Live News »

शोधार्थी पर्यटकों के लिए खासा उपयोगी साबित हो रहा राव जोधा डेजर्ट पार्क

शोधार्थी पर्यटकों के लिए खासा उपयोगी साबित हो रहा राव जोधा डेजर्ट पार्क

जोधपुर। देश में चाहे कितने ही राजघराने क्यो ना हो मगर जोधपुर ही एक ऐसा अकेला राजघराना है जिसके पूर्व महाराज गजसिंह नवाचार करने के लिए काफी प्रसिद्ध है। जोधपुर के मेहरानगढ किले के पास स्थित राव जोधा डेजर्ट पार्क जो किसी जमाने में सिर्फ जंगल ही रहता था मगर जिस तरह पूर्व नरेश गजसिंह द्वारा इस पार्क को न केवल पर्यटन के लिहाज से विकसित किया गया है बल्कि इस पार्क में जिस तरह से यहां ऐसे पेड पौधे भी विकसित किए गए है जो शायद कहीं देखने को नही मिलते है। शहर के शोर शराबे से दूर इस पार्क में आने वाले देशी विदेशी पर्यटक इसको काफी पसंद भी कर रहे है। खास बात तो यह है कि यह शोधार्थी पर्यटकों के लिए खासा उपयोगी साबित हो रहा है। 

जोधपुर के मेहरानगढ़ किले की तलहटी में स्थित प्राकृतिक दृश्यों को सहेजने व इकोलॉजिकल बेलेंस बनाने के लिए राव जोधा पार्क की स्थापना 2006 में की गयी थी। जोधपुर के राव जोधा डेज़र्ट पार्क को वर्ष 2015 के एक्सीलेंस अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। मेहरानगढ़ ट्रस्ट द्वारा संचालित इस पार्क को जोधपुर आने वाले देशी-विदेशी सैलानी काफी पसंद करते हैं। इस अवॉर्ड के लिए पार्क का सिलेक्शन ट्रिप एडवाईजर यात्रियों के रिव्यू के आधार पर किया गया है, जिसमें पार्क में लगाई गयी वनस्पति, यहाँ पाए जाने वाले प्रकृतिक जलस्रोतों, पशु पक्षियों और यहाँ की मेंटेनेंस को शामिल किया गया है। ये पार्क मेहरानगढ़ किले से विद्याशाला की ओर जाने वाले रास्ते में पड़ता है। 

मेहरानगढ़ म्युजियम ट्रस्ट के निदेशक करणीसिंह जसोल ने बताया कि ट्रस्ट द्वारा मेहरानगढ़ किले की तलहटी में स्थित प्राकृतिक दृश्यों को सहेजने व इकोलॉजिकल बेलेंस बनाने के लिए राव जोधा पार्क की स्थापना 2006 में की गयी थी। यहां गूगल, कुम्भट, गांगेढी, वज्रदंती, अश्वगंधा, बेर, शंखपुष्पी, गूंदा, गोखरु, खीप समेत कई तरह की वनस्पतियां लगायी गयी हैं। राव जोधा डेजर्ट पार्क के रखरखाव सहायक हर्षवर्धन सिंह ने बताया कि 12 साल पहले यह पहाड़ी क्षेत्र विलायती बबूल से भरा पड़ा था, जिन्हें हटाकर इस क्षेत्र में प्राकृतिक वनस्पतियां लगाई गयी। 

उन्होंने बताया कि इस उद्यान पर ‘राव जोधा पार्क की तितलियां’ एवं ‘वानस्पतिक चट्टानें’ नामक पुस्तकें भी प्रकाशित की गई हैं। वही इस पार्क को देखने आने वाले पर्यटक भी इसको काफी पसंद करते है और इसकी तस्वीरे लेने से नही चूकते है। गौरतलब है कि 70 हेक्टेयर में फैले इस पार्क में रानीसर, पदमसर व जसवंतधड़ा के नीचे स्थित देवी कुण्ड आदि प्राकृतिक झीलें शामिल हैं, साथ ही इसमें लोटस पोंड व सींगोडीया पहाड़ी सैलानियों को काफी आकर्षित करती है। इस पार्क में तीन नेचुरलिस्ट भी मौजूद हैं, जो सैलानियों को पार्क की ख़ूबियों के बारे में जानकारियां उपलब्ध करवाते हैं। पार्क में माइग्रेटरी बर्ड्स को मिलाकर करीब 164 तरह की प्रजातियों के पक्षी पाये जाते हैं। तितलियों के लिए खास तौर से मशहूर इस उद्यान में लगभग तीस तरह की तितलियाँ पायी जाती हैं, साथ ही यहां रेगिस्तानी खरगोश, नेवले, पोरक्यूपाइन व मॉनिटर लिजार्ड देखने को मिलते हैं। 
राजीव गौड़ फर्स्ट इंडिया न्यूज जोधपुर

