Live News »

Rajasthan Rajya Sabha elections 2020: गहलोत सरकार के लिए अगले 100 दिन होंगे चुनौतीपूर्ण ?

जयपुर: राज्यसभा चुनाव (Rajyasabha Elections) को लेकर राजस्थान में चल रहे सियासी घटनाक्रम के बाद कांग्रेस के दिग्गज नेताओं का जयपुर में जमावड़ा लगा हुआ है. जानकार सूत्रों के अनुसार गहलोत सरकार के लिए अगले 100 दिन चुनौतीपूर्ण रह सकते हैं. जानकार सूत्रों ने इस मसले पर खुलासा करते हुए कहा कि इस बार तो गहलोत के ALERTNESS से विधायकों को तोड़ने का प्लान फेल हो गया. इसलिए फिलहाल राज्यसभा चुनाव के दौरान कोई संकट नहीं होगा. गहलोत बड़े आराम से दोनों सीटें निकाल ले जाएंगे. अलबत्ता ज्यादा से ज्यादा 5-6 कांग्रेसी विधायकों के इस्तीफे हो सकते हैं. लेकिन यह बांध में सुराख होने जैसा होगा. 

विधायकों की कथित खरीद-फरोख्त पर एक सनसनीखेज खुलासा ! 11 जून के लिए बना था एक बड़ा धमाका करने का प्लान 

सिंधिया ने भी नहीं सोचा था उनके साथ 22 विधायक आ जाएंगे: 
सूत्रों के मिली जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश में खुद सिंधिया ने नहीं सोचा था कभी कि 22 कांग्रेसी विधायक पार्टी छोड़कर उनके साथ आ जाएंगे. उनके साथ शुरुआती दौर में केवल 8-10 लोग थे. लेकिन एक बार जब भोपाल में दिल्ली वालों की दुकान खुल गई तो वहां 'सामान' लेने वालों की लंबी लाइन लग गई और अंततः कमलनाथ का इस्तीफा हो गया. हालांकि राजस्थान के हालात थोड़े अलग हैं. यहां गहलोत को 125 विधायकों का जबरदस्त समर्थन मिला है. 

राज्यसभा चुनाव कराने में जानबूझकर देरी की गई, ताकि भाजपा विधायकों की खरीद फरोख्त कर सके- मुख्यमंत्री गहलोत 

इंटेलीजेंस एजेंसीज ने गहलोत को दिए थे चौंकाने वाले INPUTS: 
इंटेलीजेंस एजेंसीज ने गहलोत को चौंकाने वाले INPUTS दिए थे, और आज इस कारण इस सारे संकट में केवल गहलोत ही KNOWLEDGEABLE व्यक्ति है. फिर भी सीएम गहलोत और रघु शर्मा-महेश जोशी-धर्मेंद्र राठौड़ जैसे सिपहसालारों को बेहद सतर्क रहना होगा. क्योंकि इस बार इन लोगों का सामना UNKNWON FORCES से है और जिनका रिकॉर्ड हर युद्ध को जीत लेने का है. फिर राजेंद्र राठौड़ और सतीश पूनियां जैसे 'खॉंटी समाचार सूचक' पहले से ही जयपुर में मौजूद है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा में किसान यूनियनों का प्रदर्शन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका

केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा में किसान यूनियनों का प्रदर्शन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका

अंबाला/कुरुक्षेत्र: भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के कार्यकर्ताओं ने हरियाणा में कई जगहों पर केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला जलाया. कुरुक्षेत्र के शाहबाद में भाकियू कार्यकर्ताओं ने हरियाणा के पूर्व मंत्री और भाजपा नेता कृष्ण कुमार बेदी के घर के पास प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिये पुलिस ने पानी की बौछार का इस्तेमाल किया. कुछ प्रदर्शनकारियों ने काले झंडे ले रखे थे और उन्होंने नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करते हुए केंद्र और भाजपा के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की.

