Live News »

Rajasthan Political Crisis: प्रदेश के सियासी संग्राम से जुड़ी 5 याचिकाओं पर हाईकोर्ट में सुनवाई आज

Rajasthan Political Crisis: प्रदेश के सियासी संग्राम से जुड़ी 5 याचिकाओं पर हाईकोर्ट में सुनवाई आज

जयपुर: प्रदेश के सियासी संग्राम से जुड़ी 5 महत्वपूर्ण जनहित याचिका पर राजस्थान हाईकोर्ट में आज सुनवाई होगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व सचिन पायलट खेमे के होटलों में रुके हुए एमएलए के वेतन-भत्ते रोकने से जुड़े, एमएलए भंवरलाल द्वारा एसओजी में दर्ज एफआईआर को रद्द करवाने के मामले में हाईकोर्ट में आज सुनवाई होगी. इसके साथ ही राज्यपाल द्वारा विधानसभा का सत्र नहीं बुलाए जाने के मामले में भी हाईकोर्ट में सुनवाई होगी. 

 Rajasthan Political Crisis: मायावती इन दिनों भाजपा के इशारे पर काम कर रही- मेघवाल  

होटलों में रुके हुए एमएलए के वेतन-भत्तों को रोका जाए: 
पत्रकार विवेक सिंह जादौन ने जनहित याचिका दायर कर होटलों में रुके विधायकों को वेतन भत्ते रोकने यह कहते हुए चुनौती दी है कि कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश में वित्तीय हालात सही नहीं है. लेकिन फिर भी एमएलए अपने मौजूदा विधानसभा क्षेत्रों में नहीं जा रहे हैं. जनहित याचिका में कहा गया कि विधायक ना ही अपने क्षेत्र में जा रहे है और ना ही विधायी कार्य कर रहे है ऐसे में उन्हें वेतन-भत्तों का भुगतान क्यों किया जाए. पीआईएल में कहा कि प्रदेश में एक ही राजनीतिक दल से जुड़े ये एमएलए आपसी प्रतिस्पर्धा के चलते आमजन के धन का दुरुपयोग कर रहे है. इसलिए जयपुर व मानेसर की होटलों में रुके हुए एमएलए के वेतन-भत्तों को रोका जाए. याचिका में सीएम सहित विधानसभा स्पीकर, विधानसभा सचिव व मुख्य सचिव को पक्षकार बनाया है. मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति की खण्डपीठ में याचिका पर सुनवाई होगी. 

राज्यपाल से जुड़ी दो याचिकाओं पर होगी सुनवाई: 
सियासी संग्राम के दौरान मुख्यमंत्री और केबिनेट की ओर से विधानसभा सत्र आहुत करने को लेकर भेजे गये प्रस्ताव को राज्यपाल ने इंकार कर दिया था. जिसके बाद एडवोकेट एस के सिंह और एडवोकेट शांतनु पारीक ने अलग अलग दो जनहित याचिकाए दायर कर हाईकोर्ट में चुनौति दी. याचिका दायर होने के दूसरे ही दिन राज्यपाल ने कैबिनेट प्रस्ताव के आधार पर 14 नवंबर से सत्र को मंजूरी दे दी है. मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति की खण्डपीठ की समक्ष कल दोनों ही जनहित याचिकाएं सूचीबद्ध है. एडवोकेट एस के सिंह की याचिका में जहां सत्र आहुत करने के निर्देश देने की मांग कि गयी है वहीं एडवोकेट शांतनु पारीक की जनहित याचिका में केन्द्र सरकार को पक्षकार बनाते हुए राज्यपाल को हटाने की मांग की गयी है. 

Rajasthan Political Crisis: अब दिल्ली से आ रही एक चौंकाने वाली खबर, सोनिया गांधी के स्तर पर हो रही एक आखिरी कोशिश!