और पढ़ें

Most Related Stories

...जब निकल आया जोधपुर एम्स में कोबरा सांप, मच गई अफरा-तफरी

...जब निकल आया जोधपुर एम्स में कोबरा सांप, मच गई अफरा-तफरी

जोधपुर: प्रदेश के जोधपुर जिले के एम्स में उस वक्त अफरा तफरी मच गई, जब ​एक कोबरा सांप वहां पर आ गया. सांप के एम्स में दिखाई देते ही अफरा तफरी का माहौल मच गया. यह सांप ऑक्सीजन प्लांट में निकला जिसके चलते तुरंत ही सांप पकडने वाले मोहम्मद इस्माईल रंगरेज को मौके पर फोन करके बुलाया गया, जिसके चलते मौके पर पहुंचे सांप पकडने वाले मोहम्मद इस्माईल रंगरेज ने कडी मशक्कत के बाद जाकर सांप को पकड़ा.

Rajasthan Lockdown: बालोतरा में आगे आये भामाशाह, जरूरतमंदों को रोजाना करवा रहे है भोजन

समय पर सांप को पकड़ा जा सका:
जिसके बाद कही जाकर मरीजों और स्टाफ के सदस्यों ने राहत की सांस ली. एम्स अस्पताल के स्टाफ शकील अहमद की गंभीरता ही रही कि जिन्होने मौके की स्थिति को देखते हुए तुरंत सांप पकड़ने वाले मोहम्मद इस्माईल रंगरेज को फोन किया, जिसके चलते समय पर सांप को पकड़ा जा सका. सांप के पकड़े जाने के बाद जहां हर कोई खुशी के साथ मोहम्मद इस्माईल रंगरेज का आभार जताता भी नजर आ रहा था. 

भीलवाड़ा मॉडल पर जीत पाएंगे कोरोना की जंग, एसीएस मेडिकल रोहित कुमार सिंह बनाए हुए पैनी नजर

Rajasthan Corona Update: प्रदेश में लगातार बढ़ता जा रहा कोरोना का कहर, पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 120

जयपुर: प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. प्रदेश में बुधवार को कोरोना के 20 नए मामले सामने आये. प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 120 हो गई है. जबकि भीलवाड़ा में 2 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो चुकी है. बुधवार रात चूरू में 7 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आये है. चूरू के सभी पॉजि​टिव दिल्ली में तबलीगी जमात में शरीक होकर लौटे थे. जयपुर शहर के रामगंज इलाके में बुधवार को 13 पॉजिटिव मरीज मिले है. यह मरीज ओमान से आये व्यक्ति् से सम्पर्क में आये थे. जिसकी वजह से ये संक्रमित हुए है. वहीं शाम को जोधपुर में कोरोना पॉजिटिव के 2 नए मामले सामने आये है. जिसमें एक 65 वर्ष का पुरुष शामिल है. इनका जोधपुर के एमडीएम अस्पताल में इलाज जारी है. वहीं ईरान से जोधपुर आईं एक महिला भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं. इसके बाद रात को टोंक में तब्लीगी जमात के 4 लोग और अलवर में एक पॉजिटिव सामने आया है.  

