Live News »

Rajasthan Rajya Sabha Result: कांग्रेस ने जीती दो सीट,भाजपा को मिली एक सीट, जीत की हुई आधिकारिक घोषणा 

Rajasthan Rajya Sabha Result: कांग्रेस ने जीती दो सीट,भाजपा को मिली एक सीट, जीत की हुई आधिकारिक घोषणा 

जयपुर: राज्यसभा की 24 सीटों के लिए शुक्रवार को मतदान हुआ. राजस्थान में भी 3 सीटों के लिए मतदान हुआ. 3 में दो सीटों पर राज्य की सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस को जीत मिली है जबकि बीजेपी के खाते में एक सीट गई है. शुक्रवार को राज्य से कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल और नीरज डांगी एवं बीजेपी के राजेंद्र गहलोत जीते हैं. जीत के साथ ही सोशल मीडिया पर कांग्रेस प्रत्याशियों को बधाई का दौर शुरू हो गया है. राजस्थान से राज्यसभा सांसद बनने पर शुभचिंतक बधाई देने लगे. राज्यसभा चुनाव परिणाम की आधिकारिक घोषणा हुई. कांग्रेस ने जीती दो सीट,भाजपा को एक सीट मिली. सबसे पहले नीरज डांगी को सर्टिफिकेट मिला. उसके बाद राजेंद्र गहलोत को सर्टिफिकेट दिया गया. केसी वेणुगोपाल को तीसरे नंबर पर सर्टिफिकेट दिया गया.

महामारी एक्ट में दर्ज हुआ वाजिब अली के खिलाफ मुकदमा, ज्योति नगर थाने में FIR दर्ज

सीएम गहलोत का जताया आभार:
केसी वेणुगोपाल ने सीएम गहलोत ,सचिन पायलट ,कांग्रेस ,निर्दलीय ,बीटीपी ,आरएलडी ,सीपीएम का आभार जताया है. केसी वेणुगोपाल ने कहा कि राजस्थान की अवाम के लिए काम करूंगा. नीरज डांगी ने कहा कि हमारी दोहरी जिम्मेदारी राजस्थान के विकास के लिए काम करेंगे. 

हम मिलकर चलेंगे अच्छी गवर्नेंस देंगे:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कांग्रेस के विजेता उम्मीदवारों को बधाई दी है. सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि सिंधिया जी की जो दुर्गति हुई सबके सामने है. हम मिलकर चलेंगे अच्छी गवर्नेंस देंगे. BJPके पास सामना नहीं था फिर भी उम्मीदवार खड़ा किया. जान-बूझकर नीरज डांगी को हराने के लिए उम्मीदवार खड़ा किया है. क्योंकि बीजेपी दलित विरोधी है. 

भाजपा का एक वोट रिजेक्ट:
आपको बता दें कि प्रदेश की 3 राज्यसभा सीटों के लिए मतदान संपन्न हुए. राजस्थान विधानसभा में कुल 200 विधायकों में से कांग्रेस-भाजपा के 198 विधायकों ने मतदान किया. हालांकि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवर लाल मेघवाल अस्वस्थ होने के कारण अपना वोट डालने नहीं आ सके. वहीं सीपीएम के विधायक गिरधारी लाल भी वोट नहीं डाल सकें. उन्होंने वोट नहीं डालने का कारण लू लगना बताया है. भाजपा का एक वोट रिजेक्ट हो गया है. भाजपा वोटर ने गलती की. वरीयता के तहत वोटर को ओंकार सिंह लखावत को वोट देना था, लेकिन वोटर ने दोनों उम्मीदवारों को वोट डाल दिया. 

