Live News »

Reliance AGM: रिलायंस इंडस्‍ट्रीज ने किया अब तक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश

Reliance AGM: रिलायंस इंडस्‍ट्रीज ने किया अब तक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश

मुंबई: रिलायंस इंडस्ट्रीज को अब तक का सबसे बड़ा निवेश मिला है. अपनी 42वीं ऐनुअल जनरल मीटिंग(AGM) में रिलायंस इंडस्ट्रीज(RIL) के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने बताया कि RIL के ऑयल और केमिकल डिविजन में सऊदी अरब की कंपनी ''सऊदी अरेमेको'' 20 फीसदी का निवेश करेगी. एनुअल जनरल मीटिंग को संबोधित करते हुए मुकेश अंबानी ने बताया कि विदेशी निवेश के मामले में हमने एक नया मुकाम हासिल किया है. इसके लिए वह 75 बिलियन डॉलर खर्च करेगी.

अब तक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश: 
मुकेश अंबानी ने कहा कि यह देश के लिए भी अब तक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश है. आरआईएल और अरामको के बीच हुई इस डील के मुताबिक, रिलायंस के O2C बिजनस में सऊदी अरामको 20 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी. ऑयल टू बिजनस डिविजन में रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स बिजनस आते हैं. रिलायंस को इस कारोबार में वित्त वर्ष 2019 में 5.7 लाख करोड़ रुपये की आमदनी हुई.

कंपनी के अलग-अलग सेग्‍मेंट ग्रोथ की जानकारी दी: 
मुकेश अंबानी ने कंपनी के अलग-अलग सेग्‍मेंट ग्रोथ की जानकारी दी. उन्‍होंने बताया कि ऑयल एंड गैस के अलावा जियो और रिटेल ग्रोथ के प्रमुख इंजन हैं. रिलायंस के रिटेल बिजनेस और जियो ने आलोचकों को गलत साबित किया. ये दोनों अपने-अपने सेग्मेंट में टॉप 10 कंपनियों में शामिल हैं.

मुनाफे के मामले में अरामको विश्व की सबसे बड़ी कंपनी: 
इस डील के बाद अरामको लंबे समय तक कंपनी की जामनगर रिफाइनरी को रोजाना 5,00,000 बैरल क्रूड सप्लाई करेगी, जो दुनिया की सबसे बड़ी रिफाइनरी है. सऊदी अरामको सऊदी अरब की नैशनल पेट्रोलियम ऐंड गैस कंपनी है, जो आमदनी के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है. मुनाफे के मामले में अरामको विश्व की सबसे बड़ी कंपनी है.  

और पढ़ें

Most Related Stories

शराब के शौकीनों को बड़ा झटका, जानिए राजस्थान में कितनी महंगी हुई बीयर और शराब

शराब के शौकीनों को बड़ा झटका, जानिए राजस्थान में कितनी महंगी हुई बीयर और शराब

जयपुर: राजस्थान सरकार ने शराब पर सरचार्ज के लिए अधिसूचना जारी कर दी है. राज्य सरकार ने 1 माह में दूसरी बार शराब के दाम बढ़ाए है. अब शराब पर सरचार्ज से आपदाओं से संघर्ष होगा. राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी की है. सूखा,बाढ़,महामारी,जन स्वास्थ्य,आगजनी के नाम पर सरचार्ज लगाया है. शराब की विभिन्न पैकिंग पर 5रुपए से 20रुपए तक सरचार्ज लगाया है.

भरतपुर के पहाड़ी में ACB की कार्रवाई, JTA रविन्द्र कुमार को 5 हजार की रिश्वत लेते दबोचा 

शराब पर सरचार्ज के लिए राज्य सरकार की अधिसूचना:
-अंग्रेजी शराब के पव्वे पर 5रुपए
-अद्धे पर 5रुपए, बोतल पर 10रुपए
-ब्रीज़र पर 5रुपए, मिनिएचर व अन्य पैलललकिंग पर 5रुपए
-बीयर बोतल पर 20 रुपए
-छोटी बीयर पर 5रुपए, 
-500ml बीयर पर 20 रुपए
-देसी शराब पर 1.50 रुपए 
-RML पर 1.50 रुपए सरचार्ज
-सरकार ने 1 महीने में दूसरी बार बढ़ाए शराब के दाम

मुकुंदरा से आई खुशखबरी, बाघिन MT-2 ने दिया दो शावकों को जन्म, मुख्यमंत्री गहलोत ने जताई खुशी

CII: पीएम मोदी ने कहा- मैं आपके साथ, आप एक कदम आगे बढ़ाइए, सरकार चार कदम आगे बढ़ाएगी

CII: पीएम मोदी ने कहा- मैं आपके साथ, आप एक कदम आगे बढ़ाइए, सरकार चार कदम आगे बढ़ाएगी

