जयपुर Rajya Sabha Election: निर्दलीय कैंडिडेट सुभाष चंद्रा का दावा- कांग्रेस के आठ विधायक मुझे वोट देंगे, सचिन पायलट को लेकर कही ये बड़ी बात

Rajya Sabha Election: निर्दलीय कैंडिडेट सुभाष चंद्रा का दावा- कांग्रेस के आठ विधायक मुझे वोट देंगे, सचिन पायलट को लेकर कही ये बड़ी बात

जयपुर: राज्यसभा चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार और मीडिया कारोबारी सुभाष चंद्रा (Independent Candidate Subhash Chandra) ने मंगलवार को दावा किया कि आठ विधायकों की क्रॉस वोटिंग के समर्थन से वे राज्यसभा चुनाव (Rajasthan Rajya Sabha elections) में जीत दर्ज करेंगे.

राजस्थान में राज्यसभा की चार सीटों के लिए 10 जून को मतदान होना है. चंद्रा को कुल 33 विधायकों का समर्थन प्राप्त है जिसमें 30 भाजपा और तीन राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) के हैं. उन्हें राज्यसभा का चुनाव जीतने के लिये कुल 41 मतों की जरूरत है. चंद्रा ने आरएलपी विधायकों से स्पष्ट समर्थन मिलने पर उनका आभार व्यक्त करते हुए कहा कि नौ अन्य विधायक भी गुप्त रूप से उनके संपर्क में हैं.

कांग्रेस विधायकों की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसा मेरा अंदाज है कि आठ लोग क्रॉस वोटिंग करेंगे. इसलिये नहीं कि उन्हें चंद्रा से प्रेम हो गया है... लेकिन जैसा व्यवहार इस सरकार (राज्य की कांग्रेस सरकार) के कार्यकाल में हुआ या जलालत सही है... उस कारण वो क्रॉस वोट करके मुझे वोट देंगे. पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के अपमानित महसूस करने संबंधी एक सवाल का जवाब देते हुए चंद्रा ने कहा कि वह (पायलट) इस अवसर का उपयोग 'बदला लेने या संदेश देने के लिये पयोग कर सकते हैं.

अगर पायलट इसे चूक जाते है तो 2028 तक वे मुख्यमंत्री नहीं बन सकेंगे:
चंद्रा ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि सचिन पायलट के पास एक अवसर है. वह कांग्रेस के युवा और जुझारू नेता हैं और राजस्थान की जनता उन्हें पसंद करती है. यह उनके पास बदला लेने या संदेश देने का एक अवसर है... अगर वह इसे चूक जाते है तो 2028 तक वे मुख्यमंत्री नहीं बन सकेंगे.

चंद्रा को जीतने के लिए 41 मत चाहिए जिनसे वे आठ मत दूर: 
संख्या बल के हिसाब से राजस्थान की 200 सीटों वाली विधानसभा में कांग्रेस अपने 108 विधायकों के साथ दो सीटें व भाजपा 71 विधायकों के साथ एक सीट आराम से जीत सकती है. दो सीटों के बाद कांग्रेस के पास 26 अधिशेष व भाजपा के पास 30 अधिशेष वोट होंगे. कांग्रेस नेताओं का कहना है कि उनके पास कुल मिलाकर 126 विधायकों का समर्थन है. वहीं भाजपा के 30 अधिशेष व आरएलपी के तीन (कुल 33) मत निर्दलीय चंद्रा के पास हैं. उन्हें जीतने के लिए 41 मत चाहिए जिनसे वे आठ मत दूर हैं.

और पढ़ें