Live News »

नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता के कोर्ट में बयान देने से पहले पिता की हत्या, चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता के कोर्ट में बयान देने से पहले पिता की हत्या, चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

रामगढ़(अलवर): रामगढ़ में नाबालिग बालिका से दुष्कर्म और बालिका के पिता का बुधवार को शव मिलने के बाद आरोपियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया है. पीड़ितों का आरोप है कि नाबालिग किशोरी के कोर्ट में बयान देने से पहले ही आरोपी परिवार द्वारा पीड़ित के पिता की हत्या कर दी गई. मृतक का शव घर से 500 मीटर की दूरी 1 पेड़ पर रस्सी से लटका मिला था. 

VIDEO: राजस्थान में बेखौफ बिजली चोर ! जानिए कहां-कहां कितनी चोरी 

चार जनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज:  
पूरे मामले में पीड़िता के भाई की ओर से आरोपी परिवार के चार जनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया है. जबकि छेड़छाड़ व दुराचार का आरोपी अनीश पॉक्सो एक्ट में न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है. घटना को लेकर बुधवार को दिन भर थाने पर लोगों की भीड़ रही कई हिंदू संगठनों के लोग भी रामगढ़ थाने पहुंचे और विरोध जताया. पीड़िता के भाई ने थाने में दी लिखित रिपोर्ट में कहा कि नाबालिक बहन के साथ अनीश पुत्र सुमरदिन ने दुराचार किया जिसकी एफ आई आर रामगढ़ थाने में दर्ज कराई गई. 24 जून को कोर्ट में बयान होने थे उससे पहले ही पीड़िता के परिवार पर समझौता करने का दबाव डाला गया और समझौता नहीं करने पर हत्या कर शव पेड़ पर टांग दिया.

जयपुर पुलिस की बड़ी कामयाबी, गुमशुदा हुए 1430 मोबाइल किए बरामद

आरोपियों को राजनीतिक संरक्षण का आरोप:
आरोपियों में सुमरादिन महमूद अंजुम और तौफीक धमिल है. मृतक के बेटे ने आरोपियों पर दो-तीन अन्य व्यक्तियों के साथ मिलकर गला घोट कर हत्या करने का आरोप लगाया. पीड़ित पक्ष का यह भी आरोप है कि आरोपियों को राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है इसलिए कार्यवाही होने की शंका है. छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज करने में भी पुलिस ने देर की थी जिसके कारण आरोपियों के हौसले बुलंद है. घटना के बाद मौकेपर एएसपी, सीओ समेत पुलिस के अलाधिकारी भी पहुंचे थे. 

और पढ़ें

Most Related Stories

देह व्यापार के आरोप में युवती और एजेंट गिरफ्तार, सदर पुलिस ने की कार्रवाई

 देह व्यापार के आरोप में युवती और एजेंट गिरफ्तार, सदर पुलिस ने की कार्रवाई

आबूरोड: सदर पुलिस ने रेवदर मार्ग पर देर रात को न्यू टाउन स्थित नेहा किचन हाईवे होटल पर दबिश दी. होटल के कमरे से एक युवती को गिरफ्तार किया. साथ ही दलाल को भी दबोच लिया. पुलिस दोनों को गिरफ्तार कर सदर थाने ले गई.

एसपी पूजा अवाना के निर्देश पर हुई कार्रवाई:
घर में इन दिनों कई होटलों में देह व्यापार का कारोबार पैर पसार चुका है. इसी के चलते एसपी पूजा अवाना के निर्देश पर देर रात को रेवदर मार्ग पर न्यू टाउन स्थित होटल नेहा किचन हाईवे पर कार्रवाई की गई. डीएसपी प्रवीण कुमार,प्रशिक्षु आरपीएस सुदर्शन पालीवाल व सदर थानाधिकारी आनंद कुमार मय टीम होटल पर पहुंचे.