SMS के कोरोना वॉरियर्स के हौंसले को सलाम ! चरक भवन से लेकर आईसोलेशन तक जुटे हुए हेल्थ वर्कर्स

जयपुर में सबसे ज्यादा मरीज:
प्रदेश की राजधानी जयपुर में कोरोना के सबसे ज्यादा मरीज सामने आये है. यहां पर 34 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले है. जिसके बाद जयपुर शहर में प्रवेश करने वाली सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है. यहां पर प्रशासन सतर्क हो गया है. जयपुर पॉजिटिव मरीजों की संख्या के मामले में भीलवाड़ा से आगे निकल गया है. भीलवाड़ा में फिलहाल मरीजों की संख्या स्थिर बनी हुई है.

भीलवाड़ा में 26 पॉ​जिटिव:
प्रदेश के भीलवाड़ा में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 26 हो गई है. यहां पर मरीजों की संख्या स्थिर बनी हुई है. पहले प्रदेश में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव भीलवाड़ा में हो गए थे. जिसके बाद प्रशासन सतर्क हो गया था.  भीलवाड़ा जिले में कर्फ्यू लगा दिया गया था. जो अभी जारी है. लेकिन अब राहत की बात है यहां पर मरीजों की संख्या स्थिर बनी हुई है. वहीं बात करें झुंझुनूं जिले में तो यहां पर 8 पॉजिटिव मरीज ​मिले है. जबकि जोधपुर में 26 पॉजिटिव केस सामने आये है. जिनमें से 18 ईरान से आये हुए है. वहीं टोंक जिले में 4 पॉजिटिव मिले है. प्रतापगढ़ 2, डूंगरपुर 3, अजमेर जिले में 5 कोरोना पॉजिटिव सामने आये है. वहीं बात करे अलवर की तो यहां पर 2 कोरोना पॉजिटिव सामने आये है. वहीं पाली, सीकर और चूरू में एक-एक कोरोना संक्रमित मिला है. 

कोरोना से भी बड़ा खतरा लोगों में भय और अफरातफरी का माहौल: सुप्रीम कोर्ट

ईरान से एयर लिफ्ट कर जोधपुर लाए 1036 में से अब तक 17 कोरोना संक्रमित

ईरान से एयर लिफ्ट कर जोधपुर लाए 1036 में से अब तक 17 कोरोना संक्रमित

जोधपुर: ईरान से एयर लिफ्ट कर लाए गए दस और भारतीय पॉजिटिव निकल गए है. ऐसे में 1036 में से अब तक 17 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, 180 की जांच में से कोरोना के 10 नए मरीज सामने आए हैं. जोधपुर शहर में आज एक साथ दस लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए है. ये सभी ईरान से एयर लिफ्ट कर लाए गए भारतीय नागरिक है. ये देश के विभिन्न राज्यों के रहने वाले हैं. जोधपुर व जैसलमेर में इस समय सेना के वेलनेस सेंटर में 1036 जनों को क्वारेंटाइन कर रखा गया है. इनमें से सात लोग सोमवार को कोरोना संक्रमित पाए गए थे. अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आज पॉजिटिव पाए गए 10 में से जोधपुर व जैसलमेर से कितने-कितने लोग है.  

Coronavirus Updates: कोरोना से देश में अब तक 45 मौतें, राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ पहुंचा 93 

180 सैंपलों की जांच में दस लोग संक्रमित: 
जोधपुर व जैसलमेर में सेना के वेलनेस सेंटर में सोमवार को सात करोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद हड़कंप मच गया था और सेना के आग्रह पर जोधपुर मेडिकल कॉलेज की टीम ने सभी की जांच करने का फैसला किया. ऐसे में मेडिकल कॉलेज की टीम ने जोधपुर व जैसलमेर से सैंपल लेना शुरू कर दिए थे. आज 180 सैंपलों की जांच की गई. इसमें से दस लोग कोरोना संक्रमित पाए गए है. इस तरह अब ईरान से एयर लिफ्ट कर लाए गए भारतीय नागरिकों में से 17 जने कोरोना संक्रमित पाए गए है. आज 3 जनों की जांच रिपोर्ट एम्स जोधपुर से मिली, जबकि 7 जने मेडिकल कॉलेज की जांच में पॉजिटिव पाए गए.

