Live News »

पाक ने फिर की कायराना हरकत, गोलीबारी में सेना के जवान करमजीत सिंह शहीद

पाक ने फिर की कायराना हरकत, गोलीबारी में सेना के जवान करमजीत सिंह शहीद

श्रीनगर। एक तरफ पाक शांति की बात कहता है, दूसरी और लगातार संघर्ष विराम का उलंघन कर रहा है। जम्मू कश्मीर के सुंदरबनी सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया। जिसमें एक सैनिक शहीद हो गया, जबकि तीन अन्य घायल हो गए हैं। 

Rifleman Karamjeet Singh has lost his life in ceasefire violation by Pakistan Army in the firing in Keri Battal of Sunderbani sector along the Line of Control in Rajouri, today. pic.twitter.com/gtzLGM2nB8

— ANI (@ANI) March 18, 2019

मिली जानकारी के अनुसार सुंदरबनी सेक्टर के केरी बत्तल इलाके में पाक सेना ने सीजफायर का उल्लंघन किया। जिसका भारतीय सेना ने मुंह तोड़ जवाब दिया। इसमें एक सेना का जवान राइफलमैन करमजीत सिंह शहीद हो गया जबकि तीन अन्य घायल हो गए। रक्षा सूत्रों के अनुसार तकरीबन सुबह 5:30 बजे पाकिस्तान ने मोटर्रार दागने शुरू किए। 

बता दें कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के जवाब में भारती वायुसेना  द्वारा 26 फरवरी को पाक के बालाकोट स्थित आंतकी संगठन जैश-ए- मोहम्मद के आतंकी कैंपों हवाई हमले किए गए थे। तब से ही दोनों देशों के बीच सीमा पर तनाव बढ़ा हुआ है। आए दिन पाकिस्तान सीजफायर का उल्लंघन करता नजर आता है। 

और पढ़ें

Most Related Stories

 वंदे भारत मिशन का तीसरा चरण 10 जून से, विदेशों में पढ़ रहे करीब 900 विद्यार्थी लौटेंगे जयपुर

जयपुर: विदेशों में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए केन्द्र सरकार वंदे भारत मिशन का तीसरा फेज शुरू करने जा रही है. इस फेज में भी जयपुर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से फ्लाइट्स का संचालन होगा. हालांकि तीसरे फेज में दूसरे फेज की तुलना में कम संख्या में फ्लाइट जयपुर आएंगी. कौन-कौन से देशों से फ्लाइट आएंगी जयपुर. प्रवासी भारतीयों को स्वदेश लाने का सिलसिला पिछले माह शुरू हुआ था. केन्द्र सरकार ने 7 मई से वंदे भारत मिशन की शुरुआत की थी. पहला फेज हालांकि केवल एक सप्ताह का था, लेकिन इसके बाद दूसरा फेज करीब 15 दिन तक चला है. दोनों फेज में बड़ी संख्या में विदेशों में फंसे प्रवासी भारतीयों को लाने के लिए फ्लाइट्स संचालित की गई हैं.

सीएम गहलोत ने की राजकौशल पोर्टल की लॉन्चिंग, सीएमआर से वेबीनार के माध्यम से लॉन्चिंग

वंदे भारत मिशन का तीसरा चरण 10 जून से:
एयर इंडिया और इसके साथ समझौते में जुड़ी एयरलाइन्स के जरिए विदेशों से भारतीयों को लाया गया है. कल जयपुर एयरपोर्ट से वंदे भारत मिशन के दूसरे फेज की अंतिम फ्लाइट संचालित की गई. अब मिशन का तीसरा फेज 10 जून से शुरू होने जा रहा है, जो 1 जुलाई तक चलेगा. 22 दिन के इस शेड्यूल में कुल 356 फ्लाइट संचालित की जाएंगी. इनमें से 6 फ्लाइट विदेशों से दिल्ली होकर जयपुर आएंगी. दरअसल जयपुर और प्रदेश के अन्य जिलों के विद्यार्थी बड़ी संख्या में मध्य एशिया के देशों में पढ़ाई करते हैं. इनमें सबसे ज्यादा मेडिकल के विद्यार्थी हैं जो कि कजाकिस्तान, रूस, यूक्रेन, किर्गिजिस्तान आदि देशों में पढ़ाई कर रहे हैं. अब आपको बताते हैं कि तीसरे फेज के तहत कौन-कौनसे देशों से फ्लाइट जयपुर आएंगी.

