CM अशोक गहलोत ने कहा, राजस्थान कोरोना वायरस तीसरी लहर का मुकाबला करने में है सक्षम

CM अशोक गहलोत ने कहा, राजस्थान कोरोना वायरस तीसरी लहर का मुकाबला करने में है सक्षम

CM अशोक गहलोत ने कहा, राजस्थान कोरोना वायरस तीसरी लहर का मुकाबला करने में है सक्षम

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को कहा कि अगर कोरोना वायरस की तीसरी लहर आती है तो अब राजस्थान उसका मुकाबला करने के लिए पूरी तरह सक्षम है. उन्होंने कहा कि सरकार ने कोरोना वायरस महामारी की भयावह चुनौती को अवसर में बदलते हुए राज्य में व्यापक स्तर पर उच्च गुणवत्ता की स्वास्थ्य सुविधाएं विकसित की हैं तथा राजधानी जयपुर से गांव-ढाणी तक चिकित्सा अवसंरचना को मजबूत किया गया है.

गहलोत ने राज्य में चिकित्सा संस्थानों में एनआईसीयू, पीआईसीयू, आईसीयू, ऑक्सीजन उत्पादन एवं तरल चिकित्सकीय ऑक्सीजन संयंत्र के लोकार्पण एवं शिलान्यास समारोह में करीब 231.66 करोड़ रूपए की लागत के कार्यों का लोकार्पण एवं लगभग 50.61 करोड़ रूपए की लागत के कार्यों का शिलान्यास किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुई है तथा ब्रिटेन, रूस सहित दुनिया के कई मुल्कों में कोरोना के हालात फिर गंभीर हो गए हैं. उन्होंने कहा कि कई राज्यों में भी मामले बढ़ने लगे हैं, ऐसे में, सजगता और सतर्कता बेहद जरूरी है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पहली और दूसरी लहर में महामारी का बेहतरीन प्रबंधन कर लोगों का जीवन बचाया है. हमारे प्रयासों की देश और दुनिया में सराहना हो रही है. उन्होंने कहा कि सरकार ने तीसरी लहर से मुकाबले के लिए जांच सुविधाओं को बढ़ाने, वैरिएंट की पहचान के लिए जीनोम सिक्वेंसिंग सुविधा प्रारंभ करने, ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता हासिल करने, आईसीयू बिस्तर बढ़ाने सहित तमाम आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत किया है.

गहलोत ने कहा कि निःशुल्क जांच एवं दवा योजना के बाद इस कार्यकाल में हमारी सरकार ने नि:रोगी राजस्थान और मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य जीवन बीमा जैसी महत्वाकांक्षी योजनाएं शुरू की है. चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि दूसरी लहर के समय पूरा देश ऑक्सीजन के संकट से जूझ रहा था, लेकिन राज्य सरकार ने ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित की. शर्मा ने कहा कि अब हम ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना के काम को प्राथमिकता से पूरा कर रहे हैं. सोर्स- भाषा

और पढ़ें