{related}

पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी:
पुलिस ने एक पुलिसकर्मी को बोगस ग्राहक बनाकर बाड़मेर के गडरा निवासी अशरफ खान के पास भेजा. इशारा मिलते पुलिस टीम ने होटल केेेेेे कमरे पर दबिश की. कमरे सेे असम हाल अहमदाबाद निवासी युवतीं को गिरफ्तार किया. साथ ही एजेंट अशरफ खान को भी दबोच लिया. पुलिस दोनोंं को सदर थाने ले गई. फिलहाल, पुलिस पूरे मामले की तहकीकात में जुटी है.

तालाब पर नहाने गए युवक की डूबने से हुई मौत, गोगुन्दा के सायरा थाना क्षेत्र की घटना

तालाब पर नहाने गए युवक की डूबने से हुई मौत, गोगुन्दा के सायरा थाना क्षेत्र की घटना

उदयपुर: प्रदेश के उदयपुर जिले के सायरा थाना क्षेत्र के ढोल ग्राम पंचायत के बड़गांव गांव में तालाब पर नहाते समय युवक का पैर फिसलने से पानी में डूबने से युवक की मौत हो गई. जानकारी के अनुसार मोहन गमेती तालाब पर नहाने गया था तभी अचानक उसका पैर फिसल गया, जिससे पानी में डूबने से उसकी मौत हो गई.

{related}

सूचना पर ढोल चौकी के कांस्टेबल पहुंचे मौके पर:
सूचना पर ग्रामीण और परिजन मौके पर जमा हो गए. परिजनों की सूचना पर ढोल चौकी के हेड कांस्टेबल मौके पर पहुंचे ओर ग्रामीणों व पुलिस ने बड़ी मशक्कत के बाद शव को तालाब से बाहर निकाला. वहीं परिजनों ने पुलिस में कोई मामला दर्ज नहीं करवाया है.

जेपी नड्डा बोले, किसानों और गरीबों को गुमराह कर राजनीति करना कांग्रेस की पुरानी आदत है

जेपी नड्डा बोले, किसानों और गरीबों को गुमराह कर राजनीति करना कांग्रेस की पुरानी आदत है

नई दिल्ली: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कृषि से जुड़े विधेयक राज्यसभा में पास होने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का अभिनंदन करते हुए कांग्रेस पर पलटवार किया है. जेपी नड्डा ने कहा कि कांग्रेस ने किसानों के सशक्तिकरण के लिए कभी कोई रिफॉर्म्स नहीं किया. उसके पास न इसके लिए सोच थी, न ही इच्छाशक्ति. किसानों और गरीबों को गुमराह कर राजनीति करने की कांग्रेस की पुरानी आदत रही है. कांग्रेस के दोहरे चरित्र से किसान वाकिफ हैं, वे अब उसके बहकावे में आने वाले नहीं हैं. जेपी नड्डा ने कहा कि कृषि एवं किसानों के सशक्तिकरण के लिए केंद्र सरकार द्वारा लाए गए विधेयकों के संसद में पास होने पर मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का अभिनंदन करता हूं और देश के सभी किसान भाइयों को शुभकामनाएं देता हूं. मैं समर्थन के लिए सभी सांसदों एवं राजनीतिक दलों को भी साधुवाद देता हूं.

{related}

किसानों की आय को दोगुना करने में निभाएंगे महत्वपूर्ण भूमिका: 
जेपी नड्डा ने कहा कि संसद द्वारा पारित उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सरलीकरण), कृषक (सशक्तिकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन एवं कृषि सेवा पर करार और आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक सही मायनों में किसानों को अपने फसल के भंडारण, और बिक्री की आजादी देंगे और बिचौलियों के चंगुल से उन्हें मुक्त करेंगे. उन्होंने कहा कि MSP अर्थात मिनिमम सपोर्ट प्राइस था, है और रहेगा. APMC की व्यवस्था भी बनी रहेगी. प्रधानमंत्री मोदी ने दूरदर्शिता का परिचय देते हुए किसानों के बेहतर भविष्य के लिए ये कदम उठाए हैं जो किसानों की आय को दोगुना करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे.