खान महाघूसकाण्ड-आरोपी राशिद शेख का कोर्ट में सरेंडर, कल होगी जमानत पर सुनवाई

और पढ़ें

Most Related Stories

राहुल-पायलट मुलाकात प्रकरण पर बड़ा अपडेट! जानकार सूत्रों ने दिए संकेत

राहुल-पायलट मुलाकात प्रकरण पर बड़ा अपडेट! जानकार सूत्रों ने दिए संकेत

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी घमासान के बीच बड़ा अपडेट सामने आया है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सचिन पायलट की राहुल गांधी-प्रियंका गांधी और केसी वेणुगोपाल से मुलाकात हुई है. इस दौरान चारों के बीच करीब दो घंटे तक चर्चा हुई. मुलाकात के बाद राहुल और प्रियंका सोनिया गांधी से मिलने पहुंचे. उसके बाद अब राहुल-सोनिया और प्रियंका के बीच मुलाकात जारी है. 

Rajasthan Political Crisis: अब बसपा के नहीं कांग्रेस के सभी 6 विधायक! हाईकोर्ट में कांग्रेस ने पेश किया प्रार्थना पत्र 

तीन सदस्यीय कमेटी बनाने की कही गई बात: 
मिली जानकारी के अनुसार इस दौरान तीन सदस्यीय कमेटी बनाने की बात कही गई है. ऐसे में तीनों सदस्य पूरे मामले पर विचार विमर्श करने के बाद ही विधायकों की वापसी पर फैसला लेंगे. फिलहाल सचिन पायलट की बातों को नहीं माना गया है. शायद यह मीटिंग बहुत कामयाब नहीं रही. आलाकमान पायलट की मूल मांग मानने के मूड में नहीं है. आलाकमान ने राजस्थान में नेतृत्व परिवर्तन से साफ इनकार किया है. ऐसे में अब आखिर कैसे होगी पायलट और बागियों की सम्मानजनक घर वापसी? फिलहाल किसी को कुछ भी समझ नहीं आ रहा है. शायद आज रात तक कुछ स्थिति स्पष्ट हो जाए. 

एक बार फिर उम्मीद जताई जा रही:  
बता दें कि 14 अगस्त से ही राजस्थान में विधानसभा का सत्र शुरू होने जा रहा है, इस पर सचिन पायलट गुट ने सत्र में शामिल होने के संकेत दे दिए थे. ऐसे में अब प्रियंका और राहुल गांधी से मुलाकात के बाद एक बार फिर उम्मीद जताई जा रही है कि सचिन पायलट अपनी नाराजगी भूलकर पार्टी में वापस आएंगे. पहले भी प्रियंका गांधी वाड्रा ने सचिन पायलट से कई बार फोन पर बात की थी और उन्होंने मसला सुलझाने का प्रयास किया था. 

Rajasthan Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट में अब कल होगी सुनवाई, भाजपा और बसपा विधायकों की ट्रांसफर याचिकाओं पर एक साथ होगी सुनवाई 

गहलोत गुट के विधायकों ने की थी एक्शन की मांग:
इससे पहले सोमवार को ही ये बात सामने आई थी कि राजस्थान में गहलोत गुट के विधायकों ने मांग की है कि बागी विधायकों पर एक्शन होना चाहिए, जिसपर सीएम गहलोत ने फैसला आलाकमान पर छोड़ने की बात कही थी. साथ ही कहा था कि इस बारे में सबको आलाकमान का फैसला मानना चाहिए. 

Rajasthan Political Crisis: अब बसपा के नहीं कांग्रेस के सभी 6 विधायक! हाईकोर्ट में कांग्रेस ने पेश किया प्रार्थना पत्र

Rajasthan Political Crisis: अब बसपा के नहीं कांग्रेस के सभी 6 विधायक! हाईकोर्ट में कांग्रेस ने पेश किया प्रार्थना पत्र

जयपुर: बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय को चुनौती देने वाली बसपा और भाजपा विधायक की याचिकाओं पर राजस्थान हाईकोर्ट में कल सुनवाई होगी. हाईकोर्ट में सुनवाई से पूर्व अब कांग्रेस की ओर मामले में पक्षकार बनने के लिए प्रार्थना पत्र पेश किया गया है. प्रार्थना पत्र में राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष और मुख्य सचेतक महेश जोशी को पक्षकार बनाने की गुहार लगायी गयी है. 

