Live News »

राजीव स्वरूप ने संभाला मुख्य सचिव का चार्ज, कहा- सभी के साथ मिलकर करेंगे काम

राजीव स्वरूप ने संभाला मुख्य सचिव का चार्ज, कहा- सभी के साथ मिलकर करेंगे काम

जयपुर: देर रात मिली नई जिम्मेदारी के बाद डीबी गुप्ता ने राजीव स्वरूप को आज सीएस पद का चार्ज दिया. सीएस का चार्ज लेने के बाद स्वरूप ने कहा कि कोरोना के समय आर्थिक हालात को ठीक करना हमारी बड़ी जिम्मेदारी है. कोरोना से बिगड़े आर्थिक हालात के मद्देनजर जरूरी कदम उठाते हुए प्रदेश को पटरी पर लाना प्राथमिकता रहेगी. 

धौलपुर SP मृदुल कच्छावा को मिली एक और सफलता, 35 हजार का इनामी बदमाश लुक्का गुर्जर गिरफ्तार 

अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना बड़ी चुनौती:  
उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के समय राज्य के सामने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना बड़ी चुनौती है. साथ ही मेडिकल व स्वास्थ्य सेवाओं को भी पटरी पर लाना है. ऐसे में सबको साथ लेकर समय बद्ध तरीके से तेजी से स्टेट को नॉर्मल बनाना ही सर्वोच्च प्राथमिकता है. सीएस ने कहा कि इस संकट के समय मुख्यमंत्री ने जो मुझ पर भरोसा जताया है मेरी कोशिश है कि राज्य को इस कठिन परिस्थिति में तेजी से सामान्य व्यवस्था में लेकर आऊं.

VIDEO: बीकानेर में विधायक और CI में हुई तकरार, पानी के कैम्पर से भरी गाड़ी को लेकर आपस में कहासुनी 

डीबी गुप्ता ने सीएस राजीव स्वरूप को शुभकामनाएं दीं: 
इससे पूर्व डीबी गुप्ता बहुत कम समय के लिए सीएस ऑफिस आये और बुके देकर नए सीएस राजीव स्वरूप को शुभकामनाएं दीं. स्वरूप ने भी डीबी गुप्ता को अच्छे भविष्य की शुभकामनाएं दीं जिसके बाद स्वरूप ने सीएस का चार्ज लिया. डीबी गुप्ता ने पत्रकारों से सिर्फ यही कहा कि सीएम से मिलकर वे जो जिम्मेदारी देंगे वही शिद्दत के साथ निभाऊंगा. उन्होंने अनौपचारिक बातचीत में यह भी कहा कि जल्द ही स्थिति साफ हो जाएगी.


 

और पढ़ें

Most Related Stories

अपराध पर अंकुश लगाएगी प्रयागराज पुलिस की ई-मुखबिर योजना

अपराध पर अंकुश लगाएगी  प्रयागराज पुलिस की ई-मुखबिर योजना

प्रयागराज:  उत्तर प्रदेश की प्रयागराज पुलिस ने अपराध और अपराधियों पर नियंत्रण रखने के लिए सोमवार को 'ई-मुखबिर' योजना शुरू की जिसके तहत जिले के आम नागरिक अपराध रोकने में पुलिस की मदद कर सकेंगे और जनता की सेवा में तत्पर रह सकेंगे. 

जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने यहां संवाददाताओं को बताया कि अपराध और अपराधियों के बारे में नागरिकों से जानकारी प्राप्त करने और नागरिकों को पुलिस के साथ जोड़ने के उद्देश्य से ई-मुखबिर योजना शुरू की गई है. 

उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत समाज के सभी लोग यदि कहीं अपराध होते देखते हैं और उन्हें लगता है कि इस बारे में पुलिस को जानकारी दी जानी चाहिए तो ऐसे लोगों के नाम, पते आदि गोपनीय रखते हुए पुलिस सूचना प्राप्त कर कार्रवाई करेगी. 