नारेबाजी कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंकाः
भाकियू के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने अंबाला सिटी के निकट लखनपुर साहिब गांव में प्रदर्शन किया. प्रदर्शन स्थल पर किसानों ने केंद्र और भाजपा के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कृषि कानूनों को वापस लिये जाने की मांग की. बाद में प्रदर्शन के तहत अंबाला और कुरुक्षेत्र में प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका. राज्य में कुछ अन्य जगहों पर भी भाकियू कार्यकर्ताओं ने ऐसा ही प्रदर्शन किया.

सुरक्षा इंतजामः काफी संख्या में पुलिसकर्मियों को किया गया तैनातः
गुरनाम सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि जब तक केंद्र सरकार नए कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेती तब तक उसके खिलाफ प्रदर्शन जारी रहेगा.अंबाला, कुरुक्षेत्र और यमुनानगर जिलों समेत विभिन्न स्थानों पर सुरक्षा इंतजाम के तहत सुबह से ही काफी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था. इस महीने के शुरू में कुरुक्षेत्र पुलिस ने सिंह के खिलाफ प्रधानमंत्री को लेकर कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर मामला दर्ज किया था.

कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की आवाज को दबाने के लिए ऐसे हथकंड़े अपना रही सरकारः
भाकियू नेता ने किसानों से अपील की थी कि वे दशहरे के दौरान प्रधानमंत्री का पुतला जलाएं. इसके बाद शाहबाद पुलिस थाने में उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की गई थी. शिकायत सामाजिक कार्यकर्ता साहिल ने दर्ज कराई थी. इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सिंह ने कहा कि सरकार नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की आवाज को दबाने के लिए ऐसे हथकंडों का इस्तेमाल कर रही है.
सोर्स भाषा

VIDEO: राजस्थान में विभिन्न भाजपा जिला कार्यालयों का उद्घाटन और शिलान्यास, जेपी नड्डा बोले, पार्टी कार्यालय होता है संस्कार केंद्र

नई दिल्ली: भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राजस्थान में विभिन्न भाजपा जिला कार्यालयों का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया. इस मौके पर जेपी नड्डा ने कहा कि राजस्थान की वीर धरती पर आप सभी ने एक अच्छा निश्चय करके, संगठन को मजबूती प्रदान करने के लिए कार्यालय के कार्यक्रम को आगे बढ़ाया है. मैं ऐसी वीर भूमि को नमन करता हूं और राजस्थान के कार्यकर्ताओं को बधाई भी देता हूं जिन्होंने दो कार्यालयों का उद्घाटन और छह का शिलान्यास करा रहे हैं. जेपी नड्डा ने कहा कि साल 2014 में जब नरेन्द्र मोदी जी देश के प्रधानमंत्री बने, तो उन्होंने कल्पना रखी थी कि भाजपा लंबे समय तक कार्य करने के लिए कृत संकल्पित है, इसलिए भाजपा का हर जिले में एक अच्छा कार्यालय होना चाहिए. आवास पर कार्य करने से पार्टी धीरे-धीरे परिवार की हो जाती है.

कार्यालय में कार्य करने से पार्टी का हमेशा संस्कार बनता है और इसीलिए बाकी कई पार्टियां परिवार की पार्टियां हो गई और भाजपा पार्टी ही बड़ा परिवार बन गई.जेपी नड्डा ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में भाजपा कार्यकर्ताओं ने बहुत अच्छा काम किया. सभी पार्टियां लॉकडाउन हो गई थी और अभी भी लॉकडाउन हैं, लेकिन भाजपा एक अकेली ऐसी पार्टी थी जिसका राजनीतिक पक्ष तो था ही लेकिन कोरोना संक्रमण में पार्टी ने अपना सामाजिक पक्ष भी दिखाया. शुरुआत से ही राजस्थान भाजपा का संगठन स्ट्रक्चर में विकसित हुआ है. आपने रीति-नीति को विकसित कर पार्टी को आगे बढ़ाने का काम किया है. सबको साथ लेकर चलने की मंशा के साथ वहां पार्टी आगे बढ़ी है.

