बेंगलुरु ऋषभ पंत के खराब फॉर्म पर कोच राहुल द्रविड़ ने दिया बड़ा बयान, किया बड़ी योजना का खुलासा

ऋषभ पंत के खराब फॉर्म पर कोच राहुल द्रविड़ ने दिया बड़ा बयान, किया बड़ी योजना का खुलासा

ऋषभ पंत के खराब फॉर्म पर कोच राहुल द्रविड़ ने दिया बड़ा बयान, किया बड़ी योजना का खुलासा

बेंगलुरु: भारत के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने साफ किया कि अपनी खराब फॉर्म के कारण आलोचकों के निशाने पर चल रहे विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) इस साल के आखिर में ऑस्ट्रेलिया (t20 world cup australia) में होने वाले टी20 विश्व कप की तैयारियों का ‘बड़ा’ और ‘अभिन्न’ हिस्सा हैं.

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की टी20 श्रृंखला में टीम का नेतृत्व करने वाले पंत पांच पारियों में केवल 58 रन ही बना पाये, जिससे सबसे छोटे प्रारूप में उनकी जगह को लेकर सवाल उठने लगे. द्रविड़ ने हालांकि स्पष्ट किया कि पंत टीम में बने रहेंगे.

द्रविड़ ने पांचवें मैच के बारिश की भेंट चढ़ जाने के कारण श्रृंखला 2-2 से बराबर होने के बाद मीडिया वार्ता में कहा कि निजी तौर पर वह कुछ और रन बनाना पसंद करता, लेकिन यह उससे संबंधित नहीं है. निश्चित रूप से वह अगले कुछ महीनों में हमारी योजनाओं का बहुत बड़ा हिस्सा है. मुख्य कोच की राय स्पष्ट थी कि वह किसी एक श्रृंखला के आधार पर किसी खिलाड़ी का आकलन नहीं करेंगे फिर चाहे वह बल्लेबाजी हो या कप्तानी.

मैं आलोचनात्मक रवैया नहीं अपनाना चाहता:
द्रविड़ ने कहा कि मैं आलोचनात्मक रवैया नहीं अपनाना चाहता. बीच के ओवरों में थोड़ा आक्रामक क्रिकेट खेलने की जरूरत पड़ती है. कभी-कभी दो या तीन मैचों के आधार पर आकलन करना मुश्किल होता है. असल में द्रविड़ आईपीएल के दौरान पंत की 158 से अधिक की स्ट्राइक रेट से प्रभावित थे, जिसमें इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से 340 रन बनाये थे जो कि अपेक्षानुसार नहीं थे.

स्ट्राइक रेट के मामले में आईपीएल में उनका प्रदर्शन बहुत अच्छा था:
द्रविड़ ने कहा कि मुझे लगता है कि स्ट्राइक रेट के मामले में आईपीएल में उनका प्रदर्शन बहुत अच्छा था, भले ही औसत के मामले में यह अच्छा नहीं लग रहा था. आईपीएल में वह (औसत के मामले में) बेहतर करना चाहते थे और शायद तीन साल पहले उन्होंने खूब रन बनाकर अच्छा औसत हासिल किया था. उन्होंने कहा कि हम उम्मीद कर रहे हैं कि वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यह आंकड़ा हासिल करने में सफल रहेंगे.

कप्तानी केवल जीत और हार से नहीं जुड़ी:
पंत की कप्तानी के बारे में द्रविड़ को लगता है कि श्रृंखला के पहले दो मैच गंवाने के बाद टीम को वापसी दिलाकर उन्होंने अच्छी भूमिका निभायी. द्रविड़ ने कहा कि टीम को 0-2 से वापसी दिलाना, श्रृंखला 2-2 से बराबर करना और जीत के अवसर पैदा करना अच्छा प्रदर्शन था. कप्तानी केवल जीत और हार से नहीं जुड़ी है. वह (पंत) एक युवा कप्तान है और सीख रहा है. अभी उनका आकलन करना करना जल्दबाजी होगी और एक श्रृंखला के बाद ऐसा नहीं किया जा सकता है. सोर्स- भाषा 

और पढ़ें