जयपुर CM गहलोत की अध्यक्षता में राजीव गांधी जयंती पर ‘राजीव-2021’ समारोह, सेम पित्रोदा करेंगे सूचना तकनीक से सुशासन पर चर्चा

CM गहलोत की अध्यक्षता में राजीव गांधी जयंती पर ‘राजीव-2021’ समारोह, सेम पित्रोदा करेंगे सूचना तकनीक से सुशासन पर चर्चा

CM गहलोत की अध्यक्षता में राजीव गांधी जयंती पर ‘राजीव-2021’ समारोह, सेम पित्रोदा करेंगे सूचना तकनीक से सुशासन पर चर्चा

जयपुर: पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्व. राजीव गांधी के जन्मदिवस के अवसर पर आज राजस्थान इनोवेशन विजन (राजीव)-2021 का आयोजन किया जाएगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में आयोजित होने वाले इस समारोह में स्व. राजीव गांधी के समय प्रधानमंत्री कार्यालय में इनोवेशन सलाहकार रहे आईटी क्षेत्र के विशेषज्ञ सैम पित्रोदा मुख्य वक्ता होंगे.

मुख्यमंत्री निवास से वर्चुअल माध्यम से होने वाले राजीव-2021 समारोह की थीम ‘सूचना तकनीकी से सुशासन’ है. इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री गहलोत ‘मुख्यमंत्री राज किसान साथी पोर्टल’ तथा ‘आई-स्टार्ट वर्चुअल इन्क्यूबेशन प्रोग्राम’ का शुभारंभ करेंगे. साथ ही, राजीव/75 निधि के अंतर्गत प्रदेश में कार्यशील 21 चुने हुए स्टार्ट-अप्स को राशि का वितरण किया जाएगा. कार्यक्रम में डिजिटल साक्षरता पर आधारित राज्य स्तरीय प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता ‘राजीव गांधी आईटी क्विजथॉन’ की शुरूआत भी की जाएगी. 

राजीव गांधी द्वारा देश को दिए गए योगदान पर चर्चा करेंगे:
सैम पित्रोदा समारोह के मुख्य वक्ता के रूप में सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में स्व. राजीव गांधी द्वारा देश को दिए गए योगदान पर चर्चा करेंगे. पित्रोदा ने भारत सरकार के सलाहकार के रूप में 1980 के दशक में पानी, साक्षरता, टीकाकरण, टेलीकॉम, डेयरी और ऑयल सीड्स आदि सेक्टर से संबंधित टेक्नोलॉजी मिशनों की संकल्पना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. उन्होंने केंद्र सरकार के सेंटर फॉर डवलपमेंट ऑफ टेलीमेटिक्स (सी-डॉट) की स्थापना में भी योगदान दिया. 

देश और दुनिया के विभिन्न हिस्सों से बड़ी संख्या में लोग इस कार्यक्रम में जुड़ेंगे:
राजीव-2021 के दौरान प्रदेश में सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हुए नवाचारों एवं आमजन को इनसे मिल रहे फायदों के बारे में चर्चा होगी. इस दौरान सूचना तकनीक से सुशासन (आईटी फॉर गुड गवर्नेन्स) थीम पर आधारित फिल्म का प्रदर्शन होगा. का विभिन्न मीडिया माध्यमों के जरिए लाइव प्रसारण होगा. देश और दुनिया के विभिन्न हिस्सों से बड़ी संख्या में लोग इस कार्यक्रम में जुड़ेंगे. राजस्थान में जिला, ब्लॉक और ग्राम पंचायत स्तर के जनप्रतिनिधिगण और अधिकारीगण भी समारोह में शामिल होंगे. 

और पढ़ें