VIDEO: कोरोना लॉकडाउन में चिकित्सा मंत्री की मानवीय अपील, नवरात्रा की अष्टमी और नवमी पर जरूरतमंदों को खिलवाए भोजन 

जोधपुर शहर के सात जने कोरोना पॉजिटिव:
गौरतलब है कि जोधपुर शहर के सात जने कोरोना पॉजिटिव पाए गए है. इनमें से एक महिला सहित 6 का इलाज एमडीएम अस्पताल में चल रहा है. इसके अलावा एक युवती का इलाज एम्स में चल रहा है. इसके अलावा पाली का एक युवक भी यहां भर्ती है. हालांकि उसकी दो जांच रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है. इसके साथ ही कल पॉजिटिव पाए गए सात भारतीय नागरिकों को भी जोधपुर में भर्ती कर इलाज किया जा रहा है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए जोधपुर से राजीव गौ़ड़ की रिपोर्ट
 

VIDEO: जोधपुर में एक और कोरोना पॉजिटिव आया सामने, कल ईरान से आए 275 लोगों में शामिल था ये व्यक्ति

जोधपुर: जिले में कोरोनावायरस का एक और मरीज सामने आने से मेडिकल कॉलेज प्रशासन के लिए फिलहाल चुनौती बढ़ गई है क्योंकि यह मरीज ईरान से आये उन 275 भारतीयों में शामिल हैं, जिनको आर्मी इलाके में वैलनेस व स्पेशल आइसोलेशन सेंटर में रखा गया था, जहां पहले से 277 ईरान से आये भारतीयों को रखा गया है. फिलहाल 41 वर्षीय जम्मू कश्मीर के लद्दाख निवासी इस व्यक्ति को जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करने के साथ इलाज शुरू कर दिया गया है लेकिन चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा अब ईरान से जो पहले 277 लोग आए उन पर भी नजर रखनी पड़ेगी और साथ ही कल जो 274 लोग था शेष रह गए हैं उन पर नजर रखनी पड़ेगी.

अजमेर में एक ही परिवार के 4 सदस्यों को रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव, प्रशासन अलर्ट मोड़ पर 

मेडिकल की विशेष टीमें लगातार पल-पल की ले रही अपडेट: 
जोधपुर के एसएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर जी एल मीणा ने बताया कि कल इरान से जोधपुर लाए गए 275 भारतीयों में से जम्मू कश्मीर के लद्दाख के रहने वाले 41 वर्षीय जिस मरीज को कोरोना वायरस पॉजिटिव आया है उस पर बराबर निगरानी रखी जा रही है मेडिकल की विशेष टीमें लगातार पल-पल का अपडेट ले रही है. संयुक्त चिकित्सा निदेशक डॉ युद्धवीर सिंह ने बताया कि सैन्य अधिकारियों के हम संपर्क में हैं और लद्दाख के इस मरीज के पॉजिटिव आ जाने के बाद उन 274 लोगों की स्क्रीनिंग और मेडिकल चेकअप के अलावा सभी की मेडिकल हिस्ट्री जांच ने के साथ-साथ एहतियात बरते जा रहे हैं. डॉक्टरों की विशेष टीम सभी 274 भारतीयों के स्वास्थ्य को लेकर पूरी तरह से गंभीर है और कोरोनावायरस के आधार पर ही उनकी मेडिकल जांच की जा रही है.

VIDEO: लॉकडाउन के चलते विश्‍वभर में कॉन्‍डम की बढ़ी मांग, बाजार से हुआ गायब 

जोधपुर में पहले से 7 कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज:
गौरतलब है कि जोधपुर में पहले से 7 कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज है जिनमें टर्की से घूम कर जोधपुर आए एक ही परिवार के तीन सदस्यों के अलावा ट्रेन में उनके संपर्क में आई एक युवती, लंदन से आए दो जोधपुर के युवकों के अलावा पाली के रहने वाले मगर दुबई से आए मरीज का जोधपुर के मेडिकल कॉलेज के अधीन आने वाले मथुरादास माथुर अस्पताल में इलाज चल रहा है. हालांकि पाली से आए मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव के बाद अब नेगेटिव आ चुकी है इसलिए संक्रमण रोग निदान संस्थान में शिफ्ट कर वहां आइसोलेशन वार्ड में इलाज चल रहा है. इसी तरह टर्की से आने वाली महिला की रिपोर्ट पहले पॉजिटिव आई उसके बाद नेगेटिव आई और अब फिर पॉजिटिव आ गई है उस पर भी चिकित्सकों की टीम विशेष नजर रख रही है. 