Rajasthan Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट में अब कल होगी सुनवाई, भाजपा और बसपा विधायकों की ट्रांसफर याचिकाओं पर एक साथ होगी सुनवाई 

एडवोकेट वरूण के चौपड़ा और शाश्वत पुरोहित के जरिए पेश किये गये प्रार्थना पत्र में कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि चुकि राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष ने 18 सिंतबर 2019 को एक आदेश के जरिए बसपा के सभी 6 विधायकों का कांग्रेस में विलय कर दिया है. इसलिए अब ये सभी 6 विधायक बसपा के नही होकर राजस्थान विधानसभा में कांग्रेस के विधायक है. 

सरकार के लिए बेहद महत्वपूर्ण है 6 बसपा विधायक: 
याचिका में कहा गया है कि बसपा की ओर से दायर याचिका में इन विधायकों की सदस्यता रद्द करने और वोटिंग अधिकार पर रोक लगाने की गुहार की गयी है. अगर हाईकोर्ट ऐसा आदेश देता है तो वर्तमान सरकार के लिए मुश्किल होगा. इससे कांग्रेस और मुख्य सचेतक के हित प्रभावित होते हैं. ये विधायक कांग्रेस की वर्तमान सरकार का सबसे मजबूत पक्ष है. राज्य की सरकार के लिए ये सभी 6 विधायक बेहद महत्वपूर्ण और प्रमुख सदस्य है. इसलिए इस मामले में कोई भी आदेश देने से पूर्व कांग्रेस और मुख्य सचेतक का पक्ष भी सुना जाये. 

कोरोना नियंत्रण को लेकर मुख्यमंत्री का बड़ा फैसला, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा से जुड़े लोगों को कोविड इलाज में दी बड़ी राहत 

विधानसभा अध्यक्ष के 18 सिंतबर 2019 के चुनौती दी गयी: 
याचिका में कहा गया है कि विधानसभा अध्यक्ष के 18 सिंतबर 2019 के चुनौती दी गयी है. अध्यक्ष का ये आदेश इंडियन नेशनल कांग्रेस को प्रभावित करता है. इसलिए कांग्रेस और मुख्य सचेतका का भी पक्ष सुना जाये. बसपा की ओर से दायर याचिका पर राजस्थान हाईकोर्ट की एकलपीठ कल सुनवाई करेगी. सुनवाई से एक दिन पूर्व कांग्रेस ने राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष की ओर से ये अर्जी पेश की है. इसके साथ ही मुख्य सचेतक महेश जोशी की ओर से भी मामले में पक्षकार बनने की अर्जी पेश की है. 

कोरोना नियंत्रण को लेकर मुख्यमंत्री का बड़ा फैसला, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा से जुड़े लोगों को कोविड इलाज में दी बड़ी राहत

जयपुर: प्रदेश में खाद्य सुरक्षा कानून के दायरे में आने वाले गरीब परिवारों को कोरोना का निजी अस्पतालों में फ्री इलाज मिलेगा. कोरोना नियंत्रण को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अहम फैसला किया है, जिसके तहत इन परिवारों को निजी अस्पताल में ईलाज का पूरा खर्चा का रिमेम्बरसमेंट किया जाएगा. 

Rajasthan Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट में अब कल होगी सुनवाई, भाजपा और बसपा विधायकों की ट्रांसफर याचिकाओं पर एक साथ होगी सुनवाई 

गहलोत सरकार ने कई अहम फैसले लेकर मरीजों को राहत दी:  
राजस्थान में कोरोना की रोकथाम के प्रति गहलोत सरकार स्वास्थ्य ही फ्रंट फुट पर काम कर रही है. फिर चाहे वह जांच का दायरा बढ़ाने की बात हो या फिर कोरोना मरीजों की सुविधाओं को लेकर फैसले. हर मोर्चे पर गहलोत सरकार ने कई अहम फैसले लेकर मरीजों को राहत दी है. इसी कड़ी में खाद्य सुरक्षा के दायरे में आने वाले परिवारों को बड़ी सौगात दी गई है. चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा से जुड़े लोग कोरोना पॉजिटिव चिन्हित पाए जाते हैं तो वह किसी भी निजी अस्पताल में भी इलाज ले सकते हैं. इस दौरान आने वाले खर्च का पूरा पुनर्भरण सरकार द्वारा किया जाएगा.   

