जयपुर Rajasthan: BJP और RSS विचारधारा से मुकाबले की कवायद ! कांग्रेस पढ़ाएगी हिंदू और हिंदुत्ववादी का पाठ

Rajasthan: BJP और RSS विचारधारा से मुकाबले की कवायद ! कांग्रेस पढ़ाएगी हिंदू और हिंदुत्ववादी का पाठ

जयपुर: बीते दिनों जयपुर की कांग्रेस रैली में राहुल गांधी ने हिंदू और हिंदुत्ववादी के मुद्दे पर बात कही थी और इस विचार को समझाया भी. अब अपने नेता राहुल गांधी के विचार को प्रशिक्षण शिविर के जरिए कांग्रेस के निपुण कार्यकर्ताओं के बीच पहुंचाया जाएगा और हमला बोला जायेगा बीजेपी और RSS विचारधारा पर. 

कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं को पार्टी की रीति-नीति सिद्धांत और विचारधारा में दक्ष करने के लिए प्रदेश कांग्रेस की ओर से प्रदेश स्तरीय तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है. प्रशिक्षण शिविर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं नेताओं को वैचारिक तौर पर मजबूत किया जाएगा. तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर 26 से 28 दिसंबर तक जयपुर के शिवदासपुरा के बाड़ापदमपुरा में आयोजित होगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश प्रभारी अजय माकन तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का उद्घाटन करेंगे. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश प्रभारी अजय माकन और पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा भी प्रशिक्षण शिविर में शामिल होकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं को कांग्रेस की रीति नीति और विचारों से अवगत करवाएंगे. 

प्रशिक्षण शिविर का कॉर्डिनेटर प्रदेश कांग्रेस के सचिव जसवंत गुर्जर को बनाया गया है. अपने नेता राहुल गांधी के विचार को प्रशिक्षण शिविर के जरिए कांग्रेस के निपुण कार्यकर्ताओं के बीच पहुंचाया जाएगा. खासतौर पर हिंदू और हिंदुत्ववादी बयानों के संदर्भ में. विचारधारा और रीति नीति की ट्रेनिंग देने के लिए दिल्ली से प्रशिक्षक आयेंगे, पीसीसी पदाधिकारियों, एआईसीसी और पीसीसी मेंबर्स के बीच से प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन होगा.

--कैसे किया जाएगा कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित--

- जयपुर के बाड़ापदमपुरा में होगा तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर
- कांग्रेस की की रीति-नीति, विचारधारा, सिद्धांत और देश के प्रति योगदान की जानकारी दी जाएगी
-  विशेषज्ञ और प्रशिक्षक दिल्ली से जयपुर पहुंचेंगे 
- शॉर्ट मूवी और अपने व्याख्यानों के जरिए पार्टी की रीति-नीति से अवगत करवाया जायेगा
-  प्रशिक्षण शिविर कई सत्रों में आयोजित होगा
- 26 से 28 दिसंबर तक 3 दिन प्रशिक्षण शिविर में ही मौजूद रहेंगे प्रशिक्षणकर्ता
- उनके खाने- रहने की व्यवस्था भी प्रशिक्षण शिविर में ही की जाएगी

तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के पीछे तर्क दिया जा रहा है कि देश की नई पीढ़ी को कांग्रेस के योगदान रीति-नीति और सिद्धांत विचारधारा के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है. ऐसे में प्रशिक्षण शिविर के जरिए प्रशिक्षण लेने वाले कार्यकर्ताओं नेता आमजन खासकर युवाओं के बीच जाकर पार्टी की रीति-नीति सिद्धांतों और कल्चर के बारे में बताएंगे और यह भी बताएंगे कि देश की आजादी से लेकर देश के नवनिर्माण में कांग्रेस नेताओं का कितना योगदान रहा है. जयपुर के बाड़ा पदमपुरा का कांग्रेस के ट्रेनिंग कैंप को लेकर इतिहास रहा है ,राजीव गांधी तक यहां कांग्रेस के प्रशिक्षण कैंप में शिरकत कर चुके है. मौजूदा दौर में कांग्रेस के इस ट्रेनिंग कैंप का महत्व है . कुछ समय पहले जब राज्य की कांग्रेस में बगावत का दौर चला था और कुछ विधायक मानेसर जा पहुंचे थे तब कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व को महसूस हुआ था कि विचारधारा को और धार देने की जरूरत है. चाहे वो जन प्रतिनिधि हो या फिर कांग्रेस का वर्कर. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें