Live News »

रोडवेज बसों में बढ़ सकता है किराया, राज्य सरकार को भेजा गया प्रस्ताव

रोडवेज बसों में बढ़ सकता है किराया, राज्य सरकार को भेजा गया प्रस्ताव

जयपुर: राजस्थान रोडवेज की बसों में सफर करना जल्द ही महंगा हो सकता है. रोडवेज प्रशासन ने राज्य सरकार को किराया बढ़ाने के लिए अनुमति मांगी है. यह प्रस्ताव परिवहन विभाग को भिजवा दिया गया है और जल्द ही इस प्रस्ताव पर अनुमति मिलने की संभावना है. प्रस्ताव में 25 से 30 फीसदी तक किराया बढ़ाने की मंजूरी मांगी गई है. कितना बढ़ सकता है बसों का किराया, एक्सक्लूसिव रिपोर्ट:

बढ़ता आर्थिक घाटा गले की फांस:
राजस्थान रोडवेज के लिए लगातार बढ़ता आर्थिक घाटा गले की फांस बनता जा रहा है. वर्तमान में करीब 3100 बसों के बेड़े वाली राजस्थान रोडवेज 4850 करोड़ रुपए से ज्यादा आर्थिक घाटे में है. यह घाटा हर माह बढ़ता जा रहा है. यह हालत तो तब है जब राज्य सरकार हर महीने रोडवेज को विशेष पैकेज के रूप में 45 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद मुहैया करवा रही है. इस घाटे से उबरने की दिशा में रोडवेज प्रशासन संचालन आय बढ़ाने पर विचार कर रहा है और इसके लिए रोडवेज प्रशासन ने राज्य सरकार के पास किराया बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा है. रोडवेज की साधारण, एक्सप्रेस और एसी सभी तरह की बसों में किराया बढ़ाने के लिए राज्य सरकार से अनुमति मांगी गई है. स्लैब में रोडवेज प्रशासन ने 25 पैसे प्रति किमी से लेकर 38 पैसे प्रति किमी तक की बढ़ोतरी का प्रस्ताव भेजा है. हालांकि इस स्लैब को मंजूरी मिलने पर रोडवेज प्रशासन एक ही बार में दरें नहीं बढ़ाएगा. बल्कि दरों में बढ़ोतरी 2 या इससे अधिक बार में की जाएगी. परिवहन विभाग इस प्रस्ताव को वित्त विभाग से मंजूरी लेकर आगे बढ़ाएगा. 

रोडवेज बसों में अभी कितना है किराया, कितना बढ़ेगा ?
—अभी साधारण बस में किराया लग रहा 95.01 पैसे प्रति किमी
—एक्सप्रेस बसों में किराया है 100.60 पैसे प्रति किमी
—सेमी डीलक्स बसों में किराया है 109.54 पैसे प्रति किमी
—डीलक्स बसों में किराया है 141.96 पैसे प्रति किमी
—वातानुकूलित बसों में किराया है 212.38 पैसे प्रति किमी
—यह किराया लग रहा है सभी तरह के अधिभारों (टैक्स) सहित
—प्रत्येक किमी के लिए 10 से 23 पैसे प्रति किमी लगता है अधिभार

क्या है नया प्रस्ताव:
—अब साधारण बसों के लिए 120 पैसे प्रति किमी किराए की अनुमति मांगी
—एक्सप्रेस बसों के लिए 130 पैसे प्रति किमी की अनुमति मांगी
—सेमी डीलक्स बसों में किराया 140 पैसे प्रति किमी की अनुमति मांगी
—डीलक्स बसों में किराया 175 पैसे प्रति किमी करने की अनुमति मांगी
—एसी बसों में किराया 250 पैसे पैसे प्रति किमी करने की अनुमति मांगी

अंतिम बार 16 जून 2016 को बढ़ा था बसों में किराया:
राजस्थान रोडवेज प्रशासन ने किराया बढ़ाने के पीछे लागत दर में वृद्धि होना बताया है. प्रस्ताव के मुताबिक बसों में डीजल का खर्च बढ़ा है. इसी तरह बसों के मेंटीनेंस की लागत में भी बढ़ोतरी हुई है. अंतिम बार किराया दरों में बढ़ोतरी करीब सवा दो साल पहले की गई थी. 16 जून 2016 को भी किराए की दरें आंशिक रूप से बढ़ाई गई थी. जबकि इन सवा दो साल के दौरान डीजल का खर्च काफी बढ़ चुका है. लागत बढ़ने के साथ ही रोडवेज प्रशासन ने यह तर्क भी दिया है कि वे बसों में यात्रियों के लिए सुविधाएं बढ़ाएंगे. प्रस्ताव के तहत सुविधा बढ़ाने के नाम पर साधारण बसों में 2 पैसे, एक्सप्रेस बसों में 3 पैसे, डीलक्स बसों में 5 पैसे और एसी बसों में 10 पैसे प्रति किमी शुल्क बढ़ाने की अनुमति मांगी गई है. परिवहन विभाग के आयुक्त एवं सचिव राजेश यादव ने बताया कि रोडवेज से हमें किराया बढ़ोतरी का प्रस्ताव मिल चुका है. उसे जरूरी अनुमति के लिए आगे भिजवाया जा रहा है. जल्द ही प्रस्ताव पर निर्णय किया जाएगा. कुलमिलाकर यदि इस प्रस्ताव को मंजूरी मिली तो जल्द ही रोडवेज की बसों में सफर महंगा हो जाएगा. हालांकि किराया बढ़ने से रोडवेज के यात्रीभार पर नकारात्मक असर पड़ने की आशंका रहेगी. 

... संवाददाता काशीराम चौधरी की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in