सरकार कोरोना टेस्ट क्षमता और टेस्टिंग संख्या में लगातार बढ़ोतरी कर रही: 
राजस्थान में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश भर में 30 हजार से ज्यादा कोरोना जांचें प्रतिदिन की जा रही हैं. सरकार कोरोना टेस्ट क्षमता और टेस्टिंग संख्या में लगातार बढ़ोतरी कर रही है. एग्रेसिव टेस्टिंग का ही परिणाम है कि कोरोना के ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. लेकिन सर्विलांस की दृष्टि से ये अच्छे संकेत हैं. उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा है कि प्रदेश में कोरोना से होने वाली मृत्युदर शून्य पर आ सके. इसके लिए सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि सुकून देने वाली बात यह रही कि जुलाई-अगस्त में प्रदेश में कोरोना से होने वाली मृत्युदर घटकर 1 प्रतिशत तक आ गई. वर्तमान में कोरोना से होने वाली मृत्युदर 1.5 फीसद है. उन्होंने कहा कि प्लाज्मा थेरेपी और जीवनरक्षक इंजेक्शन के जरिए इसे और भी कम किया जा रहा है.  

एंटीजन टेस्ट की विश्वसनीयता पर सवाल !
- चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने फिर केन्द्र पर साधा निशाना
- कहा - केंद्र सरकार से एंटीजन किट की लगातार कर रहे है मांग
- लेकिन चिकित्सा विभाग को अभी तक उपलब्ध नहीं कराए गए किट
- मजबूरन एक निजी अस्पताल से सैम्पल टेस्ट के लिए मंगवाए गए 200 किट
- इसमें से जांच में 48.6 फीसदी किट ही मानकों पर उतरे खरे
- 200 में से 89 उन मरीजों के टेस्ट बताए गए नेगेटिव
- जो RTPCR टेस्ट में भी पाए गए नेगेटिव
- लेकिन शेष बची 111 किट में से 57 रिपोर्ट बताई गई नेगेटिव
- जबकि RTPCR टेस्ट में यह सभी पाए गए थे पॉजिटिव
- इसमें चिकित्सा मंत्री ने केंद्र को एक बार फिर पत्र लिखने का किया जिक्र

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि सरकार कोरोना की रोकथाम के लिए सजग और सतर्क है. राजधानी के निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों का इलाज बेहतर तरीके से हो सके इसके लिए अस्पतालों के प्रबंधकों की मुख्य सचिव के साथ बैठक प्रस्तावित है. उन्होंने कहा कि आरयूएचएस अस्पताल में कोरोना के मरीजों की सुविधाओं को भी बढ़ाया जाएगा. उन्होंने कहा कि कोरोना मरीजों के बेहतर उपचार के लिए 1300 नए वेंटीलेटर प्रोक्योर किए गए हैं. हालांकि प्रदेश सरकार के पास वेंटीलेटर्स की कोई कमी नहीं थी लेकिन पॉजिटिव्स केसों की बढ़ती संख्या के चलते यह वेंटीलेटर्स खासे उपयोगी होंगे.  

VIDEO: विधायक संयम लोढ़ा का बड़ा बयान, BSP के विधायको का वोट फ्रीज नहीं कर सकता कोर्ट 

केवल सावधानियों से ही कोरोना को हराया जा सकता:
स्वास्थ्य मंत्री ने एक बार फिर आमजन से अपील करते हुए कहा कि कोरोना का अभी तक कोई पुख्ता इलाज या कोई वैक्सीन नहीं खोजी जा सकी है, ऐसे में केवल सावधानियों से ही कोरोना को हराया जा सकता है. उन्होंने कहा कि सरकार अपने स्तर पर कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रही लेकिन आमजन को भी कोरोना प्रोटोकॉल का ध्यान में रखते हुए मास्क लगाने, भीड़ में ना जाने, बार-बार साबुन से हाथ धोने जैसे नियमों की पालना जरूर करनी चाहिए. 

