ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट के बाद कोहली के स्वदेश लौटने पर भारतीय खिलाड़ी महसूस करेंगे दबावः रिकी पोंटिंग

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट के बाद कोहली के स्वदेश लौटने पर भारतीय खिलाड़ी महसूस करेंगे दबावः रिकी पोंटिंग

सिडनी: ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग का मानना है कि करिश्माई कप्तान विराट कोहली के ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट के बाद स्वदेश लौटने पर भारतीय टीम अपने बल्लेबाजी क्रम को लेकर सुनिश्चित नहीं होगी. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने 32 साल के कोहली को पितृत्व अवकाश प्रदान किया है जिससे कि वह अपने पहले बच्चे के जन्म के दौरान अपनी पत्नी के साथ रह सकें.

पोंटिंग ने कहा-कोहली की गैरमौजूदगी से भारतीय खिलाड़ी महसूस करेंगे दबावः
क्रिकेट.कॉम.एयू ने पोंटिंग के हवाले से कहा कि कोहली की गैरमौजूदगी (तीन टेस्ट के लिए) में भारत के विभिन्न खिलाड़ी दबाव महसूस करेंगे क्योंकि उसकी बल्लेबाजी और नेतृत्व क्षमता की कमी खलेगी. उन्होंने कहा कि आपको लगता है कि (अजिंक्य) रहाणे कप्तानी की जिम्मेदारी संभालेंगे लेकिन इससे उन पर अतिरिक्त दबाव पड़ेगा और उन्हें बेहद महत्वपूर्ण चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए किसी और को ढूंढना होगा.

पोंटिंग ने कहा- कोहली के जाने पर कौन चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करेगाः
पोंटिंग ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि अब भी वे स्पष्ट हैं कि पहले टेस्ट में उनका बल्लेबाजी क्रम क्या होगा. कौर पारी का आगाज करेगा, कोहली के जाने पर कौन चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करेगा? भारतीय गेंदबाजी आक्रमण की अगुआई जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी करेंगे. इशांत शर्मा अगर इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान लगी चोट से उबर जाते हैं तो भारत उन्हें टीम में जगह देगा जबकि उमेश यादव और नवदीप सैनी भी भारत की टेस्ट टीम का हिस्सा हैं. पोंटिंग का मानना है कि इतने सारे विकल्प होने के कारण भारत को मेजबान की तुलना में अधिक सवालों का जवाब ढूंढना होगा. उन्होंने कहा कि पुकोवस्की और ग्रीन की मौजूदगी में ऑस्ट्रेलिया के सामने जो सवाल हैं, मुझे लगता है कि भारत को उससे अधिक सवालों के जवाब ढूंढने होंगे.

भारत ने 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया की सरजमीं पर पहली बार टेस्ट श्रृंखला जीतकर  रचा था इतिहासः
पोंटिंग ने कहा कि शमी, जसप्रीत बुमराह- क्या इशांत को खिलाया जाए, या उमेश यादव को, क्या सैनी या सिराज जैसे युवा को मौका दिया जाए? उन्होंने कहा कि उन्हें भी स्वयं से काफी सवाल पूछने होंगे. और किसी स्पिनर को खिलाया जाए? उनकी टीम में कुछ स्पिनर हैं और उन्हें तय करना होगा कि एडीलेड में गुलाबी गेंद के टेस्ट में कौन खेलेगा. भारत ने 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया की सरजमीं पर पहली बार टेस्ट श्रृंखला जीतकर इतिहास रचा था. मेजबान टीम हालांकि उस श्रृंखला में अपने स्टार बल्लेबाजों डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ के बिना खेली थी जो 2018 में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में भूमिका के कारण प्रतिबंध झेल रहे थे.

पोंटिंग ने सलामी बल्लेबाज जो बर्न्स के ही पारी का आगाज करने का किया समर्थनः
पोंटिंग ने कहा कि एक चीज जिसके बारे में हमने पर्याप्त बात नहीं की है कि हां, भारत ने पिछली बार यहां काफी अच्छा प्रदर्शन किया था लेकिन शीर्ष क्रम में उन खिलाड़ियों (स्मिथ और वार्नर) के नहीं होने से किसी भी टीम में बड़ा अंतर पैदा होता. पोंटिंग ने साथ ही युवा विल पुकोवस्की की जगह सलामी बल्लेबाज जो बर्न्स के ही पारी का आगाज करने का समर्थन किया. मुख्य कोच जस्टिन लैंगर और कप्तान टिम पेन ने भी शीर्ष क्रम में अनुभवी बर्न्स को ही मौका देने के संकेत दिए हैं.
सोर्स भाषा

और पढ़ें