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के सालाना कार्यक्रम को संबोधित किया. पीएम मोदी का संबोधन ऐसे समय पर हुआ जब लॉकडाउन की पाबंदियों में ढील के साथ ही कंपनियां परिचालन शुरू करने लगी हैं और कारखाने खुलने लगे हैं. इस दौरान पीएम ने कारोबारियों को भरोसा दिया कि वो उनके साथ हैं, आप एक कदम आगे बढ़ाइए, सरकार चार कदम आगे बढ़ाएगी.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कोरोना मौतों का दोहरा शतक ! पिछले 12 घंटे में 2 मौतें, 171 नए पॉजिटिव आए सामने 

मुझे भारत की क्षमता और आपदा प्रबंधन पर भरोसा:  
पीएम ने कहा कि मुझे भारत की क्षमता और आपदा प्रबंधन पर भरोसा है. मुझे भारत के प्रतिभा और प्रौद्योगिकी पर भरोसा है. मुझे भारत के नवाचार और बुद्धि पर भरोसा है. मुझे भारत के किसान, एमएसएमई, उद्यमी पर भरोसा है. कोरोना महामारी को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना ने हमारी गति जितनी भी धीमी की हो, लेकिन आज देश की सबसे बड़ी सच्चाई यही है कि भारत, लॉकडाउन को पीछे छोड़कर अनलॉक फेज 1 की तरफ बढ़ चुका है. इसमें अर्थव्यवस्था का बहुत बड़ा हिस्सा खुल चुका है.

CII हर सेक्टर को लेकर एक रिसर्च तैयार करे और प्लान मुझे दे:
PM ने कहा कि आज से तीन महीने पहले देश में एक भी PPE किट नहीं बनती थी, लेकिन आज रोज तीन लाख किट बन रही हैं. आत्मनिर्भर भारत से जुड़ी हर जरूरत का ध्यान सरकार रखेगी. PM ने कहा कि CII हर सेक्टर को लेकर एक रिसर्च तैयार करे और प्लान मुझे दे.

आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए 5 चीजें बहुत जरूरी:
पीएम ने कहा कि भारत को फिर से उछाल विकास के पथ पर लाने के लिए, आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए 5 चीजें बहुत जरूरी हैं. इंटेंट, इंक्लूजन, इन्वेस्टमेंट, इन्फ्रास्ट्रक्चर और इनोवेशन. हाल में जो बोल्ड फैसले लिए गए हैं, उसमें भी आपको इन सभी की झलक मिल जाएगी.

युवाओं के लिए भी नए अवसर खुलेंगे:
सरकार जिस दिशा में बढ़ रही है, उसके साथ हमारा खनन क्षेत्र हो, ऊर्जा क्षेत्र हो, या अनुसंधान और प्रौद्योगिकी हो, हर क्षेत्र में उद्योग को भी अवसर मिलेंगे, और युवाओं के लिए भी नए अवसर खुलेंगे.

VIDEO: लॉक डाउन के बाद और अनलॉक 1.0 की संभावनाओं को लेकर First India पर बोले सीएस डीबी गुप्ता  

74 करोड़ लोगों के घर तक राशन पहुंचाया गया:
पीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 74 करोड़ लोगों के घर तक राशन पहुंचाया गया, प्रवासी श्रमिकों के लिए मुफ्त राशन दिया जा रहा है. अबतक गरीब परिवारों को 53 हजार करोड़ रुपये उनके खाते में दी जा चुकी है.
 

जयपुर एयरपोर्ट पर बढ़ा फ्लाइट संचालन, कोलकाता, आगरा, गुवाहाटी के लिए फ्लाइट शुरू

जयपुर एयरपोर्ट पर बढ़ा फ्लाइट संचालन, कोलकाता, आगरा, गुवाहाटी के लिए फ्लाइट शुरू

जयपुर: जयपुर एयरपोर्ट से सोमवार से फ्लाइट संचालन में बढ़ोतरी देखी जा रही है. सोमवार से तीन नए शहरों के लिए फ्लाइट्स शुरू हुई हैं. जयपुर से कोलकाता, आगरा और गुवाहाटी के लिए फ्लाइट्स शुरू हो गई हैं. हालांकि फ्लाइट्स के संचालन की शुरुआत 25 मई से हुई थी, लेकिन अभी तक इन तीनों शहरों के लिए एक भी फ्लाइट संचालित नहीं हो सकी थी. सोमवार से इंडिगो ने कोलकाता के लिए, स्पाइसजेट ने गुवाहाटी के लिए और एयर इंडिया ने आगरा के लिए फ्लाइट शुरू कर दी हैं.

स्पाइसजेट ने बढ़ाई फ्लाइट्स की संख्या:
स्पाइसजेट ने आज से मुम्बई के लिए भी फ्लाइट शुरू कर दी है. देश में कई एयरपोर्ट से गो एयर ने आज से फ्लाइट शुरू कर दी हैं, लेकिन जयपुर एयरपोर्ट से गो एयर ने अभी फ्लाइट संचालन शुरू नहीं किया है. आपको बता दें कि चार एयरलाइंस ने जयपुर एयरपोर्ट से कुल 20 फ्लाइट्स का शेड्यूल दिया हुआ है, इनमें से आज 7 फ्लाइट रद्द हैं, जबकि 13 फ्लाइट संचालित हो रही हैं.

