जयपुर मंत्रिमंडल फेरबदल विस्तार पर लेटेस्ट गपशप, अब 28 अगस्त पर कांग्रेसियों की नजर !

मंत्रिमंडल फेरबदल विस्तार पर लेटेस्ट गपशप, अब 28 अगस्त पर कांग्रेसियों की नजर !

जयपुर: राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार और फेरबदल (Rajasthan Cabinet Expansion) पर लेटेस्ट गपशप सामने आ रही है. अब कांग्रेसियों की नजर 28 अगस्त पर टीकी हुई है. क्योंकि आमतौर पर शनिवार को शपथ ग्रहण के कार्यक्रम होते हैं. 

बता दें कि इसी तरह की पुरानी परंपरा रह चुकी है. हालांकि पंडितों ने दूसरा मुहूर्त 29 अगस्त का निकाला है. वैसे भी अगले महीने विधानसभा सत्र का आगाज होना है. विधानसभा सत्र से पूर्व नए मंत्रियों को भी तैयारी के लिए कम से कम एक हफ्ते का समय चाहिए. लिहाजा अगस्त का ये महीना बेहद अहम माना जा रहा है. 

वहीं मंत्रिमंडल में पहली बार जीत कर आने वाले विधायकों को मंत्रिमंडल और राजनीतिक नियुक्तियों में जगह नहीं देने के फॉर्मूले के तहत अब ऐसे विधायकों को संसदीय सचिव बनाने की तैयारी की जा रही है. यानी गहलोत-पायलट कैंप के युवा विधायकों के अलावा बसपा से आने वाले कुछ विधायकों और मंत्रिमंडल में जगह नहीं हासिल करने वाले निर्दलीय विधायकों को संसदीय सचिव का पद दिया जा सकता है.

अजय माकन ने कहा- जल्द फैसला हो जाएगा:
आपको बता दें कि हाल ही में कांग्रेस महासचिव अजय माकन ने पार्टी की राजस्थान इकाई में गुटबाजी की पृष्ठभूमि को लेकर कहा था कि मामले का समाधान निकालने के लिए काम चल रहा है तथा जल्द फैसला हो जाएगा. उन्होंने यह भी कहा था कि सभी गुटों, वर्गों, जातियों और क्षेत्रों के हितों को ध्यान में रखकर फैसला होगा. कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी माकन ने संवाददाताओं से कहा कि संगठन, बोर्डों-निगमों और कैबिनेट, तीनों जगहों को लेकर हम काम कर रहे है. हमारी कोशिश है कि हम सबको साथ लेकर चलें. हम सभी गुटों के संपर्क में हैं. जातीय, क्षेत्रीय संतुलन का ध्यान रखना है. काम चल रहा है. जल्द ही फैसला हो जाएगा.

आलाकमान दोनों गुटों के बीच संतुलन बनाकर समाधान निकालने की कोशिश में:
उन्होंने कहा था कि आजकल कोई बयानबाजी नहीं हो रही है तो इसका श्रेय आलाकामन को जाना चाहिए. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है. पायलट गुट सरकार और संगठन में अपना उचित प्रतिनिधित्व चाहता है. कांग्रेस आलाकमान दोनों गुटों के बीच संतुलन बनाकर समाधान निकालने की कोशिश में है.

और पढ़ें