भवरलाल शर्मा की 2 याचिकाओं पर सुनवाई: 
कांग्रेस के बागी विधायकों में शामिल विधायक भंवरलाल शर्मा की ओर से भी दायर दो याचिकाओं पर आज सुनवाई होगी. विधायक शर्मा हाईकोर्ट में चार याचिकाए दायर एसओजी और एसीबी में दर्ज एफआईआर को चुनौति दी है. साथ ही विधायक खरीद फरोख्त को लेकर एसओजी में दर्ज एफआईआर को एनआईए को ट्रांसफर करने को लेकर भी याचिका दायर की है. विधायक शर्मा की दो याचिकाओं पर आज सुनवाई होगी. जिनमें एसओजी में दर्ज एफआईआर को एनआईए को ट्रांसफर करने की मांग कि गयी है. मामले में केन्द्र व राज्य सरकार सहित जांच अधिकारी को भी पक्षकार बनाया है. दोनों याचिकेाओं पर जस्टिस सतीशकुमार शर्मा की एकलपीठ सुनवाई करेगी. 

और पढ़ें

Most Related Stories

टोंक से तीन बार विधायक और पूर्व मंत्री रही ज़किया इनाम का निधन

टोंक से तीन बार विधायक और पूर्व मंत्री रही ज़किया इनाम का निधन

जयपुर: टोंक से तीन बार विधायक और पूर्व मंत्री रही ज़किया इनाम नहीं रही, देर रात जयपुर में उनका निधन हो गया. पिछले कई दिनों से वे बीमार चल रही थी. कल शाम को ही उनको आरयूएचएस में भर्ती कराया था. देर रात उन्होंने अंतिम सांस ली. उनकी मौत की खबर के बाद टोंक कांग्रेसियों ने शोक व्यक्त किया है. कांग्रेस पार्टी से टोंक से ज़किया इनाम 3 बार विधायक रही. 1985-1989 के बीच चिकित्सा मंत्री रही. उन्होने महिला और बाल विकास मंत्री समेत विभिन्न मंत्रालय संभाले. 

1985 में पहली बार कांग्रेस उम्मीदवार के रुप में भाग्य आजमाया:
साल 1985 में पहली बार कांग्रेस उम्मीदवार के रुप में भाग्य आजमाया तथा विधायक चुनने के बाद चिकित्सा मंत्री भी बनी थी. 1993 के चुनाव में उनको टिकट नहीं मिला. 1985, 1990, 1998, 2003, 2008 एवं 2013 में वे कांग्रेस उम्मीदवार रहीं. 1998, 2008 में विधायक फिर से विधायक चुनी. 2013 के चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा तथा उनकी जमानत भी नहीं बच पाई. जिले में अब तक जकिया ही ऐसी महिला उम्मीदवार थी, जो तीन बार विधायक बनी.

{related} 

कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच शोक की लहर:  
उनके निधन की खबर मिलते ही टोंक और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच शोक की लहर दौड़ गई. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा, पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट समेत प्रमुख नेताओं ने उनके निधन पर गहरा शोक जताया.   

किसान अध्यादेश के खिलाफ कांग्रेस का चौतरफा विरोध, तैयार की खास रणनीति

जयपुर: केंद्र सरकार के कृषि अध्यादेश के खिलाफ कांग्रेस का चौतरफा विरोध जारी है. अब 24 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस मुख्याल में प्रेसवार्ता रखी गई है. इस दौरान प्रदेश प्रभारी अजय माकन के साथ PCC चीफ गोविंद डोटासरा मौजूद रहेंगे. 

28 सितंबर को PCC से राजभवन तक पैदल मार्च:  
इसके साथ ही कांग्रेस 28 सितंबर को PCC से राजभवन तक पैदल मार्च भी करेगी. हालांकि धारा-144 के मद्देनजर कार्यक्रम में बदलाव भी हो सकता है. पैदल मार्च के बाद राज्यपाल को ज्ञापन दिया जाएगा. 

2 अक्टूबर को प्रदेश कांग्रेस मनाएगी 'किसान मजदूर दिवस':
वहीं, 2 अक्टूबर को प्रदेश कांग्रेस किसान मजदूर दिवस मनाएगी. 2 अक्टूबर को विधानसभा क्षेत्रों और जिला मुख्यालयों पर कृषि विधेयकों के खिलाफ धरने प्रदर्शन भी होंगे. 10 अक्टूबर को जयपुर सहित अन्य जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस किसान सम्मेलन आयोजित करेगी. 