निजी अस्पतालों के लिए एडवाइजरी जारी, कोरोना मरीजों का फ्री इलाज, अन्यथा होगी सख्त कार्रवाई 

जयपुर एयरपोर्ट से 7 फ्लाइट रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 5:40 बजे सूरत जाने वाली फ्लाइट SG-2763 हुई रद्द
- इंडिगो की सुबह 6:10 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट 6E-839 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 7:20 बजे जालंधर जाने वाली फ्लाइट SG-2750 हुई रद्द
- एयर एशिया की सुबह 9:15 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट I5-1721 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 10 बजे उदयपुर जाने वाली फ्लाइट SG-6632 हुई रद्द
- इंडिगो की दोपहर 12:40 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट 6E-498 हुई रद्द
- एयर इंडिया की शाम 5 बजे दिल्ली जाने वाली फ्लाइट AI-492 हुई रद्द

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट 

राजस्थान में राज्यसभा चुनाव की बिछी चौसर, तीन सीटों पर चार उम्मीदवार मैदान में 

VIDEO: आज से खुलेंगे प्रदेश के टाइगर रिजर्व और सफारी, टूरिज्म इंडस्ट्री में एक बार फिर बूम आने की उम्मीद

जयपुर: ढाई महीने लॉक डाउन में रहने के बाद आखिर जंगलात को पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है. रणथंभौर, सरिस्का के अलावा सभी वाइल्डलाइफ सफारी, बायोलॉजिकल पार्क और चिड़ियाघर में पर्यटक अब पहले की तरह आ जा सकेंगे. राजधानी जयपुर में भी तीनों सफारी आज से शुरू हो जाएंगी. माना जा रहा है कि सरकार का यह कदम कोरोना पर आखिर पर्यटन की एक मजबूत जीत साबित होगा. 

 Lockdown 5.0: Unlock 1 होने का आगाज, राजस्थान में मिलेंगी कई तरह की छूट, ये अब भी बंद रहेंगे  

- आज से खुलेंगे प्रदेश के टाइगर रिजर्व और सफारी
- वाइल्डलाइफ सफारी टाइगर रिजर्व और अन्य संरक्षित क्षेत्र के लिए  एसओपी
- वाइल्डलाइफ क्षेत्र में प्रवेश से पहले होगी थर्मल स्क्रीनिंग
- वर्ल्ड लाइव क्षेत्र में प्रवेश के लिए मांस व दस्ताने पहनना अनिवार्य
- पर्यटक वाहनों में भी सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी 
- सभी सफारी वाहनों का लगातार किया जाएगा सैनिटाइजेशन
- रोटेशन के आधार पर लगाई जाएगी स्टाफ की ड्यूटी
- एक फार्म बी भरना होगा जो गाइड और चालकों द्वारा भरा जाएगा 
- फार्म गाइड, ड्राइवर और पर्यटक का पूरा होगा ट्रैक रिकॉर्ड
- चिड़ियाघर बायोलॉजिकल पार्क और हाथी गांव के लिए एसओपी
- सभी वन कर्मियों की टूरिज्म लोकेशन पर होगी थर्मल स्क्रीनिंग 
- मास्क, दस्ताने और सैनिटाइजर का किया जाएगा उपयोग
- थोड़े-थोड़े अंतराल पर सोडियम हाइपोक्लोराइट का होगा छिड़काव 
- वॉशरूम और पेयजल पॉइंट पर रखा जाएगा खास ध्यान 
- रिसेप्शन क्षेत्र बैठने का क्षेत्र पर एक से डेढ़ मीटर की रखी जाएगी दूरी 
- ज्यादा भीड़ होने पर पर्यटन गतिविधि को रोका जाएगा 
- विजिटर बुक का संधारण होगा पता और मोबाइल नंबर लिखा जाएगा 
- कोविड-19 संदिग्ध के प्रवेश पर रहेगा प्रतिबंध
- ऑनलाइन टिकटिंग का अधिक उपयोग सुनिश्चित किया जाए 
- प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजर की होगी व्यवस्था 
- सेल काउंटर पर सैनिटाइजर, सेफ्टी किट, मास्क, दस्ताने  की होगी व्यवस्था 
- रेस्टोरेंट व अन्य दुकानों के लिए भी सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी 
- पर्यटक के पास आरोग्य सेतु एप होना जरूरी 
- 4 घंटे से ज्यादा पर्यटक नहीं रह पाएगा अंदर 
- चिड़ियाघर, बायोलॉजिकल पार्क और हाथी गांव के धार्मिक स्थल रहेंगे बंद

जंगलात में स्वच्छंद घूमते बाघ-बाघिन, भालू, पैंथर सहित अन्य वन्यजीवों की आकर्षित करती खेलें एक बार फिर पर्यटकों का मनोरंजन करने को तैयार हैं. कोविड-19 संक्रमण के चलते 18 मार्च को बंद किए गए प्रदेश के सभी टाइगर पार्क, सफारी, नेशनल पार्क, बायोलॉजिकल पार्क, चिड़ियाघर कल से खुल रहे हैं. राजधानी जयपुर में भी तीनों सफारी एक बार फिर शुरू हो रही हैं. हाथी गांव में हाथी सफारी, नाहरगढ़ में लॉयन सफारी और झालाना की विश्व प्रसिद्ध लेपर्ड सफारी पूरी तरह तैयार हैं. चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन अरिंदम तोमर ने केंद्र व राज्य सरकार की अनुमति मिलने के बाद प्रदेश के जंगलात को कल से पर्यटकों के लिए खोलने के आदेश जारी कर दिए हैं. केंद्र द्वारा जारी एसओपी के मुताबिक पर्यटक एक सख्त गाइडलाइन को फॉलो करते हुए नेशनल पार्क टाइगर पार्क और सफारी में प्रवेश कर सकते हैं.