त्रिपाठी ने बताया कि ई-मुखबिर योजना एक व्हाट्सऐप ग्रुप के जरिए चलाई जा रही है जिसका नंबर 9918101617 है. इस नंबर पर कोई भी व्यक्ति सूचना दे सकता है, फोटोग्राफ और आवाज की रिकार्डिंग या वीडियो क्लिप भेज सकता है. ये बहुत ही कारगर साबित होगी ऐसा दावा किया जा रहा है. (सोर्स-भाषा)

{related}

प्रतिष्ठित अखबार 'कश्मीर टाइम्स' का दफ्तर सील

प्रतिष्ठित अखबार 'कश्मीर टाइम्स' का दफ्तर सील

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में अधिकारियों ने एक प्रतिष्ठित अखबार के दफ्तर को सोमवार को सील कर दिया गया है. दैनिक समाचार पत्र का कार्यालय यहां एक सरकारी इमारत में आवंटित किया गया था. अखबार के मालिक ने दावा किया कि कानूनी प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया है.अधिकारियों ने बताया कि संपदा विभाग ने यहां प्रेस एन्क्लेव में स्थित 'कश्मीर टाइम्स' का दफ्तर सील कर दिया है.  उन्होंने सरकार की कार्रवाई का कोई कारण नहीं बताया. इस अंग्रेजी अखबार का मुख्यालय जम्मू में है और यह केंद्र शासित प्रदेश के दोनों क्षेत्रों से प्रकाशित होता है.

'कश्मीर टाइम्स' की मालकिन अनुराधा भसीन ने फोन पर  बताया कि श्रीनगर में हमारे दफ्तर पर कानूनी प्रक्रिया का पालन किए बिना ताला डाल दिया गया है.  रद्द करने या खाली करने का कोई नोटिस हमें नहीं दिया गया था. उन्होंने कहा कि हम संपदा विभाग गए और उनसे  इस संबंध में आदेश देने को कहा, लेकिन उन्होंने आदेश जारी नहीं किया है. इसके बाद हमने अदालत का रुख किया लेकिन वहां से भी कोई आदेश नहीं आया है. 

भसीन ने इस कदम को अपने खिलाफ  प्रतिशोध बताया है क्योंकि वह सरकार के खिलाफ बोलीं थी और उन्होंने पिछले साल अनुच्छेद 370 हटाने के बाद जम्मू-कश्मीर में मीडिया पर लगाई गईं पाबंदियों के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का रुख किया था. उन्होंने कहा कि पिछले साल जिस दिन मैं न्यायालय गई थी, उसी दिन कश्मीर टाइम्स को मिलने वाले राज्य सरकार के विज्ञापनों को रोक दिया गया था. (सोर्स-भाषा)

{related}

अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन ठग गिरोह का पर्दाफाश, पांच गिरफ्तार

अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन  ठग गिरोह का पर्दाफाश,  पांच गिरफ्तार

बिलासपुर: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले की पुलिस ने एक अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन ठग गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है. जिले के पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि पुलिस ने एक अभियान चलाकर अंतरराष्ट्रीय ठग गिरोह का पर्दाफाश किया है. पाकिस्तानी सरगना बड़े मामू (असगर) छोटे मामू (असरफ) और सलीम मिलकर डिजिटल करेंसी की हेराफेरी कर ठगी के कारोबार को अंजाम दे रहे थे. ठगी के इस मामले के तार पाकिस्तान के अलावा सऊदी अरब और मलेशिया से भी जुड़े हुए हैं.