सोमवार को भी जिला कलेक्टर्स को ज्ञापन सौंपे थे:
गौरतलब है कि सोमवार को भी कृषि विधेयकों के खिलाफ कांग्रेस ने प्रदर्शन कर जिला कलेक्टर्स को ज्ञापन सौंपे थे. कृषि से जुड़े वर्गों की सहानुभूति बंटोरने के लिए कांग्रेस एक पखवाड़े के कार्यक्रम तय करते हुए सभी राज्य ईकाइयों को विभिन्न टास्क दिए गए हैं.
 

Rajasthan Panchayat Election: पहले चरण में 13 सरपंच और 4468 पंच चुने गये प्रत्याशी निर्विरोध

Rajasthan Panchayat Election: पहले चरण में 13 सरपंच और 4468 पंच चुने गये प्रत्याशी निर्विरोध

जयपुर: पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव के पहले चरण में नाम वापसी की अवधि पूरी होने के बाद 1002 ग्राम पंचायतों में सरपंच पद के लिए 5388 और पंच पदों के लिए 11890 उम्मीदवार चुनाव मैदान में बच गए हैं. पहले चरण में 13 सरपंच और 4468 पंच प्रत्याशी निर्विरोध चुन लिए गए हैं. पहले चरण के पंच सरपंच चुनाव में नाम वापसी के बाद अब तस्वीर साफ हो गई है. इसके तहत...

- पहले चरण के पंच सरपंच चुनाव में राज्य की 1002 ग्राम पंचायतों में 9042 प्रत्याशियों ने कुल 9066 नामांकन पत्र दाखिल किए. जांच के बाद 8875 नामांकन पत्र वैध पाए गए हैं.   

- इनमें से नाम वापसी के आखिरी दिन 3474 उम्मीदवारों ने अपना नाम वापस ले लिया.  

- अब राज्य में पंचायत चुनाव-2020 में सरपंच पद के लिए अंतिम रूप से चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की संख्या 5388 रह गई है.  

- इसी तरह 1002 ग्राम पंचायतों के 9688 वार्डों के लिए 21542 उम्मीदवारों ने 21557 नामांकन पत्र दाखिल किए गए. इनमें से 20961 नामांकन पत्र वैध पाए गए.  

- 4571 उम्मीदवारों ने अपने नाम वापस लिए, जबकि 4468 पंचों को निर्विरोध चुन लिया गया. उन्होंने बताया कि नाम वापसी के बाद अब 11890 उम्मीदवार वार्ड पंच के लिए चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आजमाएंगे. 

आगे का कार्यक्रम रहेगा इस तरह: 

- इन ग्राम पंचायतों पर चुनाव कराने के लिए 27 सितंबर तक मतदान दल निर्वाचन स्थल पर पहुंच जाएंगे.  

- इन पंचायतों पर 28 सितंबर सोमवार सुबह 7.30 से सायं 5.30 बजे तक मतदान होगा.  

- मतदान समाप्ति के बाद इन पंचायत मुख्यालयों पर मतगणना करवाई जाएगी.  

- 29 सितंबर को उपसरपंच का चुनाव होगा.  

- गौरतलब है कि पहले चरण में 50 पंचायत समितियों की 1002 ग्राम पंचायतों के 4679 मतदान केंद्रों पर मतदान कराया जाएगा.  
इन पंचायतों में कुल 33 लाख 40 हजार 35 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे, जिनमें से 17 लाख 48 हजार 670 पुरुष, 15 लाख 91 हजार 347 महिलाएं और 18 अन्य मतदाता शामिल हैं.  

राज्य निर्वाचन आयुक्त पी एस मेहरा ने प्रदेश के समस्त मतदाताओं से केंद्र और राज्य सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव संबंधी सभी प्रोटोकॉल की पालना के साथ अधिक से अधिक संख्या में मतदान करने की अपील की है.  
 