{related}

जेपी नड्डा ने कहा कि कोरोना महामारी से दुनिया के वो देश जो हमसे स्वास्थ क्षेत्र में बहुत अच्छे थे उनकी भी स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई, वो असहाय महसूस करने लगे. उस समय मोदी जी ने समय से और बोल्ड निर्णय लेकर 130 करोड़ की जनता को बचाने का काम किया है. हमने जो सामाजिक कार्य किए हैं, उसका एक डॉक्यूमेंट बनना चाहिए. हम इन सबको संकलित कर एक राष्ट्रीय ई-बुक बना रहे हैं. जो UN की 9 भाषाओं में अनुवादित होगी. ये विश्व का एक डॉक्यूमेंट बनेगा कि भारत में मोदी जी के नेतृत्व में समाज ने सरकार के साथ मिलकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ी. कृषि सुधार कानून क्रांतिकारी हैं जो किसानों को आजादी देते हैं. मोदी जी ने किसान को इतना सक्षम कर दिया है कि वो दुनिया के किसी भी बाजार में अपनी उपज बेच सकता है और दुनिया के बाजारों में उपज के दाम जान सकता है. 

जेपी नड्डा ने कहा कि वोकल फॉर लोकल से राजस्थान के आभूषण, पेंटिंग, वुड वर्क की विश्व में ब्रैंडिंग करनी है. भाजपा के कार्यकर्ता का काम सिर्फ चुनाव लड़ना नहीं है. हमारा काम भाजपा के माध्यम से समाज की तस्वीर और तकदीर बदलना है. हमें ये व्यवस्था करनी है कि उत्पाद बनाने वालों को भी उचित दाम मिल सकें. श्रद्धेय दीनदयाल उपाध्याय जी ने हमें एकात्म मावनवाद का सिद्धांत दिया. उन्होंने कहा कि भारत को अपनी रीति-नीति, अपनी मिट्टी से निकले सिस्टम को अपनाना होगा. इससे ये बात सामने आई कि जो समाज में कमजोर हैं, उन्हें सशक्त बनाना चाहिए. इससे अन्त्योदय की शुरुआत हुई. मुझे पूरा विश्वास है कि आज जो कार्यालय बना है वो इन सभी कार्यों को सुसज्जित तरीके से रखेगा और करेगा. कार्यकर्ता का मानसिक विकास हो, राजनीतिक विकास हो इसके लिए प्रयासरत रहेगा. ताकि हमारा कार्यकर्ता समाज में खड़ा हो तो जनता बोले कि इससे हमको कुछ सीखने, जानने को मिलेगा.

भाजपा नेता का विवादित बयान, कहा- मोदी ने तय कर दिया है कि पाकिस्‍तान और चीन से युद्ध कब होना

भाजपा नेता का विवादित बयान, कहा- मोदी ने तय कर दिया है कि पाकिस्‍तान और चीन से युद्ध कब होना

बलिया: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष स्‍वतंत्र देव सिंह ने एक विवादित टिप्पणी में कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तय कर दिया है कि पाकिस्‍तान और चीन से युद्ध कब होना है. उनकी यह टिप्पणी शुक्रवार को आई. उल्लेखनीय है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन के बीच तनाव व्याप्त है, जहां दोनों देशों के सैनिक काफी संख्या में तैनात हैं.

स्‍वतंत्र देव सिंह का वीडियो हुआ वायरलः 
भाजपा नेता ने अपने दावे को अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण प्रारंभ होने और ज्म्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किये जाने से संबद्ध किया है. दरअसल, सिंह का एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें उन्‍होंने कहा है कि 'राम मंदिर और अनुच्छेद 370 पर निर्णय की तरह ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तय कर दिया है कि पाकिस्‍तान और चीन से युद्ध कब होना है. संबंधित तिथि तय है कि कब क्‍या होना है.  सिंह ने गत 23 अक्‍टूबर को बलिया जिले के सिकंदरपुर में भाजपा विधायक संजय यादव के आवास पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की थी. भाजपा विधायक संजय यादव ने रविवार को यह वीडियो जारी किया.