टिकट दर में कोई बदलाव नहीं किया: 
रणथंभौर और सरिस्का सहित तमाम राष्ट्रीय उद्यान, टाइगर प्रोजेक्ट, बायोलॉजिकल पार्क और चिड़ियाघर में टिकट दर में कोई बदलाव नहीं किया है. पर्यटक अधिकतम 4 घंटे ही अंदर रह सकते हैं. इसके लिए भी मास्क लगाना जरूरी होगा, दस्ताने पहनने होंगे. एक ट्रैकिंग रजिस्टर भी मेंटेन किया जाएगा जिसमें सफारी संचालक गाइड और पर्यटक की तमाम डिटेल होगी. सैनिटाइजेशन और अन्य व्यवस्था भी पूरी तरह से चाक चौबंद रहेंगी. नेशनल पार्क को दोबारा शुरू किया जाने को लेकर सरिस्का फाउंडेशन के सचिव दिनेश दुर्रानी ने खुशी जाहिर की है और पर्यटकों से अपील की है कि वे गाइडलाइन को फॉलो करें ताकि पर्यटन तेजी से मुख्यधारा में आए. वहीं जयपुर चिड़ियाघर के डीसीएफ सुदर्शन शर्मा ने भी आज तमाम व्यवस्थाओं का जायजा लिया.

टूरिज्म इंडस्ट्री में एक बार फिर बूम आने की उम्मीद: 
करीब ढाई महीने बाद टाइगर रिजर्व नेशनल पार्क और तमाम जंगलात में होने वाली गतिविधियां शुरू होने से पर्यटन क्षेत्र को मजबूती मिलेगी. 1 जून से खुल रहे जंगलात को लेकर तमाम स्टेकहोल्डर्स में खुशी की लहर दौड़ गई है. दरअसल लॉक डाउन के चलते इस इंडस्ट्री को तकरीबन 10 करोड रूपए रोजाना का नुकसान उठाना पड़ रहा था. बहुत सारे जिप्सी संचालक, गाइड और होकर वेंडर अपनी रोजी-रोटी के लिए संघर्ष कर रहे थे. अब 8 जून से होटल रेस्टोरेंट खोलने को भी मंजूरी दे दी है. ऐसे में जंगलात से जुड़ी टूरिज्म इंडस्ट्री में एक बार फिर बूम आने की उम्मीद की जा रही है. हालांकि ऑफ सीजन के चलते अभी पर्यटकों की संख्या कम ही रहेगी. वैसे भी कोरोना संक्रमण में कोई उल्लेखनीय कमी नहीं आई है ऐसे में विदेशी पर्यटकों का आना तो अभी संभव नहीं ऐसे में पर्यटन उद्योग की नजरें घरेलू सैलानियों की तरफ है. दूसरी ओर वन्यजीव विशेषज्ञ टाइगर रिजर्व और जंगलात से जुड़ी पर्यटन गतिविधियां शुरू होने को लेकर उत्साहित हैं वन्यजीव विशेषज्ञ अनिल रोजर्स का कहना है कि पर्यटकों को सख्त गाइडलाइन का पालन करना होगा. इसके दो फायदे होंगे एक तो टाइगर रिजर्व सफारी और अन्य गतिविधियों में पर्यटकों का प्रवेश सीमित रहेगा. इससे ना तो वन्यजीवों को परेशानी होगी और ना ही महकमे को उनको नियंत्रित करने में मशक्कत करनी पड़ेगी. दूसरा सरकार को भी राजस्व मिलेगा इससे पर्यटन तेजी से मुख्यधारा में आएगा. झालाना लेपर्ड सफारी के रेंजर जनेश्वर सिंह का कहना है कि तमाम व्यवस्थाएं कर ली गई है पर्यटन शुरू होने से एक बार फिर हालात सामान्य होंगे इसका फायदा वन्य जीव और पर्यटन दोनों को होगा. 

UNLOCK-1: राजस्थान में होगी सार्वजनिक बस सेवा शुरू, कंटेनमेंट जोन को छोड़कर चलाई जाएगी बसें

देश में पर्यटन को शुरू करना निश्चित तौर पर स्वागत योग्य कदम:
कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि सामान्य जनजीवन की ओर बढ़ रहे देश में पर्यटन को शुरू करना निश्चित तौर पर स्वागत योग्य कदम है. कोरोना पर जीत के लिए जरूरी है कि गाइडलाइन को फॉलो करते हुए तेजी से मुख्यधारा की ओर बढ़ा जाए. इससे न केवल इस क्षेत्र से जुड़े लोगों का रोजगार बचेगा वरन सरकार को भी राजस्व मिलेगा. 

जयपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट संचालन का सातवां दिन, कुल 8 फ्लाइट हुई संचालित, 12 रही रद्द

जयपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट संचालन का सातवां दिन, कुल 8 फ्लाइट हुई संचालित, 12 रही रद्द

जयपुर: जयपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट्स का संचालन शुरू हुए रविवार को 7 दिन हो चुके हैं. हालांकि फ्लाइट के संचालन की संख्या नहीं बढ़ पा रही है. रविवार को भी एयरपोर्ट से 20 फ्लाइट में से मात्र 8 फ्लाइट संचालित हुई. जबकि 12 फ्लाइट का संचालन निरस्त करना पड़ा. सर्वाधिक 6 फ्लाइट स्पाइसजेट एयरलाइन की रद्द हुई. इसके अलावा दूसरी सबसे ज्यादा फ्लाइट इंडिगो की रद्द रही.

फ्लाइट्स कम संख्या में संचालित: 
इंडिगो की कुल 6 फ्लाइट में से केवल 2 फ्लाइट संचालित हुई और 4 का संचालन रद्द करना पड़ा. यात्रीभार की कमी की वजह से फ्लाइट्स कम संख्या में संचालित हो रही हैं. रविवार को एयर इंडिया ने भी आगरा और दिल्ली की अपनी दो फ्लाइट रद्द कर दी. हालांकि सोमवार से फ्लाइट के संचालन में सुधार होने के संकेत हैं. सोमवार से कोलकाता की एकमात्र फ्लाइट भी नियमित रूप से संचालित होगी.

UNLOCK-1: राजस्थान में होगी सार्वजनिक बस सेवा शुरू, कंटेनमेंट जोन को छोड़कर चलाई जाएगी बसें

-जयपुर एयरपोर्ट से आज 12 फ्लाइट रद्द, मात्र 8 चल रहीं
-स्पाइसजेट की सुबह 5:45 बजे सूरत की फ्लाइट SG-2763 रद्द
-स्पाइसजेट की सुबह 7:20 बजे जालंधर की फ्लाइट SG-2750 रद्द
-इंडिगो की सुबह 6:40 बजे मुंबई की फ्लाइट 6E-218 हुई रद्द
-इंडिगो की सुबह 6:10 बजे बेंगलुरु की फ्लाइट 6E-839 रद्द
-एयर इंडिया की सुबह 7:35 बजे आगरा की फ्लाइट 9I-687 रद्द
-एयर इंडिया की सुबह 10:45 बजे दिल्ली की फ्लाइट 9I-844 रद्द
-इंडिगो की शाम 4:45 बजे कोलकाता की फ्लाइट 6E-6156 रद्द
-स्पाइसजेट की सुबह 8 बजे मुंबई की फ्लाइट SG-279 हुई रद्द
-स्पाइसजेट की सुबह 9:45 बजे उदयपुर की फ्लाइट SG-6632 रद्द
-स्पाइसजेट की दोपहर 2:15 बजे गुवाहाटी की फ्लाइट SG-448 रद्द
-इंडिगो की शाम 8:05 बजे हैदराबाद की फ्लाइट 6E-471 रद्द
-स्पाइसजेट की दोपहर 3:30 बजे की फ्लाइट SG-6636 रद्द

UNLOCK-1: यूपी सरकार की गाइडलाइंस जारी, 8 जून से सभी शॉपिंग मॉल और धार्मिक स्थलों को खोलने की मंजूरी

UNLOCK-1: राजस्थान में होगी सार्वजनिक बस सेवा शुरू, कंटेनमेंट जोन को छोड़कर चलाई जाएगी बसें

जयपुर: अनलॉक-1 को लेकर राजस्थान सरकार की ओर से ACS होम राजीव स्वरूप ने की गाइडलाइंस जारी की. गाइडलाइंस के मुताबिक कंटेनमेंट जोन में किसी भी प्रकार की छूट नहीं दी जाएगी. ACS होम राजीव स्वरूप ने कहा कि प्रदेश में सार्वजनिक बस सेवा होगी की जाएगी. कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बस सेवा शुरू होगी. अपने-अपने तय रूट पर सभी बसें चलेंगी. फिलहाल सिटी बसों का नहीं संचालन होगा. इससे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत ने नई गाइडलाइन पर मुहर लगाई. ACS राजीव स्वरूप ने CM गहलोत से अप्रूवल ली. रविवार को सीएम गहलोत के पास राजीव स्वरूप ड्राफ्ट लेकर गए थे. मुख्यमंत्री गहलोत के साथ विभिन्न मुद्दों पर लंबा डिस्कशन चला. जिसके बाद राजीव स्वरूप ने गाइडलाइन जारी की. 

रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक जारी रहेगा नाइट कर्फ्यू:
अनलॉक-1 को लेकर राजस्थान सरकार की ओर से गाइडलाइंस जारी की गई, जिसमें बताया गया कि कंटेनमेंट जोन में किसी भी प्रकार की छूट नहीं मिलेगी. बफर जोन में जिला प्रशासन नियम तय करेगा. प्रदेश में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा. स्कूल,कॉलेज,30 जून तक बंद रहेंगे. मेट्रो सेवा,मॉल,स्वीमिंग पूल, जिम, सिनेमा बंद रहेंगे. 

चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने प्रदेशवासियों से की अपील, तंबाकू,पान मसाला,अन्य व्यसनकारी पदार्थों को छोड़ने की अपील

सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यक्रम नहीं होंगे:
गाइडलाइन के मुताबिक सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यक्रम आयोजित नहीं होंगे. सार्वजनिक स्थल पर शराब,पान,धूम्रपान करना वर्जित रहेगा. सार्वजनिक स्थल पर थूकने पर जुर्माना लगेगा. धार्मिक स्थल,मॉल बंद रहेंगे. बुजुर्ग,गर्भवती महिला,बच्चों को घर में रहने की सलाह दी गई. छोटी दुकानों के अंदर 2, बड़ी दुकानों में 5 व्यक्ति एक साथ आ सकते है. 

सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं करने पर लगेगा जुर्माना:
गाइडलाइंस के मुताबिक सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं करने पर जुर्माना लगेगा. विवाह समारोह की SDM को सूचना देनी होगी. विवाह समारोह में 50 से ज्यादा मेहमानों पर पाबंदी रहेगी. अंतिम संस्कार में 20 से ज्यादा लोग शामिल नहीं हो सकते है. सरकारी कार्यालय पूर्ण क्षमता के साथ खुलेंगे. प्रत्येक व्यक्ति को अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी. घर से बाहर निकलने पर मास्क लगाना अनिवार्य होगा. 

अब जयपुर के प्रतापनगर RUHS और सांगानेरी गेट महिला अस्पताल में मिलेगा कोरोना का उपचार

जयपुर जंक्शन पर 1 जून से चलेंगी 7 स्पेशल ट्रेनें, प्लेटफार्म नंबर 1 से ही होगा यात्रियों का प्रवेश और निकास

जयपुर: देश में अभी तक केवल 30 स्पेशल ट्रेनें और श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं. लेकिन 1 जून से रेलवे की गति बढ़ जाएगी. देशभर में 1 जून से 200 स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन शुरू किया जाएगा. जयपुर जंक्शन से भी 7 स्पेशल ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा. इस दौरान किस तरह से यात्रियों को करनी होगी नए नियमों की पालना और कैसी स्टेशन पर व्यवस्था रहेगी. 1 जून से जयपुर जंक्शन पर आते-जाते वक्त 14 स्पेशल ट्रेनें रुकेंगी. दरअसल इन 200 स्पेशल ट्रेनों में 7 ट्रेनें ऐसी हैं जो कि जयपुर जंक्शन से होकर संचालित होंगी. यानी 14 स्पेशल ट्रेनें आते-जाते वक्त जयपुर जंक्शन पर रुकेंगी. ट्रेन में यात्रियों को अलग-अलग गेट से उतरना और चढ़ाना होगा.

मनरेगा श्रमिकों का कार्य समय कम किया जाये, डिप्टी CM सचिन पायलट ने लिखा केन्द्र को पत्र

स्टेशन पर एंट्री के लिए रहेगा एक ही गेट:
प्लेटफॉर्म पर यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ लाइन में लगकर स्टेशन के अंदर और बाहर आना-जाना होगा. सोशल डिस्टेंसिंग के लिए एंट्री गेट से लेकर प्लेटफॉर्म तक पीले व सफेद रंग के पेंट से गोले बनाए गए हैं. अधिकांश ट्रेनों का संचालन प्लेटफॉर्म संख्या 1 से ही किया जाएगा. विशेष परिस्थिति में ही ट्रेनों को प्लेटफॉर्म संख्या 3 पर लिया जाएगा. यानी आठ प्लेटफॉर्म वाले स्टेशन पर सिर्फ दो प्लेटफॉर्म से ही ट्रेनों का संचालन किया जाएगा. स्टेशन पर एंट्री के लिए एक ही गेट रहेगा. जबकि एग्जिट के लिए दो गेट होंगे. आने-जाने वाले सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ एंट्री और एग्जिट कराया जाएगा. सभी यात्रियों को दो घंटे पहले स्टेशन पहुंचना होगा. यात्री में कोरोना के लक्षण दिखने पर यात्रा करने से रोक दिया जाएगा. बाहर निकलने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग प्लेटफॉर्म-1 के मजिस्ट्रेट गेट के सामने वाले और कॉनकोर्स हॉल वाले एग्जिट गेट पर बने काउंटर्स पर होगी.

