Rajasthan: 12 जिलों की 50 नगर निकायों में सदस्य पदों के लिए 11 दिसंबर को होगा मतदान, 7249 उम्मीदवार चुनावी मैदान में

Rajasthan: 12 जिलों की 50 नगर निकायों में सदस्य पदों के लिए 11 दिसंबर को होगा मतदान, 7249 उम्मीदवार चुनावी मैदान में

Rajasthan: 12 जिलों की 50 नगर निकायों में सदस्य पदों के लिए 11 दिसंबर को होगा मतदान, 7249 उम्मीदवार चुनावी मैदान में

जयपुर: प्रदेश के 12 जिलों की 50 नगर निकायों में सदस्य पदों के लिए होने वाले चुनाव के लिए चुनाव प्रचार बुधवार शाम 5 बजे थम गया. इन निकायों में 11 दिसंबर को सुबह 8 से सायं 5 बजे तक मतदान होगा, जबकि मतगणना 13 दिसंबर (रविवार) प्रातः 9 बजे से होगी. 

2622 मतदान केंद्रों पर कुल 14 लाख 32 हजार 233 मतदाता:  
43 नगर पालिका और 7 नगर परिषदों के 1775 वार्डों के लिए 11 दिसंबर को मतदान होगा. 2622 मतदान केंद्रों पर कुल 14 लाख 32 हजार 233 मतदाता हैं, जिनमें से 7 लाख 46 हजार 663 पुरुष, 6 लाख 85 हजार 542 महिला और 28 अन्य मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे. गौरतलब है कि सदस्य पद के लिए 7249 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं. 

अध्यक्ष के लिए 14 दिसंबर को लोक सूचना जारी होगी:
अध्यक्ष के लिए 14 दिसंबर को लोक सूचना जारी होगी. नामांकन पत्र 15 दिसंबर दोपहर 3 बजे तक प्रस्तुत किए जा सकेंगे. नामांकन पत्रों की जांच की तिथि 16 दिसंबर को होगी, जबकि 17 दिसंबर को अपराह्न 3 बजे तक अभ्यर्थिता वापिस ली जा सकेगी. चुनाव चिन्हों का आवंटन 17 दिसंबर को किया जाएगा. 

 

अध्यक्ष के लिए मतदान 20 दिसंबर को प्रातः 10 बजे से अपराह्न 2 बजे तक: 
अध्यक्ष के लिए मतदान 20 दिसंबर को प्रातः 10 बजे से अपराह्न 2 बजे तक किया जाएगा, जबकि मतगणना मतदान समाप्ति के तुरन्त बाद होगी. उन्होंने बताया कि इसी तरह उपाध्यक्ष के लिए निर्वाचन 21 दिसंबर को होगा. राज्य निर्वाचन आयुक्त पी एस मेहरा ने बताया कि प्रचार थमने के बाद अब प्रत्याशी और समर्थक घर-घर जाकर मतदाताओं से जनसंपर्क कर सकते हैं. उन्होंने उम्मीदवारों और समर्थकों से जनसंपर्क करने के दौरान कोविड के दिशा-निर्देशों की पालना करने की अपील की है.  

सार्वजनिक सभा आयोजित करने पर रोक:
मतदान समाप्त होने के समय से 48 घंटे पूर्व की अवधि यानी 9 दिसंबर, बुधवार शाम 5 बजे से राजनीतिक दल या प्रत्याशियों की ओर से सार्वजनिक सभा आयोजित करने, जुलूस निकालने, सिनेमा, दूरदर्शन, इलेक्ट्रोनिक एवं सोशल मीडिया के माध्यम से चुनाव प्रचार करने पर पूरी तरह से रोक रहेगी. साथ ही संगीत-समारोह, नाट्य-अभिनय अथवा अन्य कोई मनोरंजन कार्यकम आयोजित कर चुनाव प्रचार नहीं किया जा सकेगा. 

और पढ़ें