1 पॉजिटिव, श्याम नगर से एक मरीज कोरोना पॉजिटिव मिला है. जयपुर में अब तक 96 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि अब तक  2069 पॉजिटिव केस सामने आ चुके है. 

जयपुर के SMS अस्पताल में कोरोना का बड़ा विस्फोट:
राजधानी जयपुर के SMS अस्पताल में कोरोना का बड़ा विस्फोट हुआ है. एक ही दिन में 20 कोरोना वॉरियर कोरोना पॉजिटिव आए है. इसमें 10वार्ड ब्वॉय,एक वार्ड लेडी,एक गर्ल्स हॉस्टल की स्वीपर, दो कम्प्यूटर ऑपरेटर,दो डीडीसी सहायक,एक मोटर वर्कर,एक गेयर हाउस वर्कर,दो गार्ड जांच में पॉजिटिव निकले है.

राजस्थान रोडवेज बढ़ा रहा बस संचालन का दायरा, बुधवार से 100 नए रूटों पर चलेंगी बसें

राजस्थान रोडवेज बढ़ा रहा बस संचालन का दायरा, बुधवार से 100 नए रूटों पर चलेंगी बसें

जयपुर: अनलॉक 1.0 में राजस्थान रोडवेज अपने संचालन का दायरा बढ़ाने जा रहा है. इसके तहत रोडवेज प्रबंधन कल से करीब 100 नए मार्गों पर बसों का संचालन शुरू करेगा. 2 महीने से अधिक के लॉक डाउन के बाद अब प्रदेश सरकार जनजीवन को सामान्य करने के प्रयास कर रही है. हाल में सरकार ने सार्वजनिक परिवहन सेवा को शुरू करने का एलान किया था. सरकार के आदेशों के बाद अब रोडवेज बुधवार से अपने संचालन का दायरा बढ़ाने जा रहा है. बुधवार से करीब 100 रूटों पर राजस्थान रोडवेज की बसें शुरू हो जाएंगी. बुधवार से चलने वाली सभी बसों के बारे में रोडवेज की वेबसाइट से जानकारी ली जा सकती है. बुधवार से शुरू हो रही नई बसों के लिए ऑनलाइन बुकिंग भी शुरू की जा चुकी है. 

जयपुर के लिए शुरू हो जाएगा बसों का संचालन:
रोडवेज प्रबंधन ने बुधवार से शुरू हो रही बसों को लेकर यह प्रयास किया है कि सभी जिला मुख्यालयों से जयपुर के लिए बसों का संचालन शुरू हो जाएगा. अब प्रदेश के सभी जिलों में भी कल से बसों का संचालन शुरू हो जाएगा. रोडवेज के एमडी नवीन जैन ने बताया कि कल से ही राजस्थान रोडवेज़ अंतर्राज्यीय बस सेवा भी शुरू कर देगा. पहले चरण में फिलहाल हरियाणा के लिए ही यह सेवा शुरू होगी लेकिन जल्द ही इस सेवा का विस्तार किया जाएगा. रोडवेज एमडी ने सभी आगार प्रबंधक को आदेश जारी कर कोरोना को लेकर जारी सभी गाइडलाइंस का पालन करने के निर्देश दिए हैं.

यहां से शुरू होंगी रोडवेज की बसें:

जयपुर से गुड़गांव

जयपुर से हिसार

जयपुर से कोटा

जयपुर से जोधपुर

जयपुर से उदयपुर

जयपुर से भरतपुर

जयपुर से बीकानेर

जयपुर से तिजारा

भरतपुर से अलवर

नागौर से बीकानेर

ब्यावर से पाली

जैसलमेर से जोधपुर

जैसलमेर से बाड़मेर

भीलवाड़ा से देवली

भीलवाड़ा से अजमेर

भीलवाड़ा से कोटा

रोडवेज ने किया कैशबैक ऑफर भी लॉन्च:
बुधवार से 100 नए रूटों पर शुरू हो रहीं बसों को लेकर एक अच्छी खबर यह है कि अब बसों में यात्रा करने के लिए सिर्फ़ ऑनलाइन टिकिट लेने की अनिवार्यता नही है. यात्री काउंटर से या बस में परिचालक से भी टिकिट ले सकेंगे. सिर्फ ऑनलाइन टिकिट के विकल्प के कारण ग्रामीण क्षेत्र के यात्रियों को काफी परेशानी हो रही थी. हालांकि ऑनलाइन तिकीटिंग को बढ़ावा देने के लिए रोडवेज ने कैशबैक ऑफर भी लॉन्च किया है.  ऑनलाइन बुकिंग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से रोडवेज ने ऑनलाइन टिकट बुक कराने पर 5 प्रतिशत कैश बैक देने की योजना बनाई है. लेकिन यह कैश बैक केवल रजिस्टर्ड यूजर को ही मिलेगा. इसके लिए आपको टिकट बुक करने से पहले वेबसाइट पर रजिस्टर्ड करना होगा. यात्रियों के लिए अच्छी खबर यह भी है कि अब बस में 30 सवारी होने के आदेश को भी वापस ले लिया है,,अब बस में सभी सीटों के अनुसार 52 यात्री सफर कर सकेंगे. हालांकि बस में खड़े हो कर यात्रा करने पर रोक रहेगी.

सामान्य लोग भी जा सकेंगे अब अपनी मंजिल तक:
रोडवेज ने बस संचालन में कहीं संक्रमण नहीं फैल जाए इसे लेकर भी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं. इसके तहत रूट पर बस को भेजने से पहले उसे पूरी तरह से सेनेटाइज किया जाएगा. वहीं क्षमता के अनुसार ही बस में यात्री बैठाए जाएंगे. इसके अलावा बस स्टैंड पर पूछताछ खिड़की, टिकट विंडो और परिचालक को वॉशेबल ग्लब्ज़, फेश शील्ड और मास्क पहनना अनिवार्य किया जाएगा. इन 100 नए मार्गों पर बसें चलाने के बाद रोडवेज जल्द ही मार्गों की संख्या बढ़ाएगा, अगले सप्ताह से 200 रूट्स पर बसों का संचालन किया जाएगा. इसके लिए आप भी [email protected] पर ईमेल करके अपने सुझाव भेज सकते हैं. रोडवेज सीएमडी नवीन जैन का कहना है कि रूट्स निर्धारण में इन सुझावों को भी पूरा महत्व दिया जाएगा. सार्वजनिक परिवहन सेवा शुरू होने से अलग अलग जिलों में अटक रहे सामान्य लोग भी अब अपनी मंजिल तक जा सकेंगे. लोगों के मूवमेंट से आमजन जीवन भी सामान्य होगा.

...फर्स्ट इंडिया के लिए शिवेंद्र परमार की रिपोर्ट

केंद्र के 10 राज्यों के तुलनात्मक अध्ययन में राजस्थान अव्वल, चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने सार्वजनिक की केंद्रीय रिपोर्ट

जयपुर: कोरोना रोकथाम को लेकर राजस्थान सरकार ने देश भर में अपनी अलग पहचान बनाई है. खुद केंद्र सरकार ने देश के 10 राज्यों में अलग-अलग मापदंडों पर स्टडी कराई जिसमें राजस्थान अव्वल आया है.चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने इस उपलब्धि का श्रेय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की माइक्रो प्लानिंग और प्रदेशवासियों की सजगता और सावधानी को दिया है. केंद्र सरकार ने कोरोना को लेकर 10 राज्यों द्वारा कोरोना की रोकथाम के लिए किए कार्यों का अध्ययन कर रिपोर्ट प्रस्तुत की है.इस रिपोर्ट में राजस्थान हर मामले में एक नंबर पर रहा है.