राजस्थान हाईकोर्ट ने पंचायत चुनाव में हस्तक्षेप करने से किया इंकार, लक्ष्मणगढ पंचायत समिति के चुनाव पर रोक लगाने की याचिका खारिज

राजस्थान हाईकोर्ट ने पंचायत चुनाव में हस्तक्षेप करने से किया इंकार, लक्ष्मणगढ पंचायत समिति के चुनाव पर रोक लगाने की याचिका खारिज

जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने अधिसूचना जारी होने और एक बार चुनाव प्रक्रिया शुरू होने के बाद चुनाव में किसी प्रकार से हस्तक्षेप से इंकार करते हुए अलवर की लक्ष्मणगढ़ पंचायत समिति के चुनाव पर रोक लगाने को लेकर दायर याचिका को खारिज कर दिया है. जस्टिस सतीश कुमार शर्मा की एकलपीठ ने ये आदेश भरतसिंह की ओर से दायर चुनाव याचिका पर सुनवाई करते हुए दिये है.

दोबारा आरक्षण सूची जारी किये बिना ही चुनाव कार्यक्रम घोषित कर दिया:
भरतसिंह की ओर से एडवोकेट प्रकाश ठकुरिया ने याचिका दायर कर अदालत को बताया कि 3 फरवरी 2020 को लक्ष्मणगढ पंचायत समिति के लिए जारी कि गयी कुछ पंचायतों को नगरपालिका लक्ष्मणगढ़ में शामिल कर लिया गया. ऐसे में लक्ष्मणगढ़ में आने वाली पंचायतों की दोबारा आरक्षण सूची जारी किये बिना ही चुनाव कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है. 

{related} 

अधिसूचना जारी होने के बाद उसमें हस्तक्षेप किया जाना विधिविरूद्ध: 
याचिका में लक्ष्मणगढ़ पंचायत समिति के चुनाव पर रोक लगाने और नए सिरे से दोबारा आरक्षण सूची तैयार करने के बाद ही चुनाव कराने की गुहार लगायी गयी. लेकिन हाईकोर्ट ने कहा कि एक बार चुनाव के लिए अधिसूचना जारी होने के बाद उसमें हस्तक्षेप किया जाना विधिविरूद्ध है. इस मामले में भी अधिसूचना जारी होने और 28 सितंबर को चुनाव तय होने के चलते अदालत ने याचिका को खारिज करने के आदेश दिये है. 

अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों के लिए 192 फ्लैट बनाएगा हाउसिंग बोर्ड, स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए भी बड़ी पहल

जयपुर: सोमवार को हुई राजस्थान हाउसिंग बोर्ड की संचालक मंडल की बैठक में कई बड़े फ़ैसले लिए गए हैं. अध्यक्ष भास्कर सावंत की अध्यक्षता में हुई बैठक में क़रीब 50 प्रकरणों का निस्तारण भी किया गया.  

अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों को बड़ी सौगात: 
हाउसिंग बोर्ड की 234 वी संचालक मंडल की बैठक में कई अहम फ़ैसले लिए गए हैं. बोर्ड ने अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों को बड़ी सौगात देते हुए अलग से आवासीय योजना लांच करने का फैसला लिया है. हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने बताया कि बोर्ड जल्द ही एआईएस रेजीडेन्सी नाम से आवासीय योजना लांच करेगा. पहली बार है जब प्रदेश में अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों के लिए अलग से आवासीय योजना लांच होगी. बोर्ड ने जैसी प्लानिंग इस योजना के लिए की है उससे उम्मीद है कि इस योजना में बड़ी संख्या में अधिकारी आवेदन करेंगे.  

- आईएएस, आईपीएस, आईएफएस अधिकारियों को हाउसिंग बोर्ड की बड़ी सौगात

- अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों के लिए लांच होगी आवासीय योजना

- राजधानी में पहली बार लांच होगी अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों के लिए आवासीय योजना

- योजना में बनाये जाएंगे 192 बहुमंजिला फ्लैट

- एक फ्लैट का निर्मित क्षेत्रफल होगा 3211 वर्ग फ़ीट

- 3 बीएचके साइज के होंगे सभी 192 फ्लैट

- फ्लैट में होगी ड्राइंग रूम और सर्वेंट रूम की सुविधा

- 91 लाख 58 हजार होगी एक फ्लैट की अनुमानित कीमत

- योजना में मिलेगी सभी आधुनिक सुविधाएं

क्लब हाउस, बेडमिंटन कोर्ट, स्क्वैश कोर्ट, स्विमिंग पूल, स्पा, रेस्टोरेंट, बैंक्वेट हॉल, जिम्नेजियम, कॉन्फ्रेंस रूम, गेस्ट हाउस, टेनिस कोर्ट, सेंट्रल लॉन एरिया, चिल्ड्रन प्ले एरिया, ओपन जिम, इंटरनल वॉक वेस और सिक्योरिटी की सुविधा होगी. 

