राजस्थान के बिजलीघरों को मिलेगा पर्याप्त मात्रा में कोयला, जयपुर आए केन्द्रीय कोयला सचिव अनिल जैन का आश्वासन

राजस्थान के बिजलीघरों को मिलेगा पर्याप्त मात्रा में कोयला, जयपुर आए केन्द्रीय कोयला सचिव अनिल जैन का आश्वासन

राजस्थान के बिजलीघरों को मिलेगा पर्याप्त मात्रा में कोयला, जयपुर आए केन्द्रीय कोयला सचिव अनिल जैन का आश्वासन

जयपुर: राजस्थान में कोयले की किल्लत के बीच केन्द्रीय कोयला सचिव अनिल जैन दो दिवसीय जयपुर दौरे पर आए.जैन ने विद्युत भवन में आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में राजस्थान के अधिकारियों से कोयले की मांग और उपलब्धता पर विस्तार से चर्चा की.बैठक में केन्द्रीय कोयला सचिव जैन ने विश्वास दिलाया है कि राजस्थान के थर्मल तापीय विद्युत गृहों के लिए कोयले की कमी नहीं आने दी जाएगी.

उन्होंने कहा कि इसके लिए राजस्थान को उपलब्ध रेल व रोड किसी भी मोड से कोयले की अधिक से अधिक रैक मंगवाने की व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी.उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कोयले के भावों में तेजी के चलते आयातित कोयला अधिक महंगा होने से आयातित कोयला आधारित इकाइयों में कोयले की मांग में बढ़ोतरी हो गई है. इससे उनकी मांग बढ़ने से स्थानीय कोयला खानों पर दबाव बढ़ा है. उन्होंने कहा कि देश में अभी कोयले का संकट खत्म नहीं हुआ है ऐसे में जहां से भी और जिस माध्यम से भी कोयला उपलब्ध हो, तापीय विद्युत गृहों में भण्डारित कर लिया जाए ताकि कोयले की कमी से विद्युत उत्पादन प्रभावित ना हो सके.

उन्होंने आश्वस्त किया कि केन्द्र सरकार द्वारा कोयला की आपूर्ति में राजस्थान को पूरा सहयोग दिया जाएगा. बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव एनर्जी डॉ. सुबोध अग्रवाल ने प्रभावी तरीके से राज्य का पक्ष रखते हुए कहा कि राज्य के तापीय विद्युत गृहों के लिए कम से कम 20 दिन के कोयला के अग्रिम भण्डारण की आवश्यकता को देखते हुए आपूर्ति सुनिश्चित करवाई जाए. वर्तमान में राज्य के पास औसत सात दिन का स्टॉक भण्डारित हो रहा है. डॉ. अग्रवाल ने बताया कि राज्य में लिग्नाईट के विपुल भण्डार है. उन्होंने नेवेली लिग्नाइट से राज्य सरकार के सम़क्ष ठोस प्रस्ताव लाने का सुझाव दिया ताकि प्रदेश में संयुक्त आधार पर विद्युत उत्पादन की संभावनाओं को और अधिक बढ़ाया जा सके.

देश में कोयले का संकट बरकरार:
-दो दिवसीय दौरे पर आए केन्द्रीय कोयला सचिव अनिल जैन
-विद्युत भवन में आयोजित हुई बैठक में जैन ने दी जानकारी
-अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कोयले के भावों में आई है तेजी
-ऐसे में आयातित कोयला आधारित इकाइयों में स्थानीय कोयले की बढ़ी मांग
-इस मांग को पूरा करने के लिए स्थानीय कोयला खानों पर बढ़ा है दबाव
-उन्होंने कहा कि देश में अभी कोयले का संकट खत्म नहीं हुआ है
-ऐसे में राज्यों को जहां से भी और जिस माध्यम से भी कोयला उपलब्ध हो
-वे तापीय विद्युत गृहों में कोयले का भण्डाण कर लें, ताकि दिक्कतें न आए
-उन्होंने आश्वस्त किया कि केन्द्र कोयला की आपूर्ति में राजस्थान को पूरा सहयोग देगा

राजस्थान को 20 दिन के स्टॉक के हिसाब से कोयला आवंटित हो. केन्द्रीय कोयला सचिव के समक्ष एसीएस एनर्जी ने प्रदेश का पक्ष रखा. दो दिवसीय केन्द्रीय कोयला सचिव अनिल जैन दौरे पर आए. जैन के साथ हुई बैठक में एसीएस एनर्जी सुबोध अग्रवाल ने जानकारी दी. राज्य के तापीय विद्युत गृहों के लिए कम से कम 20 दिन के कोयला की जरूरत है, लेकिन मौजूदा स्थिति में सात दिन का स्टॉक  प्लांट में भण्डारित हो रहा. डॉ. अग्रवाल ने बताया कि राज्य में लिग्नाईट के विपुल भण्डार है. उन्होंने नेवेली लिग्नाइट से राज्य सरकार के सम़क्ष ठोस प्रस्ताव लाने का सुझाव दिया, ताकि प्रदेश में संयुक्त आधार पर विद्युत उत्पादन की संभावनाओं को और अधिक बढ़ाया जा सके.

1136 हैक्टेयर भूमि पर कोयला खनन की मिले क्लीयरेंस:
-केन्द्रीय कोयला सचिव अनिल जैन के समक्ष उठाई गई मांग
-दो दिवसीय दौरे पर आए है केन्द्रीय कोयला सचिव अनिल जैन
-जैन के साथ बैठक में RVUNLके सीएमडी आर के शर्मा ने रखा पक्ष  
-उन्होंने कहा कि परसा ईस्ट-कांता बेसिन के दूसरे चरण में है 1136 हैक्टेयर भूमि
-केन्द्र भूमि पर खनन की जल्द दें क्लीयरेंस, ताकि बढ़ाई जा सके कोयला आपूर्ति
-कोल ब्लॉक की उत्पादन क्षमता 40 %बढ़ाने की स्वीकृति का भी किया आग्रह
-उन्होंने बताया कि परसा ब्लाक की पिछले दिनों केन्द्र सरकार के मिल क्लीयरेंस
-वन व जलवायु परिवर्तन मंत्रालय से मिल चुकी है क्लीयरेंस
-ऐसे में छत्तीसगढ़ सरकार से भी क्लीयरेंस दिलाने में सहयोग करने का किया आग्रह
-चेयरमैन डिस्काम्स भास्कर ए सावंत,आरएसएमएम एमडी ओम कसेरा ने दिया प्रजेंटेशन
-उन्होंने कहा कि विद्युत लागत में कमी और निर्बाध आपूर्ति के लिए निरंतर प्रयास जारी
-बैठक में संयुक्त सचिव एनर्जी आलोक रंजन, उप सचिव माइंस नीतू बारुपाल,
-विद्युत निगमों के निदेशक, राजस्थान माइंस एवं मिनरल्स,नेवेली लिग्नाइट के अधिकारी रहे मौजूद

और पढ़ें