अकेले राजस्थान में 4 लाख टेस्ट:
भले ही बात एक्टिव केसेज, रिकवर केसेज, मृत्यु दर या अन्य प्रदेष हर इंडेक्स में राजस्थान नंबर वन पर है.इस पूरे मामले में चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा है कि पूरे देश में जहां 35 लाख टेस्ट हुए हैं, उनमें से अकेले राजस्थान में 4 लाख टेस्ट किए जा चुके हैं.SMS अस्पताल में अकेले 1 लाख 10 हजार से ज्यादा टेस्ट किए गए हैं. प्रदेश में 18 दिनों में संक्रमितों की संख्या दोगुनी हो रही है, जबकि देश में यह दर तो 12 दिनों में ही है. यही वजह कि राजस्थान में कोरोना संक्रमण का ग्राफ नीचे जा रहा है.  

मुकुंदरा से आई खुशखबरी, बाघिन MT-2 ने दिया दो शावकों को जन्म, मुख्यमंत्री गहलोत ने जताई खुशी

18250 टेस्ट प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित:
चिकित्सा मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में सरकार ने हर पहलू पर बेहतर काम किया.उन्होंने बताया कि प्रदेश में मृत्युदर 2.16 है, जो राष्ट्रीय औसत से काफी कम है. प्रदेश में 201 लोगों की मृत्यु हुई है उसमें कोविड को लेकर कुछेक होंगी.जो अब तक मौतें हुई हैं वे अधिकतर किडनी, ह्दय, डायबीटीज, कैंसर व अन्य बीमारियों से हुई हैं.उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री का ही विजन था कि जिस प्रदेश में जीरो टेस्टिंग थी वहां आज 18250 टेस्ट प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित कर ली है. जल्द ही 25000 के लक्ष्य को भी पा लेंगे.

- सरकार की माइक्रो प्लानिंग के चलते ही कोरोना गांवों में फैलने से बचा
- चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा का दावा
- चिकित्सा मंत्री ने कहा सरकार होम, इंस्टीट्यूषनल क्वारंटीन सेंटर, कोविड केयर सेंटर, कोविड डेडिकेटेड अस्पाल नहीं बनाती तो संक्रमितों की तादात कहीं ज्यादा होती
- प्रदेश की संस्थागत क्वारंटीन सुविधा अव्वल दर्जे की रही है
- ग्राम, उपखंड और जिला स्तर पर कमेटी बनाकर जो माइक्रो लेवल पर काम किया उसी का नतीजा रहा कि 11 लाख लोग अहमदाबाद, सूरत, मुंबई जैसे देश के अन्य संक्रमित हिस्सों से गावों में आए लेकिन संक्रमण उतना नहीं फैल पाया
ग्राफिक्स आउट

राजस्थान में 2803 एक्टिव केसेज:
चिकित्सा मंत्री ने बताया कि राज्य में पहले कोरोना केसेज का ग्राफ बढ गया था लेकिन अब यह नीचे आ रहा है. प्रदेश में अब लोगों की सावधानी की वजह से संक्रमण बढ नहीं रहा है. अब ग्रामीण लोगों में भी कोरोना को लेकर जागरूकता आने लगी है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में हालांकि 2803 एक्टिव केसेज हैं लेकिन इनमें से 2620 प्रवासी कामगार हैं. प्रवासियों को छोड़कर केवल 103 केसेज वर्तमान में एक्टिव हैं. उन्होंने कहा कि यही वजह कि जयपुरिया और एसएमएस अस्पताल को कोविड फ्री कर दिया गया है.