स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए बड़ी पहल: 
बोर्ड की संचालक मंडल की बैठक में एक और महत्वपूर्ण फ़ैसला लिया गया है. कोविड काल के दौरान निजी क्षेत्र में जहां एक ओर नौकरियों में काफी कटौती हुई है वहीं दूसरी ओर निजी संस्थानों द्वारा अपने कर्मचारियों के वेतन में भी काफी कटौती की गई है ऐसे में हाउसिंग बोर्ड ने स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए बड़ी पहल की है. बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने बताया कि स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए हाउसिंग बोर्ड 2 अक्टूबर, 2020 को ‘अपनी दुकान-अपना व्यवसाय‘ योजना लांच करेगा. इस योजना के तहत 1544 व्यावसायिक भूखंड या निर्मित दुकानें, जो 27 वर्गमीटर तक के आकार की हैं, उन्हें ई-बिड सबमिशन के माध्यम से बेचा जाएगा और जिन 137 दुकानों या भूखंडों का आकार 27 वर्गमीटर से अधिक है, उनका निस्तारण ई- ऑक्शन के माध्यम से किया जाएगा. इस तरह 1681 व्यावसायिक भूखंडों या निर्मित दुकानों का निस्तारण इस योजना के तहत किया जाएगा. इन योजनाओं की समस्त जानकारी और व्यावसायिक भूखंडों/निर्मित दुकानों की गूगल लोकेशन जल्द ही बोर्ड की वेबसाइट उपलब्ध होगी. बोर्ड कमिश्नर अरोड़ा ने बताया कि जयपुर के प्रतापनगर में बनने वाले कोचिंग हब के  मुख्य एजुकेशनल ब्लॉक के निर्माण के लिए इस माह के अंत तक वर्क ऑर्डर दे दिया जाएगा यहां पहले से ही चारदीवारी और आंतरिक विकास कार्यों का निर्माण कार्य चल रहा है यहां पौधारोपण भी बड़े स्तर पर हो चुका है.  

बैठक में बोर्ड ने आवंटियों को भी बड़ी राहत दी:
बैठक में बोर्ड ने आवंटियों को भी बड़ी राहत देते हुए 2001 से पूर्व के समस्त आवासों के आवंटियों को भी ब्याज और शास्ति में छूट देने का फ़ैसला लिया है. कमिश्नर पवन अरोड़ा ने बताया कि मौज़ूदा समय  में वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण उत्पन्न संकट की स्थिति को देखते हुए दिनांक 1 जनवरी, 2001 से पूर्व के आवंटित समस्त आवासों के आवंटियों द्वारा बकाया मासिक किश्तों की राशि एकमुश्त जमा करवाए जाने पर ईडब्लूएस, एलआईजी, एमआईजी-ए श्रेणी के आवेदकों को ब्याज एवं शास्ति में शत प्रतिशत छूट तथा एमआईजी बी व एचआईजी श्रेणी के आवेदकों को ब्याज एवं शास्ति में 50 प्रतिशत की छूट प्रदान की जाएगी.  

...फर्स्ट इंडिया के लिए शिवेंद्र परमार की रिपोर्ट

मुख्यमंत्री गहलोत का बेरोजगार युवाओं के लिए बड़ा फैसला, कनिष्ठ सहायक भर्ती में चयन से वंचित अभ्यर्थियों को तोहफा

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कनिष्ठ सहायक भर्ती परीक्षा-2018 में चयन से वंचित अभ्यर्थियों के हित में एक बड़ा निर्णय लेते हुए 603 अतिरिक्त पदों के सृजन को मंजूरी दी है. इनमें सामान्य वर्ग के 345, अन्य पिछड़ा वर्ग के 223 तथा अनुसूचित जनजाति के 35 पद हैं. संशोधित अर्थना के कारण नियुक्ति से वंचित हो रहे अभ्यर्थियों को मुख्यमंत्री के इस निर्णय से बड़ी राहत मिलेगी और उन्हें विज्ञापित पदों के अनुरूप नियुक्ति के अवसर मिल पाएंगे. 