Lockdown: जोधपुर में काम करने वाले प्रवासी श्रमिकों का पलायन जारी, रोडवेज बस स्टैंड पर लगी भीड़

Lockdown: जोधपुर में काम करने वाले प्रवासी श्रमिकों का पलायन जारी, रोडवेज बस स्टैंड पर लगी भीड़

जोधपुर: कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए देशभर में लागू लॉक डाउन के बीच जोधपुर में काम करने वाले प्रवासी श्रमिकों का पलायन जारी रहा. रोडवेज बस स्टैंड पर बड़ी संख्या में इन श्रमिकों के पहुंचने का क्रम जारी है. साथ ही इन लोगों को वापस भेजने की व्यवस्थाएं भी धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है. शनिवार देर रात जोधपुर से 16 बसों में करीब एक हजार श्रमिकों को जयपुर और भरतपुर रवाना किया गया. रविवार को भी इन्हें ले जाने के लिए बड़ी संख्या में बसें तैयार है. जोधपुर शहर में उत्तर प्रदेश और बिहार समेत प्रदेश के अन्य जिलों से आए श्रमिक बड़ी संख्या में काम करते है.

Rajasthan Lockdown: राहत के मसीहा बने भामाशाह और समाजसेवी, प्रवासी यात्रियों को मिली राहत

बेरोजगार हुए श्रमिक:
लॉक डाउन के दौरान लगातार काम बंद रहने के कारण बेरोजगार हुए इन श्रमिकों ने कुछ दिन तो जैसे-तैसे कर निकाल लिए. हालांकि शहर की विभिन्न संव्यसेवी संस्थाएं इनके लिए भोजन का प्रबंध करने में पूरी तत्परता के साथ जुटी है. इसके बावजूद इन श्रमिकों में कोरोना में भय व्याप्त हो गया और इन लोगों ने शनिवार सुबह से पलायन शुरू कर दिया. बड़ी संख्या में महिला और पुरुष अपने बच्चों को लेकर पैदल ही अपने गंतव्य की ओर रवाना हो गए.  राज्य सरकार ने इन श्रमिकों को रोडवेज बसों में भेजने का निर्णय कर व्यवस्थाएं बनाने का आदेश जारी किया. देर रात तक शहर में कुछ व्यवस्थाएं हुई और जोधपुर शहर से सोलह बसों को रवाना किया गया.

Corona Updates: कोरोना की वजह से मारिया टेरेसा का निधन, स्‍पेन की राजकुमारी है टेरेसा

दो बसों में बैठा कर रवाना किया:
इनमें से बनाड़ तक पैदल पहुंचे लोगों को रोक कर देर रात दो बसों में उन्हें बैठा कर रवाना किया गया. वहीं जोधपुर जिले के बालेसर में पलायन को तैयार 400 श्रमिकों के लिए रात को 8 बसें यहां से भेजी गई. रविवार सुबह से एक बार फिर श्रमिकों का रैला रोडवेज बस स्टैंड की तरफ उमड़ पड़ा. शहर के प्रत्येक मार्ग पर ये श्रमिक अपना सामान सिर पर लादे गुजरते नजर आ रहे है. आज जिला प्रशासन भी पहले की अपेक्षा काफी सजग नजर आया. रोडवेज स्टैंड पर पहुंचने वाले श्रमिकों की स्क्रीनिंग की जा रही है. इसके बाद बारी-बारी से बस में बैठाने से पूर्व सभी के हाथ सैनेटाइजर से साफ करवाए जा रहे है. जयपुर, कोटा व भरतपुर के लिए बड़ी संख्या में बसों को रवाना किया जा रहा है.

