जयपुर Rajasthan: राजस्व में नुकसान, ...तो बंद होगी दुकान, अरसे बाद आबकारी विभाग की सख्ती

Rajasthan: राजस्व में नुकसान, ...तो बंद होगी दुकान, अरसे बाद आबकारी विभाग की सख्ती

जयपुर: पिछले 2 साल में शराब लाइसेंसियों के साथ नरम रुख रखने वाले आबकारी विभाग ने अब सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है. राज्य सरकार के राजस्व में नुकसान पहुंचाने वाले लाइसेंसियों की शराब दुकानें अब निरस्त की जा रही हैं. जयपुर शहर में ऐसे 3 लाइसेंसियों की दुकानें निरस्त कर दी गई हैं. 

आबकारी विभाग के जयपुर शहर जिले ने शराब दुकान संचालकों पर नकेल कसनी शुरू कर दी है. दो साल तक कोविड काल और आर्थिक मंदी का हवाला देकर लाइसेंसी आबकारी विभाग का राजस्व चुकाने में देरी कर रहे थे. आबकारी विभाग ने भी काफी हद तक लाइसेंसियों को सहयोग भी किया. लेकिन इस वित्त वर्ष में हालात अनुकूल होने के बावजूद राज्य सरकार को राजस्व में नुकसान पहुंचाने वाले लाइसेंसियों पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है. 

शुरुआत जयपुर शहर में 3 दुकानों को निरस्त करने के साथ की गई है. जिला आबकारी अधिकारी मातादीन मीणा ने एक साथ 3 दुकानों के अनुज्ञा पत्र निरस्त किए हैं. इन दुकान संचालकों ने दुकान की मासिक गारंटी राशि के अनुरूप में राशि नहीं चुकाई. साथ ही आबकारी विभाग की निर्धारित अनुज्ञा पत्र की शर्तों का उल्लंघन भी किया. विभाग ने दुकान संचालकों को सुनवाई का मौका भी दिया, लेकिन इसके बावजूद हालात नहीं सुधरे. इन तीन दुकान संचालकों पर आबकारी विभाग की करीब डेढ़ करोड़ की राशि बकाया चल रही थी. वहीं विभाग ने अब लाइसेंसियों को सख्त संदेश दिया है कि जो लाइसेंसी बकाया नहीं चुकाएंगे, उनकी दुकानों का लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा. 

जयपुर शहर में इन 3 दुकानों पर गिरी गाज:-
- वार्ड नंबर 132 जी में 2 दुकानों पर एक साथ कार्रवाई
- कैलगिरी रोड मालवीय नगर और अपेक्स सर्किल के पास की दुकानों पर कार्रवाई
- दुकान संख्या 2 पर बकाया थे 55.48 लाख रुपए
- दुकान संख्या 3 पर बकाया थे 34 लाख रुपए
- रोहन शाही नामक लाइसेंसी की थी ये दोनों दुकानें 
- वहीं झोटवाड़ा सर्किल में लाइसेंसी नवजोत की दुकान पर कार्रवाई
- वार्ड 37 एच की यह दुकान स्थित है सिंधीकैम्प बस स्टैंड के पास
- इस दुकान पर 50 लाख से ज्यादा राशि थी बकाया
- 58-सी के तहत आबकारी विभाग ने पहले दर्ज किया था अभियोग
- इसके बावजूद हालात नहीं सुधरने पर दुकानों के अनुज्ञा पत्र किए निलंबित

जयपुर शहर के साथ-साथ आबकारी विभाग ने जयपुर ग्रामीण में भी ऐसे लाइसेंसियों पर सख्ती की है, जो विभाग को बकाया राशि नहीं चुका रहे थे. जयपुर ग्रामीण के चौमूं सर्किल इलाके में एक शराब दुकान का अनुज्ञा पत्र निरस्त कर दिया गया है. दुकान संचालक ने विभाग की अनुज्ञा पत्र की शर्तों का उल्लंघन करने के साथ ही जुलाई माह में निर्धारित गारंटी राशि के पेटे मदिरा का उठाव नहीं किया था. ऐसे में विभाग ने इसे नियमों का उल्लंघन मानते हुए दुकान को निरस्त कर दिया है.

जयपुर ग्रामीण में 1 दुकान का लाइसेंस निरस्त:-
- चौमूं सर्किल की सांदरसर इलाके की दुकान का लाइसेंस निरस्त
- लाइसेंसी आशीष सांखला की दुकान पर करीब 30 लाख राशि थी बकाया
- पहली तिमाही में बकाया टूटने के साथ जुलाई में भी राशि रही बकाया

आबकारी विभाग से जुड़े सूत्रों का दावा है कि विभाग की डिफॉल्टर लाइसेंसियों पर कार्रवाई यहीं नहीं रुकेगी. आगामी दिनों में कम बकाया छोड़ने वाले शराब दुकान संचालकों पर भी इसी तरह की सख्त कार्रवाई की जा सकती है. यानी कि यह तय है कि आबकारी लाइसेंसी अब कोविड और मंदी की आड़ लेकर विभाग की बकाया राशि चुकाने से बच नहीं सकेंगे.
 

और पढ़ें