अब जल्द ही इन अतिरिक्त पदों पर अभ्यर्थियों को नियुक्ति मिल सकेगी: 
उल्लेखनीय है कि इस भर्ती की संशोधित अर्थना में विज्ञापित पदों में से सामान्य, ओबीसी एवं अनुसूचित जनजाति वर्गों के पदों की कमी कर दी गई थी. जबकि राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने विज्ञापित पदों के अनुसार परिणाम जारी कर अभ्यर्थियों के आवेदन पत्रों का सत्यापन भी करा लिया था. मुख्यमंत्री की नई स्वीकृति के बाद अब जल्द ही इन अतिरिक्त पदों पर अभ्यर्थियों को नियुक्ति मिल सकेगी. अब तक इस परीक्षा के गैर अनुसूचित क्षेत्र के 10 हजार 763 रिक्त पदों के विरूद्ध 10 हजार 688 तथा अनुसूचित क्षेत्र के 1278 रिक्त पदों के विरूद्ध 722, अर्थात कुल 11 हजार 410 अभ्यर्थियों को विभागों को आवंटन किया जा चुका है. 

{related} 

उचित मूल्य दुकान आवंटन के लिए कंप्यूटर योग्यता में भी छूट:
वहीं मुख्यमंत्री ने उचित मूल्य दुकान आवंटन के लिए अनिवार्य शैक्षणिक योग्यता में आरकेसीएल अथवा समकक्ष सरकारी संस्थान का 3 माह का आधारभूत कम्प्यूटर प्रशिक्षण होने की शर्त में शिथिलन देने को मंजूरी दे दी है. अब ऐसे चयनित व्यक्तियों को 31 मार्च, 2021 अथवा आरकेसीएल की परीक्षा आयोजित होने तक परिणाम जारी होने के 15 दिन की अवधि का शिथिलन दिया जा सकेगा. उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण वर्तमान में आरकेसीएल द्वारा कम्प्यूटर की परीक्षा आयोजित नहीं की जा सकी है. 

Horoscope Today, 22 September 2020: आज इन राशि वालों का बदलेगा भाग्य, करे ये उपाय

Horoscope Today, 22 September 2020: आज इन राशि वालों का बदलेगा भाग्य, करे ये उपाय

जयपुर: दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित होता है. राशिफल की जानकारी करते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है. दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. ऐसे में आप इस राशिफल को पढ़कर अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बना सकते हैं.  

{related} 

मेष (Aries): आज बिजनेस और नौकरी में  कुछ नया करने की कोशिश कर सकते हैं. उम्मीद और भरोसे से आगे बढ़ें. आज के दिन की सफलता के लिए भोजन में काले नमक का सेवन करे.  

वृष ( Taurus): आज भविष्य को लेकर आपकी जो भी उम्मीदें और जो भी सपने हैं, उनके बारे में सही से विचार करें. आज के दिन की सफलता के लिए किसी जरूरतमंद को दवाईओ का दान करें. 

मिथुन ( Gemini): आज बिना प्लानिंग के कोई काम न करें. निवेश संबंधित कोई बड़ा फैसला लेने से पहले अनुभवी से सलाह लें. आज के दिन की सफलता के लिए बंदरों को केले खिलायें. 

कर्क ( Cancer): आज  घर का माहौल अच्छा करने की कोशिश करें. काम पर फोकस बनाये रखें. आज के दिन की सफलता के लिए दही खा कर घर से निकले. 

सिंह ( Leo): आज दूसरों के मामलों में फालतू दखल देने से बचें. दूसरों से विचार-विमर्श करें किन्तु अपने विचारों को भी महत्त्व दें. आज के दिन की सफलता के लिए सफ़ेद पुष्प पितरो की तस्वीर पर अर्पण करें. 