अब किसान अपनी मर्जी का होगा मालिक:
उन्होंने कहा कि अब किसान अपनी मर्जी का मालिक होगा. किसानों को उपज बेचने का विकल्प देकर उन्हें सशक्त बनाया गया है. बिक्री लाभदायक मूल्यों पर करने से संबंधित चयन की सुविधा का भी लाभ किसान ले सकेंगे. इससे जुड़ी किसी भी समस्या का समाधान किसान के घर पर ही उपलब्ध होगा. यह मोदी सरकार है जिसने स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट को लागू किया, किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि दी, फसल बीमा की सौगात दी और कृषिगत सुधार के लिए एक लाख करोड़ रुपए का अलग से आवंटन किया. कांग्रेस ने लोक सभा चुनाव 2019 के अपने घोषणापत्र में एपीएमसी व्यवस्था को खत्म करने की बात की थी जबकि इन विधेयकों के अनुसार MSP और APMC चलती रहेगी. मोदी सरकार तो किसानों को बेहतर विकल्प उपलब्ध करा रही है. आखिर राहुल गांधी और कांग्रेस किसानों को सशक्त होते देखना क्यों नहीं चाहते.

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, आत्मनिर्भर भारत के लिए युवाओं को आत्मविश्वासी बनाना होगा

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, आत्मनिर्भर भारत के लिए युवाओं को आत्मविश्वासी बनाना होगा

जयपुर: जन चेतना मंच द्वारा स्वर्गीय सुंदर सिंह भंडारी जन्म शताब्दी वर्ष के मौके पर ऑनलाइन व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया. राज्यपाल कलराज मिश्र ने व्याख्यानमाला को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संबोधित किया. राज्यपाल ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत वर्तमान परिप्रेक्ष्य में बहुत जरूरी है. आर्थिक दृष्टिकोण से सशक्त भारत की कल्पना को साकार करने के लिए सभी को प्रयास करने होंगे. उद्यमिता विकास के लिए युवाओं में आत्मविश्वास जगाना होगा. इससे भारत आत्मनिर्भर बनेगा, संपन्न बनेगा.

आत्मविश्वास की कमी से नौकरी के लिए भटक रहे हैं युवा:
राज्यपाल ने कहा कि आत्मविश्वास की कमी से युवा नौकरी के लिए भटक रहे हैं. जबकि हमारे पास गांव में ही धंधे आरंभ करने के लिए संसाधन हैं. गांव में रहकर ही लोग जीवन यापन कर सकते हैं, देश की सेवा कर सकते हैं. देश और प्रदेश में चल रही योजनाओं की जानकारी युवाओं को मिलेगी तो वे योजनाओं का लाभ उठाकर स्वरोजगार को अपना सकेंगे. इस मौके पर राज्यपाल नेस्वर्गीय भंडारी के सादगी पूर्ण जीवन की सराहना की और कहा कि वे नेक दिल इंसान थे. देश की भावी पीढ़ी को आज उनके समर्पण और त्याग को समझने की जरूरत है.

{related}

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भी किया संबोधित:
ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठा उनके जीवन से सीखी जा सकती है. वे सभी कार्यकर्ताओं के पत्र का जवाब पोस्ट कार्ड से देते थे और खर्चा बचाने के लिए बस और ट्रेन में सफर करने में कोई संकोच नहीं करते थे. राज्यपाल ने कहा कि स्वर्गीय भंडारी से मेरा निकट का संबंध था. उनसे मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला. वे दलित और वंचितों की मदद करने की पहल करते थे. समारोह को राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भी संबोधित किया. कटारिया ने कहा कि उन्होंने समाज में मानव जीवन को नई दिशा देने की पहल की. गरीबों की मदद करने में भंडारी ने अग्रणी भूमिका निभाई. समारोह को बजरंग लाल, निंबाराम, हेमंत शर्मा और आईएम सेतिया ने भी संबोधित किया.