जयपुर जंक्शन से ये 7 ट्रेनें चलेंगी
- 02477-78, जयपुर-जोधपुर-जयपुर रोजाना चलेगी
- 02916-15, दिल्ली-अहमदाबाद-दिल्ली आश्रम एक्सप्रेस रोजाना चलेगी
- 02955-56, मुंबई सेंट्रल-जयपुर-मुंबई रोजाना चलेगी
- 09167-68, अहमदाबाद-वाराणसी-अहमदाबाद साबरमती एक्सप्रेस, सप्ताह में 4 दिन चलेगी
- 02307-08, हावड़ा-जोधपुर-हावड़ा एक्सप्रेस, रोजाना चलेगी
- 02065-66, अजमेर-दिल्ली सराय-अजमेर जनशताब्दी, सप्ताह में 5 दिन चलेगी
- 02463-64, जोधपुर-दिल्ली सराय रोहिल्ला-जोधपुर संपर्क क्रांति, सप्ताह में 3 दिन चलेगी

8 जून से धार्मिक स्थलों को शर्तों के साथ खोलने की मंजूरी, गृह मंत्रालय की गाइडलाइन जारी

यात्रियों की गतिविधियों पर सीसीटीवी कैमरों से रखी जाएगी नजर:
1 जून से ट्रेनों का संचालन शुरू होने पर यात्रियों को प्लेटफार्म और वेटिंग हॉल में लगी कुर्सियों पर दूर-दूर बैठना पड़ेगा. इसकी निगरानी आरपीएफ व जीआरपी के जवान करेंगे. साथ ही यात्रियों की गतिविधियों पर सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जाएगी. वेटिंग हॉल में भी सीसीटीवी से मॉनिटरिंग की जाएगी. हसनपुरा की तरफ स्थित द्वितीय प्रवेश द्वार से यात्रियों का आवागमन पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा. स्टेशन पर केवल यात्री आ-जा सकेंगे. यात्रियों को लेने और छोड़ने आने वालों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. इसके अलावा एक महत्वपूर्ण बदलाव श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को लेकर किया जा सकता है. श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को शहर के सैटेलाइट स्टेशनों से चलाया जा सकता है. इन स्टेशनों में कनकपुरा, दुर्गापुरा, गांधीनगर, जगतपुरा, खातीपुरा स्टेशन शामिल हैं. हालांकि अगर दूसरी ट्रेनों के आने में समय का अंतराल होगा और प्लेटफॉर्म एक की उपलब्धता रहेगी, तो श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को भी जयपुर जंक्शन से चलाया जाएगा. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

पर्यटन क्षेत्र को मिलेगी संजीवनी,1 जून से खुलेंगे पर्यटन स्थल, शुरू में स्मारकों में प्रवेश रहेगा फ्री

जयपुर: राजस्थान की अर्थव्यवस्था की रीढ़ माने जाने वाले पर्यटन उद्योग के लिए लंबे इंतजार के बाद आज अच्छी खबर आई है. 1 जून से पर्यटन शुरू किया जा रहा है. जिसके तहत प्रदेश के सभी स्मारक, संग्रहालय, नेशनल पार्क, टाइगर प्रोजेक्ट और सफारी तथा बायो लॉजिकल पार्क पर्यटकों के लिए खोल दिए जाएंगे. हालांकि इस समय पर्यटन के लिहाज से ऑफ सीजन चल रहा है लेकिन सरकार के प्रयास है कि हैं कि ऑफ सीजन के दौरान इस तरह की गतिविधियां शुरू की जाएं कि पर्यटन आने वाले दिनों में दोबारा मुख्यधारा में लौट सके. ध्यान रहे पर्यटन उद्योग को हो रहे नुकसान को लेकर फर्स्ट इंडिया न्यूज़ लगातार खबर प्रसारित करता रहा है. फर्स्ट इंडिया न्यूज़ में ही सबसे पहले जून में पर्यटन शुरू होने के संकेत भी दे दिए थे.

पर्यटन उद्योग को प्रतिदिन 10 करोड़ से ज्यादा का हुआ नुकसान:
दरअसल कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश में पर्यटन उद्योग को 18 मार्च को लॉक डाउन कर दिया गया था. 31 मई को प्रदेश में पर्यटन को बंद हुए ढाई महीने हो जाएंगे. इस दौरान पर्यटन उद्योग को प्रतिदिन 10 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ है. 75 दिन के नुकसान का आकलन करें तो यह राशि 3500 करोड रुपए से ज्यादा की होती है. पर्यटन व्यवसाय से जुड़े तमाम स्टेक होल्डर जिनमें होटल, क्लब, बार, गाइड, ट्रांसपोर्ट, हस्तशिल्प, ज्वेलरी, इवेंट मैनेजमेंट के अलावा छोटे-छोटे वेंडर हॉकर सभी हाशिए पर आ गए हैं. विदेशी पर्यटकों की बात करें तो वर्ष 2021 तक की तमाम बुकिंग रद्द हो चुकी हैं. ट्रैवल ट्रेड से जुड़ी 10 हजार से ज्यादा छोटी बड़ी एजेंसी बंद हो चुकी हैं.

