Live News »

'रोबोट सोफिया' का भारतीय संस्करण है 'रोबोट रश्मि'

'रोबोट सोफिया' का भारतीय संस्करण है 'रोबोट रश्मि'

नई दिल्ली। दुनिया में आजकल ह्यूमनॉयड रोबोट और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस काफी चर्चा में है। क्योंकि हाल ही में 'रोबोट सोफ़िया' को आधिकारिक तौर पर सऊदी अरब की नागरिकता मिल गई है। इस तरह धातु के टुकड़ों और तारों से बनी सोफिया पहली इंसानी मशीन बन गई है जिसे किसी देश ने अपनी नागरिकता दी है। ऐसी ही एक रोबोट भारत में भी विकसित की गई है जो अंग्रेजी के साथ हिंदी, भोजपुरी और मराठी में भी बात कर सकती है।

गौरतलब है कि भारत में भी असली इंसानों जैसी दिखने वाली रोबोट बनाई गई है। झारखंड की राजधानी रांची के निवासी 38 साल के रंजीत श्रीवास्तव ने इसे बनाया है और इसे 'रश्मि' नाम दिया है। सोफिया की तरह ही रश्मि एक ह्यूमनॉयड रोबोट है जो आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, लिंग्युस्टिक इंटरप्रिटेशन, विजुअल डाटा और फेशियल रिकगनिशन सिस्टम का इस्तेमाल करती है। रश्मि लगभग 80 फीसदी बनकर तैयार हो चुकी है। अब सिर्फ इसके हाथ और पैर बनाना बाकी बचा है।

बता दें कि 'रोबोट रश्मि' को महज दो साल के रिकॉर्ड समय और सिर्फ 50 हजार रुपये खर्च कर बनाया गया है। रश्मि को रोबोट सोफिया की अगली पीढ़ी बताया जा रहा है। सोफिया को 2015 में हॉन्ग कॉन्ग की हैनसन रोबोटिक्स लिमिटेड नाम की कंपनी ने बनाया था।

और पढ़ें

Most Related Stories

Open Covid-19