Good News: भर्तियों को लेकर CM गहलोत के दो महत्वपूर्ण निर्णय, जानिए बेरोजगारों को क्या होगा फायदा

Good News: भर्तियों को लेकर CM गहलोत के दो महत्वपूर्ण निर्णय, जानिए बेरोजगारों को क्या होगा फायदा

जयपुर: राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में भर्तियों को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दो महत्वपूर्ण निर्णय किए हैं. उन्होंने शैक्षणिक योग्यता संबंधी विवादों को दूर करने के लिए समिति का गठन किया है. साथ ही विभागों में रिक्त पदों पर नियमित रूप से भर्तियां करने और इस प्रक्रिया को समयबद्ध रूप से संपन्न करवाने के निर्देश दिए हैं. 

मुख्यमंत्री के निर्देश पर मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने भर्तियों में शैक्षणिक योग्यता संबंधी विवादों को दूर करने के लिए विभागों में विभागाध्यक्ष की अध्यक्षता में शैक्षिक अर्हता एवं शैक्षिक समकक्षता समिति के गठन तथा नियमित भर्तियों के संबंध में अलग-अलग परिपत्र जारी किए हैं. समिति में विभागीय अधिकारियों के साथ ही मनोनीत विषय विशेषज्ञों को भी शामिल किया जाएगा. समिति विभिन्न पदों की शैक्षिक अर्हता एवं शैक्षणिक समकक्षता के नियमों का स्पष्ट निर्धारण करेगी. जिसके चलते विवादों को दूर कर भर्ती प्रक्रिया को समयबद्ध रूप से सम्पन्न किया जा सके. 

समिति एक संस्थागत व्यवस्था के रूप में कर सकेगी कार्य:
इसके साथ ही अलग-अलग पदों पर नियुक्ति के लिए सेवा नियमों में पद के अनुरूप शैक्षणिक योग्यता का प्रावधान बने. वर्तमान में विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा लगातार नए पाठ्यक्रम प्रारंभ किए जा रहे हैं. इन पदों की शैक्षिक अर्हता से संबंधित डिग्री, डिप्लोमा अथवा पाठ्यक्रम के समान अथवा समकक्ष सभी कोर्सेज को पद विशेष की शैक्षणिक योग्यता में शामिल कर पाना व्यवहारिक रूप से संभव नहीं हो पाता. समिति एक संस्थागत व्यवस्था के रूप में कार्य कर सकेगी. किसी पद की भर्ती में शैक्षणिक योग्यता की समकक्षता के संबंध में विवाद होने पर प्रकरण निर्णय के लिए इस समिति के समक्ष रखा जाएगा. इस स्थिति में कार्मिक विभाग के प्रतिनिधि को भी बैठक में आमंत्रित किया जाएगा.  

और पढ़ें