Live News »

राजस्थान हाई कोर्ट में 7 जजों की नियुक्ति की सिफारिश, एडवोकेट मनीष सिसोदिया के साथ 6 डीजे कोटे के नाम

राजस्थान हाई कोर्ट में 7 जजों की नियुक्ति की सिफारिश, एडवोकेट मनीष सिसोदिया के साथ 6 डीजे कोटे के नाम

जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट को शीघ्र 7 नए जज मिल सकते हैं. सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने अधिवक्ता कोटे से 1 और डीजे कोटे से 6 नामों की सिफारिश केन्द्र सरकार को भेजी है. सीजेआई एस ए बोबड़े की अध्यक्षता में बुधवार को हुए कॉलेजिमय की बैठक ने 9 डीजे में से डीजे देवेन्द्र कच्छवाहा, सतीश कुमार शर्मा, प्रभा शर्मा, मनोज कुमार व्यास, रामेश्वर व्यास और  सी के सोनगरा सहित और एडवोकेट कोटे से मनीष सिसोदिया के नाम की सिफारिश केन्द्र को भेजी है. केन्द्र की मंजूरी के बाद राजस्थान हाईकोर्ट में जजों की संख्या 28 हो जायेगी. 

डीजे कोटे से 11 और एडवोकेट कोटे से 9 नाम भेजे थे:
28 मई 2018 में राजस्थान हाईकोर्ट ने डीजे कोटे से 11 और एडवोकेट कोटे से 9 नाम सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम को भेजे थे. कॉलेजियम ने 8 जिला एवं सत्र न्यायाधिशों का मामला अगले कॉलेजियम के लिए टालते हुए न्याय विभाग से अतिरिक्त जानकारी मांगते हुए एन एस ढड्डा और अभय चतुर्वेदी का नाम केन्द्र को भेज दिया. डीजे सी के सोनगरा के मामले में राजस्थान के मुख्य न्यायाधीश से जानकारी मांगी गयी. हाईकोर्ट कॉलेजियम द्वारा भेजे गये डीजे कोटे के 11 नाम मे से 1 अप्रैल 2019 को दो डीजे  एन एस ढड्डा और डीजे अभय चतुर्वेदी की नियुक्ति हाईकोर्ट जज के रूप में की गयी. वहीं रिकंसीडरेशन के बाद दो सप्ताह पूर्व डीजे कोटे के 9 नाम की फाइल कानून मंत्रालय से सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम को भेजी गयी. जिसके बाद 22 जनवरी को हुए कॉलेजियम में 6 डीजे के नाम की सिफारिश केन्द्र को भेज दी गयी है. अधिवक्ता कोटे से भी मनीष सिसोदिया का नाम कॉलेजिमय ने केन्द्र को भेज दिया है. 

राजस्थान हाईकोर्ट में जजों की नियुक्ति: 
- जून 2018 में भेजे गये थे डीजे कोटे से कुल 11 नाम
- डीजे अभय चतुर्वेदी, नरेन्द्रसिंह ढ्डढा, डीजे देवेन्द्र कच्छवाहा, डीजे सतीश शर्मा, प्रभा शर्मा, मनोज कुमार व्यास, रामेश्वर व्यास, देवेन्द्र जोशी, सी के सोनगरा, अनुप कुमार सक्सैना, और हेमंत कुमार जैन के नाम भेजे गये थे सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम को
- 1 अप्रैल 2019 को डीजे अभय चतुर्वेदी और डीजे एन एस ढ्डडा की हुई नियुक्ति
- वहीं 9 नाम रिकसीडरेशन के लिए भेजे गये थे वापस
- अब सुप्रीम कोर्ट ने 6 नाम के लिए केन्द्र को भेजी है सिफारिश

राजस्थान हाईकोर्ट कॉलेजिमय ने 28 मई 2018 को डीजे के साथ 9 अधिवक्ताओं के नाम की सिफारिश भी सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम को भेजी थी. हाईकोर्ट कॉलेजियम ने जयपुर हाईकोर्ट के महेन्द्र गोयल, संजय झवर, अनिता अग्रवाल, अश्विन गर्ग, अनुराग शर्मा सहित 5 अधिवक्ताओं के नाम भेजे थे. वहीं जोधपुर मुख्यपीठ से फरजंद अली, सचिन आचार्य, मनीष सिसोदिया और राजीव पुरोहित के नाम सुप्रीम कोर्ट को भेजे थे.

राजस्थान हाईकोर्ट में जजो की नियुक्ति मामला:
- जून 2018 में भेजे गये थे 9 अधिवक्ताओं के नाम
- महेन्द्र गोयल, अनिता अग्रवाल, संजय झवर, अश्विनी गर्ग, अनुराग शर्मा, मनीष सिसोदिया, सचिन आचार्य, राजेश राजपुरोहित और एडवोकेट फरजंद अली का भेजा गया था नाम
- 5 नवंबर 2019 को हुई थी महेन्द्र गोयल की नियुक्ति
- मनीष सिसोदिया के नाम को किया था रिकंसीडर
- रिकंसीडरेशन के बाद अब कॉलेजियम ने की सिफारिश
- सिसोदिया के नाम की केन्द्र को भेजी है सिफारिश
- फरजंद अली की फाइल है फिलहाल कानून मंत्रालय में

25 जुलाई 2019 को सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने एडवोकेट फरजंद अली और महेन्द्र गोयल के नाम की सिफारिश करते हुए  6 अधिवक्ताओं के नाम राजस्थान हाईकोर्ट को वापस लौटा दिये थे. वहीं जोधपुर के अधिवक्ता मनीष सिसोदिया का नाम डेफर किया. केन्द्र सरकार द्वारा 5 नवंबर 2019 को महेन्द्र गोयल की नियुक्ति राजस्थान हाईकोर्ट जज के रूप में कि गयी. वहीं एडवोकेट फरजंद अली के नाम की फाइल आज भी कानून मंत्रालय में पेडिंग है. रिकंसीडरेरशन के बाद मनीष सिसोदिया का नाम पुन सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम को भेजा गया था जिसे अब कॉलेजिमय ने नियुक्ति के लिए केन्द्र के पास भेज दिया है.

वर्तमान में जजों के स्वीकृत 50 पदों पर 21 जज ही कार्यरत:
राजस्थान हाईकोर्ट में वर्तमान में जजों के स्वीकृत 50 पदों पर 21 जज ही कार्यरत है. सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम की सिफारिश को केन्द्र की मंजूरी पर मिलने पर ये संख्या 28 तक पहुंच पायेगी. इसके बाद भी हाईकोर्ट में जजों की संख्या 50 प्रतिशत से कुछ अधिक ही रहेगी. माना जा रहा है रिक्त 22 पदों के लिए राजस्थान हाईकोर्ट अगले सप्ताह या फरवरी के प्रथम सप्ताह में नए नाम की सिफारिश कर सकता है. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in