Rajasthan Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट में अब कल होगी सुनवाई, भाजपा और बसपा विधायकों की ट्रांसफर याचिकाओं पर एक साथ होगी सुनवाई

Rajasthan Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट में अब कल होगी सुनवाई, भाजपा और बसपा विधायकों की ट्रांसफर याचिकाओं पर एक साथ होगी सुनवाई

जयपुर: बसपा के 6 विधायको के कांग्रेस में विलय मामले में अब सुप्रीम कोर्ट में कल सुनवाई होगी. सुप्रीम कोर्ट भाजपा विधायक की एसएलपी के साथ ही बसपा विधायकों की ट्रांसफर पीटीशन पर एकसाथ सुनवाई करेगा. जस्टिस अरूण मिश्रा, जस्टिस बी आर गवई और जस्टिस कृष्णमुरारी की तीन सदस्य बैंच में भाजपा विधायक मदन दिलावर की याचिका पर सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान दिलावर के वकील हरीश साल्वे ने बसपा विधायको की ओर से दायर ट्रांसफर पीटीशन का जिक्र किया. जिस पर अदालत ने दोनों ही याचिकाओं पर मंगलवार को एक साथ सुनवाई करने के निर्देश दिये है. 

VIDEO: विधायक संयम लोढ़ा का बड़ा बयान, BSP के विधायको का वोट फ्रीज नहीं कर सकता कोर्ट 

भाजपा विधायक मदन दिलावर ने राजस्थान हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दायर की है. इस याचिका पर सुनवाई के दौरान वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने अदालत को बताया कि विधानसभा अध्यक्ष ने उनकी शिकायत को तकनीकी आधार पर खारिज कर दिया है. जबकि बसपा विधायको का कांग्रेस में विलय असंवैधानिक है क्योकि खुद बसपा की ओर से कहा गया है कि उसने कांग्रेस में विलय की अनुमति नहीं दी है. सुप्रीम कोर्ट में मदन दिलावर की ओर से दायर याचिका में बसपा विधायकों की विधानसभा में वोटिंग पर रोक की मांग की है. बसपा के 6 विधायकों ने भी सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर याचिका दाखिल कर राजस्थान हाईकोर्ट में लंबित मामले को सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर करने की मांग की है. बसपा विधायकों की ट्रांसफर पीटीशन पर भी अब सुप्रीम कोर्ट कल सुनवाई करेगा. 

राजस्थान हाईकोर्ट में भी सुनवाई कल: 
बीजेपी विधायक मदन दिलावर और बसपा की ओर से दायर याचिका पर भी राजस्थान हाई कोर्ट में कल सुनवाई होगी. बसपा और दिलावर ने याचिका दायर कर बसपा के 6 विधायकों का कांग्रेस में विलय असंवैधानिक बताया है. जिस पर सुनवाई करते हुए एकलपीठ ने 30 जुलाई को आदेश देते हुए विधानसभा अध्यक्ष, सचिव और बसपा विधायको को नोटिस जारी किये थे. 

राहुल गांधी-सचिन पायलट मुलाकात आज! पायलट कैंप से जुड़े सूत्रों ने दिए संकेत 

एकलपीठ के आदेश के खिलाफ बसपा और दिलावर की ओर से अपील दायर कि गयी थी. जिस पर मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत मोहंती और न्यायमूर्ति प्रकाश गुप्ता की खंडपीठ ने 6 अगस्त को आदेश देते हुए बसपा विधायको को नोटिस तामिल कराने की व्यवस्था की थी. इसके साथ ही एकलपीठ को मामले की सुनवाई कर उसी दिन फैसला करने को कहा था. पीठ ने कहा कि एकल पीठ 11 अगस्त को भाजपा और बसपा की अपील पर सुनवाई करेगी. कल ही अब इस मामले पर राजस्थान हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है. फिलहाल सुप्रीम कोर्ट से हाईकोर्ट ने कोई निर्देश जारी नही किये है. ऐसे में हाईकोर्ट मामले पर सुनवाई कर सकता है. 

राहुल गांधी-सचिन पायलट मुलाकात आज! पायलट कैंप से जुड़े सूत्रों ने दिए संकेत

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच आज एक बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है. पायलट कैंप से जुड़े सूत्रों ने आज राहुल गांधी और सचिन पायलट की मुलाकात के संकेत दिए हैं. सूत्रों की माने तो यह मुलाकात आलाकमान के बुलावे पर हो रही है. लेकिन मुलाकात से पहले राहुल गांधी ने पायलट के सामने सभी विधायकों को साथ लेकर आने की शर्त रखी है और पायलट ने राहुल गांधी की बात मान ली. 

Coronavirus in India: 24 घंटे में 62 हजार से ज्यादा केस, 1007 लोगों की वायरस से हुई मौत 

जैसलमेर में विधायक दल की बैठक में ही संकेत दे दिए थे:  
ऐसे में अब पायलट कैंप के विधायक गुजरात या दूसरे स्थानों से दिल्ली पहुंच रहे हैं. वहीं राहुल-पायलट की संभावित मुलाकात की खबर से गहलोत खेमे में भी उत्सुकता है. हालांकि शायद गहलोत को इस मुलाकात की पहले ही जानकारी थी. इसलिए कल उन्होंने जैसलमेर में विधायक दल की बैठक में ही संकेत दे दिए थे और पायलट गुट के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे विधायकों को दो टूक संदेश दिया था कि जो भी दिल्ली का फैसला होगा हम उसे मानेंगे. हम सभी लोग पार्टी के अनुशासित सिपाही हैं.  

भाजपा कैंप में हैरानी और आश्चर्य: 
दूसरी ओर राहुल-पायलट की संभावित मुलाकात से भाजपा कैंप में हैरानी और आश्चर्य होने की जानकारी सामने आ रही है. क्योंकि पायलट के NATURAL ALLY के रूप में भाजपा का भी इस सारे मामले में STAKE है. हालांकि भाजपा ने हमेशा गहलोत और पायलट की अंदरूनी लड़ाई बताया है. लेकिन अब राजनीतिक क्षेत्रों में एक सवाल पूछा जा रहा है कि क्या इतना आगे बढ़ने के बाद सचमुच पायलट लौट पाएंगे पीछे? आखिर अब क्या होगी राहुल और पायलट के बीच कोई डील? पायलट कैंप की खुद पायलट को सीएम बनाने की एक ही शर्त है और इसके लिए गहलोत के 96 या 100 विधायक कतई तैयार नहीं है, तो फिर ऐसे में क्या होगा नया 'शांति फॉर्मूला'? इस बारे में सभी लोगों के अपने-अपने अनुमान है. 

Rajasthan Political Crisis:  बसपा विधायकों के विलय मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई 

वेस्टर्न कंट्री क्लब होटल से देर रात निकले सभी विधायक:
इसी बीच पायलट गुट से जुड़ी बड़ी खबर है. वेस्टर्न कंट्री क्लब होटल से देर रात निकले सभी विधायक. इसके साथ ही मौके से एंबुलेंस और कोविड केयर सेंटर को हटाया गया है. पहले विधायकों के हयात होटल जाने की खबर थी लेकिन विधायक वहां भी नहीं पहुंचे. 

 

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों के विलय मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई

Rajasthan Political Crisis:  बसपा विधायकों के विलय मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई

जयपुर: राजस्थान में चल रहा सियासी संकट अभी थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. बसपा विधायकों के विलय मामले पर भाजपा विधायक मदन दिलावर की SLP पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुबह 11 बजे अहम सुनवाई होगी. जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता में 3 सदस्य बैंच इस मामले की सुनवाई करेगी. 

जोधपुर में 11 लोगों के शव मिलने का मामला: परिवार के बचे आखिरी सदस्य ने देचू थाने में दर्ज कराई FIR, रिश्तेदारों को ठहराया दोषी

हाईकोर्ट के 6 अगस्त के फैसले को चुनौती दी गई: 
याचिका में राजस्थान हाईकोर्ट के 6 अगस्त के फैसले को चुनौती दी गई है. हाईकोर्ट ने स्पीकर सीपी जोशी के विलय के फैसले पर रोक लगाने से इंकार किया था. याचिका में कहा गया है कि, 14 अगस्त से शुरू होने वाले राजस्थान विधानसभा सत्र में इन 6 बसपा विधायकों के वोटिंग राइट्स पर रोक लगाई जाए. साथ ही, यह सभी विधायक कांग्रेस विधायक के रूप में काम न कर सकें.

11 अगस्त को होगी भाजपा विधायक दल की बैठक, गुजरात गए तमाम विधायक भी आएंगे जयपुर 

अगर वोटिंग अधिकार पर नहीं लगती रोक, तो होगी अपूरणीय क्षति:
याचिका में कहा गया एकलपीठ के बाद खण्डपीठ ने बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय होने को लेकर कोई आदेश नहीं दिया और ना ही स्टे एप्लीकेशन पर स्टे ही दिया है. 14 अगस्त से राजस्थान में विधानसभा का सत्र आहूत हो रहा है. ऐसे में अगर वोटिंग अधिकार पर रोग नहीं लगती तो यह अपूरणीय क्षति होगी. याचिका में विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के साथ 6 विधायकों को पक्षकार बनाया गया है. 
 

Horoscope Today, 10 August 2020: आज खुलेगा इन राशि वालों के किस्मत का ताला, करें ये उपाय

Horoscope Today, 10 August 2020: आज खुलेगा इन राशि वालों के किस्मत का ताला, करें ये उपाय

जयपुर: दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित होता है. राशिफल की जानकारी करते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है. दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. ऐसे में आप इस राशिफल को पढ़कर अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बना सकते हैं. 

मेष (Aries):- आज राज्य की ओर से मान-सम्मान मिलेगा और उच्चाधिकारियों के साथ सम्मेलन-समारोह में जाने से प्रसन्नता होगी. यश वैभव में वृद्धि होगी. 

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने के लिए बंदरों को गुड़ चना खिलाये  

वृष (Taurus):- आज हास-परिहास और मित्र साहचर्य में दिन व्यतीत होगा.  एक खास तरह की खुशी और नजदीकी आप अनुभव करेंगे.  

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने के लिए कौओ को पनीर खिलाये. 

मिथुन (Gemini):- आज झगड़े-विवाद से मानसिक क्लेश और हानि होने के संकेत मिल रहे हैं. सावधानी से आज के दिन को गुजारे. मन को खुश बनाये रखें.

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने गौ माता की सेवा करें.

कर्क (Cancer):- आज आपके द्वारा शुरू की गई योजनाएं पहले की अपेक्षा अच्छे परिणाम दे सकती हैं, लेकिन आपको कड़ी मेहनत और भरपूर कोशिश करनी पड़ेगी. 

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने के लिए शिव मंदिर में दीपक जलायें. 

सिंह (Leo):- आज सुख और आराम के साथ सुकीर्तिवर्धक दिन होगा. आज के दिन अपने कारोबार में, नौकरी के क्षेत्र में मनोवांक्षित लाभ प्राप्त होगा.  

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने के लिए सूर्य देव को जल का अर्ध्य प्रदान करें. 

कन्या (Virgo):-  आज अपने आपको सही रास्ते पर लाने के लिए सबसे पहले आपको नकारात्मक सोच से उभरना होगा. सफल वही होता है जो बार-बार जोखिम सहकर भी हिम्मत नहीं हारता. 

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने के लिए फलो के रास से शिव अभिषेक करें. 

तुला (Libra):- आज आपको सभी रुके हुए काम अपने अंजाम तक पहुंचाने की भरसक कोशिश करनी होगी. अपनी समझ से आप शाम तक एक बड़ा संकट दूर कर पाएंगे. 

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने के लिए छोटी कन्या को श्रृंगार साम्रगी का दान करें. 

वृश्चिक (Scorpio):- आज आप अपनी जिद और फालतू गतिविधियों में डूबे रहेंगे तो आपको बड़ा नुकसान हो सकता है. लो प्रोफाइल रह कर काम करें. 

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने के लिए गुड़ खा कर घर से निकले. 

धनु (Sagittarius):- आज आप के साथ कौन खड़ा है और उसके साथ खड़े होने से भविष्य में आपके लिए क्या समस्या खड़ी हो सकती है, इस पर विचार अवश्य करें.   

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने के लिए केसर का तिलक लगाए. 

मकर (Capricorn):-  आज का दिन पूरी तरह से व्यस्त रखेगा. कुछ नये लोगों से परिचय होगा और आगे की रणनीति बनेंगी. सेहत का ध्यान रखें. 

उपाय - आज के दिन को अच्छा बनाने के लिए भोलेनाथको भांग का भोग लगाये. 

कुंभ (Aquarius):- आज के दिन शुभ मांगलिक कार्यों में सम्मिलित होने का दिन है. आपका सामाजिक क्षेत्र पहले से ज्यादा विशाल और विस्तृत होगा. 

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने के लिए मीठा दूध सफाई कर्मचारी को पिलाये. 

मीन (Pisces):- कुछ बाहरी लोग आज आपको तनावपूर्ण स्थिति में डाल सकते हैं. कुछ आंख, कान आदि के कष्ट पीड़ा दे सकते हैं.

उपाय - आज के दिन को सफल बनाने के लिए अपंग व्यक्ति को दही ली लस्सी पिलाये.   

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री 

10 अगस्त 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त, पूर्व दिशा में यात्रा को सफल बनाने लिए घर से दूध पी कर निकले

10 अगस्त 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त, पूर्व दिशा में यात्रा को सफल बनाने लिए घर से दूध पी कर निकले

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल... 

शुभ मास- भाद्रपद मास कृष्ण पक्ष  
शुभ तिथि षष्ठी नन्दा संज्ञक तिथि प्रातः 6 बजकर 43 मिनट तक तत्पश्चात सप्तमी तिथि रहेगी. षष्ठी तिथि को यथा आवश्यक विवाहादि मांगलिक कार्य, गृहारम्भ, संस्कार सम्बंधित कार्य शुभ माने जाते हैं. पर पितृ कर्म वर्जित माना जाता है. षष्ठी तिथि मे जन्मे जातक धनवान, बुद्धिवान ,व्यापार कुशल, आज्ञाकारी, धर्मपरायण होते हैं. 

शुभ नक्षत्र-अश्विनी "क्षिप्र " संज्ञक नक्षत्र रात्रि 10 बजकर 6 मिनट तक तत्पश्चात भरणी नक्षत्र रहेगा. अश्विनी नक्षत्र मे विवाह ,यात्रा, विद्या इत्यादि कार्य सिद्ध होते हैं. अश्विनी नक्षत्र मे जन्म लेने वाला जातक धनी, सरल स्वाभाव वाला, साहसी, प्रसिद्ध, सुन्दर, धनवान, बुद्धिमान होता है. अश्विनी नक्षत्र गण्डान्त मूल संज्ञक नक्षत्र है अतः इस नक्षत्र मे जन्मे जातको को मूल शांति करवा लेनी चाहिये. 

चन्द्रमा -  सम्पूर्ण दिन  मेष  राशि में संचार करेगा 

व्रतोत्सव -   छठ तिथि वृद्धि

राहुकाल - प्रातः 7.30 बजे से 9 बजे तक

दिशाशूल - सोमवार को पूर्व दिशा में दिशाशूल रहता है. यात्रा को सफल बनाने लिए घर से दूध पी कर निकले.

आज के शुभ चौघड़िये - सूर्योदय से प्रातः 7.38  तक अमृत, प्रातः 9.16 मिनट से पूर्वाह्न 10.54  मिनट तक शुभ और दोपहर 2.10 मिनट से सूर्यास्त तक चर, लाभ, अमृत का चौघड़िया  

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

Open Covid-19