जानिए, कब-कब जयपुर आएंगी फ्लाइट?
- 15 जून शाम 5:55 बजे बिस्केक, किर्गिजिस्तान से दिल्ली होकर फ्लाइट AI-1920 आएगी
- 19 जून शाम 6:40 बजे अल्माटी, कजाकिस्तान से दिल्ली होकर फ्लाइट AI-1916 आएगी
- 20 जून शाम 7:50 बजे अस्ताना, कजाकिस्तान से दिल्ली होकर फ्लाइट AI-1918 आएगी
- 23 जून शाम 4:05 बजे दुशांबे, तजाकिस्तान से दिल्ली होकर फ्लाइट AI-1926 आएगी
- 25 जून रात 12:30 बजे कीव, यूक्रेन से दिल्ली होकर फ्लाइट AI-1928 आएगी
- 29 जून रात 11:35 बजे मॉस्को, रूस से दिल्ली होकर फ्लाइट AI-1924 आएगी

राज्यसभा चुनाव की गणित में कांग्रेस आगे, 13 निर्दलीय विधायकों का गहलोत को समर्थन

अब इन फ्लाइट्स के आगमन को लेकर तैयारियां शुरू: 
तीसरे फेज की शुरुआत से पहले जयपुर एयरपोर्ट प्रशासन ने अब इन फ्लाइट्स के आगमन को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं. इसके लिए जिला प्रशासन, नगर निगम, जेडीए, चिकित्सा विभाग के अधिकारियों का सहयोग लिया जाएगा. वंदे भारत मिशन की फ्लाइट्स के यात्रियों की स्क्रीनिंग के लिए चिकित्सा विभाग के काउंटर पहले से बनाए हुए हैं. यहां पुराने अराइवल हॉल को वंदे भारत मिशन की इन्हीं फ्लाइट्स के लिए आरक्षित रखा जाएगा. आपको बता दें कि वंदे भारत मिशन के दूसरे फेज में कुल 22 फ्लाइट जयपुर पहुंची थी. ये फ्लाइट 22 मई से 4 जून के बीच में जयपुर पहुंचीं. अंतिम फ्लाइट गुरुवार देर रात दुबई से जयपुर पहुंचीं. ये फ्लाइट्स ब्रिटेन, कजाकिस्तान, रूस, यूक्रेन, किर्गिजिस्तान, तजाकिस्तान, कनाड़ा, जॉर्जिया, कुवैत और दुबई से जयपुर आई थीं. इन फ्लाइट्स के जरिए 3071 प्रवासी राजस्थानी जयपुर लौटे थे. अब तीसरे फेज में 6 फ्लाइट्स के जरिए करीब 900 प्रवासी राजस्थानी जयपुर लौट सकेंगे. हालांकि अभी इस शेड्यूल में मांग बढ़ने पर अन्य फ्लाइट भी जुड़ सकती हैं, एयर इंडिया प्रबंधन ने कहा है कि जरूरत होने पर लास्ट मोमेंट पर भी फ्लाइट संचालित की जा सकेंगी.

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

गर्भवती हथिनी हत्या केस: पुलिस ने एक आरोपी को ​किया गिरफ्तार, दो की तलाश जारी

गर्भवती हथिनी हत्या केस: पुलिस ने एक आरोपी को ​किया गिरफ्तार, दो की तलाश जारी

नई दिल्ली: केरल के मलप्पुरम में गर्भवती हथिनी की मौत के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तारी किया गया है. पुलिस के मुताबिक यह पता चला है कि जिसकी गिरफ्तारी हुई है वो खेतों में कार्य करता है. एक दिन पहले हथिनी की मौत की जांच कर रही केरल की वन विभाग की टीम ने 2 लोगों को हिरासत में लिया था. आपको बता दें कि गर्भवती हथिनी की मौत के मामले में पूरे देश में आक्रोश है. 