{related}

क्षेत्रीय भाजपा नेताओं का बयान- कार्यकर्ताओं का जोश बढ़ाने के लिए ऐसा कहाः
स्‍वतंत्र देव सिंह ने अपने संबोधन में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस के नेताओं की तुलना आतंकवादियों से की. इस संदर्भ में जब भाजपा के क्षेत्रीय सांसद रवींद्र कुशवाहा से पूछा गया, तो उन्‍होंने कहा कि प्रदेश अध्‍यक्ष ने कार्यकर्ताओं का जोश बढ़ाने के लिए ऐसा कहा है.
सोर्स भाषा

स्मृति का विपक्ष पर तंज, कहा- हाथ पकड़कर या लालटेन के संग नहीं बल्कि कमल पर सवार होकर आती हैं लक्ष्मी 

स्मृति का विपक्ष पर तंज, कहा- हाथ पकड़कर या लालटेन के संग नहीं बल्कि कमल पर सवार होकर आती हैं लक्ष्मी 

पटना: केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा की वरिष्ठ नेता स्मृति ईरानी ने कांग्रेस और राजद पर तंज करते हुए शनिवार को कहा कि लक्ष्मी हाथ पकड़कर या लालटेन के संग नहीं आतीं बल्कि कमल पर सवार होकर आती हैं, इसलिये लोग भाजपा के पक्ष में मतदान करें.

बिहार का स्वाभिमानी नागरिक भगवान से नहीं कहता कि मुझे भी मौका दे कि मैं चारा घोटाले में पैसा कमा सकूंः
बिहार में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि जब मनुष्य भगवान की आराधना करता है, मां भगवती से आशीर्वाद मांगता है तो बिहार का स्वाभिमानी नागरिक कहता है कि मां, बाजुओं में इतना बल दे कि मैं दो हाथों से दो जून की इज्जत की रोटी कमा सकूं.  राजद पर चुटकी लेते हुए भाजपा नेता ने कहा कि बिहार का स्वाभिमानी नागरिक कभी भगवान से यह नहीं कहता है कि भगवान मुझे भी मौका दे कि मैं चारा घोटाले में पैसा कमा सकूं.

{related}

कमल पर बैठकर ही आती हैं लक्ष्मीः
स्मृति ने कहा कि बिहार का नागरिक जब मां लक्ष्मी से आशीर्वाद मांगता है तो कहता है कि मां, बस मेरे बाजुओं में इतना दम दे कि भरण-पोषण अपने परिवार का इज्जत से कर सकूं. भाजपा उम्मीदवार को जिताने की अपील करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जब लोग लक्ष्मी के सामने शीश झुकाते हैं तो पाते हैं कि जब लक्ष्मी घर आती हैं तो कांग्रेस का हाथ पकड़कर नहीं आतीं. लक्ष्मी जब घर आती हैं तो लालटेन संग नहीं लातीं, बल्कि लक्ष्मी आती हैं तो कमल पर बैठकर आती हैं. इसलिए लक्ष्मी को घर लाना है तो कमल का बटन दबाना है.

स्मृति ने कहा- बिहार को नया और विकसित देखना है तो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को जिताएंः
गौरतलब है कि हाथ का निशान कांग्रेस का चुनाव चिन्ह है जबकि लालटेन राजद का और कमल भाजपा का चुनाव निशान है. स्मृति ने कहा कि बिहार को नया और विकसित देखना है तो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को जिताएं. उन्होंने अपने संबोधन के दौरान विपक्षी राजद पर निशाना साधा और राजग सरकार की उपलब्धियां गिनायीं.
सोर्स भाषा

बलात्कार के मामलों में पंजाब और राजस्थान की सरकारों के लिए राहुल ने कहा-अगर न्याय में रुकावट डाली तो वहां भी लड़ूंगा

बलात्कार के मामलों में पंजाब और राजस्थान की सरकारों के लिए राहुल ने कहा-अगर न्याय में रुकावट डाली तो वहां भी लड़ूंगा

नयी दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि पंजाब और राजस्थान की सरकारों ने बलात्कार के मामलों में कभी भी न्याय का रास्ता नहीं रोका, लेकिन अगर वे उत्तर प्रदेश सरकार की तरह इंसाफ के रास्ते में रुकावट डालेंगी तो वह उन राज्यों में भी न्याय की लड़ाई लडे़ेगे. कांग्रेस नेता ने यह टिप्पणी उस वक्त की है जब भाजपा ने महिलाओं के खिलाफ अत्याचार के मामलों में ‘चयनित रूख’ अपनाने के लिए उन पर और प्रियंका गांधी पर निशाना साधा तथा पंजाब में छह वर्षीय एक बच्ची से कथित बलात्कार और फिर उसे मार डालने की घटना को लेकर उनकी चुप्पी पर सवाल उठाये.

पंजाब और राजस्थान की सरकारों ने  बलात्कार मामलों में न्याय के रास्ते में रुकावट नहीं डालीः
राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि उत्तर प्रदेश से उलट, पंजाब और राजस्थान की सरकारों ने लड़की से बलात्कार की बात से इनकार नहीं किया, पीड़िता के परिवार को धमकी नहीं दी और न्याय के रास्ते में रुकावट नहीं डाली. उन्होंने कहा कि अगर वे ऐसा करती हैं तो मैं वहां भी न्याय की लड़ाई लड़ने जाऊंगा.

{related}

पंजाब की घटना को लेकर निर्मला सीतारमण ने राहुल और प्रियंका पर साधा था निशानाः
पंजाब की घटना को लेकर भाजपा की वरिष्ठ नेता निर्मला सीतारमण ने राहुल और प्रियंका पर निशाना साधते हुए कहा कि पीड़िता बिहार के एक प्रवासी परिवार से है. उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव पर भी कटाक्ष किया कि क्या यादव ने राज्य में उनके साथ संयुक्त चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी से इस मुद्दे पर सवाल पूछा था. भाजपा के एक अन्य नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पर उत्तर प्रदेश के हाथरस में राजनीतिक दौरे पर जाने का आरोप लगाया. गौरतलब है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी भाजपा शासित राज्य उत्तर प्रदेश के हाथरस में उस पीड़ित लड़की के परिवार से मिलने गये थे जिससे कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया गया था और बाद में उसकी दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गई थी.
सोर्स भाषा

कोरोना वायरस के मुफ्त टीके के वादे पर मलिक ने भाजपा को घेरा, कहा- ऐसी घोषणा अन्य नागरिकों के साथ अन्याय

कोरोना वायरस के मुफ्त टीके के वादे पर मलिक ने भाजपा को घेरा, कहा- ऐसी घोषणा अन्य नागरिकों के साथ अन्याय

औरंगाबाद: महाराष्ट्र के मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक ने चुनाव वाले राज्य बिहार में लोगों को कोरोना वायरस का टीका मुफ्त दिये जाने के वादे को लेकर शनिवार को भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि एक राष्ट्रव्यापी महामारी के दौरान ऐसी घोषणा अन्य नागरिकों के साथ अन्याय है.

{related}

केन्द्र अगर डब्ल्यूएचओ की बात मान लेता तो देश में कुछ नहीं होताः
राज्य के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मलिक ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कि महाराष्ट्र में, हमारी सरकार मुफ्त में टीका प्रदान करेगी. मलिक ने कहा कि कोरोना वायरस से कई लोगों की जान चली गई और इससे निपटने के लिए लगाये गये लॉकडाउन के कारण कई लोगों की नौकरियां भी चली गई और यदि केन्द्र ‘‘विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा 31 दिसम्बर को वायरस के बारे में चेताये जाने के बाद सीमाओं को तुरंत सील कर देता’’ तो यह सब नहीं होता. उन्होंने कहा कि वक्फ बोर्ड के कामकाज को ऑनलाइन किया जाएगा और इसके लिए अगले छह महीने में एक निविदा प्रक्रिया को पूरा किया जायेगा.
सोर्स भाषा

नगर निगम चुनाव-2020: बागियों पर भाजपा की बड़ी कार्रवाई, 29 बगावतियों को 6 साल के लिए पार्टी से किया निष्कासित 

जयपुरः नगर निगम चुनावों में टिकट को लेकर बागी बने पार्टी के लोगों पर भाजपा ने बड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हे पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है. इससे पहले भाजपा पार्टी के वरिष्ट नेताओं ने बगावतियों से समझाइश भी की थी, लेकिन उनकी हठधर्मिता को देखते हुए पार्टी को ये बड़ा कदम उठाना पड़ा.  जानकारी के अनुसार शनिवार को नगर निगम चुनाव के टिकट वितरण को लेकर भाजपा पार्टी से बगावत कर रहे कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई करते हुए 29 लोगों को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है. हालांकि इन बगावतियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने से पहले उनसे समझाइश भी की गई, लेकिन उनकी हठधर्मिता के आगे पार्टी के आलाकमान को उन्हे निष्कासित करने फैसला करना पड़ा.

दिलावर ने कहा-पहले की गई समझाइशः
मामले को लेकर बीजेपी प्रदेश महामंत्री मदन दिलावर ने कहा कि पार्टी ने बागी प्रत्याशियों से मामले को लेकर समझाइश की गई थी, लेकिन पार्टी की बात नहीं मानने पर आला कमान ने उन्हे 6 साल के लिए निष्कासित करने का फैसला लिया.

{related}

पार्टी प्रत्याशियों के खिलाफ अलग-अलग वार्ड से लड़ रहे हैं चुनावः
जानकारी के अनुसार पार्टी के कुछ कार्यकर्ता नगर निगम चुनाव में टिकट नहीं मिलने को लेकर  पार्टी से नाराज थे और कई वार्डों में पार्टी प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ रहे थे, इसी बात को लेकर पहले उनसे समझाइश की गई और नहीं मानने पर उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई.

इनके खिलाफ की गई कार्रवाईः
वार्ड 3 से नरेंद्र सैनी विजयराज शर्मा, वार्ड 17 से पुष्पेंद्र ट्रेलर, वार्ड 18 से अमित कुमावत, वार्ड 33 से तनुज गुप्ता,वार्ड 56 से लक्ष्मी देवी, वार्ड 58 से सुरेश वर्मा व रिंकी चौधरी, वार्ड 62 से रुखसाना,वार्ड 65 से जाफर, वार्ड 69 से नरेश ब्रह्मभट्ट,वार्ड 78 से राजेश गुर्जर, वार्ड 74 से कुसुम यादव व अजय यादव, वार्ड 90 से गोपेश्वर प्रसाद गुप्ता, वार्ड 93 से नीता खेतान, वार्ड 16 मीना मूर्तिकार,वार्ड 18 से राजेंद्र, वार्ड 124 से आशा शर्मा, गौरी शंकर शर्मा, वार्ड 125 से कांता शर्मा,रामसहाय बागड़ा, वार्ड 126 से धर्म चौधरी,वार्ड 150 से स्वाति, वार्ड 51 से रेणुका कंवर,वार्ड 150 से संजीव शर्मा टाइगर, वार्ड 4 से मीनाक्षी सैनी,वार्ड 13 से रणजीत राजावत,वार्ड 16 से विजयलक्ष्मी ग्रोवर,वार्ड 53 से विजेंद्र सिंह, वार्ड विनोद मेहरा को निष्काषित किया गया है.

