Covid vaccine आडिट के लिए खंड, District और State Level पर टीमों का गठन

Covid vaccine आडिट के लिए खंड, District और State Level पर टीमों का गठन

Covid vaccine आडिट के लिए खंड, District और State Level पर टीमों का गठन

जयपुर:  राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ​मंत्री डॉ रघु शर्मा (Rajasthan Medical and Health Minister Dr Raghu Sharma) ने निर्देश दिए है कि कोविड वैक्सीन के आडिट व जिला स्तर पर वैक्सीन के समयबद्ध व समुचित उपयोग के निरीक्षण के लिए टीमों का ग​ठन किया जाए. ये टीमें निर्बाध वैक्सीनेशन व इनके समुचित उपयोग पर नजर रखेंगी.

प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोरा ने किए आदेश जारी:
स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोरा (Akhil Arora, Principal Secretary to the Health Department) ने इस सबंध में आदेश जारी करते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम (Vaccination Program) निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुसार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन में वैक्सीन का उपयोग सर्वाधिक हो इसके लिए ​राज्य, जिला व खंड स्तर पर टीमों का गठन किया गया है. उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन प्रक्रिया के निरीक्षण के लिए जिला स्तर पर तीन खंडीय टीम होंगी, जबकि आवधिक आडिट के लिए राज्य स्तर की तीन टीम अलग होंगी.

जिला व खंड स्तर पर होंगी टीम:
प्रमुख शासन सचिव (Chief Secretary) ने कहा कि जिले में निरीक्षण के लिए जिला व खंड स्तरीय दलों का गठन किया जाएगा. उन्होंने कहा कि जिला स्तरीय एक दल में अतिरिक्त जिला Collector व CMHO होंगे, जबकि दूसरे दल में जिला परिषद् के SEO व RCHO शामिल होंगे. उन्होंने बताया कि खंड स्तरीय दल में SDM व खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी होंगे. जिला स्तरीय प्रथम दल जिला वैक्सीन भंडार व कोविड वैक्सीन के 10 प्रतिशत कोल्ड प्वाईंट्स व निजी सत्र स्थलों का निरीक्षण करेंगे, जबकि दूसरे दल द्वारा 20 प्रतिशत कोल्ड चैन प्वाईंटस व ​निजी सत्र स्थलों का निरीक्षण किया जाएगा.

सात दिन के भीतर निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट भजनी होगी:
खंड स्तरीय दल अपने खंड में शत- प्रतिशत कोल्ड चैन प्वाईंट व सत्र ​स्थलों का निरीक्षण करेंगे. उन्होंने बताया कि कि जिला व खंड स्तरीय टीमें गठन के प्रथम सात दिन के भीतर निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट जिला कलक्टर के माध्यम से चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, निदेशालय जयपुर को भेजेंगी. इसके बाद प्रत्येक 15 दिवस के अंतराल में निरीक्षण किया जाएगा. 

आवधिक आडिट के लिए ये टीम:
प्रमुख शासन सचिव ने कहा कि आवधिक आडिट के लिए भी तीन दलों का गठन किया गया है. इसमें पहले दल में डॉ प्रदीप चौधरी, राज्य नोडल अधिकारी, शिशु स्वास्थ्य, डॉ महेश सचदेवा, राज्य नोडल अधिकारी, मातृत्व स्वास्थ्य होंगे. दूसरी टीम में डॉ रोमेल सिंह, राज्य नोडल अधिकारी, सीएचओ व डॉ अभिनव अग्रवाल, राज्य नोडल अधिकारी, मातृत्व स्वास्थ्य होंगे, जबकि तीसरी टीम में डॉ गिरीश द्विवेदी, परियोजना निदेशक, परिवार कल्याण व डॉ पुरुषोत्तम सोनी, प्रमुख विशेषज्ञ, टीबी रहेंगे. उन्होंने कहा कि ये टीमें राज्य स्तर से विभिन्न जिलों में स्थित राज्य स्तरीय वैक्सीन स्टोर, जिला स्तरीय वैक्सीन स्टोर व कोल्ड चैन प्वाईंट की आवधिक आडिट करेंगी. ये टीमें कोविड वैक्सीन के संधारण, उपयोग व वेस्टेज वैक्सीन के ​निस्तारण की विस्तृत ​आडिट भी करेंगी. 

सर्वे से लिया जाएगा फीडबैक:
प्रमुख शासन सचिव ने कहा कि निरीक्षण व आडिट दलों की ओर से संबंधित टीकाकरण की परिधि में रहने वाले ऐसे व्यक्तियों का रैंडम सैंपल सर्वे कर फीडबैक लिया जाएगा जिन्होंने कोविड वैक्सीन की एक या दोनों डोज ली हैं. उन्होंने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन के दौरान केन्द्र सरकार की ओर जारी गाइडलाइन की पूर्ण पालना भी सुनिश्चित करने का कार्य ये टीमें करेंगी.


 

और पढ़ें