Rajasthan Panchayat Election Result 2021: गुलाबचंद कटारिया ने मतदान और चुनाव परिणाम आने में देरी को बताया गलत, कहा- धनबल का जोर बढ़ा

Rajasthan Panchayat Election Result 2021: गुलाबचंद कटारिया ने मतदान और चुनाव परिणाम आने में देरी को बताया गलत, कहा- धनबल का जोर बढ़ा

जयपुर: नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि पंचायत समिति और जिला परिषद चुनाव में भाजपा जीत का परचम लहरायेगी. उन्होंने मतदान और चुनाव परिणाम आने में देरी को गलत बताते हुए कहा कि इससे बाड़ेबंदी की अनावश्यक परिपाटी हो गई है जिससे चुनाव में अनावश्यक तौर पर धनबल का जोर बढ़ा है. साथ ही कटारिया ने चुनाव में शैक्षणिक योग्यता का प्रावधान हटाने का भी विरोध किया. हमारे वरिष्ठ संवाददाता डॉ रितु राज शर्मा ने उनसे पंचायत चुनाव परिणाम को लेकर  से बातचीत की.   

बता दें कि राजस्थान के 6 जिलों जयपुर, जोधपुर, भरतपुर, दौसा, सवाईमाधोपुर और सिरोही जिलों में जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्यों के लिए हुए तीन चरणों के चुनाव की मतगणना चल रही है. पंचाच समिति सदस्यों के परिणाम भी आने शुरू हो गए हैं. कई जगहों पर कांग्रेस तो कई पर भाजपा ने अपना परचम लहराना शुरू कर दिया है. वहीं कुछ जगहों पर निर्दलीय उम्मीदवार भी जीत का पताका फहरा रहे हैं. बता दें कि पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव परिणामों के बाद जिला परिषद सदस्यों के चुनाव की मतगणना होगी. शाम 4 बजे तक सभी नतीजे घोषित हो जाएंगे. 

चुनाव आयुक्त पीएस मेहरा ने बताया कि छह जिलों के 200 जिला परिषद सदस्य, 1564 पंचायत समिति सदस्य, छह जिला प्रमुख, उप जिला प्रमुख एवं 78 प्रधान, उप प्रधानों के लिए चुनाव होना था. इनमें से एक जिला परिषद सदस्य और 26 पंचायती समिति सदस्य निर्विरोध चुन लिए गए हैं.

199 जिला परिषद और 1537 पंचायती समिति सदस्यों के परिणाम होंगे जारी:
इस तरह 199 जिला परिषद और 1537 पंचायती समिति सदस्यों के परिणाम शनिवार को जारी किए जाएंगे. उन्होंने बताया कि यहां तीनों चरणों में 64.40 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था. उन्होंने बताया कि मतगणना में उन्हीं कार्मिकों, अधिकारियों को नियोजित किया जाएगा, जिन्होंने कोरोना रोधी टीके की कम से कम एक खुराक प्राप्त कर ली हो.

मतगणना स्थल और उसके आस-पास के क्षेत्र में सुरक्षा के पुख्ता इंतजामात:
चुनाव आयुक्त ने बाताया कि मतगणना में उन्हीं कार्मिकों, अधिकारियों को नियोजित किया जाएगा, जिन्हें कोरोना वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग चुकी है. मतगणना स्थल और उसके आस-पास के क्षेत्र में सुरक्षा के पुख्ता इंतजामात किए गए हैं. इसके साथ ही यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं कि आयोग के निर्देशों की पालना करते हुए परिणाम बिना किसी त्रुटि एवं देरी के समय रहते घोषित किए जाएं. जीत के बाद किसी भी उम्मीदवार का विजयी जुलूस, रैली निकालना या अधिक संख्या में लोगों को इकट्टा करना या आमसभा करना प्रतिबंधित रहेगा. 

और पढ़ें