जयपुर Rajashtan: एक और राजनीतिक नियुक्ति की लिस्ट की तैयारी ! संसदीय सचिवों को लेकर भी हो रहा फैसला

Rajashtan: एक और राजनीतिक नियुक्ति की लिस्ट की तैयारी ! संसदीय सचिवों को लेकर भी हो रहा फैसला

Rajashtan: एक और राजनीतिक नियुक्ति की लिस्ट की तैयारी ! संसदीय सचिवों को लेकर भी हो रहा फैसला

जयपुर: राजस्थान सरकार ने बहुप्रतिक्षित राजनीतिक नियुक्तियों की शुरुआत करते हुए बुधवार को 58 नेताओं की राजनीतिक नियुक्ति की मनोकामना पूरी की है. उसके बाद अब एक और राजनीतिक नियुक्ति की लिस्ट की तैयारी होने की चर्चा है! अब UIT चेयरमैन और अकादमियों में अध्यक्षों की नियुक्ति होगी. इसके अलावा शेष रहे बोर्ड निगम-आयोग में नियुक्तियां होगी. 

राजनीतिक नियुक्तियों के अलावा संसदीय सचिवों को लेकर भी फैसला हो रहा है. संसदीय सचिवों के मामले में कानूनी राय ली गई है. विशेषज्ञों से विधिक राय के बाद ही सरकार संसदीय सचिवों की नियुक्ति करेगी. विधायकों व उनके रिश्तेदारों को दूसरी लिस्ट में एडजस्ट किया जाएगा. कांग्रेसी नेताओं को भी दूसरी लिस्ट में जगह मिलेगी. 

दरअसल संसदीय सचिवों के मामले में विधि विशेषज्ञों से विधिक राय लेने की एक वजह यह भी है कि अगर गहलोत सरकार 12 से 15 संसदीय सचिव नियुक्त करती है तो विपक्ष इस मामले को कोर्ट में चैलेंज कर सकता है, जहां संसदीय सचिवों की नियुक्ति का मामला कानूनी पचड़ों में फंसकर रह जाएगा. ऐसे में सरकार नहीं चाहती कि संसदीय सचिवों की नियुक्ति का मामला कोर्ट में पहुंचे, इसके लिए गहलोत सरकार पहले विधि विशेषज्ञों से विधिक राय ले रही है और उसके बाद ही कोई फैसला लेगी.  

44 बोर्ड-निगम और आयोग में 58 नेताओं को राजनीतिक नियुक्तियां दी:  
आपको बता दें कि गहलोत सरकार ने बजट सत्र के पहले ही दिन नियुक्तियों का तोहफा दिया है. 44 बोर्ड-निगम और आयोग में 58 नेताओं को राजनीतिक नियुक्तियां दी है. ऐसे में 122 विधायकों के समर्थन वाली सरकार में अब 49 विधायकों को पद मिल गया है. इसमें मुख्यमंत्री सहित 30 मंत्री, एक विधानसभा स्पीकर, एक उपसचेतक, 6 सीएम सलाहकार के बाद अब 11 विधायकों की राजनीतिक नियुक्ति की गई है. 10 विधायकों को अध्यक्ष और एक विधायक को उपाध्यक्ष बनाया गया है. इसके साथ ही 4 पूर्व विधायकों और 2 पूर्व सांसदों को भी राजनीतिक नियुक्ति मिली है.

और पढ़ें