डूंगरपुर ACB Big action: दो थानाधिकारी और दो कांस्टेबल 3 लाख 30 हजार रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार; शराब कारोबारियों से ली जा रही थी मासिक बंधी

ACB Big action: दो थानाधिकारी और दो कांस्टेबल 3 लाख 30 हजार रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार; शराब कारोबारियों से ली जा रही थी मासिक बंधी

डूंगरपुर: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB Big action) के दलों ने डूंगरपुर जिले में दो अलग-अलग मामलों में दो थानाधिकारी और दो कांस्टबलों को कुल 3.30 लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में गुरुवार को गिरफ्तार (ci and constable arrested taking 3.30 lakh bribe) किया. आरोप है कि यह राशि शराब कारोबारियों से मासिक बंधी के रूप में बतौर रिश्वत ली जा रही थी. मामले में कई अन्य अधिकारियों की भूमिका का जिक्र भी आया है जिनकी जांच की जा रही है.

ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया धंबोला के थानाधिकारी, पुलिस निरीक्षक भैयालाल आंजना को कांस्टेबल भोपाल सिंह के माध्यम से दो लाख 50 हजार रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. उनके मुताबिक, इसी तरह डूंगरपुर जिले में ही कोतवाली के थानाधिकारी पुलिस निरीक्षक दिलीप दान बारहट को कांस्टेबल जगदीश बिश्नोई के जरिए 80 हजार रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया.

उन्होंने बताया कि परिवादी द्वारा शिकायत दी गई कि उसके शराब के कारोबार को निर्बाध रूप से चलने देने तथा उसके खिलाफ दर्ज मुकदमों में हल्की कार्रवाई करने की एवज में आरोपी थानाधिकारी भैयालाल आंजना तथा दिलीप दान बारहट द्वारा जिला पुलिस अधीक्षक के लिये मासिक बन्धी के रूप में कथित तौर पर 10 लाख रुपये की रिश्वत की मांग की जा रही थी.

परिवादी से पहले भी लाखों रुपये रिश्वत के रूप में लिए जाने का आरोप:
आरोपियों ने कांस्टेबल भोपाल सिंह के माध्यम से परिवादी से पांच लाख रुपये रिश्वत के रूप में पहले ही वसूल कर लिये थे. परिवादी से पहले भी लाखों रुपये रिश्वत के रूप में लिए जाने का आरोप है. ब्यूरो के दलों ने गुरुवार को कार्रवाई करते हुए थाना अधिकारियों सहित उक्त दो कांस्टेबल को गिरफ्तार किया. बयान के अनुसार, आरोपियों द्वारा परिवादी से बतौर रिश्वत पहले लिए गए पांच लाख रुपये भी तलाशी के दौरान कांस्टेबल भोपाल सिंह की अलमारी से बरामद कर लिए गए. मामले में अन्य अधिकारी/कर्मचारियों की भूमिका की भी गहनता से जांच की जा रही है.

और पढ़ें