चंडीगढ़ Republic day 2022: पंजाब और हरियाणा में कड़ी सुरक्षा के बीच मनाया गया 73वां गणतंत्र दिवस, चन्नी बोले-आइए हम इन मूल्यों को बनाए रखने और उनकी रक्षा करने का संकल्प लें

Republic day 2022: पंजाब और हरियाणा में कड़ी सुरक्षा के बीच मनाया गया 73वां गणतंत्र दिवस, चन्नी बोले-आइए हम इन मूल्यों को बनाए रखने और उनकी रक्षा करने का संकल्प लें

Republic day 2022: पंजाब और हरियाणा में कड़ी सुरक्षा के बीच मनाया गया 73वां गणतंत्र दिवस, चन्नी बोले-आइए हम इन मूल्यों को बनाए रखने और उनकी रक्षा करने का संकल्प लें

चंडीगढ़: पंजाब और हरियाणा ने कड़ी सुरक्षा के बीच बुधवार को भारत का 73वां गणतंत्र दिवस मनाया. पुलिस और होमगार्ड की टुकड़ियों ने दोनों राज्यों के जिला मुख्यालयों और उनकी साझा राजधानी चंडीगढ़ में आयोजित परेड में हिस्सा लिया. पंजाब के राज्यपाल और केन्द्रशासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक बनवारीलाल पुरोहित ने मोहाली में एक राज्य स्तरीय समारोह में राष्ट्रीय ध्वज फहराया. 

आइए संविधान के चार प्रमुख स्तंभ समानता, न्याय, बंधुत्व और स्वतंत्रता की भावना को बनाए रखने और उसे बढ़ावा देने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने का संकल्प लें:

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने जालंधर में तिरंगा फहराया. हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने पंचकूला में राष्ट्रीय ध्वज फहराया, जबकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अंबाला में ध्वजारोहण किया. दत्तात्रेय ने ट्वीट किया, 73वें गणतंत्र दिवस पर, मैं हरियाणा और देश के लोगों को शुभकामनाएं देता हूं. आइए संविधान के चार प्रमुख स्तंभ समानता, न्याय, बंधुत्व और स्वतंत्रता की भावना को बनाए रखने और उसे बढ़ावा देने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने का संकल्प लें. हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने भी जींद में राष्ट्रीय ध्वज फहराया. दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी इस मौके पर लोगों को शुभकामनाएं दीं.

आइए हम इन मूल्यों को बनाए रखने और उनकी रक्षा करने का संकल्प लें: 

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने ट्वीट किया, 73वें गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई. संप्रभुता, समाजवाद, धर्मनिरपेक्षता, लोकतंत्र, न्याय, समानता, मानवीय गरिमा और एकता के मूल मूल्यों को याद रखना महत्वपूर्ण है, जो हमारे संविधान का आधार हैं. आइए हम इन मूल्यों को बनाए रखने और उनकी रक्षा करने का संकल्प लें. अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर गणतंत्र दिवस समारोहों में सीमित संख्या में लोगों ने भाग लिया और इस दौरान कोरोना वायरस से जुड़े सभी दिशानिर्देशों का पालन किया गया. साथ ही, गणतंत्र दिवस समारोहों के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे. सोर्स- भाषा

और पढ़ें