Rajasthan Political Crisis: आज फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, सचिन पायलट को भी बुलाया

Rajasthan Political Crisis: आज फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, सचिन पायलट को भी बुलाया

Rajasthan Political Crisis: आज फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, सचिन पायलट को भी बुलाया

जयपुर: राजस्थान में चले रही सियासी खिंचतान को सुलझाने में लगातार आलाकमान की कोशिशें जारी है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता उनके संपर्क में हैं. कांग्रेस आलाकमान चाहता है कि पायलट आगे कोई भी बात बढ़ाने से पहले वे जयपुर में विधायक दल की बैठक में शामिल हों. 

पायलट समर्थित विधायकों का पहला वीडियो, समर्थकों का दावा, कल नहीं होंगे पायलट विधाय​क दल की बैठक में शामिल 

पायलट अभी अपने समर्थकों को एकजुट रख पाने में सक्षम नहीं: 
इससे पहले रविवार को पायलट ने गहलोत के खिलाफ खुलकर मोर्चा खोल दिया था और दावा किया था कि उनके पास 30 से अधिक विधायकों का समर्थन है और अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में आ चुकी है. वहीं कांग्रेस के एक सीनियर नेता की मानें तो सचिन पायलट अभी अपने समर्थकों को एकजुट रख पाने में सक्षम नहीं हैं क्योंकि वे चाहते हैं कि विधायक पहले इस्तीफा दें, जबकि विधायक इसके लिए तैयार नहीं हैं.

पार्टी आलाकमान इस मामले को अब और ज्यादा नहीं खींचना चाहता: 
सूत्रों की माने तो पार्टी आलाकमान इस मामले को अब और ज्यादा नहीं खींचना चाहता और कोशिश है कि मंगलवार तक इसका समाधान निकल जाए. आलाकमान को लगता है कि सचिन पायलट का ऐसे वक्त में अड़ जाना सही फैसला नहीं है जबकि उन्हें महज 15 विधायकों का ही समर्थन प्राप्त है. वहीं पायलट से जुड़े सूत्रों की माने तो वो अभी भी अपने मांगों को लेकर अड़े हुए हैं. वहीं पार्टी को सचिन की कुछ मांगे अनुचित लग रही है और नेताओं द्वारा मामले को सुलझाने का प्रयास जारी है.

कांग्रेस विधायक दानिश अबरार बोले, सरकार के पास बहुमत से ज्यादा नंबर हैं 

आइए राजनीतिक यथास्थिति पर चर्चा करें:
वहीं कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने जयपुर में कहा कि एक बार फिर हम सचिन पायलट, सभी विधायक साथियों को लिखकर भी भेज रहे हैं. उनसे अनुरोध करते हैं कि आइए राजनीतिक यथास्थिति पर चर्चा करें. राजस्थान को कैसे मजबूत करें, ये चर्चा करें. अगर किसी व्यक्ति विशेष से कोई मतभेद है तो खुले मन से वो भी कहिए, कांग्रेस नेतृत्व... सोनिया गांधी और राहुल गांधी सबकी बात सुनने और उसका हल निकालने के लिए संपूर्ण रूप से तैयार हैं. 


 

और पढ़ें