70 फ़ीसदी लोग प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से हुए बेरोजगार:
टूरिज्म ट्रेड से जुड़े 70 फ़ीसदी लोग प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से बेरोजगार हुए हैं. प्रदेश के पांच सितारा होटल से लेकर तमाम बजट होटल तक भारी घाटे में चले गए हैं. स्टाफ को या तो लंबी छुट्टी पर भेज दिया गया है या उनके वेतन में भारी कटौती की गई है. अब उम्मीद है तो सरकार से कि वह इस इंडस्ट्री को दोबारा से खड़ा करने के लिए न केवल रियायतें दे वरन आर्थिक पैकेज भी प्रदान करें. इस स्थिति को ध्यान में रखते हुए राज्य के पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह, पर्यटन विभाग की प्रमुख सचिव श्रेया गुहा, निदेशक डॉ भंवरलाल सहित तमाम अफसरों के साथ बैठकर एक रिवाइवल प्लान तैयार किया है. रिवाइवल प्लान केेे तहत ही शुरुआत में स्मारकों में पर्यटकों का प्रवेश निशुल्क रहेगा. इस मामले में स्टेट वाइल्डलाइफ बोर्ड के सदस्य और ट्री हाउस रिसॉर्ट के मालिक सुनील मेहता साफ कहते हैं कि लॉक डाउन के इंडस्ट्री पर दो तरह के प्रभाव पड़ेंगे. इंडस्ट्री को अरबों खरबों का नुकसान हुआ है लेकिन लॉक डाउन हटने के बाद भारत से बाहर जाने वाले पर्यटक नए पर्यटन स्थलों की ओर मुड़ेंगे, इससे राजस्थान सहित पूरे देश को फायदा भी होगा.

जयपुर एयरपोर्ट से हवाई यात्रा का पांचवां दिन, 20 में से मात्र 9 फ्लाइट का हुआ संचालन

विदेशी पर्यटकों का अगले डेढ़ दो साल तक भारत आना संभव नहीं:
दरअसल भारत से करीब सवा करोड़ लोग हर साल विदेश भ्रमण के लिए जाते हैं. इसी तरह करीब 65 लाख विदेशी हर साल भारत घूमने आते हैं. कोविड-19 के चलते विदेशी पर्यटकों का अगले डेढ़ दो साल भारत आना संभव नहीं लगता. ऐसे में हालात सामान्य होने पर अगले एक-दो महीने में भारत से बाहर जाने वाले पर्यटकों को देश में ही सुरक्षित और प्राकृतिक नजारों से लबरेज नए पर्यटन स्थलों की तलाश रहेगी. पर्यटन उद्योग को इस स्थिति का ही लाभ उठाना है. घरेलू पर्यटकों को बेहतर और सुरक्षित सुविधाओं के साथ ऐसे पर्यटन स्थलों पर स्टे कराना चाहिए जो अभी मुख्यधारा में नहीं रहे. इसके लिए प्रदेश का पर्यटन महकमा पिछले 2 वर्ष से काफी मेहनत भी कर रहा है विभाग की प्रमुख सचिव श्रेया गुहा और उनकी टीम ने प्रदेश में नए पर्यटन स्थलों की तलाश की है और वहां आधारभूत सुविधाओं के विकास के भी प्रयास किए जा रहे हैं.

लॉकडाउन के बाद दोबारा से मुख्यधारा में लाना बड़ी चुनौती:
पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने भी साफ तौर पर कहा है कि पर्यटन को लॉक डाउन के बाद दोबारा से मुख्यधारा में लाना बड़ी चुनौती तो है लेकिन इसे एक अवसर के तौर पर देखना चाहिए। विश्वेंद्र सिंह ने सरकार से भी मांग की है कि इंडस्ट्री को दोबारा मजबूती से खड़ा करने के लिए सरकार जितने पैकेज, रियायत व अन्य तरह से मदद कर सकती है वह जल्दी से जल्दी करनी चाहिए. सूत्रों की मानें तो राज्य सरकार ने जो टूरिज्म इंडस्ट्री के लिए रिवाइवल प्लान तैयार किया है उसके तहत होटल इंडस्ट्री को टैक्स में छूट दी जा सकती है. पर्यटन स्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग ध्यान रखते हुए उन्हें शुरू किया जा रहा है. पर्यटन स्थलों पर प्रवेश शुल्क में कमी की गई है. विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के जरिए प्रदेश के पर्यटन उत्पादों का प्रचार-प्रसार भी तेजी से शुरू किया जाएगा. बहरहाल लॉक डाउन से नुकसान को लेकर टूर ऑपरेटर हो या फिर फॉरेन एक्सचेंजर सभी में भारी निराशा के भाव हैं.

प्रदेश की अर्थव्यवस्था के सबसे मजबूत स्तंभ:
कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि प्रदेश की अर्थव्यवस्था के सबसे मजबूत स्तंभ समझे जाने वाले पर्यटन उद्योग को जिस सरकारी संजीवनी की जरूरत कि वह मिल गई है. हालांकि अभी पैकेज की घोषणा नहीं हुई है लेकिन जिस तरह से 1 जून से प्रदेश में पर्यटन शुरू होने जा रहा है उससे उम्मीद की जा सकती है कि कोरोना से संघर्ष में टूरिज्म इंडस्ट्री ने जो दमखम दिखाया है निश्चित तौर पर राजस्थान उसमें सबसे आगे खड़ा दिखाई देगा.  

प्रवासियों के मूमेंट से बढ़ रहे कोरोना केस जल्द होंगे कम, राजस्थान में कोरोना के हालात को लेकर स्वास्थ्य भवन में समीक्षा

Open Covid-19