अग्रवाल ने बताया कि भारत के अनेक राज्यों में मौजूद हैंडलर ऑनलाइन ठगी से एकत्र पैसे उन्हें भेजते थे. बिलासपुर पुलिस ने मुंबई, उड़ीसा और मध्यप्रदेश में अभियान चलाकर पांच ठगों को गिरफ्तार किया है. ठगों के पास से लैपटॉप, मोबाइल और 15 लाख रूपए नगद, अनेक एटीएम कार्ड तथा बैंक की पास बुक बरामद किए गए हैं. इसके अतिरिक्त विभिन्न बैंको में ठगों के खाते में 27 लाख रूपए सीज किए गए हैं.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जिले के सीपत थाना क्षेत्र के अंतर्गत हरदाडीह निवासी जनक राम पटेल (5र्ष) की इस वर्ष जनवरी माह के अंतिम सप्ताह और फरवरी माह के प्रथम सप्ताह के मध्य पाकिस्तानी मोबाइल नंबर, व्हाट्सएप कॉल और चैटिंग के माध्यम से ठगों से बातचीत हुई थी. पटेल को झांसा दिया गया कि वह जियो से मुकेश अम्बानी बोल रहे हैं और जियो के लकी ड्रा के नाम पर उनकी 25 लाख रूपये की लाटरी निकली है. अगर वह केबीसी का भाग्यशाली विजेता भी बनकर दो करोड़ रूपए की अतिरिक्त राशि जीतना चाहता है तो कुछ रकम उसे विभिन्न खातों में जमा करनी होगी.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पटेल उनके झांसे में आ गया और उसने इस वर्ष एक फरवरी से आठ सितम्बर तक कुल 65 लाख रूपए ठगों के अलग-अलग खातों में जमा कर दिए. इसी दौरान बिलासपुर पुलिस ने साइबर अपराधों को रोकने के लिए जन जागरूकता अभियान 'साइबर मितान' आरम्भ किया तब जनकराम को अपने साथ हुई ठगी का अहसास हुआ और उसने बिलासपुर के सिटी कोतवाली थाना में अपराध दर्ज कराया. 

अग्रवाल ने बताया कि पटेल की शिकायत पर पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू की तब जानकारी मिली कि जनक राम से उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल आदि राज्यों के लगभग 12 विभिन्न खातों में पैसे जमा कराए गए हैं. यह तथ्य भी सामने आया कि इस दौरान सबसे बड़ी रकम करीब 50 लाख रूपए मध्यप्रदेश के रीवा जिले के विराट सिंह के विभिन्न बैंकों के खातों में जमा किया गया है. विराट सिंह यह रकम फोन पे और पेटीएम के माध्यम से वर्ली मुंबई निवासी राजेश जायसवाल के खातों और डिजिटल पेमेंट सोल्यूशन उड़ीसा आदि में ऑनलाइन स्थानांतरित करता था.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाद में पुलिस दल ने रीवा से विराट सिंह को पकड़ लिया है और उसी ने बताया कि वह पाकिस्तान के छोटे मामू उर्फ़ असरफ और बड़े मामू उर्फ़ असगर तथा सलीम के लिए काम करता है. विराट सिंह ने यह भी बताया कि वह अपना कमीशन काट कर बाकी की रकम भेज देता है. विराट इस रकम को देश भर के अलग-अलग प्रान्तों, हैदराबाद, कर्नाटक, बेंगलोर, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, उड़ीसा, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, असम और दिल्ली के खातों में ट्रांसफर करता था.

उन्होंने बताया कि आरोपी विराट सिंह की निशानदेही पर खाता धारक शिवम् ठाकुर और संजू चौहान को मध्यप्रदेश के देवास से गिरफ्तार किया गया है. वहीं पुलिस ने मुंबई जाकर राजेश जायसवाल को भी गिरफ्तार कर लिया जो रकम को डिजिटल करेंसी बिट क्वाइन में तब्दील कर भेजता था. इसी तरह पुलिस टीम ने उड़ीसा में डिजिटल पेमेंट सोल्यूशन के संचालक सीता राम गौड़ा को भी हिरासत में लिया है जिसने अपने खाते में लगभग 15 लाख रूपये की रकम को जमा किया था. पुलिस ने इस रकम को सीज कर दिया है.

प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि इसके अतिरिक्त 24 परगना पश्चिम बंगाल, गोपालगंज, बिहार, पश्चिम बंगाल के बाखर हाट और कृष नगर, पश्चिम गाजियाबाद, हुगली, सूरत, उत्तराखंड आदि स्थानों के कई आरोपियों की पहचान की जा चुकी है, जिन्हें जल्द गिरफ्तार कर इस बड़े अंतर्राष्ट्रीय ठग गिरोह का नेटवर्क ध्वस्त किया जाएगा. फिलहाल मामले की बारिकी से जांच की जा रही है. (सोर्स-भाषा)

{related}

 

