Rajasthan Police अपनी कार्यशैली में बदलाव लाए, किसी पीड़ित के साथ अन्याय न हो- मुख्यमंत्री

Rajasthan Police अपनी कार्यशैली में बदलाव लाए, किसी पीड़ित के साथ अन्याय न हो- मुख्यमंत्री

Rajasthan Police अपनी कार्यशैली में बदलाव लाए, किसी पीड़ित के साथ अन्याय न हो- मुख्यमंत्री

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) अपनी कार्यशैली और अनुसंधान के तौर-तरीकों में प्रोफेशनल एप्रोच (Professional Aapproach) के साथ बदलाव लाकर देश की नंबर वन पुलिस के रूप में अपनी पहचान बनाए. उन्होंने कहा कि हर आपराधिक प्रकरण में पुलिस की तफ्तीश पूरी निष्पक्षता और पारदर्शिता के साथ हो. किसी भी निर्दोष और पीड़ित व्यक्ति के साथ अन्याय न हो. निष्पक्ष एवं त्वरित कार्रवाई से ही पुलिस महकमे का इकबाल बुलंद होगा.

बुधवार को सीएमआर से वीसी के माध्यम से की कानून व्यवस्था की समीक्षा:
गहलोत बुधवार को मुख्यमंत्री निवास (CMR) से वीडियो कॉन्फ्रेंस (VC) के माध्यम से कानून-व्यवस्था (Law and Order) की समीक्षा कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की पहली एवं दूसरी लहर के समय लॉकडाउन (Lockdown) को जमीनी स्तर पर प्रभावी रूप से लागू करने में पुलिस विभाग ने सकारात्मक भूमिका से आमजन के बीच बेहतर छवि बनाई और इससे पुलिस के प्रति विश्वास कायम हुआ. पुलिस की यही छवि आगे भी बरकरार रहनी चाहिए.

प्रदेश में अपराध नियंतत्रण और कानून व्यवस्था पर लिए गए नीतिगत फैसले:
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने अपराध नियंत्रण एवं कानून-व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए कई महत्वपूर्ण नीतिगत फैसले (Important Policy Decisions) लिए हैं. थानों में उचित माहौल में फरियादियों की सुनवाई के लिए स्वागत कक्षों के निर्माण, तथा अनिवार्य एफआईआर दर्ज करने के साथ ही पुलिस महकमे के सुदृढ़ीकरण एवं आधुनिकीकरण की दिशा में लिए गए महत्वपूर्ण फैसलों को देशभर में सराहा गया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी थानों में स्वागत कक्ष बनाने के काम को गति दी जाए. 

पुलिस रखें मानवीय नजरिया:
गहलोत ने कहा कि महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों, अनुसूचित जाति, जनजाति, अल्पसंख्यकों (Women, Children, Elderly, SC, ST, Minorities) सहित समाज के कमजोर वर्गों (Vulnerable Groups) को न्याय दिलाने में पुलिस मानवीय नजरिए के साथ तफ्तीश करे. उन्होंने कहा कि संवेदनशील मामलों (Sensitive Matters) में निष्पक्ष जांच करवाकर दोषियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाए, ताकि लोगों के बीच पुलिस की छवि में सुधार हो. गहलोत ने विभिन्न प्रकार के माफिया तथा संगठित अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि खनन, भू-माफिया, मादक पदार्थ तथा हथियारों की तस्करी, धोखाधड़ी तथा निवेश के नाम पर पैसा हड़पने वाले माफियाओं में पुलिस अपनी कार्रवाई से कानून का भय पैदा करे.

 

और पढ़ें