गहलोत मंत्रिपरिषद विस्तार को लेकर अटकलें, पायलट कैंप से एक गुर्जर विधायक को जगह मिलने की संभावना !

गहलोत मंत्रिपरिषद विस्तार को लेकर अटकलें, पायलट कैंप से एक गुर्जर विधायक को जगह मिलने की संभावना !

जयपुर: कांग्रेस (Congress) में असंतोष और आपसी खींचतान के चलते गहलोत मंत्रिपरिषद विस्तार को लेकर अटकलें तेज हो गई है. पायलट कैंप (Pilot Camp) से एक गुर्जर विधायक को जगह मिलने की की संभावना जताई जा रही है. पायलट कैंप में गुर्जर समाज से जीआर खटाना (GR Khatana) और इंद्राज गुर्जर (Indraj Gurjar) आते हैं. दोनों ही पहली दफा विधायक बने हैं. इन्हीं में से किसी एक का नंबर लग सकता है. 

खटाना दौसा के बांदीकुई से विधायक है. दौसा जिले से अभी परसादी लाल मीणा कैबिनेट मंत्री तो वहीं ममता भूपेश स्वतंत्र प्रभार की राज्यमंत्री है. उधर, मंत्रिमंडल में आने के लिए मुरारीलाल मीणा का दावा भी मजबूत है ! खटाना की राह में कई सियासी अवरोध है ! यह अलग बात है कि पायलट परिवार के सबसे करीब वहीं है. इंद्राज जयपुर जिले के विराटनगर से विधायक हैं. 

राजस्थान में 30 मंत्री बनाने का कोटा:
आपको बता दें कि राजस्थान में 30 मंत्री बनाने का कोटा है, अभी मुख्यमंत्री सहित 21 मंत्री हैं, ऐसे में 9 मंत्री और बनाए जा सकते हैं. पायलट खेमे से 3 से 4 विधायकों को मंत्री बनाने के अलावा BSP छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए 6 में से भी किसी को मंत्री बनाया जा सकता है. इनके अलावा कांग्रेस और निर्दलियों में से भी कुछ नए चेहरों को मौका मिलने के आसार हैं. इसके अलावा कुछ विधायकों को संसदीय सचिव भी बनाया जा सकता है. वहीं कुछ मंत्रियों के विभाग भी बदले जा सकते हैं. 

विधायकों को राजनीतिक नियुक्तियां देने का भी दांव:
वहीं जिन विधायकों का मंत्री बनने का नंबर नहीं आएगा, उन्हें बड़ी राजनीतिक नियुक्तियां देकर भी संतुष्ट किया जा सकता है. इसके लिए बोर्ड, निगम अध्यक्ष और बड़ी राजनीतिक नियुक्तियों वाले पदों को लाभ के पद के दायरे से बाहर करके उन पर विधायकों को मौका दिया जा सकता है. 


 
 

और पढ़ें