बदमाश जीतू ने पुलिस पूछताछ में किए कई चौंकाने वाले खुलासे, पुलिस से बचने के लिए कार में महिलाएं रखता था

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/08/23 10:13

जयपुर: दिल्ली-अजमेर हाइवे पर बगरू इलाके में होटल व्यवसायी से एक करोड़ की फिरौती वसूलने के लिए बदमाश जीतू दो बार फायरिंग कर चुका. इससे पहले भी जीतू कई बार फायरिंग करके पुलिस से बच निकला. पुलिस ने गिरफ्तार बदमाश सांभर के कंवरा सर निवासी जितेन्द्र सिंह उर्फ जीतू व रेनवाल के मिंडी तकिया निवासी सुनील दूधवाल को गुरुवार को सांभर कोर्ट में पेश किया. जहां से दोनों को 27 अगस्त तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया. थाने में हार्डकोर बदमाश होने के कारण अधिकारियों ने जोबनेर थाने पर अतिरिक्त पुलिस जाप्ता तैनात कर दिया है. दूसरे दिन भी आसलपुर फाटक और आस-पास के इलाके में लोग बुधवार की घटना के बारे में चर्चा करते रहे.  

बदमाश जीतू के खिलाफ कई थानों में मुकदमे दर्ज:
बुधवार शाम को जोबनेर इलाके में आसलपुर फाटक पर बदमाश और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में पुलिस ने दो बदमाशों को दबोच लिया था. पकड़े गए बदमाश जीतू के खिलाफ बगरू, भांकरोटा के अलावा अलवर, पाली, अजमेर, उदयपुर, चित्तौड़गढ़, सिरोही व बीकानेर के कई पुलिस थानों में हत्या, लूट जैसे गंभीर प्रकरण दर्ज है. अभी तक जीतू एमपी में इन्दौर के विजय नगर में व्यवसायी संदीप अग्रवाल की हत्या, उदयपुर में राहगीर का अपहरण, अजमेर में मनी एक्सचेंजर मनीष मूलचंदानी की हत्या कर 12 लाख की लूट, बगरू, कालवाड़, भीलवाड़ा के बड़लियावास में फायरिंग और राजसमंद में अजमेर की पुलिस टीम फायरिंग करने जैसे कई मामलों में वांछित चल रहा है. इसके अलावा जीतू की गैंग मध्यप्रदेश, विशाखापट्‌टनम, चित्तौडगढ़ व जोधपुर इलाके में मादक पदार्थ गांजा, डोडा पोस्ट, अफीम से भरी गाड़ियों को लूटकर तस्करी करते है. बदमाशों ने हथियार भी मध्यप्रदेश व महाराष्‍ट्र में अलग-अलग ठिकानों से खरीदे है.  

इंटरनेट कॉलिंग करके व्यापारियों से मांगता था फिरौती: 
डीसीपी विकास शर्मा ने बताया कि जीतू की गैंग के सदस्य अलग-अलग शहरों में घूमकर फिरौती के लिए बड़े व्यापारी चिन्हित करके जीतू को बताते है. फोन के नंबर मिलने के बाद जीतू यूएस बेस्ड एप के जरिए इंटरनेट कॉलिंग करके चिन्हित व्यापारी से फिरौती मांगता है. मना करने पर फायरिंग की घटना करके परिवार सहित जाने से मारने की धमकी देते है. आरोपियों ने बगरू में भी होटल व्यवसायी हनुमान सहाय को इंटरनेट कॉल किया था. पुलिस ने ई-मेल के जरिए जीतू की मेल आईडी प्राप्त कर ली. मेल आईडी से ही पुलिस ने आरोपी की पहचान करके तलाश शुरु कर दी. इस दौरान बुधवार को भांकरोटा थाने के कांस्टेबल मोहन को बोराज बस स्टैण्ड पर हार्डकोर बदमाश जीतू कार धुलाई करवाते समय दिख गया. बदमाशों से प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि एक्सचेंजर की हत्या के बाद पुलिस के दबाव के कारण जीतू ज्यादातर समय कार में बिताता था. रात के समय कार में ही सोता था. 

पुलिस से बचने के लिए कार में महिलाएं रखता था: 
पुलिस ने बचने के लिए इधर-उधर जाते समय जीतू कार में महिलाओं को साथ रखता था. ताकि नाकाबंदी प्वाईंट पर पुलिस से बचकर आराम से निकल सके.  बहराल शातिर अब कानून के शिकंजे में आ चुका है लेकिन अब जरूरत है ऐसे समाजकंटकों से सावचेत रहने की जिससे कि समाज सुरक्षित रह सके

...सत्यनारायण शर्मा,फर्स्ट इंडिया न्यूज,जयपुर

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in