प्रदेश में चलाई गई 550 मोबाइल ओपीडी वैन: 
डॉ शर्मा ने कहा कि धीरे-धीरे अब प्रदेश में राष्टीय कार्यक्रम, टीकाकरण, मातृ-शिशु के कार्यक्रम, कैंसर रोकथाम और अन्य कार्यक्रमों को जारी रखेंगे ताकि स्वस्थ और निरोगी रहकर कोराना का सामना कर सकें. उन्होंने कहा कि कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों के उपचार के लिए प्रदेश में 550 मोबाइल ओपीडी वैन चलाई गई, जिससे लाखों लोग लाभान्वित हो चुके हैं. आमजन को घर बैठे ऑनलाइन चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए ई-संजीवनी पोर्टल शुरू किया. जहां हजारों लोग सीधे या ई-मित्र के जरिए परामर्ष और उपचार ले चुके हैं. उन्होंने कहा कि जब हम कोरोना को काफी हद तक नियंत्रित कर चुके हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट का हवाला देते हुए चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा हैै कि कोरोना को पूरी तरह खत्म होने में सालों लगेंगे.इसलिए रोकथाम की सावधानियों को जीवन शैली में अपनाकर ही कोरोना से बचा जा सकता है.

शराब के शौकीनों को बड़ा झटका, जानिए राजस्थान में कितनी महंगी हुई बीयर और शराब

राजस्थान में होमगार्ड भर्ती की खुली राह, अब 10 जून से फॉर्म भर सकते हैं अभ्यर्थी

राजस्थान में होमगार्ड भर्ती की खुली राह, अब 10 जून से फॉर्म भर सकते हैं अभ्यर्थी

जयपुर: प्रदेश में 2500 स्वयंसेवक (volunteer) सहित स्थाई होमगार्ड (home guard) भर्ती की राह खुल गई है. अब अभ्यर्थी 10 जून से 9 जुलाई तक फॉर्म भर सकते हैं. पहले भी विभाग ने विज्ञप्ति जारी की थी लेकिन लॉकडाउन के चलते रोक लग गई थी. ऐसे में अब भर्ती की राह खुलने से अभ्यर्थी उत्साहित नजर आ रहे हैं. 

Cyclone Nisarga: कोरोना संकट के साथ लगातार प्रकृति का प्रकोप भी जारी, विकराल रूप ले सकता है निसर्ग चक्रवात  

इसके लिए विभाग में तैयारियां भी शुरू हो गई हैं. इसके अलावा होमगार्ड (home guard) के स्थाई पदों को भरा जाएगा. ताकि गृह रक्षा विभाग (home guards) में स्टाफ की कमी नहीं रहे. अस्थाई होमगार्ड के कल्याण के लिए भी विभाग ने नवाचार किया है. 

जैसलमेर में टिड्डी का टेरर, जून-जुलाई और अगस्त में पाक से बड़े टिड्डी हमले की चेतावनी 

ऐसे होमगार्ड जिनकी आयु 55 वर्ष हो चुकी है वे स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (retirement) ले सकते हैं. उनके पुनर्वास और कल्याण (welfare) के लिए 1.50 लाख रुपए भी दिए जाएंगे. इससे वे व्यापार या आजीविका का कोई साधन तैयार कर सकेंगे. 
 

समस्त जिला एवं सेशन न्यायधीशों को बाल न्यायालय के रूप में सभी प्रकरणों की सुनवाई का अधिकार

समस्त जिला एवं सेशन न्यायधीशों को बाल न्यायालय के रूप में सभी प्रकरणों की सुनवाई का अधिकार

जयपुर: राज्य सरकार ने एक अधिसूचना जारी कर राज्य में स्थित समस्त जिला एवं सेशन न्यायधीशों को अपने-अपने कार्य क्षेत्र की सीमाओं के लिए बाल न्यायालय के रूप में विनिर्दिष्ट किया है. 

