राजस्थान के तीन सांसद बने मोदी मंत्रिमंडल का हिस्सा 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/30 09:39

जयपुर: लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद आज नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री के पद और गोपनीयता की शपथ ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. वहीं राजस्थान के तीन सांसदों को मोदी कैबिनेट में जगह मिली है. प्रदेश की बाड़मेर सीट से मानवेन्द्र सिंह को शिकस्त देने वाले कैलाश चौधरी भी मोदी कैबिनेट का हिस्सा बने हैं. चौधरी के अलावा बीकानेर सीट से सांसद अर्जुन राम मेघवाल और प्रदेश की हॉट सीट जोधपुर से जीत दर्ज करने वाले गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी मंत्री पद की शपथ ली. 

हालांकि जयपुर ग्रामीण सीट से राज्यवर्धन सिंह राठौर के नाम को लेकर अटकलें लगाई जा रही थी, लेकिन इस बार मंत्रिमंडल में उन्हें जगह नहीं मिली. गजेंद्र सिंह शेखावत को मंत्री बनाया गया है, वहीं कैलाश चौधरी और अर्जुन राम मेघवाल ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली. पीएम मोदी के साथ राजनाथ सिंह, अमित शाह, निर्मला सीतारमण, नरेंद्र सिंह तोमर और नितिन गडकरी ने भी मंत्री पद की शपथ ली. इनके अलावा मोदी कैबिनेट में नितिन गडकरी, रविशंकर प्रसाद, हरसिमरत कौर बादल, रामविलास पासवान, थावरचंद गहलोत, एस जयशंकर, रमेश पोखरियाल निशंक, अर्जुन मुंडा, सदानंद गौड़ा, स्मृति जुबिन ईरानी, डॉ हर्षवर्धन, प्रकाश केशव जावड़ेकर, पीयूष वेदप्रकाश गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, मुख्तार अब्बास नकवी, प्रहलाद जोशी, महेंद्र नाथ पांडेय, अरविंद सांवत, गिरिराज सिंह, गजेंद्र सिंह शेखावत, संतोष गंगवार, राव इंद्रजीत सिंह, किरन रिजिजू, डॉ जितेंद्र सिंह, श्रीपद नायक, हरदीप सिंह पूरी, आरके सिंह, मनसुख एल माण्डवीया, प्रहलाद पटेल, अश्विनी चौबे, अर्जुन राम मेघवाल, फग्गन सिंह कुलस्ते, वीके सिंह, कृष्ण पाल गुर्जर, राव साहेब दानवे, जी कृष्ण रेड्डी, पुरुषोत्तम रुपाला, साध्वी निरंजन ज्योति, बाबुल सुप्रियो, संजीव बाल्यान और अनुराग सिंह ठाकुर, रामदास अठावले, संजय शामराव धोत्रे, सोम प्रकाश, रामेश्वर तेली को भी शामिल किया गया है. 

कैलाश चौधरी:
पांच माह पहले विधानसभा चुनाव में हारने के बाद लोकसभा चुनाव लड़कर अचानक चर्चा में आए कैलाश चौधरी संघ खेमे के माने जाते हैं. बीजेपी के संस्थापक सदस्य रहे पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह के पुत्र मानवेन्द्र सिंह को हराकर चौधरी सांसद बने. बाड़मेर के बायतू निवासी चौधरी 2013 में बायूत से बीजेपी की टिकट पर पहली बार विधायक चुने गए थे. चौधरी ने कांग्रेस प्रत्याशी कर्नल सोनाराम चौधरी को हराया था. इस चुनाव के बाद कर्नल सोनाराम चौधरी बीजेपी में शामिल हो गए और बाड़मेर से सांसद बने.

अर्जुनराम मेघवाल:
बता दें कि अर्जुनराम मेघवाल बीकानेर सीट से बीजेपी की टिकट पर सांसद चुने गए हैं. सांसद अर्जुन राम मेघवाल अपनी जमीन से जुड़े हुए नेता हैं और पगड़ी बांधकर साइकिल पर सवार होकर संसद में जाने वाले नेताओं में से एक हैं. राजनीति में शामिल होने के लिए मेघवाल ने आईएएस से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली और  लोकसभा चुनाव 2009 में बीकानेर लोकसभा सीट से पहली बार वे बीजेपी की टिकट पर सांसद चुने गए. इसके बाद लोकसभा चुनाव 2014 में उन्हें 16वीं लोकसभा के लिए बीकानेर सीट से फिर जीत मिली. अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान वे लोकसभा में बीजेपी के मुख्य सचेतक रहे. लोकसभा के अध्यक्ष ने भी उन्हें लोक समिति के अध्यक्ष के रूप में नामित किया. मेघवाल को साल 2016 में वित्त राज्य मंत्री बनाया गया था, जिसके बाद जल संसाधन राज्य मंत्री के रूप में भी उनका कार्यकाल रहा.

गजेंद्र सिंह शेखावत:
आरएसएस समर्थक और भाजपा के शीर्ष नेतृत्‍व के बेहद नजदीक माने जाने वाले गजेंद्र सिंह शेखावत ने जोधपुर सीट से लगातार दूसरी बार जीत हासिल की है. शेखावत ने प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत को भारी मतों से हराया. 2014 के लोकसभा में चुनाव जोधपुर संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा. शेखावत ने कांग्रेस उम्मीदवार चन्द्रेश कुमारी को करारी मात दी. इसके बाद मोदी टीम के साथ जुड़कर सक्रियता से काम किया और जोधपुर ही नहीं बल्कि पूरे मारवाड़ और राजस्थान में लोगों का दिल जीता.

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in