कोविड प्रबंधन में ली जा सकेंगी ‘वर्क फ्रॉम होम’ कर रहे कर्मचारियों की सेवाएं, मुख्य सचिव ने जारी किए आदेश

कोविड प्रबंधन में ली जा सकेंगी ‘वर्क फ्रॉम होम’ कर रहे कर्मचारियों की सेवाएं, मुख्य सचिव ने जारी किए आदेश

कोविड प्रबंधन में ली जा सकेंगी ‘वर्क फ्रॉम होम’ कर रहे कर्मचारियों की सेवाएं, मुख्य सचिव ने जारी किए आदेश

जयपुर: कोविड-अनुकूल व्यवहार के बारे में जागरूकता में वर्क फ्रॉम होम (work from home) कर्मचारियों की भी सेवाएं दी जा सकेंगी. सीएम गहलोत के निर्देश के बाद आपदा प्रबंधन विभाग (Disaster Management Department) ने मुख्य सचिव निरंजन आर्य की ओर से इसके बारे में आदेश जारी किए. 

इसके तहत वे कर्मचारी जिनका पदस्थापन दूसरे जिले में है, लेकिन अपने जिले में वे वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं, उनकी सेवाएं निवास स्थान के जिला कलेक्टर कोविड संक्रमण की रोकथाम के कार्य के लिए अधिग्रहीत कर सकेंगे. उपखण्ड स्तरीय व ग्राम स्तरीय कोर ग्रुप के माध्यम से इन कार्मिकों की सेवाएं कोविड प्रबंधन में ली जा सकेंगी. वर्क फ्रॉम होम पर कार्यरत सभी कर्मचारी कोविड अनुशासन के प्रति आमजन मानस में जागरूकता फैलाने का प्रयास करेंगे.

सोशल मीडिया व पब्लिक एड्रेस सिस्टम का अधिकाधिक उपयोग करेंगे:
इसके लिए वे सोशल मीडिया व पब्लिक एड्रेस सिस्टम का अधिकाधिक उपयोग करेंगे. ये कर्मचारी यह भी सुनिश्चित करेंगे कि कोविड संक्रमित कोई व्यक्ति जानकारी और संसाधनों के अभाव में उपचार से वंचित न रहे. ऐसा प्रकरण ध्यान आने पर वे संबंधित एएनएम या स्वास्थ्य केन्द्र को सूचित करेंगे. साथ ही ऐसे लोगों की सूचना इनके सम्पर्क नम्बरों के साथ तुरन्त उपखण्ड स्तरीय समितियों को उपलब्ध कराएंगे. साथ ही ये कर्मचारी लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद व अभावग्रस्त परिवारों को स्थानीय पंचायत जनप्रतिनिधियों और दानदाताओं के सहयोग से ग्राम स्तरीय कोर कमेटी के माध्यम से किए जाने वाले फूड पैकेट और खाद्य सामग्री के वितरण में भी सहयोग करेंगे. 

सभी कर्मचारी ग्राम स्तरीय कोर कमेटी के नियमित सम्पर्क में रहेंगे: 
वर्क फ्रॉम होम पर काम करने वाले सभी कर्मचारी ग्राम स्तरीय कोर कमेटी के नियमित सम्पर्क में रहेंगे और जरूरत पड़ने पर जिला कलेक्टर व SDO के निर्देशानुसार कोविड नियंत्रण के कार्यों में सहयोग करेंगे. ये कर्मचारी इस बात का भी ध्यान रखेंगे कि लॉकडाउन के दौरान गांव में कोई भीड़ भरा आयोजन न हो. कोई व्यक्ति अतिआवश्यक काम के बिना इधर-उधर नहीं घूमें लॉकडाउन का उल्लंघन पाए जाने पर वे तत्काल इसकी सूचना ग्राम स्तरीय कोर कमेटी नजदीकी पुलिस थाने और SDO को देंगे. इसके अतिरिक्त ये कर्मचारी प्रचार-प्रसार माध्यमों से मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की जानकारी लोगों तक पहुंचाएंगे. इसके साथ ही पंजीकरण से वंचित परिवारों को 31 मई, 2021 से पूर्व योजना से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करेंगे.

राज्य कर्मचारियों को अधिक सक्रिय और सकारात्मक भूमिका निभाने की अपील: 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना संक्रमण का प्रसार रोकने तथा लोगों में कोविड अनुकूल व्यवहार को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य कर्मचारियों को अधिक सक्रिय और सकारात्मक भूमिका निभाने की अपील की है. उन्होंने कहा है कि राज्य कार्मिक संक्रमण की रोकथाम, लॉकडाउन की पालना कोविड प्रोटोकॉल के प्रति लोगों को जागरूक करने और मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के प्रचार-प्रसार के लिए सक्रिय रूप से कार्य करें.
 

और पढ़ें