पुलिस महकमे की रिव्यू मीटिंग, CMR से सीएम गहलोत कर रहे पुलिस अफसरों से संवाद

विस्फोट की वजह से हथिनी के टूट गए थे जबड़े:
जब खाने की तलाश में गर्भवती हथिनी जंगल के पास एक गांव में पहुंची तो कुछ शरारती तत्वों ने अनानास विस्फोटक के साथ उसे खिला दिया था. विस्फोट की वजह से जबड़े टूट गए. जिसकी वजह से हथिनी दर्द से परेशान हो गई और खाना पानी भी नहीं ले सकी. बाद में ​हथिनी ने दम तोड दिया. इस मामले में सोशल मीडिया पर उबाल रहा. गर्भवती हथिनी पलक्कड़ जिले के साइलेंट वैली नेशनल पार्क में रहती थी. स्थानीय मनारकाडु पुलिस स्टेशन ने बुधवार को इस दर्दनाक घटना को लेकर एक केस दर्ज किया गया है.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा:
गर्भवती हथिनी की पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट भी आ गई, जिसमें हथिनी की मौत की वजह फेफड़े में पानी भरना बताया गया है. हथिनी की पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला है कि वह गर्भवती थी. पानी में डूबने की वजह से उसके शरीर के अंदर काफी पानी चला गया था, जिसकी वजह से  फेफड़ों ने काम करना बंद कर दिया था. पोस्‍टमॉर्टम में पहली नजर में मौत का कारण यही बताया गया है. वन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी की माने तो पटाखों से भरा अन्नानास खाने से हुए विस्फोट में हथिनी का जबड़ा टूट गया था और वह कुछ भी चबा पाने में भी असमर्थ थी.मामले में जांच के आदेश देने के बाद सीएम पिनराई विजयन ने कहा है कि जांच टीमों की नजर 3 संदिग्धों पर है. विजयन ने घटना में दोषी पाए जाने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का दावा किया है. वहीं सोशल मीडिया पर लोग दोषियों को कड़ा दंड देने की मांग कर रहे हैं.

राजस्थान से गुजरात जा रही अंग्रेजी शराब की खेप बरामद, शराब का मूल्य करीब 5.50 लाख रुपए

गुजरात में कांग्रेस के एक और विधायक ने छोड़ा हाथ का साथ, राज्यसभा चुनाव से पहले अब तक 8 विधायकों ने दिया इस्तीफा

गुजरात में कांग्रेस के एक और विधायक ने छोड़ा हाथ का साथ, राज्यसभा चुनाव से पहले अब तक 8 विधायकों ने दिया इस्तीफा

अहमदाबाद: राज्यसभा चुनाव से पहले गुजरात में कांग्रेस पार्टी के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया है. पिछले तीन दिनों में पार्टी के 3 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं. ऐसे में अब तक 8 कांग्रेस विधायक हाथ का साथ छोड़ चुके हैं. फिलहाल इस्तीफा देने वाले विधायक मोरबी से ब्रिजेश मेरजा हैं. इससे पहले अक्षय पटेल और जीतू चौधरी भी पार्टी का साथ छोड़ा है. 

Rajasthan Corona Updates: दस हजार के करीब पहुंची संक्रमितों की संख्या, 7162 मरीज हुए रिकवर 

भाजपा कोरोना से ज्यादा राज्यसभा चुनावों पर ध्यान दे रही:
विधायकों के इस्तीफे पर कांग्रेस पार्टी भाजपा को जिम्मेदार ठहरा रह है. पार्टी के अनुसार भाजपा इस समय कोरोना से ज्यादा राज्यसभा चुनावों पर ध्यान दे रही हैं और विधायकों की खरीद फरोख्त में लगी हुई है. 

चुनाव के ऐलान के बाद कांग्रेस के पांच विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था:
इससे पहले राज्यसभा चुनाव के ऐलान के बाद कांग्रेस के पांच विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था. गढ्डा से प्रवीण मारू, लिंबडी से सोमा पटेल, अबडासा से प्रद्युम्न सिंह जडेजा, धारी से जेवी काकड़िया और डांग से मंगल गावित ने अपना इस्तीफा दिया था. वहीं, कल यानी गुरुवार को जिन दो विधायकों ने इस्तीफा दिया, वे अक्षय पटेल और जीतू चौधरी थे.

UP: प्रतापगढ़ में दर्दनाक सड़क हादसे में नौ लोगों की मौत, बेटी की सगाई के लिए लौट रहे थे घर 

गुजरात में कांग्रेस विधायकों की संख्या अब 66:
बता दें कि गुजरात में कांग्रेस विधायकों की संख्या अब 66 रह गई है. कांग्रेस का आरोप है कि यह पूरा खेल राज्य में आने वाली 4 राज्यसभा सीटे को लेकर खेला जा रहा है. जिसमें अब कांग्रेस का पलटा काफी हल्का नजर आ रहा है. 
 