गवर्नर कलराज मिश्र ने दिया सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ाने और विलुप्त होती स्थानीय कलाओं के संरक्षण पर जोर

गवर्नर कलराज मिश्र ने दिया सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ाने और विलुप्त होती स्थानीय कलाओं के संरक्षण पर जोर

जयपुर:  राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कलाओं के संरक्षण, कलाकारों को प्रोत्साहन के साथ ही सांस्कृतिक गतिविधियों के क्रियान्वयन में सभी की समुचित सहभागिता रखे जाने का आह्वान किया है.आपको बता दे कि मिश्र बीती शाम राजभवन में पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की विशेष ऑनलाइन समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने केन्द्र की संचालन और कार्यकारी समिति में किए जाने वाले परिवर्तन में सभी की समुचित भागीदारी सुनिश्चित किए जाने के साथ ही दोनों समितियों को और अधिक प्रभावी किए जाने के भी निर्देश दिए है. मिश्र ने पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र द्वारा कोरोना वायरस महामारी के इस दौर में कलाकारों को आर्थिक रूप से सशक्त किए जाने के प्रयास भी प्रभावी स्तर पर किए जाने पर जोर दिया है.

आगे उन्होंने कहा कि इस संबंध में केन्द्र सदस्य राज्यों के कला संस्कृति विभागों की समुचित सहभागिता रखते हुए सांस्कृतिक धरोहर संरक्षण के कार्य जारी रखे जाएंगे क्योंकि इसी से हम अपनी कला विरासत को भावी पीढ़ी के लिए सुरक्षित रख पाएंगे  और संरक्षित कर पाएंगे. 

राज्यपाल ने कहा कि विलुप्त होती स्थानीय कलाओं, लोक और जनजाति कलाओं को राष्ट्र की मुख्यधारा के साथ लाने के लिए भी महत्ती कार्य किए जाने चाहिए. बैठक में राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, दमन-दीव, दादरा-नागर हवेली आदि के प्रतिनिधियों ने भाग लिया था. ये कितना कारगर होगा ये तो वक्त ही बताएगा. (सोर्स-भाषा)

{related}

कमलनाथ के बाद अब शिवराज के मंत्री के बिगड़े बोल, कांग्रेस नेता की पत्नी पर की अश्लील टिप्पणी

कमलनाथ के बाद अब शिवराज के मंत्री के बिगड़े बोल, कांग्रेस नेता की पत्नी पर की अश्लील टिप्पणी

भोपाल: मध्य प्रदेश में उपचुनाव से पहले आपत्तिजनक टिप्पणियों पर विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. अभी कांग्रेस के पूर्व सीएम कमलनाथ की टिप्पणी पर विवाद थमा भी नहीं है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कैबनिट में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल द्वारा एक अभद्र टिप्पणी कर देने का मामला सामने आया है. बिसाहू लाल साहू ने कांग्रेस नेता विश्वनाथ सिंह की पत्नी पर अश्लील टिप्पणी की है. 

बीजेपी उम्मीदवार बिसाहू लाल साहू का एक वीडियो वायरल हुआ: 
उपचुनाव से पहले अनूपपुर से बीजेपी उम्मीदवार बिसाहू लाल साहू का एक वीडियो वायरल हुआ है. इस वीडियो में बिसाहू लाल साहू कहते हैं कि विश्वनाथ सिंह ने चुनावी फॉर्म में अपनी पहली पत्नी का ब्योरा नहीं दिया है और दूसरी औरत का ब्योरा दिया है. इस दौरान बिसाहू लाल साहू अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर देते हैं.

बयान पर कांग्रेस ने बीजेपी पर पलटवार किया: 
बिसाहूलाल के इस बयान पर कांग्रेस ने बीजेपी पर पलटवार किया है. कांग्रेस ने कहा है कि कल कलनाथ के एक शब्द को पकड़कर सीएम शिवराज ने मौन रखा, अब वह क्या करेंगे? अब सीएम शिवराज को मंत्री बिसाहूलाल पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए.

{related}

कांग्रेस नेता विश्वनाथ सिंह ने भी प्रतिक्रिया दी: 
वहीं इस मामले पर कांग्रेस नेता विश्वनाथ सिंह ने भी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि वह (बिसाहू लाल साहू) अप्रासंगिक बातें बोल रहे हैं क्योंकि वह चुनाव हार रहे हैं. मैंने अपनी पत्नी से 15 साल पहले शादी की थी और हमारे दो बच्चे हैं. मैं उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करूंगा.

कमलनाथ के बयान पर अभी भी विवाद जारी:
उपचुनाव से पहले वहीं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान पर अभी भी विवाद जारी है. कमलनाथ ने एक रैली में बीजेपी नेता इमरती देवी को आइटम कहा था, जिस पर राजनीतिक बवाल तेज हो गया है. इसके विरोध में शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को दो घंटे का मौन रखा और कांग्रेस से माफी मांगने की अपील की. 
 

मादक पदार्थ मामले की सुनवाई कर रहे विशेष न्यायाधीश को कोर्ट के बाहर मिला डेटोनेटर और धमकी भरा पत्र

मादक पदार्थ मामले की सुनवाई कर रहे विशेष न्यायाधीश को कोर्ट के बाहर मिला डेटोनेटर और धमकी भरा पत्र

बेंगलुरु: कर्नाटक में एक बेहद ही चौंकाने वाला मामला सामने आया है जहां, फिल्मी शख्सियतों से जुड़े मादक पदार्थ के एक मामले में सुनवाई कर रहे एक एनडीपीएस विशेष न्यायाधीश को सोमवार को धमकी भरा खत और डेटोनेटर के साथ एक पार्सल मिला है जिसमें उनसे दो फिल्मी अभिनेत्रियों तथा 11 अगस्त को हिंसा के मामले के कुछ आरोपियों को जमानत देने की मांग की गयी है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं होने की शर्त पर कहा कि हमने जांच शुरू कर दी है. पुलिस के शीर्षस्थ सूत्रों के अनुसार तुमकुरु जिला मुख्यालय से भेजा गया एक पार्सल और ड्रग मामले में सुनवाई कर रहे विशेष न्यायाधीश को संबोधित एक पत्र अदालत के बाहर मिला है. इस मामले में फिल्म अभिनेत्री रागिनी द्विवेदी और संजना गलरानी समेत कुछ बड़े लोगों के नाम आरोपी के तौर पर आये हैं.

सूत्रों ने बताया कि जब अदालत कर्मियों ने पत्र को खोला तो उन्हें संदिग्ध वस्तु नजर आई और उन्होंने पुलिस को सूचित किया. पुलिस के बम निरोधक दस्ते ने पुष्टि की कि इसमें डेटोनेटर है. जिसके बाद मामला की संगीनता का अंदाजा लगाया जा सकता है. (सोर्स-भाषा)

{related}

मोबाइल के लिए दामाद ने की सास की हत्या, 7 दिन बाद भी आरोपी का कोई सुराग नहीं

मोबाइल के लिए दामाद ने की सास की हत्या, 7 दिन बाद भी आरोपी का कोई सुराग नहीं

पाकुड़:  झारखंड के लिट्टीपाड़ा थाना क्षेत्र के बाहाबदेला गांव में अजीबो-गरीब मामला सामने आया है जहां एक दामाद ने अपनी सास की लोहे के बसुले से वार कर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया. हैरत की बात ये है की घटना के हफ्ते भर बाद भी पुलिस आरोपी को पकड़ नहीं पाई है.लिट्टीपाड़ा के अनुमंडल पुलिस अधिकारी अशोक कुमार सिंह ने बताया कि बाहाबदेला गांव में अपनी सास की हत्या कर फरार लुथु हंसदा की पुलिस तलाश कर रही है लेकिन अभी उसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है. 

सिंह ने बताया कि हत्या के आरोपी दामाद लुथु हांसदा की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापामारी जारी है और उसे शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.यह घटना लिट्टीपाड़ा थाना क्षेत्र के बाहाबंदेला गाँव की है जहां 12 अक्टूबर को मृतका चुमकाई मुरमू (40 वर्ष) के पुत्र जीतू सोरेन द्वारा लिट्टीपाड़ा थाना में दर्ज करायी गई शिकायत के अनुसार कोई डेढ़ महीने पूर्व उसकी बहन अगस्ता सोरेन की शादी सुंदरपहाड़ी (गोड्डा) थाना क्षेत्र के डमरूतिलय गांव के लुथु हांसदा से हुई थी.

 घटना के एक सप्ताह पूर्व से उसकी बहन और जीजा दोनों उसके गांव पर ही रह रहे थे. इस बीच लुथु का मोबाइल फोन कहीं खो गया था. वह नया मोबाइल फोन खरीदने के लिए उसकी मां पर पैसे देने का दबाव बना रहा था. जिसे लेकर दोनों(सास व दामाद) के बीच पिछले दो तीन दिनों से काफी कहासुनी हो रही थी और इसी बीच मामला इतना बढ़ गया की लुथु अपनी ही सास के खून से अपने हाथ रंग बैठा. 

पुलिस में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार घटना के दिन दोपहर बाद जीतू की मां बहन के साथ खेत में घास काटने गई थी और वह स्वयं खरीददारी करने लिट्टीपाड़ा साप्ताहिक बाजार गया हुआ था. इतने में लुथु खेत जा धमका और मां से मोबाइल खरीदने के लिए पैसे देने की जिद करने लगा. जिसे लेकर दोनों में झड़प होने लगी. जीतू ने शिकायत में बताया कि उसकी मां के इनकार करने पर लुथु भड़क उठा और वहीं पड़े लोहे के बसुला (एक औजार) से मां के सिर पर वार कर दिया जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई और वो फरार हो गया. फिलहाल घटना की जांच और आरोपी की खोज जारी है. (सोर्स-भाषा)

{related}

नवरात्रि 2020: नवरात्रि के चौथे दिन करें देवी कूष्मांडा की पूजा, मिलेगा यश, आयु का वरदान

नवरात्रि 2020: नवरात्रि के चौथे दिन करें देवी कूष्मांडा की पूजा, मिलेगा यश, आयु का वरदान

जयपुर: नवरात्रि के चौथे दिन मां दुर्गा की पूजा 'कुष्मांडा' के रूप में की जाती है. कूष्मांडा शब्द दो शब्दों यानि कुसुम मतलब फूलों के समान हंसी और आण्ड का अर्थ है ब्रह्मांड. अर्थात वो देवी जिन्होनें अपनी फूलों सी मंद मुस्कान से पूरे ब्रह्मांड को अपने गर्भ में उत्पन्न किया है. देवी कूष्मांडा की आठ भुजाएं हैं. साथ ही हाथ में अमृत कलश भी है. 

मान्‍यता है कि जब दुनिया नहीं थी, तब इन्होंने ही अपने हास्य से ब्रह्मांड की रचना की थी इसीलिए इन्‍हें सृष्टि की आदिशक्ति कहा गया है. इनके हाथों में कमंडल, धनुष, बाण, कमल-पुष्प, अमृतपूर्ण कलश, चक्र, गदा व जप माला है. देवी का वाहन सिंह है. शांत और संयम भाव से माता कुष्मांडा की पूजा करनी चाहिए. इनकी उपासना से भक्तों को सभी सिद्धियां प्राप्त होती हैं. लोग नीरोग होते हैं और आयु व यश में बढ़ोतरी होती है. मां ती सवारी सिंह है जो कि धर्म का प्रतीक है. 

{related}

क्या चढाएं माता को भोग में:
मां कूष्मांडा को मालपुए का भोग अतिप्रिय है. लेकिन भक्तों के पास जो होता है मां उस भोग को भी सहर्ष स्वीकरा कर लेती हैं. 

मां कूष्मांडा की पूजन विधि:
सुबह स्नान करने के हाद हरे वस्त्रों को धारण करें. उसके बाज देवी को हरी इलायची, सौंफ और कुम्हणे का भोग लगाएं. फिर "ओम कूष्मांडा दैव्यै: नम:" मंत्र का 108 बार जाप करें। मां कूष्मांडा की आरती उतारें और प्रसाद चढ़ाएं.

प्रार्थना मंत्र:
सुरासम्पूर्ण कलशं रुधिराप्लुतमेव च.
दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु में.