RCA को भूमि आवंटन मामले में बड़ी खबर, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम के लिए भूमि आवंटन की शर्तें हुई तय

RCA को भूमि आवंटन मामले में बड़ी खबर, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम के लिए भूमि आवंटन की शर्तें हुई तय

जयपुर: जयपुर में विश्व स्तरीय क्रिकेट स्टेडियम और इससे जुड़ी गतिविधियों के लिए राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन को भूमि आवंटित की जाएगी. यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की अध्यक्षता में गठित कैबिनेट एंपावर्ड कमेटी की पिछले वर्ष हुई पहली बैठक में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन को आमेर तहसील के ग्राम चौंप में 40.60 हेक्टेयर भूमि देने का फैसला किया गया था. यह भूमि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम के निर्माण और क्रिकेट स्टेडियम से जुड़ी गतिविधियों के विकास के लिए दी जाएगी. आरसीए को यह भूमि डीएलसी दर की 30 फ़ीसदी दर पर दी जाएगी. भूमि आवंटन के फैसले के बाद जेडीए ने सरकार को प्रस्ताव भेजकर एंपावर्ड कमेटी के स्तर पर ही आवंटन की शर्तों पर मुहर लगाने की बात कही थी. इसी के तहत कैबिनेट एंपावर्ड कमेटी की हाल ही हुई दूसरी बैठक में आवंटन की शर्तें तय की गई. आपको बताते हैं कि आवंटन की प्रमुख शर्तें क्या हैं

- भूमि का उपयोग क्रिकेट और उससे संबंधित सहायक गतिविधियों के लिए ही किया जाएगा 
- इसके अलावा RCA को होटल निर्माण की भी स्वीकृति दी जाएगी 
- लेकिन होटल के भवन मानचित्र तभी जारी किए जाएंगे जब मुख्य क्रिकेट स्टेडियम का 50% निर्माण पूरा हो जाएगा 
- भूमि पर नियमानुसार लीज राशि और नगरीय शुल्क RCA को देना होगा 
- 15 साल बाद नगरीय शुल्क में 25% की बढ़ोतरी की जा सकेगी 
- राष्ट्रीय आपदा या राष्ट्रीय प्रयोजन या राष्ट्रीय महत्व के किसी कार्य के लिए राज्य सरकार भवन का अस्थाई उपयोग कर सकेगी इसके लिए आरसीए को किसी प्रकार का किराया नहीं दिया जाएगा 
- आवंटन शर्तों के उल्लंघन अथवा किसी कानून व नियमों की पालना नहीं होने की स्थिति में जेडीए RCA को सुधार के लिए पर्याप्त समय का नोटिस देगा 
- यदि RCA की ओर से कोई सुधार नहीं किया जाता है तो सुनवाई का उचित अवसर देकर ही जेडीए नियमानुसार आवंटन निरस्त करेगा 
- परिसर में वर्षा जल संग्रहण और सौर ऊर्जा के उपयोग के लिए समुचित व्यवस्था की जाएगी यह व्यवस्था अंतरराष्ट्रीय स्तर की होगी ताकि एक मॉडल के तौर पर स्थापित हो सके

जिस उद्देश्य के लिए रियायती दर पर भूमि दी जाएगी वह उद्देश्य तय अवधि में पूरा किया जाए इस लिहाज से भी आवंटन की शर्तों में जरूरी प्रावधान किए गए हैं
- स्टेडियम का निर्माण पूरा होने के बाद 2 वर्ष के भीतर अंतरराष्ट्रीय मैच कराना जरूरी होगा 
- भूमि का आवंटन 99 वर्ष की लीज पर होगा जिसमें भूमि का पूर्ण स्वामित्व प्राधिकरण का होगा 
- बाहरी विकास कार्य RCA के स्तर पर ही किया जाएगा अगर यह काम जेडीए से कराया जाता है तो इसकी राशि आरसीए को देनी होगी 
- निर्माण कार्य भूमि का कब्जा मिलने के एक से डेढ़ साल की अवधि में जेडीए की ओर से स्वीकृत नक्शों के आधार पर शुरू किया जाएगा 
- भूमि का कब्जा मिलने से 5 साल की अवधि में निर्माण कार्य पूरा कराना होगा 
- परिसर का निर्माण कार्य तभी पूरा माना जाएगा जब अंतरराष्ट्रीय मैच के लिए उसे पात्र स्थान का स्तर प्राप्त हो जाए 
- भूमि का कब्जा मिलने के 5 साल की अवधि में निर्माण नहीं किया गया तो जेडीए निर्माण अवधि 2 साल के लिए बड़ा सकेगा 
- इसके बाद भी निर्माण पूरा नहीं होने पर भूमि और उस पर बने भवन प्राधिकरण की ओर से अधिकृत कर लिए जाएंगे 
- भूमि और इस पर निर्मित भवन बिना जेडीए की स्वीकृति के गिरवी नहीं रखे जा सकेंगे और ना ही सब लीज पर दिए जा सकेंगे 
- भूखंड के पेटे पहली किस्त के भुगतान के बाद जेडीए को भूमि का कब्जा RCA को देना होगा 
- भूमि के पेटे संपूर्ण राशि जमा कराने के बाद ही जेडीए उसका पट्टा जारी करेगा 
- RCA पीपीपी मोड पर स्टेडियम का निर्माण करा सकेगा लेकिन जमीन का स्वामित्व RCA के पास ही रहेगा

पिछली अशोक गहलोत सरकार में भी राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन को ग्राम चौंप में स्टेडियम के लिए 18.15 हेक्टेयर भूमि आवंटित की गई थी. लेकिन आवंटन की शर्तों की पालना नहीं करने के चलते पिछली वसुंधरा सरकार में इस आवंटन को निरस्त कर दिया गया था. पिछली बार के मामले से सबक लेते हुए इस बार भूमि आवंटन की शर्तों में महत्वपूर्ण प्रावधान किए गए हैं. राज्य सरकार ने इन आवंटन की शर्तों के अनुरूप जेडीए को कार्यवाही करने का आदेश दिया है.

और पढ़ें