झारखंड और कर्नाटक में भूकंप से कांपी धरती, तीव्रता 4.7 और 4.0 मापी गई

झारखंड और कर्नाटक में भूकंप से कांपी धरती, तीव्रता 4.7 और 4.0 मापी गई

नई दिल्ली: देश के दो राज्यों झारखंड और कर्नाटक में आज सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. लोगों ने भूकंप के झटके सुबह 6 बजकर 55 मिनट पर  महसूस किए. झारखंड के जमशेदपुर में 4.7 की तीव्रता से भूकंप आया है. वहीं, कर्नाटक के हम्पी में भी 4.0 की तीव्रता से भूकंप के झटके महसूस किए गए. हालांकि इस दौरान दोनों जगहों पर किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है.

सीएम गहलोत के प्रयास लाए रंग, बदलने लगी प्रदेश की औद्योगिक तस्वीर

बुधवार को दिल्ली एनसीआर में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए:
नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक झारखंड में भूकंप का केंद्र जमशेदपुर रहा. जबकि कर्नाटक में भूकंप का केंद्र हम्पी रहा. इससे पहले बुधवार को दिल्ली एनसीआर में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. नोएडा में रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 3.2 थी. एक हफ्ते में दूसरी बार नोएडा में झटके महसूस किए गए थे. बीते कुछ दिनों में दिल्ली-एनसीआर में कई बार भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. 

कोरोना से जंग में कारगर हथियार, कोरोना गीत ने यूट्यूब पर मचाई धूम

जानिए कैसा रहेगा ग्रहण का असर ? साल 2020 का दूसरा चंद्रग्रहण कल, 21 जून को होगा सूर्य ग्रहण

 जानिए कैसा रहेगा ग्रहण का असर ? साल 2020 का दूसरा चंद्रग्रहण कल, 21 जून को होगा सूर्य ग्रहण

नई दिल्ली: देश में इस वर्ष लगातार 3 ग्रहण पड़ने वाले है. 5 जून को वर्ष का दूसरा चंद्र ग्रहण होगा. हालां​कि इसका प्रभाव भारत में नहीं होगा. वहीं 21 जून को सूर्य ग्रहण होगा, जो भारत में प्रभावशील रहेगा. इसके बाद तीसरा 5 जुलाई और साल का आखिरी चंद्र ग्रहण 30 नवंबर को लगेगा. 

ऐसा रहेगा चंद्रग्रहण:
5 जून 2020 को यानी शुक्रवार को वर्ष 2020 का दूसरा चंद्र ग्रहण लगने वाला है. हिंदू पंचांग के मुताबिक ज्येष्ठ मास की पूर्णिमा तिथि पर चंद्रग्रहण लगेगा. यह चंद्रग्रहण उपछाया ग्रहण होगा. ग्रहण 5 जून की रात 11 बजकर 15 मिनट से लगना आरंभ होगा जो अगले दिन रात के 2 बजकर 34 मिनट तक रहेगा. ग्रहण के समय चंद्रमा वृश्चिक राशि में भ्रमण करेगा. जब भी चंद्रग्रहण लगता है तो उससे पहले चंद्रमा पृथ्वी की उपछाया में प्रवेश करता है. चंद्रग्रहण की प्रकिया में इसे penumbra कहा जाता है. उपछाया में पूर्ण चंद्र ग्रहण नहीं पड़ता इसमें चंद्रमा सिर्फ धुंधला सा दिखाई पड़ता है इस वजह से इसे चंद्र मालिन्य भी कहते हैं. 

गर्भवती हथिनी की मौत पर सोशल मीडिया पर उबाल, दोषियों को कड़ी सजा देेने की मांग

21 जून को होगा सूर्य ग्रहण: 
21 जून 2020 को सूर्य ग्रहण पड़ने जा रहा है. अगर बात करें ज्‍योतिषीय दृष्‍टी की, तो  इसका असर बहुत अच्‍छा नहीं मिलने जा रहा है. पहले से ही नाजुक दौर से गुजर रही अर्थव्यवस्था में और गिरावट आने के संकेत हैं. मृत्युदर और बढ़ोतरी हो सकती है.  तूफान और भूकम्प जैसी प्राकृतिक आपदाएं भी आ सकती हैं. ये सूर्य ग्रहण मृगशिरा नक्षत्र और मिथुन राशि में होगा. जिनका जन्म नक्षत्र मृगशिरा और जन्म राशि या जन्म लग्न मिथुन है. उनके लिए यह विशेष अरिष्ट फल प्रदान करने वाला होगा. सूर्य ग्रहण प्रात: 9:26 बजे से अपराह्न 3:28 तक रहेगा. भारत में यह ग्रहण प्रात:10 बजे से 14:30 बजे तक अर्थात साढ़े चार घंटे रहेगा. इस ग्रहण के दौरान सूर्य 94 प्रतिशत ग्रसित हो जाएगा. दिन में अन्धेरा जा जाएगा. कुछ जगह तारे भी दिखाई दे सकते हैं.
 