कन्या ( Virgo): आज आप जो भी काम करें, खुद के ही दम पर निपटाने की कोशिश करें. आप दूसरों से सिर्फ उतनी ही उम्मीदें रखें, जितनी व्यावहारिक हों. आज के  दिन की सफलता के लिए किसी अनाथाश्रम मे बिस्कुट के पैकेटो का दान करें. 

तुला ( Libra): आज आपके साथ कुछ अनचाही स्थितियां भी बन सकती हैं. परिवार, निजी जीवन  मामले में आपको नया फैसला भी लेने से बचना चाहिए. आज के दिन की सफलता के लिए लाल मसूर दाल का दान करे. 

वृश्चिक ( Scorpio): आज बिजनेस में उधार लेन-देन के कुछ फैसलों के कारण आपको नुकसान हो सकता है. ध्यान से हर काम करें. आज के दिन की सफलता के लिए पितरों की तस्वीर के सामने घी का दीपक जलाये. 

धनु ( Sagittarius): आज किसी ऐसी घटना से दो-चार होना पड़ सकता है जो आपको हिला कर रख देगी. तनाव न लें, अपने प्रयास निरंतर करते रहें. आज के दिन की सफलता के लिए केसर का तिलक लगा घर से निकले. 

मकर ( Capricorn): आज बदलती परिस्थिति के साथ अपने आप को ढालें. आज के दिन की सफलता के लिए तुलसी सेवन करके घर से निकले. 

कुंभ ( Aquarius): आज नम्रता भरा व्यवहार बनाए रखें, अहंकार की भावना से रखने से आपका नुकसान हो सकता है. आज के दिन की सफलता के लिए श्री हनुमान जी का ध्यान करके गुड चने का प्रसाद बच्चो मे बांटे. 

मीन ( Pisces): आज परिस्थिति से लड़ने की बजाए उसमे ढलने का प्रयास करें. जितना लड़ेंगे, संघर्ष करेंगे, उतनी ही परिस्थिति बिगड़ती जाएगी. आज के दिन की सफलता के लिए हनुमान जी थोड़ा सिंदूर अर्पण करे. 

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

22 सितंबर 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

22 सितंबर 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल... 

शुभ मास - प्रथम आश्विनी (अधिक) शुक्ल पक्ष  
शुभ तिथि षष्ठी नन्दा संज्ञक तिथि रात्रि 9 बजकर 31 मिनट तक रहेगी. षष्ठी तिथि को यथा आवश्यक विवाहादि मांगलिक कार्य, गृहारम्भ, संस्कार सम्बंधित कार्य शुभ माने जाते हैं. पर पितृ कर्म वर्जित माना जाता है. षष्ठी तिथि मे जन्मे जातक धनवान, बुद्धिवान, व्यापार कुशल, आज्ञाकारी, धर्मपरायण होते हैं. 

अनुराधा "मृदु " संज्ञक नक्षत्र  सांय 7 बजकर 18 मिनट तक रहेगा. अनुराधा नक्षत्र मे विवाह, जनेऊ, यात्रा, अलंकार, तथा अन्य शुभ कार्य व मांगलिक कार्य शुभ माने जाते हैं. अनुराधा नक्षत्र मे जन्मा जातक सुन्दर, साहसी, व्यापार निपुण, धनवान, बुद्धिमान होता है.  

{related} 

चन्द्रमा - सम्पूर्ण दिन ‎वृश्चिक राशि में संचार करेगा. 

व्रतोत्सव - गुरु नानक पुण्य दिवस  

राहुकाल - दोपहर 3 बजे से 4.30 बजे तक

दिशाशूल - मंगलवार को उत्त्तर दिशा मे दिशाशूल रहता है. यात्रा को सफल बनाने लिए घर से गुड़ खा कर निकले.  

आज के शुभ चौघड़िये - प्रातः 9.19 मिनट से दोपहर 01.50 मिनट तक चर, लाभ, अमृत का और दोपहर 3.20  मिनट से सायं 4.50 तक शुभ का चौघड़िया. 

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

Open Covid-19