धर्मेंद्र राठौड़ के रूप में कांग्रेस में एक नए राजपूत छत्रप का उदय! 'हाईलेवल ब्रेकफास्ट' से गया कुछ ऐसा ही मैसेज

धर्मेंद्र राठौड़ के रूप में कांग्रेस में एक नए राजपूत छत्रप का उदय! 'हाईलेवल ब्रेकफास्ट' से गया कुछ ऐसा ही मैसेज

जयपुर: बुधवार को सुबह प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने कांग्रेस नेता धर्मेन्द्र राठौड़ के निवास पर पहुंचे. वहां अल्पाहार का कार्यक्रम रखा गया था. इसमें राज्य सरकार के कई मंत्री, नेता और विधायक शामिल हुए. ऐसे में अब इस कार्यक्रम के भी कई राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं. सूत्रों की माने तो कांग्रेस में धर्मेंद्र राठौड़ के रूप में एक नए राजपूत छत्रप का उदय हुआ है. 

कई पेंडिंग मुद्दों को लेकर बनी ब्रेकफास्ट में रणनीति:
दरअसल, यह सब हम नहीं कह रहे बल्कि कल राठौड़ के घर हुए 'हाईलेवल ब्रेकफास्ट' से ऐसा ही मैसेज गया है. इस दौरान अजय माकन समेत कई मंत्री और विधायक ब्रेकफास्ट में मौजूद रहे और साथ ही पायलट कैंप के दो भी विधायक उपस्थित रहे. ब्रेकफास्ट के दौरान कई पेंडिंग मुद्दों को लेकर रणनीति बनी है. अब इस पूरे घटनाक्रम से भंवर जितेंद्र सिंह की तरह एक नया राजपूत नेता खड़ा करने के संकेत मिल रहे हैं. अलबत्ता भंवर जितेंद्र सिंह और धर्मेंद्र राठौड़ दोनों करीबी दोस्त हैं. 

कौन हैं धर्मेंद्र राठौड़:
धर्मेंद्र राठौड़ जयपुर के ही रहने वाले हैं. लेकिन राजनीतिक रूप से अलवर जिले में सक्रिय रहे हैं. अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य भी हैं. गहलोत सरकार के पिछले कार्यकाल में राजस्थान राज्य बीज निगम के चेयरमैन थे. गहलोत के बहुत करीबी लोगों में से एक हैं. बताया जाता है कि पूर्वी राजस्थान की राजनीति में गहलोत के बड़े मददगार हैं.

मंत्रिमंडल विस्तार की खबरों पर भी विराम लग गया: 
वहीं दूसरी ओर बुधवार को प्रदेश में गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार की खबरों पर भी विराम लग गया है. प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अजय माकन ने स्पष्ट कर दिया है कि बजट-सत्र से पूर्व मंत्रिमंडल विस्तार नहीं होगा. वहीं जिला स्तर पर राजनीतिक नियुक्तियां फरवरी मध्य तक हो जाएंगी, लेकिन प्रदेश स्तर पर राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर अभी डेड लाइन तय नहीं की गई है. 

छोटे स्तर पर मंत्रिमंडल विस्तार के कयास लगाए जा रहे थे:
माकन ने कहा चूंकि बजट-सत्र बुलाया जा चुका है. लिहाजा इसके बीच में विस्तार नहीं किया जा सकता है. माकन के इस बयान के साथ ही प्रदेश में बजट-सत्र से पूर्व मंत्रिमंडल विस्तार की खबरों पर विराम लग गया है. पहले बजट सत्र से पूर्व छोटे स्तर पर मंत्रिमंडल विस्तार के कयास लगाए जा रहे थे.


 

और पढ़ें