धीरे धीरे होगा कोरोना का प्रकोप कम:
दुनियाभर में कोरोना वायरस ने हाहाकार मचा दिया है. अभी इसकी वैक्सिन नहीं बन पाई है. वैज्ञानिक लगातार इस पर रिसर्च करके दवा बनाने में लगे हुए है. वहीं बात करें ज्योतिषियों की, तो उनके मुताबिक कोरोना महामारी ग्रहों की दशा बदलने की वजह से ज्यादा विकराल हुई है. आकाश मंडल में सूर्य, शनि, चंद्र, केतु के विपरीत प्रभाव के चलते कोरोना महामारी दुनिया में फैली है. ज्योतिषियों के मुताबिक जून माह में पड़ रहे सूर्य ग्रहण के प्रभाव से कोरोना का प्रकोप कम होने लगेगा और 5 जुलाई को पड़ रही गुरु पूर्णिमा तक विषाणु, कीटाणु प्रभावशील रहेंगे. जब ग्रह वापस अपने मूल स्वरूप में आएंगे, तभी कोरोना का प्रकोप समाप्त होने लग जाएगा. 

एसएचओ विष्णु दत्त आत्महत्या मामले की होगी CBI जांच, सीएम गहलोत ने फाइल पर लगाई मुहर

गर्भवती हथिनी की मौत पर सोशल मीडिया पर उबाल, दोषियों को कड़ी सजा देेने की मांग

गर्भवती हथिनी की मौत पर सोशल मीडिया पर उबाल, दोषियों को कड़ी सजा देेने की मांग

नई दिल्ली: भूखी गर्भवती हथिनी ( Pregnant Elephant )को अनानास में पटाखा भरकर देने की वजह से उसकी दर्दनाक मौत हो गई. इसी के साथ इंसानियत एक बार फिर शर्मसार हुई. अब इस खबर पर सोशल मीडिया पर उबाल है. इस घटना पर अलग-अलग लोगों की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं, सरकार की ओर से इस मामले में कार्यवाही का भरोसा दिया गया है. तो वहीं सोशल मीडिया पर इस मामले को लेकर लोगों में आक्रोश है, हर कोई कड़ी कार्रवाई की अपील कर रहा है. 

हाथी भगवान गणेश का स्वरूप:
राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी इस मामले पर लिखा कि केरल की घटना ने हर किसी को अंदर तक झकझोर दिया है. हाथी भगवान गणेश का स्वरूप हैं, ऐसे में उनके साथ जिसने भी ऐसी हरकत की है उसपर कार्रवाई होनी चाहिए.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 68 नये पॉजिटिव केस आया सामने, अब भरतपुर जिला बना कोरोना का नया हॉटस्पॉट

दुःखद व निन्दनीय खबर:
उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भी इस मामले पर दुख व्यक्त किया. मायावती ने ट्वीट कर लिखा कि केरल के पलक्कड में एक गर्भवती हथिनी ( Pregnant Elephant ) को विस्फोटक भरा अनानास खिलाकर क्रूरतापूर्वक मारने की अति-दुःखद व निन्दनीय खबर स्वाभाविक तौर पर मीडिया की सुर्खियों में है. हाथी जैसे सहज व उपयोगी जानवर के साथ ऐसी क्रूरता की जितनी भी निन्दा की जाए वह कम है. सरकार दोषियों को सख्त सजा दे. 

केंद्र सरकार ने मांगा राज्य सरकार से जवाब:
उल्लेखनीय है कि केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर द्वारा कहा गया है कि केंद्र सरकार ने इस मामले में राज्य सरकार से जवाब मांगा है. पूरी रिपोर्ट ली जाएगी और किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. दूसरी ओर पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने भी इस मामले पर कार्यवाही की मांग की है. 