Cyclone Nisarga: कोरोना संकट के साथ लगातार प्रकृति का प्रकोप भी जारी, विकराल रूप ले सकता है निसर्ग चक्रवात  

विधि एवं विधिक विभाग की ओर से जारी इस अधिसूचना के अनुसार न्यायधीशों को लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम, 2012 के प्रकरणों को छोड़कर बालक अधिकार संरक्षण आयोग अधिनियम, 2005 के तहत बाल न्यायालय के रूप में सभी प्रकरणों की सुनवाई का अधिकार होगा. 

जैसलमेर में टिड्डी का टेरर, जून-जुलाई और अगस्त में पाक से बड़े टिड्डी हमले की चेतावनी 

साथ ही वर्तमान में कार्यरत विशेष न्यायालयों, लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम, 2012 एवं बालक अधिकार संरक्षण आयोग अधिनियम 2005 को लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 एवं राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा अन्तरित किये गये प्रकरणों की सुनवाई का अधिकार होगा. 
 

Cyclone Nisarga: कोरोना संकट के साथ लगातार प्रकृति का प्रकोप भी जारी, विकराल रूप ले सकता है निसर्ग चक्रवात

Cyclone Nisarga: कोरोना संकट के साथ लगातार प्रकृति का प्रकोप भी जारी,  विकराल रूप ले सकता है निसर्ग चक्रवात

नई दिल्ली: कोरोना संकट के साथ लगातार प्रकृति का प्रकोप भी जारी है. बंगाल और उड़ीसा में अम्फान के कहर के बाद अब पश्चिमी तटीय इलाकों में चक्रवात निसर्ग दस्तक दे सकता है. चक्रवाती तूफान 'निसर्ग' गुजरात के तट पर 3 जून को दस्तक दे सकता है. इसके मद्देनजर महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा, दमन-दीव और दादरा नगर हवेली में अलर्ट जारी किया गया है. साथ ही आधा दर्जन से अधिक जिलों में नेशनल डिजास्टर रेस्पॉन्स फोर्स (NDRF) की 10 टीमें तैनात की गई हैं. निसर्ग के खतरे से निपटने के लिए कुल NDRF 23 टीमों को तैनात किया गया है.

VIDEO: लॉक डाउन के बाद और अनलॉक 1.0 की संभावनाओं को लेकर First India पर बोले सीएस डीबी गुप्ता  

बुधवार तक तटीय इलाकों में दस्तक देने का अनुमान: 
अभी चक्रवाती हवाएं मुंबई के तटीय इलाकों से 550 किमी और गुजरात के सूरत के दक्षिण-पश्चिमी दक्षिण इलाकों से 800 किमी दूर है. इन हवाओं के बुधवार तक तटीय इलाकों में दस्तक देने का अनुमान है. तीन जून तक महाराष्ट्र के उत्तरी इलाके और गुजरात के दक्षिण इलाकों में दस्तक देने का अनुमान है. 

हवा की गति 105 से 115 किमी प्रति घंटा होने का अनुमान:
चक्रवात निसर्ग के गंभीर चक्रवाती तूफान का रूप लेने के बाद हवा की गति 105 से 115 किमी प्रति घंटा हो सकती है. वहीं, कल यानी 3 जून को हवा की रफ्तार 125 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच सकती है. मौसम विभाग के मुताबिक, 'इससे दक्षिणी गुजरात क्षेत्र में 3 और 4 जून को भारी बारिश होगी.

पुलिसवाले ने ही की पुलिसवाले से ठगी, खुद का वीडियो बनाकर किया सोशल मीडिया पर वायरल 

अम्फान के मुकाबले थोड़ा कमजोर: 
हालांकि चक्रवात निसर्ग, चक्रवात अम्फान के मुकाबले थोड़ा कमजोर हो सकता है. अरब सागर में चल रही तेज हवाएं चार किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से उत्तर की ओर चल रही हैं और मुंबई से 550 किमी दूर है. चक्रवात निसर्ग से महाराष्ट्र के रायगढ़ में हरिहरेश्वर और दमन में तीन जून को भूस्खलन हो सकता है. 


 

Open Covid-19