Rajasthan Lockdown: कोरोना से बचाव के लिए प्रदेश के कई जिलों में लॉकडाउन का असर, तो कालाबाजारी करने पर 2 दुकानें सीज 

Rajasthan Lockdown: कोरोना से बचाव के लिए प्रदेश के कई जिलों में लॉकडाउन का असर, तो कालाबाजारी करने पर 2 दुकानें सीज 

जयपुर: 21 दिन के लॉकडाउन का शनिवार को चौथा दिन है, कोरोना से बचाव के लिए केन्द्र और राज्य सरकार ने ये कदम उठाया है. इसी को देखते हुए प्रदेश के सभी जिलों में लॉकडाउन का असर देखा जा रहा है, तो कहीं पर कोरोना पॉजिटिव ज्यादा मिलने के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया है. प्रदेश के भीलवाडा में आठ दिन से कर्फ्यू जारी है. वहीं राजधानी जयपुर के रामगंज में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद 7 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया है. चलिए जानते है लॉकडाउन के बाद प्रदेश के जिलों के हालात के बारे में...

बारां के छबड़ा में दो दुकानों को 24 घण्टों के लिए किया सीज
लोक डाउन के चलते जहा छबड़ा में कुछ दुकानदारों द्वारा खाद्यय सामग्री की कालाबाज़ारी करने व सामग्री को मन माने दामों पर बेचने की शिकायत पर नायब तहसीलदार ने कार्यवाही करते हो अलीगंज बाजार स्तिथ बनवारी साहू व वार्ड 28 की एक किराने की दुकान पर कार्यवाही करते हुए अगले 24 घण्टों तक के लिए दोनो दुकानों को सीज किया गया.

लॉक डाउन की अवधि के टिकट का मिलेगा पूरा रिफंड, रेलवे प्रशासन ने यात्रियों के लिए दी राहत

नायब तहसीलदार ने बताया कि दोनों दुकानदारों के विरुद अलग अलग उपभोक्ताओं द्वारा पोर्टल पर आटे के कट्टों समेत अन्य सामग्री को ज्यादा कीमत पर बेचान करने की शिकायत की गई थी जिस पर कार्यवाही करते हुवे दोनो की दुकानों को सीज किया गया. प्रशासन की कार्यवाही से जहा किराना व्यापारियों में हड़कम्प मच गया तो वही पुलिस की सख्ती के चलते लोक डाउन में बाजार बंद रहे तो वहीं छबड़ा सब्जी मंडी को खाली करा दिया गया. सब्जी विक्रेताओं को वार्ड वार्ड गली गली में जाकर सब्जी और फल फ्रूट बेचने के निर्देश दिए गए. कानून का उलंघन करने पर कानूनी कार्यवाही की जाएगी.

जोधुपर में भामाशाह आये आगे:
जोधपुर के भामाशाहों से लेकर कई समाजसेवियों ने बढ़-चढ़कर कोरोनावायरस के बाद लॉक डाउन के चलते प्रभावित हुए जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिए आगे आए हैं और आर्थिक सहायता के अलावा भोजन के पैकेट इत्यादि बनाकर वितरण करने में मदद कर रहे हैं. इसी बीच प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव करण सिंह उचियारड़ा ने भी आगे आकर 11 लाख रुपए का चेक मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा कराने के लिए जिला कलेक्टर को सौंपा है.

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव करण सिंह उचियाडा का कहना है कि राजस्थान में हमारी सरकार लगातार बेहतर से बेहतर सुविधाएं मुहैया करा रही है, तो वहीं कोरोना वायरस से निपटने के लिए तमाम इंतजाम किए गए हैं मगर ऐसे में हमारा भी दायित्व बनता है कि बढ़-चढ़कर मुख्यमंत्री सहायता कोष के जरिए जो जरूरतमंद है उनकी मदद की जा सके इसी भावना को ध्यान में रखकर हम लोग प्रतिदिन 1000 भोजन के पैकेट तैयार करेंगे और साथ ही 11 लाख 11 हजार 11 रुपए का चैक मुख्यमंत्री सहायता कोष में दिया है और जयपुर में स्थित हमारा एक होटल आइसोलेशन सेंटर के लिए  जिला कलेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री को पत्र भेजा है.

