क्या पायलट को तीन दिन पहले ही थी जितिन प्रसाद के कांग्रेस से संभावित इस्तीफे की जानकारी? सूत्रों ने दिए संकेत

क्या पायलट को तीन दिन पहले ही थी जितिन प्रसाद के कांग्रेस से संभावित इस्तीफे की जानकारी? सूत्रों ने दिए संकेत

जयपुर: युवा कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद (Jitin Prasad) ने भाजपा का दामन थाम लिया है. कांग्रेस के तीन युवा चेहरों में सचिन पायलट, ज्योतिरादित्य सिंधिया और जितिन प्रसाद प्रमुख नाम थे, लेकिन अब इनमें से पायलट ही कांग्रेस में बचे है. जितिन प्रसाद के बीजेपी में शामिल होने के बाद यह सवाल उठ रहा है कि क्या पायलट को तीन दिन पहले ही जितिन प्रसाद के कांग्रेस से संभावित इस्तीफे के बारे में जानकारी थी? इस बारे में जितिन प्रसाद कैंप से जुड़े सूत्रों ने संकेत दिए हैं. 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एक अच्छे और पुराने मित्र के नाते सचिन पायलट को इस बारे में जानकारी थी. इसी प्रकार सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के वक्त भी पायलट को इसका पूर्वानुमान था. लेकिन खुद अपने बारे में पायलट का हमेशा यही स्टैंड रहा है कि मैं कांग्रेस में हूं और हमेशा कांग्रेस में ही रहूंगा. 

आखिर क्या है पायलट के मन में ?
वहीं सचिन पायलट (Sachin Pilot) के हाल ही में सामने आए बयान के बाद प्रदेश की राजनीति में भी एक बार फिर गर्माहट है. इस बयान के बाद से ही यह सवाल उठ रहा है कि सचिन पायलट के मन में क्या है? इस बारे में दिल्ली में पायलट से जुड़े सू्त्रों ने आलाकमान को दो टूक संदेश देते हुए कहा कि जल्दी करें, मेरे पास भी समय कम है. आखिर कब तक करेंगे मेरे लोग इंतजार ? इसका अर्थ यह कि पायलट कैम्प को प्रियंका-स्व.अहमद पटेल द्वारा किए गए वायदों के लागू होने का इंतजार है? ऐसे में गहलोत मंत्रिमंडल और राजनीतिक नियुक्तियों में पायलट कैम्प को मिलने वाली हिस्सेदारी को देखकर ही पायलट कैम्प अंतिम फैसला करेगा. 

और पढ़ें