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

राज्यसभा में भारी हंगामे के बीच कृषि बिल पास, विपक्ष के भारी विरोध के बीच ध्वनिमत से हुआ पारित

 राज्यसभा में भारी हंगामे के बीच कृषि बिल पास, विपक्ष के भारी विरोध के बीच ध्वनिमत से हुआ पारित

नई दिल्ली: राज्यसभा में भारी हंगामे के बीच कृषि से जुड़ा एक बिल पास हो गया. विपक्ष के भारी विरोध के बीच ध्वनिमत से यह बिल पास किया गया. आपको बता दें कि राज्यसभा में विपक्ष के लगातार विरोध के बीच कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक 2020, कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020 पारित किया गया.इसके बाद राज्यसभा सोमवार सुबह 9 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. विपक्षी सांसदों ने सदन के वेल में नारे लगाए. राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश ने उन्हें अपनी सीटों पर लौटने के लिए कहा. TMC सांसद डेरेक ओ' ब्रायन और सदन के अन्य सदस्यों ने कृषि बिलों पर चर्चा के दौरान वेल में प्रवेश किया. डेरेक ओ' ब्रायन ने राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश को सदन की नियम पुस्तिका दिखाई. 

कृषि बिल पर कांग्रेस का विरोध:
कांग्रेस सांसद टी.एन. प्रथपन ने सरकार के किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ देशभर में किसानों के विरोध पर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया. सांसद अहमद पटेल ने कहा कि (भाजपा) वैसे तो पढ़ने लिखने में थोड़ा कम ही ये लोग जानते हैं लेकिन पहली बार घोषणापत्र में दिन और रात एक करके उसमें से कुछ चीज निकाली और अपने अध्यादेश से तुलना की कोशिश की. हमारा घोषणापत्र घोड़ा है लेकिन गधे के साथ इन्होंने तुलना करने की कोशिश की.  

{related}

संजय राउत बोले:
राज्यसभा में शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कृषि बिल के बारे में कहा कि ये किसानों के लिए नई क्रांति है नई आज़ादी है. MSP और सहकारी खरीद की व्यवस्था खत्म नहीं की जाएगी, ये सिर्फ अफवाह है. तो क्या अकाली दल के एक मंत्री ने अफवाह पर भरोसा रखकर कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया. संजय राउत ने कहा कि आज आप जो बिल ला रहे हैं जिसमें आपने कहा कि ये किसान के हित में है. क्या आप देश को आश्वस्त कर सकते हैं कि ये जो तीन बिल हैं ये मंज़ूर होने के बाद क्या हमारे किसानों की आय सच में डबल हो जाएगी और एक भी किसान इस देश में आत्महत्या नहीं करेगा.

कृषि से जुड़े विधेयकों को लेकर राहुल गांधी बोले, पीएम मोदी बना रहे है किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम

 कृषि से जुड़े विधेयकों को लेकर राहुल गांधी बोले, पीएम मोदी बना रहे है किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम

नई दिल्ली: आज कृषि से जुडे 2 बिलों को राज्यसभा में पेश कर दिया गया.  लोकसभा से ये बिल पहले ही पास हो चुके हैं. कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, बसपा और अकाली दल सहित कई पार्टियां इस बिल का विरोध कर रही हैं. वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कृषि बिलों को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है. 

पीएम मोदी किसानों को बना रहे है पूंजीपतियों का गुलाम:
राहुल गांधी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम बना रहे हैं, जिसे देश कभी सफल नहीं होने देगा. राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार के कृषि-विरोधी काले कानून से किसानों को APMC/किसान मार्केट खत्म होने पर न्यूनतम समर्थन मूल्य कैसे मिलेगा? इस बिल में MSP की गारंटी क्यों नहीं. 

{related}

भाजपा की अगुआई वाली एनडीए में फूट:
इन बिलों को लेकर भाजपा की अगुआई वाली एनडीए में फूट पड़ चुकी है. भाजपा की सबसे पुरानी सहयोगी अकाली दल और मोदी कैबिनेट में केंद्रीय मंत्री रहीं हरसिमरत कौर इन बिलों के विरोध में इस्तीफा दे चुकी हैं. 