Corona Update: गायिका कनिका कपूर की तीसरी रिपोर्ट भी आई कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में जारी है इलाज

झुंझुनूं के सुल्ताना में करीब 500 अन्नपूर्णा किट हो रहे हैं तैयार:
कोरोना वायरस से उपजे संकट के बीच जरूरतमंदों की मदद के लिए सुल्ताना के ग्रामीणों ने पहल की हैं. ग्रामीणों ने सुल्ताना में जरूरतमंदों की मदद के लिए सुल्ताना पुलिस के सहयोग से एक कंट्रोल रूम बनाया हैं, जहां रोजाना खाद्य सामग्री के किट तैयार किए जा रहे हैं इन कीट में 10 किलो आटा चीनी चावल तेल चाय मसाले बिस्किट समेत अन्य जरूरत का सामान हैं, इसे कोविड सहायता समिति नाम दिया गया हैं जिसका उद्देश्य हैं कि किसी को भी भूखा नही सोने देंगे हर जरूरतमंद तक भोजन पहुंचे और अन्य कोई जरूरत हो वह भी की जा सकें.

इस सम्बंध में सुल्ताना चौकी प्रभारी एएसआई मक्खन लाल के नेतृत्व में एक टीम बनाई जो जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री मुहैया करवाएगी. जरूरतमंदों  के लिए अन्नपूर्णा किट बनाए गए हैं जिनमे 10 किलो आटा समेत चीनी,चावल,दाल, तेल,मसाले और बिस्किट को शामिल किया गया हैं, इस अन्नपूर्णा खाद्य सामग्री के लिए भामाशाहों और सुल्ताना व्यापार मंडल ने मदद की हैं. सुल्ताना में 25 मार्च को चिड़ावा डिप्टी आरपी शर्मा के सानिध्य में जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री के किट वितरण शुरू कर दिया गया.

Rajasthan Corona Update: प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 54, तो भीलवाड़ा से किसी भी व्यक्ति को बाहर ना जाने देने के निर्देश

टीम की और से रोजाना 10 से 15 जरूरतमंद परिवारों को राशन सामग्री का वितरण किया जा रहा हैं. सुल्ताना चौकी प्रभारी मक्खन लाल रोजाना ग्रामीणों को साथ लेकर झुग्गीयों में पहुंचकर खाद्य सामग्री की जानकारी लेकर जरूरतमंद परिवारों को राशन सामग्री का वितरण करवा रहे हैं. सुल्ताना के ग्रामीणों और पुलिस की इस अनूठी पहल को सराहना मिल रही हैं.

Rajasthan Corona Update: अब तक 46 लोग पॉजिटिव, जोधपुर में एक ओर युवक पाया गया पॉजिटिव, 2 लोगों की मौत

Rajasthan Corona Update: अब तक 46 लोग पॉजिटिव, जोधपुर में एक ओर युवक पाया गया पॉजिटिव, 2 लोगों की मौत

जोधपुर: प्रदेश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढती जा रही है. राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 46 पहुंच गई है. जबकि इस वायरस की चपेट में आने से 24 घंटे के अंदर ही भीलवाडा जिले में दो लोगों की मौत हो गई. जोधपुर में शुक्रवार को एक और कोरोना संक्रमण का मरीज मिलने के बाद जिला प्रशासन अलर्ट मोड पर आया और कोरोना संक्रमित मरीज और उसके परिजनों को एमडीएम अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है, वहीं पूरे क्षेत्र को सील कर दिया गया है. जोधपुर में गुरुवार को लंदन से दुबई के रास्ते जोधपुर आए सीएचबी निवासी एक युवक को कोरोना पोसिटिव पाया गया था, उसके संपर्क में आने वाले लोगों की सूची बनाकर जांच की गई जिसमें सामने आया कि बीजेएस में रहने वाला यह युवक भी इसी युवक के साथ लंदन से आया है.

Rajasthan Lockdown: सीकर में मजदूरों को छोड़कर भागा ठेकेदार, सामाजिक सगठनों ने निभाया सरोकार

युवक के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि:
इस पर मेडिकल की टीम ने युवक के स्वास्थ्य की जांच की और उसके ब्लड सैंपल लिया. ब्लड सैंपल में युवक के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई, जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम मौके पर पहुंची. युवक और उसके सभी परिजनों को एमडीएम अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में लाया गया है. पुलिस ने पूरे इलाके को सील कर दिया है वहीं आसपास के इलाकों में सोडियम हाइपोक्लोराइट का स्प्रे करने का काम भी शुरू कर दिया गया है और स्वास्थ्य विभाग ने आसपास के इलाके का सर्वे शुरू कर दिया है.

गणगौर पूजन में भी दिख रहा है कोरोना वायरस का असर, मास्क लगाकर गणगौर पूजन कर रहीं महिलाएं

जोधपुर में हुए 6 कोरोना पॉजिटिव:
जोधपुर में अब तक कुल 6 कोरोना पॉजिटिव  मरीज आ चुके हैं , हालांकि इनमें से 2 मरीज की कंफरमेशन रिपोर्ट नेगेटिव आई है लेकिन इसके बावजूद इन मरीजों को भी आइसोलेशन वार्ड में ही रखा गया है फिलहाल जोधपुर के एमडीएम अस्पताल में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का उपचार चल रहा है.

VIDEO: जोधपुर में एक और कोरोना पॉजिटिव मरीज आया सामने, इंग्लैंड से लौटा था युवक

जोधपुर: कोरोना वायरस से निपटने के लिए एक और जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं और लॉक डाउन भी चल रहा है बावजूद उसके जोधपुर में एक के बाद एक पॉजिटिव आने का सिलसिला जारी है इसे गनीमत ही कहा जाएगा कि जो भी पॉजिटिव आ रहे हैं उनमें अधिकांशतः वे ही लोग हैं जो विदेश जाकर आये हैं. जोधपुर में आज एक और पॉजिटिव आ जाने के कारण चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग के अलावा एसएन मेडिकल कॉलेज के अधिकारियों की जिम्मेदारी बढ़ गई है.

Rajasthan Corona Updates: जयपुर के रामगंज में मिला कोरोना पॉजिटिव, प्रदेश में संक्रमित लोगों की संख्या पहुंची 41

लंदन से दुबई के रास्ते पहुंचा जोधपुर
जोधपुर के हाउसिंग बोर्ड इलाके के 9 सेक्टर में रहने वाले एक युवक द्वारा लंदन से दुबई के रास्ते जोधपुर पहुंचने के बाद लक्षण पाए जाने के साथ ही जब मथुरादास माथुर अस्पताल में संदिग्ध के तौर पर भर्ती कराया गया तब चिकित्सकों को लग रहा था कि रिपोर्ट पॉजिटिव आ सकती है और वैसा ही हुआ इस युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई है और पॉजिटिव आने के अनुसार इलाज शुरू कर दिया गया है. यही नहीं नगर निगम की टीम द्वारा उसके घर में आसपास सर्वे के अलावा क्लीनिंग का कार्य भी चल रहा है, दवा के छिड़काव के अलावा आसपास के लोगों के स्वास्थ्य की जांच भी की जा रही है और पूरे इलाके को सील करने के साथ पुलिस का पहरा भी लग गया है और इस इलाके को रिस्की जॉन भी घोषित कर दिया गया है. 

VIDEO-Corona Updates: खुशी और गम दोनों लेकर आया भीलवाड़ा में आज का दिन 

परिवार के अन्य सदस्यों को भी लिया सैम्पल:
परिवार के अन्य सदस्यों को मथुरादास माथुर अस्पताल में लाकर उनका सैम्पल लिया गया है उनकी रिपोर्ट आने के बाद पता लगेगा कि किसको यह संक्रमण लगा है और किसकी पॉजिटिव रिपोर्ट आती है और किसकी नेगेटिव तथा यह भी पता लगाया जा रहा है कि यह युवक वहां से लौटने के बाद अब तक किन-किन लोगों से संपर्क में आया है. यह यंहा विशेष रूप से उल्लेखनीय है कि,आज इस शख्स के सामने आने के बाद अब जोधपुर में कुल कोरोनावायरस के 6 मरीज हो गए हैं दुबई से आने वाले पाली निवासी का इलाज जहां जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल में चल रहा है तो वही टर्की से आने वाले परिवार के तीन सदस्यों का इलाज मथुरादास माथुर अस्पताल में चल रहा है और टर्की  के परिवारजनों के साथ ट्रेन में संपर्क में आने वाली एक युवती का इलाज एम्स में चल रहा है.

Open Covid-19