जयपुर Rajasthan: सहकारी बैंकों से कृषि-अकृषि ऋण लेने वाले किसानों को बड़ी राहत, जल्द लागू होगी एकमुश्त समझौता योजना

Rajasthan: सहकारी बैंकों से कृषि-अकृषि ऋण लेने वाले किसानों को बड़ी राहत, जल्द लागू होगी एकमुश्त समझौता योजना

जयपुर: प्रदेश के किसानों के लिए राहत भरी खबर है. कोरोना संक्रमण के चलते किसान वर्ग को राहत देने के लिए एकमुश्त समझौता योजना लाई जाएगी. सहकारिता मंत्री उदय लाल आंजना ने कहा कि केन्द्रीय सहकारी बैंकों एवं प्राथमिक भूमि विकास बैंकों के माध्यम से कृषि एवं अकृषि ऋण लेने वाले काश्तकारों को इस योजना का लाभ मिलेगा, जिससे ऋण चुकाने में किसान को आसानी हो सके.

सहकारिता मंत्री ने बताया कि एकमुश्त समझौता योजना के माध्यम से किसानों के ऋणों पर ब्याज दर को कम करने के साथ ही अवधिपार एवं दण्डनीय ब्याज को भी कम किया जाएगा. ऐसे अवधिपार ऋणी किसानों को भी राहत दी जाएगी, जिनकी मृत्यु हो चुकी है. ऐसे किसान परिवार को किसान की मृत्यु तिथि से सम्पूर्ण बकाया ब्याज, दण्डनीय ब्याज एवं वसूली खर्च को पूर्णतया माफ किया जाएगा. प्रमुख सचिव सहकारिता एवं कृषि दिनेश कुमार ने सचिवालय में इस सम्बन्ध में समीक्षा बैठक ली. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कारण आर्थिक समस्या का सामना कर रहे किसानों को ऋण चुकाने में परेशानी हो रही है. ऐसे में अपेक्स बैंक एवं एसएलडीबी किसानों के हित में एकमुश्त समझौता योजना तैयार कर प्रस्तुत करें.

पात्र किसानों को उसका लाभ आवश्यक रूप से मिले: 
कुमार ने निर्देश दिए कि एकमुश्त समझौता योजना बनाते समय किसानों की संख्या, उनकी ऋण राशि एवं योजना को प्रमुखता से लागू करने के लिए विशेष प्लान भी तैयार किया जाए. उन्होंने कहा कि योजना की क्रियान्विति को इस तरह से किया जाए की पात्र किसानों को उसका लाभ आवश्यक रूप से मिले. रजिस्ट्रार सहकारिता मुक्तानंद अग्रवाल ने बताया कि विभाग द्वारा एकमुश्त समझौता योजना हेतु शीघ्र ही कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत की जाएगी. उन्होंने कहा कि योजना की प्रभावी क्रियान्विति के लिए अधिकारियों को उचित दिशा-निर्देश देने के साथ ही निरंतर मॉनिटरिंग की जाएगी. बैठक में सहकारिता विभाग एवं बैंकिंग से जुड़े अधिकारी उपस्थित थे.

और पढ़ें