फिल्म निर्माता बासु चटर्जी का निधन, 93 साल की उम्र में ली अंतिम सांस  

हरियाणा, यूपी और दिल्ली के लिए एक पास हो, हफ्ते भर में बनाई जाए व्यवस्था- सुप्रीम कोर्ट

हरियाणा, यूपी और दिल्ली के लिए एक पास हो, हफ्ते भर में बनाई जाए व्यवस्था- सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली: कोरोना संकट के चलते दिल्ली-एनसीआर की सीमाएं सील होने से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. इसी को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर जनहित याचिका पर सुनावाई करते हुए कोर्ट ने बुधवार को एनसीआर क्षेत्र के लिए कॉमन पास बनाने का निर्देश दिया है. कोर्ट ने कहा कि एक पास जारी हो जिसकी हरियाणा, यूपी और दिल्ली में मान्यता हो. इस बारे में कोर्ट ने 1 हफ्ते में कदम उठाने को कहा है. 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 68 नये पॉजिटिव केस आया सामने, अब भरतपुर जिला बना कोरोना का नया हॉटस्पॉट 

एनसीआर क्षेत्र में आवाजाही के लिए एक कॉमन पोर्टल बनाया जाए:
एनसीआर के लोगों की समस्याओं को सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि एनसीआर क्षेत्र में आवाजाही के लिए एक कॉमन पोर्टल बनाया जाए. इसके लिए सभी स्टेक होल्डर मीटिंग करें और एनसीआर क्षेत्र के लिए कॉमन पास जारी करें, जिससे एक ही पास से पूरे एनसीआर में आवाजाही हो सके. कोर्ट ने कहा कि सभी राज्य इसके लिए एक समान नीति तैयार करें. इसके लिए तीनो राज्यों की बैठक कराई जाए.

Coronavirus in India: पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा 9304 नए मामले आए, 260 लोगों की मौत 

कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों को चलते लिया फैसला:
बता दें कि सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में घोषणा कर के बताया कि दिल्ली बॉर्डर अब एक हफ्ते के लिए सील किए जा रहे हैं. उन्होंने साथ में यह तर्क भी दिया कि जिस तरह से कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं उसको देखते हुए यह फैसला लिया जा रहा है.  

केरल में हथिनी की हत्या से देश में रोष, प्रकाश जावड़ेकर ने कहा- दोषी बख्शे नहीं जाएंगे

केरल में हथिनी की हत्या से देश में रोष, प्रकाश जावड़ेकर ने कहा- दोषी बख्शे नहीं जाएंगे

नई दिल्ली: केरल के साइलेंट वैली फॉरेस्ट में एक गर्भवती हथिनी की मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इस बीच केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने केरल के मल्लपुरम में एक हाथी की हत्या के मामले पर गंभीरता दिखाई है. हम सही तरीके से जांच करने और अपराधियों को पकड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे. हाथियों को पटाखा खिलाना और मारना भारतीय संस्कृति नहीं है.

Coronavirus in India: पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा 9304 नए मामले आए, 260 लोगों की मौत 

घटना के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के आदेश: 
वहीं केंद्र सरकार ने इस पर गंभीर रुख अपनाते हुए राज्य से रिपोर्ट मांगी है. सीएम पिनराई विजयन ने कहा कि पलक्कड जिले के मन्नारकड़ वन मंडल में हथनी की मौत मामले में प्रारंभिक जांच शुरू कर दी गई है और पुलिस को घटना के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं. केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने घटना पर गंभीर रुख अपनाते हुए कहा कि केंद्र ने इस पर पूरी रिपोर्ट मांगी है और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

VIDEO: हाउसिंग बोर्ड का एक और बड़ा धमाका, 11 शहरों में लॉन्च होंगी 17 नई आवासीय योजनाएं 

इंसानियत को झकझोर देने वाली तस्वीर सामने आई थी:
गौरतलब है कि 27 मई को केरल के मल्लपुरम से इंसानियत को झकझोर देने वाली तस्वीर सामने आई थी. यहां एक गर्भवती मादा हथिनी खाने की तलाश में जंगल के पास वाले गांव पहुंच गई, लेकिन वहां शरारती तत्वों ने अनन्नास में पटाखे भरकर हथिनी को खिला दिया, जिससे उसका मुंह और इससे हथिनी के मसूड़े बुरी तरह फट गए और वह खा भी नहीं पा रही थी. बाद में उसकी मौत हो गई. बेजुबान जानवर के साथ हुई इस क्रूरता को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों में जबरदस्त गुस्सा है. 

                            
                                                             

Open Covid-19