टांडा रेप केसः राहुल की चुप्पी पर वित्त मंत्री ने उठाए सवाल, पूछा- कांग्रेस की सरकार है तो आप उस पर एक भी बात नहीं बोलेंगे क्या?

टांडा रेप केसः राहुल की चुप्पी पर वित्त मंत्री ने उठाए सवाल, पूछा- कांग्रेस की सरकार है तो आप उस पर एक भी बात नहीं बोलेंगे क्या?

नई दिल्ली: तीन दिन पंजाब के होशियारपुर में छह साल की बच्ची से हैवानियत की घटना पर बीजेपी ने आक्रामक तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं. इस घटना पर बीजेपी लगातार पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साध रही है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस से सवाल पूछा है.

राहुल गांधी ने इस घटना पर एक शब्द नहीं बोला: 
उन्होंने राहुल गांधी पर  हमला बोलते हुए कहा कि ट्वीट फ्रेंडली नेता राहुल गांधी ने इस घटना पर एक शब्द नहीं बोला. उन्होंने राहुल पर तंज करते हुए कहा कि कोई ट्वीट नहीं, कोई नाराजगी नहीं और कोई पिकनिक नहीं. वित्त मंत्री ने कहा कि कांग्रेस को जवाब देने के लिए सामने आना चाहिए था.

कांग्रेस की सरकार है तो आप उस पर एक भी बात नहीं बोलेंगे क्या? 
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि मैं आज कांग्रेस पार्टी से पूछना चाहती कि क्या जहां आपकी सरकार नहीं है वहां अगर रेप होता है तो उसके खिलाफ आप भाई-बहन गाड़ी में बैठकर पिकनिक की तरह प्रदर्शन करने जाएंगे, मगर होशियापुर क्योंकि वहां कांग्रेस की सरकार है तो आप उस पर एक भी बात नहीं बोलेंगे क्या? हर मुद्दे पर ट्वीट करने वाले राहुल गांधी जी ने होशियारपुर में बच्ची से हैवानियत पर एक भी ट्वीट नहीं किया. जबकि इस घटना को तीन दिन हो गए.

{related}

नेता तेजस्वी यादव पर भी हमला बोला:
इस दौरान वित्त मंत्री ने  बिहार में कांग्रेस के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ रहे राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव पर भी हमला बोलते हुए कहा कि क्या आप उस परिवार के प्रति जवाबदेह नहीं हैं, जो बिहार से पंजाब गया था. केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा कि बीजेपी उन सभी लोगों के साथ खड़ी है, जो पंजाब में इस परिवार को न्याय दिलाना चाहते हैं.

जावडेकर ने पूछा - राहुल गांधी होशियारपुर क्यों नहीं जाते? 
इससे पहले सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने पूछा था कि हाथरस पर आंदोलन करने वाले राहुल गांधी होशियारपुर क्यों नहीं जाते? बिहार की बेटी के साथ जुल्म हुआ वहां कांग्रेस की सरकार है, तेजस्वी राहुल गांधी के साथ चुनाव प्रचार कर रहे हैं. 

6 साल की बच्ची से रेप, फिर जलाकर मार डाला:
बता दें कि पंजाब के टांडा शहर में एक प्रवासी मजदूर की छह साल की बच्ची के साथ रेप करन के बाद उसे जलाकर मार डालने का मामला सामने आया था. यह घटना गुरुवार की बताई जा रही है. घटना में शामिल आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.  जिस बच्ची की मौत हुई है उसके पिता एक हवेली में काम करते हैं. इस हवेली के मालिक के पोते पर ही इस वारदात को अंजाम देने का आरोप है. पुलिस ने दादा और पोता, दोनों को गिरफ्तार कर लिया है.