मुख्यमंत्री गहलोत बोले, सभी जिलों में कोरोना के इलाज की समुचित व्यवस्था, राज्य-स्तरीय हेल्पलाइन 181 होगी शुरू

मुख्यमंत्री गहलोत बोले, सभी जिलों में कोरोना के इलाज की समुचित व्यवस्था, राज्य-स्तरीय हेल्पलाइन 181 होगी शुरू

जयपुर: प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेशवासियों को आश्वस्त किया है कि राज्य के सभी जिलों में कोरोना के इलाज की समुचित व्यवस्था की गई है. किसी भी जिले में ऑक्सीजन बेड, आईसीयू बेड तथा वेन्टिलेटर जैसे जीवन रक्षक उपकरणों की कमी नहीं है. इस संबंध में कतिपय भ्रामक सूचनाएं फैलाई गई हैं, जो दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना के मरीजों के इलाज में कोई कमी नहीं छोड़ी जाएगी.

सोमवार से राज्य-स्तरीय हेल्पलाइन 181 शुरू होगी:
प्रदेश में कोरोना वायरस से प्रभावित किसी भी व्यक्ति या उसके परिजन को किसी भी परेशानी सलाह या कोरोना से संबंधित जानकारी देने के लिए राज्य-स्तरीय हेल्पलाइन 181 भी सोमवार 21 सितम्बर से शुरू होगी. कोई भी व्यक्ति 181 नम्बर डायल करके कोरोना से संबंधित समस्या के समाधान तथा सलाह लेने के लिये सम्पर्क कर सकेगा. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इस हेल्पलाइन के लिए पर्याप्त टेलीफोन लाइन की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. 

{related}

राज्य एवं जिला स्तर तक वॉर रूम भी स्थापित:
इस हेल्पलाइन पर आने वाली कोरोना वायरस से संबंधित सूचनाओं तथा लोगों द्वारा बताई गई समस्याओं के समाधान के लिए किए जाएंगे. कोरोना के मरीजों और उनके परिजनों की सहायता के लिए ये वॉर रूम 24x7 काम करेंगे. जिलों में अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट स्तर के अधिकारी वॉर रूम के प्रभारी होंगे.

हेल्थ प्रोटोकॉल की कड़ाई से पालना करवाने के निर्देश:
सीएम गहलोत ने महामारी के संक्रमण से बचने के लिए सभी सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनने और उचित दूरी रखने सहित हेल्थ प्रोटोकॉल की कड़ाई से पालना करवाने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि लोगों को बाजारों, कार्यालयों, सार्वजनिक परिवहन, पर्यटन स्थलों आदि सभी जगह पर ’नो मास्क, नो एन्ट्री’ के संकल्प की पालना करनी चाहिए.

कृषि से जुड़े 3 बिल राज्यसभा में पेश, कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने किए पेश 

 कृषि से जुड़े 3 बिल राज्यसभा में पेश, कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने किए पेश 

नई दिल्ली: आज संसद के मॉनूसन सत्र का सातवां दिन है. सरकार ने कृषि संबंधित विधयकों को राज्यसभा में पेश किया. कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने बिल राज्यसभा में पेश किए. 

किसानों के जीवन में आएंगे क्रांतिकारी बदलाव:
नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि MSP जारी थी, जारी है और जारी रहेगी. किसानों के जीवन में क्रांतिकारी बदलाव आएंगे. किसान किसी भी जगह फसल बेच सकेंगे. मनचाही कीमत पर फसल बेचने की आजादी होगी. विपक्ष की बिल को सेलेक्ट कमेटी को भेजने की मांग की गई.कृषि से जुड़े दो बिल लोकसभा से पहले ही पास हो चुके हैं. 

{related}

देशभर के किसान कर रहे हैं बिल का विरोध:
हालांकि, शिरोमणि अकाली दल जो बीजेपी की सबसे पुरानी सहयोगी थी, उसने बिल का विरोध किया. पार्टी की सांसद हरसिमरत कौर बादल ने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया. देशभर के किसान बिल का विरोध कर रहे हैं. कांग्रेस ने सरकार को किसान विरोधी तक करार दिया है.

Open Covid-19